10 tips in Hindi for summer night sweats – गर्मियों की रात में पसीने से बचने के 10 नुस्खे

गर्मी का मौसम ना सिर्फ अपने साथ बेहतरीन फल लेकर आता है, बल्कि चिड़चिड़ी गर्मी एवं पसीने की समस्या भी लाता है। उष्णकटिबंधीय देशों में रहने वाले लोगों के लिए रात को उच्च तापमान एवं पसीने के कारण अच्छी नींद पूरी कर पाना काफी मुश्किल होता है। जहां गर्मियों के दिनों में सबके लिए रात के पसीने पर काबू पाना आसान नहीं होता, वहीँ रजोनिवृत्ति या किसी और शारीरिक कारण की वजह से हार्मोनल (hormonal) परिवर्तनों से गुज़र रही महिलाओं के लिए यह समस्या और भी ज़्यादा कठिन हो जाती है।

रात में काफी मात्रा में पसीना आने से ना सिर्फ अच्छी नींद पूरी करने में कठिनाई होती है, बल्कि इससे दिन में आलस एवं कमज़ोरी भी बनी रहती है, जिससे एक व्यक्ति का पेशेवर एवं निजी जीवन काफी बुरी तरह प्रभावित होता है।  गर्मियों की रातों में काफी मात्रा में पसीना आने के फलस्वरूप सर्दी, खांसी, फैरिन्जाइटिस (pharyngitis) एवं अन्य श्वसन प्रणाली से जुड़ी बीमारियां भी इस मौसम में सामान्य होती हैं।

जहां रात में वातानुकूलित कमरे में सोना गर्मियों के पसीने एवं इससे जुड़ी समस्याओं से बचने का एक बेहतर तरीका है, यदि यह आपके लिए संभव नहीं है, फिर भी आप कुछ प्रभावी उपायों के सहारे गर्मियों की रातों के पसीने से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं। नीचे गर्मियों की रातों में आने वाले पसीने को दूर करने के 10 नुस्खे बताये गए हैं।

Make sure that your room is not overly heated – सुनिश्चित करें कि आपका कमरा अतिरिक्त रूप से गर्म ना हो

रात के समय तापमान खुद ब खुद काफी हद तक कम हो जाता है। जिन क्षेत्रों में दिन के समय तापमान 40 डिग्री से भी अधिक होता है, वह रात के समय अपने आप करीब 30 डिग्री पर आ जाता है। हालांकि समस्या यह है कि अधिकतर स्थितियों में कमरे दिन के समय इतना ताप सोख लेते हैं कि रात को तापमान कम होने के बावजूद वे सारा ताप बाहर निकालकर ठन्डे नहीं हो पाते। यही कारण है कि गर्मी की रातों में अवातानुकूलित कमरों की बजाय बाहर का मौसम अपेक्षाकृत काफी ठंडा होता है।

हालांकि आप गर्मियों के दिनों में कुछ तरीके अपना सकते हैं जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि आपका कमरा अतिरिक्त रूप से गर्म ना हो एवं आपके रात में सोने जाते समय यह ठंडा हो चुका हो। ऐसे कमरे को शयन के लिए चुनें जहां दिन के समय काफी मात्रा में छाँव हो एवं जिसकी दीवारें मोटी हों। आमतौर पर निचले तल के कमरे इसी कारण से ऊपरी मालों के कमरों की अपेक्षा अधिक ठन्डे होते हैं। दरवाज़ों एवं खिड़कियों प्र भारी पर्दों का प्रयोग करें। अगर संभव हो तो पर्दों पर थोड़ा पानी छिड़ककर उन्हें सारा दिन गीला करके रखें, जिससे आपका कमरा और भी ठंडा होगा। फर्श को अतिरिक्त पानी से पोंछना भी काफी कारगर साबित होता है।

इसके अलावा यह भी सुनिश्चित करें कि गर्मियों की रातों में आपके शयन हेतु इस्तेमाल होने वाला कक्ष हवादार हो, जिससे ना सिर्फ आपका कमरा जल्दी ठंडा होगा बल्कि इससे आपको पसीना भी कम आएगा।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

Choose your bedding cautiously – अपने बिस्तर का चुनाव सावधानी से करें

गर्मियों की रातों में पसीने से बचने के लिए यह काफी आवश्यक है कि आप अपने बिस्तर का चुनाव पूर्ण सावधानी से करें। भारी एवं गर्म बिस्तर आमतौर पर गर्मियों की रातों में सोते समय पसीना आने का मुख्य कारण होता है। गर्मियों के शुरू होते ही अपने बिस्तर से सारी भारी एवं गर्म परतें हटा लें।  लेकिन मैट्रेस (mattress) पर सीधे सोना अच्छा विकल्प साबित नहीं होता। मैट्रेस पर शुद्ध सूती की हल्के रंग की चादर बिछाएं जो अतिरिक्त पसीने को सोखेगी एवं आपकी त्वचा पर कठोरता से चुभकर आपको गर्मी का अहसास नहीं करवाएगी।

इसके अलावा तकिए के खोल के रूप में शुद्ध सूती के नरम कपड़े का प्रयोग करें जिससे कि इसके प्रयोग से आपको पसीना ना आए। खुद को कम्फर्टर (comforter) से ढककर रखना गर्मियों की रातों में अच्छी नींद प्राप्त करने के लिए सही तरीका नहीं है। यदि आपको खोल का इस्तेमाल आवश्यक लगे तो ऐसी पतली सूती की चादर का चयन करें जो हवा की आवाजाही आसानी से करने में मदद करे एवं पसीने को भी सोख सके।

Your night dress is also important – आपकी नाईट ड्रेस भी काफी महत्वपूर्ण है

चाहे आप कितने भी थके हुए हों, गर्मियों के मौसम में कभी भी कोई भी वस्त्र पहनकर बिस्तर पर चढ़ने की गलती कभी ना करें।  यह काफी महत्वपूर्ण है कि आप गर्मियों की रातों में आने वाले पसीने को रोकने के लिए सोते समय सही वस्त्रों का चयन करें। सोते समय अधिक गर्मी का सामना ना करने के लिए शुद्ध सूती का हल्का वस्त्र हमेशा एक अच्छा चुनाव होता है। रात को सोते समय शरीर को पूर्ण रूप से ढकने वाले वस्त्र पहनना सही नहीं है; ऐसे कसे हुए कपड़ों का चयन ना करें जिससे आपकी त्वचा को सांस लेने में परेशानी हो।

गर्मियों की उमस भरी रातों में सोने से पहले अपने अंतर्वस्त्र उतार देना काफी अच्छा एवं स्वास्थ्यकर विकल्प है। कोई ऐसा वस्त्र पहनें जिससे हवा की आवाजाही आसानी से हो सके एवं आपको आराम का अहसास प्राप्त हो।

Take a cooling bath before going to bed – सोने से पहले ठन्डे पानी से स्नान करें

गर्मियों में रात को आने वाले पसीने को रोकने के लिए सोने से पहले ठन्डे पानी से स्नान करना एक प्रभावी विकल्प हो सकता है। स्नान को काफी आरामदायक बनाने के लिए अपने नहाने के पानी में नहाने का नमक एवं पुदीने या जेरेनियम (geranium) का आवश्यक तेल मिश्रित करें। इसके अलावा सुनिश्चित करें कि आपका स्नान काफी लंबा हो;अपने शरीर को पानी में कम से कम 10 मिनटों तक डुबोकर रखें जिससे कि शरीर का अतिरिक्त ताप बाहर निकल जाए एवं आपको असल में ठंडक का अहसास हो। यह ना सिर्फ गर्मियों में रात के पसीने को नियंत्रित करने में, बल्कि अच्छी नींद आने में भी आपकी सहायता करता है। यह आपको गर्मियों में त्वचा की कई समस्याओं जैसे घमौरियों से भी दूर रखता है।

Eat the right dinner – रात का भोजन स्वास्थ्यकर करें

जब बात गर्मियों के दिनों की हो तो अपने खानपान पर ध्यान देना काफी आवश्यक है। आपके द्वारा रात में ग्रहण किये गए भोजन का आपकी नींद पर काफी असर पड़ता है। गर्मियों के दौरान सोने जाने से पहले भारी एवं प्रोटीन (protein) युक्त खानपान रात में अतिरिक्त पसीना निकलने का एक कारण हो सकता है। अतः गर्मियों की रातों में पसीना निकलने से रोकने के लिए रात का भोजन सामान्य रखें।

गर्मियों के दौरान अपने रात के भोजन में उच्च प्रोटीन युक्त मांस के बदले सब्ज़ियों एवं ताज़ा फलों को अधिक मात्रा में शामिल करें। रात को सोने से कम से कम 2 घंटे पूर्व भोजन कर लें। सोते समय पेट भरा होने से पाचन क्रिया बाधित होती है एवं आपको रात के समय बेचैनी एवं पसीना आने की शिकायत होती है। इसके अलावा अपने रात के खाने में चीनी युक्त पदार्थ एवं कार्बोनेटेड (carbonated) पेय पदार्थ लेने से परहेज करें क्योंकि ये आपके हाज़मे की प्रक्रिया को बाधित कर सकते हैं।

अतः गर्मियों की रातों में आने वाले पसीने को नियंत्रित करने के लिए अपने रात के खाने का चुनाव सावधानी से करें।  रात के भोजन में ठन्डे दूध, खट्टी दही, हरे आम का रस आदि शामिल करना एक स्वास्थ्यकर विकल्प हो सकता है क्योंकि इससे आपका शरीर रात को सोते समय अतिरिक्त रूप से गर्म नहीं होता।

Take plenty of water and salts throughout the day – दिनभर में काफी मात्रा में पानी एवं नमक ग्रहण करें

गर्मियों के ताप एवं उमस भरे मौसम में हमारे शरीर से पसीने के साथ काफी मात्रा में पानी एवं नमक भी बाहर निकल जाता है। इस पानी एवं नमक की शरीर में भरपाई करनी काफी आवश्यक है, अन्यथा आपके शरीर में पानी की कमी हो जाएगी जिससे बेचैनी, अत्याधिक पसीना आना एवं अन्य कई गंभीर लक्षण दिखाई पड़ सकते हैं। रात को सोते समय शरीर का ठंडा एवं आरामदायक होना सुनिश्चित करने के लिए यह काफी आवश्यक है कि आप सारे दिन में काफी मात्रा में पानी एवं नमक ग्रहण करें।  दिन में कम से कम एक बार एक गिलास ठन्डे पानी में चीनी एवं नमक मिश्रित करके पीने से आपके शरीर के खोये नमक की भरपाई होगी, जिससे मौसम के काफी गर्म रहने पर भी आपका शरीर सामान्य रूप से काम कर पाएगा।

Establish a stress relief routine before bed – सोने से पूर्व तनावरोधी रूटीन की स्थापना

रात के समय पसीना आने को आमतौर पर पसीने से जोड़कर देखा जाता है। आप जितना अधिक तनावयुक्त एवं बेचैन होंगे, आपके आधी रात में पसीने से लथपथ होकर जग जाने की संभावना उतनी ही अधिक होगी। अतः इस समस्या पर नियंत्रण प्राप्त करने के लिए सोने से पूर्व तनाव दूर करने एवं शांत होने की किसी प्रक्रिया की स्थापना काफी लाभदायक होती है। रात को सोने से पहले टीवी (TV) या कंप्यूटर गेम्स (computer games) के माध्यम से तनाव दूर करने की आदत ना डालें, क्योंकि घंटों टीवी के परदे को देखते रहने से आपकी नींद की गुणवत्ता काफी प्रभावित होती है। सोने से पूर्व तनाव दूर करने के लिए तनावरोधी श्वसन व्यायाम, संगीत सुनना या अपनी पसंद की पुस्तक पढ़ना काफी फायदेमंद साबित होता है।

Lose excess weight – अतिरिक्त वज़न कम करें

यदि आप मोटापे के शिकार हैं, तो खासकर गर्मियों के मौसम में रात को पसीना आने का यह एक मुख्य कारण हो सकता है क्योंकि इस समय मौसम गर्म एवं उमस भरा होता है। अतिरिक्त वज़न कम करने एवं शरीर का वज़न स्वास्थ्यकर रखने से यह सुनिश्चित होता है कि आपका शरीर स्वस्थ हो एवं रात को सोते समय अतिरिक्त ताप की समस्या से प्रभावित ना हो।

Use a chilled flannel or cold water bottles – ठंडे फ्लैनेल या ठंडी पानी की बोतलों का प्रयोग

यदि आप आधी रात को अत्याधिक गर्मी से परेशान होकर जग जाते हैं तो त्वरित उपचार के लिए ठन्डे फ्लैनेल एवं पानी की बोतलों का प्रयोग करें। सोने से कई घंटों पहले फ्रिज (fridge) में एक गीला फ्लैनेल एवं कम से कम दो पानी की बोतलें रखें।  यदि आपकी नींद रात में अतिरिक्त पसीना निकलने की वजह से खुल जाती है तो अपना माथा, कांख, पेट के निचले हिस्से, जांघों के अंदरूनी भाग एवं श्रोणि के भाग को ठन्डे फ्लैनेल से पोंछें, एवं आवश्यकता पड़ने पर अपने माथे पर एक फ्लैनेल रख लें।  इससे आपको तुरंत काफी राहत प्राप्त होगी।  आप गर्मियों में रात के पसीने से तुरंत छुटकारा प्राप्त करने हेतु अपने हाथों एवं पैरों के नीचे ठंडी पानी की बोतलें भी रख सकते हैं।

Keep a table fan beside your bed – अपने बिस्तर के पास मेज़ का पंखा रखें

गर्मियों के दौरान अचानक रात में पसीना आने की स्थिति में केवल मेज़ के पंखे को अपने चेहरे की तरफ मोड़कर चलाने से काफी आराम प्राप्त होता है।  अतः सीलिंग (ceiling) पंखे के चलने की स्थिति में भी सोने से पहले अपने पास एक मेज़ का पंखा रखें। हालांकि, यदि आधी रात को काफी पसीना निकलने के कारण आप पंखा चला रहे हैं, तो सबसे पहले तौलिये से पसीना पोंछ लें एवं इसके बाद पंखे की ठंडी हवा का आनंद लेना सुनिश्चित करें। अन्यथा, यदि पंखे की हवा से आपके शरीर का पसीना तुरन्त सूख जाता है तो इससे सर्दी एवं खांसी की समस्या हो सकती है।

loading...