Few more lip scrubs in Hindi – होंठों के देखभाल लिए घरेलू स्क्रब

सौंदर्य के लिए स्क्रब्स के इस्तेमाल का चलन सदियों से है। परन्तु लिप स्क्रब या लिप एक्सफोलिएशन सौंदर्य जगत में नए प्रचलित शब्द हैं। होंठों की परत काफी पतली होती है जो कि काफी नाज़ुक भी होती है और इसे ख़ास देखभाल की आवश्यकता होती है। अतः होंठों को नरम मुलायम बनाने के लिए काफी अच्छे से उनके ऊपर की मृत कोशिकाओं को निकालना आवश्यक होता है।

हमारे होंठ कभी ढकी अवस्था में नहीं रहते तथा ये प्रदूषण और सूरज की रौशनी के संपर्क में आते रहते हैं। हम इनका प्रयोग तो काफी करते हैं, पर इनकी देखभाल नहीं करते। अतः शरीर के सौंदर्य में दिए जाने वाले समय में से थोड़ा सा वक़्त निकालकर अपने होंठों की भी देखभाल करें। इसके लिए कुछ लिप स्क्रब्स नीचे दिए जा रहे हैं।

वो संवेदनशील त्वचा जिससे हम किसी भी खाद्य पदार्थ का पहला स्वाद लेते हैं और गुस्सा होने पर उसी त्वचा को दाँतों तले दबा देते हैं , वह हमारे होठ हैं। धुप हो या आजकल का प्रदुषण सबका सामना इन्हें करना पड़ता हैं। हम इन्हें बहुत इस्तेमाल करते हैं पर इनकी देखभाल के लिए समय कम निकाल पाते हैं।

हमें अपने दिन भर की दिनचर्या में से कुछ समय निकाल कर इनकी देखभाल के लिए स्क्रब करके इन्हें मोइस्च्रराइज करना चाहिये। होंठों की खूबसूरती (honton ki khubsurti) के लिए स्क्रबिग एक ऐसी प्रक्रिया हैं जो की आपकी त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटा देती हैं और उसे चमकदार बनाती हैं।

स्क्रब के लाभ – घर पर बने होठों के स्क्रब (Homemade lips scrub)

चीनी का स्क्रब (Sugar scrub)

सूखे तथा फटे होंठों के लिए घरेलू नुस्खे

चीनी के दाने अच्छे एक्सफोलिअटर की तरह काम करता हैं, यह आपकी मृत त्वचा को होठों से हटाता हैं और जैतून का तेल होठों को नमी प्रदान करता हैं।

स्क्रब की सामग्री (Ingredient)

  • जैतून का तेल
  • चीनी

2 चम्मच चीनी एक कटोरे में लें और उसमें आधा चम्मच जैतून का तेल मिलाएं। अब इस मिश्रण को रुई से अपने होठों पर लगायें और कुछ सेकंड्स के लिए स्क्रब करें। फिर अपने होठों को धो लें और पेट्रोलियम जेली लगा लें। इस मिश्रण को कुछ दिन फ्रिज में रख कर उपयोग कर सकते हैं।

ब्राउन शुगर का स्क्रब (Brown sugar lip scrub)

स्क्रब की सामग्री (Ingredient)

  • ब्राउन शुगर
  • जैतून का तेल
  • शहद
  • वनिला एक्सट्रेक्ट

पिंक लिप्स के लिए 2 चम्मच ब्राउन शुगर में आधा टेबलस्पून शहद , 1 टेबलस्पून जैतून का तेल और 1/4 टेबलस्पून वनिला एक्सट्रेक्ट मिलाएं। इस मिश्रण को अपने हाथों पर लगायें और 20-30 सेकंड स्क्रब करें और फिर गुनगुने पानी से धो लें।

बेकिंग सोडा का स्क्रब (Baking soda lip scrub)

स्क्रब की सामग्री (Ingredient)

  • बेकिंग सोडा
  • तेल
  • चीनी

इस स्क्रब को बनाने के लिए , 1 टेबलस्पून बेकिंग सोडा में एक टेबलस्पून चीनी और कुछ बूँद तेल की मिलाएं। होठों की लाली (honton ki lali), अब इस मिश्रण से अपने होठों पर 5-10 सेकंड स्क्रब करें। इस मिश्रण को लम्बे समय तक न रखें जल्द ही इस्तेमाल कर लें।

फटे होंठों को ठीक करने के लिए बेहतरीन तेल

शहद का स्क्रब (Honey lip scrub)

स्क्रब के लिए आपको सिर्फ शहद की जरुरत हैं और अपने होठों की देखभाल के लिए अपनी व्यस्त दिनचर्या में से थोडा समय निकालें। 1 टेबलस्पून शहद एक कटोरी में लें फिर उसे 5-10 सेकंड के लिए गरम करें। शहद को ठंडा करके अपने होठों पर कुछ सेकंड स्क्रब करें फिर गरम पानी से धो कर कपडे से पोच लें।

होठों की सुंदरता, याद रखें इस्तेमाल करते समय शहद गरम नहीं होना चाहिये वरना आपके होठों को नुकसान पहुचा सकता हैं।

लिप्स टिप्स – लिप स्क्रब के फायदे (Advantages of a lip scrub)

लिप स्क्रब का प्रयोग होंठों की सतह को साफ़ करने के लिए किया जाता है। पुरानी परत के हटने पर नयी परत आती है जो होंठों को नरम मुलायम बनाती है। इस प्रक्रिया से आपके होंठों में नमी आती है जिससे वे विपरीत तापमान में भी फटते नहीं हैं। इससे होंठों की त्वचा की गुणवत्ता बढ़ती है। लिप स्क्रब से होंठों का मेकअप लम्बे समय तक रहने में भी मदद मिलती है।

लिप स्क्रब करने की विधि (Lip scrubbing procedure)

सौंदर्य विशेषज्ञों के अनुसार आपको हफ्ते में कम से कम एक बार अपने होंठों की स्क्रबिंग करनी ही चाहिए, परन्तु ठण्ड के समय इसका प्रयोग ज़्यादा करना चाहिए क्योंकि इस समय हवा सूखी और नुकसान पहुंचाने वाली होती है। आप इसे रोज़ाना के सौंदर्य रूटीन के अंतर्गत रोज़ भी कर सकते हैं। ऐसे कई लिप एक्सफ़ोलिएटिंग उत्पाद हैं जो होंठों के संवेदनशील भाग से मृत कोशिकाएं हटाने में मदद करते हैं। बाज़ार में ऐसी कई क्रीम्स, स्क्रब्स और लोशन्स उपलब्ध हैं। इनमें से ज़्यादातर की महक काफी तीखी होती है और ये बेस्वाद होते हैं। इनमें कुछ ऐसे पदार्थ भी होते हैं जो आपके मुंह के अन्य भागों जैसे दांत और जीभ को नुकसान पहुंचा सकते हैं। प्राकृतिक उत्पादों से बने घरेलू स्क्रब्स सौम्य, नुकसान रहित तथा ज़्यादा प्रभावी होते हैं।

एक्सफोलिएशन के लिए लिप स्क्रब (Lip scrub to exfoliate)

होंठों को एक्सफोलिएट करने के लिए उन्हें किसी गीले तौलिये या टूथ ब्रश से रगड़ें। परन्तु कुछ प्राकृतिक उत्पादों जैसे नारियल के तेल या ब्राउन शुगर का इस्तेमाल करके आप एक प्रभावी लिप स्क्रब बना सकते हैं। होठ लाल कैसे करे, इसके लिए तरल नारियल के तेल तथा चीनी के कुछ दानों का प्रयोग करें। इस मिश्रण से गोलाकार मुद्रा में अपनी तर्जनी ऊँगली(index finger)की मदद से होंठों को स्क्रब करें। 10 मिनट के बाद अपने होंठों और मुंह को अच्छे से धो लें।

खूबसूरत होठों के लिये मेकअप टिप्स

लिप मास्क का प्रयोग होंठों को नमी देने और उन्हें सुकून प्रदान करने के लिए किया जाता है। आप शहद और अनार के रस का प्रयोग करके एक स्वादिष्ट लिप मास्क बना सकते हैं। अनार होंठों को रंगत प्रदान करता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स की भी प्रचुर मात्रा होती है और इसमें होंठों को मॉइस्चराइस करने के भी गुण होते हैं। वहीँ दूसरी तरफ शहद होंठों को नमी देने में आपकी काफी मदद करता है। इस मास्क को होंठों पर एक कोट की तरह लगाएं और 15 मिनट तक छोड़ दें। इसके बाद इसे ठन्डे पानी से अच्छे से धो लें।

बाज़ार में मौजूद कुछ लिप मास्क (Some lip masks available in the market)

बाज़ार में मौजूद ये कुछ मास्क्स प्राकृतिक तत्वों से बने होते हैं तथा काफी प्रभावी और इस्तेमाल करने में आसान होते हैं। इन्हें बनाने में जिन चीज़ों का इस्तेमाल किया गया है वे हैं अंगूर के बीज के अंश, नारियल का तेल, शे मक्खन और खुबानी(apricot)के बीज। ये लिप स्क्रब लम्बे समय तक टिकते हैं और आपके नाज़ुक होंठों को प्रकृति की विभिन्न मुसीबतों से बचाते हैं। गुलाबी होंठ, ये लिप स्क्रब उम्र के निशान छिपाने में भी आपकी मदद करते हैं। इनमें सबसे प्रसिद्द है फर्स्ट क्रश लिप स्क्रब कंपनी, जो आपके होंठों को हाइड्रेटेड और मुलायम रखती है। एक और बेहतरीन लिप स्क्रब है ब्लिस फेबुलिस्ट शुगर स्क्रब। यह आपके होंठों से मृत तथा फटी त्वचा को निकालता है तथा आपको नरम तथा सुन्दर होंठों से नवाज़ता है। यह लिप स्क्रब ग्रानुलेटेड शुगर, बादाम, अखरोट, संतरे के रस, जोजोबा के बीज, ओलिव आयल, शे तथा कोको मक्खन के गुणों से युक्त होता है। चीनी और अखरोट के शेल्स होंठों को एक्सफोलिएट करने में मदद करते हैं तथा तेल और मक्खन से इन्हें भरपूर मात्रा में पोषण मिलता है।