Ayurvedic Hindi tips to treat cracked heels – फटी एड़ियों को घर में ठीक करें रसोई में रखी हुई चीजों से

फटे पैर, एड़ी का फटना एक आम बात है इसके फटने के कई कारण होते हैं। एड़ी फटने के कई कारण जैसे साफ़ सफाई ना रखना, गलत जूते या मोज़े पहनना, नमी की कमी होना, पैरों की देखभाल ना होना, सुखी हवा और खान पान ठीक ना होना। इसे कुछ घरेलू उपचार से ठीक किया जा सकता है।

फटी एड़ियों के मुख्य कारण (Causes of cracked heels)

  • अतिरिक्त गर्म पानी से स्नान, पानी से पैरों का ज़्यादा संपर्क होना और ज्यादा देर तक नहाना
  • वज़न का बढ़ना भी काफी बड़ा कारण है। वज़न बढ़ने से पैरों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, जिससे एड़ियां फट जाती हैं।
  • अगर जूते आरामदायक ना हों या पीछे से खुले हुए हों तो भी एड़ियां फटती हैं।
  • लंबे समय तक खड़े रहने और बाहरी वातावरण से पैरों का संपर्क होने पर भी पैर फट जाते हैं।
  • वातावरण में आर्द्रता की कमी होने की वजह से भी पैर फट जाते हैं।
  • सोराइसिस और एक्जिमा (psoriasis and eczema) जैसी त्वचा आधारित बीमारियाँ।

फटी एड़ियों के लक्षण (Symptoms of cracked heels)

  • खुजलीदार, कठोर और पपड़ीदार त्वचा
  • पैरों में लालपन तथा दरार आना
  • पैरों में दरार आना जिसके फलस्वरूप दरारों से खून भी निकल आता है।

फटी एड़ियों को ठीक करने के प्राकृतिक घरेलू उपाय (How to get rid of cracked heels with natural home remedies?)

आपके पैरों और आपकी हथेली के नीचे की त्वचा के सूखेपन का उपचार कैसे करें

स्क्रब (Best simple, natural everyone has to follow for cracked heels is scrub)

सुन्दर पैर प्राप्त करने के लिए स्क्रब से पैरों को नर्म बनाना एक काफी कारगर उपाय है। यह एक आसान विधि है और इसकी मदद से आप बिना ज़्यादा मेहनत किये अपने पैरों को नर्म मुलायम बना सकते हैं। यह स्क्रब रूखी त्वचा को पोषण देने के काम आता है। यह आपके पैरों के नीचे से मृत कोशिकाओं को निकालने में भी मदद करता है।

सामग्री (Ingredients used to scrub)

  • 2 चम्मच ब्राउन शुगर (brown sugar)
  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 1 चम्मच शहद
  • 1 चम्मच जैतून का तेल
  • आधा टब भरा हुआ गर्म पानी।

इस बात को सुनिश्चित करें कि पानी ज्यादा गर्म नहीं बल्कि गुनगुना हो। एक पात्र लें और इसमें ऊपर दिए गए पदार्थों को एक एक करके मिश्रित करें जिससे कि एक नर्म और चिपचिपा पेस्ट बन जाए और इसे अलग रख लें। अब अपने पैरों को गुनगुने पानी में 10 से 15 मिनट तक डुबोकर रखें। इससे आपके पैर गन्दगी से मुक्त हो जाएंगे तथा इनमें नरमाहट भी आएगी। अपने  पैरों को टब में ही रखें और मृत त्वचा को हटाने वाले तत्व को पैरों पर लगाएं तथा इसका प्रयोग गोलाकार मुद्रा में करें। अब दूसरे पैर पर भी इसका प्रयोग करें और इसे टब में ही धो लें तथा नर्म और मुलायम पैर प्राप्त करें।

फटी एड़ियों को ठीक करने के लिए एक्सफोलिएट फुट स्क्रब (Exfoliate foot scrub to reduce cracking heels)

एक्सफोलिएट फुट स्क्रब कठोर पैरों में नयी जान डालकर पैरों को नर्म बनाते हैं। यह फुट स्क्रब उस मृत त्वचा निकालने में काफी मदद करता है, जो आपके पैरों पर जमा होती है।

महिलाओं के पैर एवं नाखून सुंदर रखने के नुस्खे

सामग्री (Ingredients to exfoliate your foot)

  • एक कप दूध
  • 2 कप गर्म पानी
  • 4 चम्मच चीनी / नमक
  • आधा कप बेबी ऑइल (baby oil) / नारियल तेल
  • प्युमिस स्टोन (pumice stone)
  • स्ट्राईडेक्स पैड (stridex pad)
  • सैलिसिलिक एसिड क्रीम (salicylic acid cream) या गाढ़ा मोइस्चराइज़र (moisturizer)।
  • मोज़े

एक कप दूध लेकर इसे बाथटब (bathtub) में 5 कप गर्म पानी के साथ मिश्रित करें। इस मिश्रण में अपने पैरों को 5 से 10 मिनट तक डुबोकर रखें। एक पात्र लें और इसमें आधा कप बेबी ऑइल या नारियल का तेल लें तथा इसमें चीनी या नमक मिला लें। इन सबको अच्छे से मिलाएं और इसमें वनस्पति तेल मिलाएं। आप इसकी जगह किसी अन्य तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं। इससे एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करके अपने पैरों पर गोलाकार मुद्रा में मालिश करें। इसके बाद अपने पैरों को प्युमिस स्टोन से घिसें। पैरों को अच्छे से धो लें और सुखा लें। इस प्रक्रिया का पालन रात को सोने से पहले करना अच्छा रहेगा। अपने पैरों को स्ट्राईडेक्स पैड से घिसें। इससे आपके पैरों की मृत त्वचा निकल जाएगी। इसमें 2% सैलिसिलिक एसिड भी मिश्रित होता है। अब अपने पैरों के निचले भाग में गाढ़ा मोइस्चराइज़र या सैलिसिलिक क्रीम का प्रयोग करें। अब मोज़े पहन लें और अपने पैरों को 4 घंटों तक आराम दें।

फटे पैर पर वेजिटेबल तेल (Excellent home remedy for cracked heels with vegetable oil)

बहुत से वेजिटेबल तेल होते है जिनसे फटी एड़ियो को ठीक किया जा सकता है जैसे जैतून का तेल, खोपरे का तेल, तिल का तेल कोई भी तेल लगा सकते हैं सोने के पहले रोज़ाना लगाएं बहुत जल्दी एड़ियां कोमल हो जायेगी।

पैरों को पहले अच्छे से प्यूमिक स्टोन से साफ़ करके धो लें। फिर तेल को फटी बिवाई, एड़ी और तलो पर लगा लें। साफ़ और धुले मोज़े पहनें। रात भर पहने रखें। ऐसा रोज़ करने से एड़ी (fati edi) जल्दी ठीक हो जाती है।

फटे पैरों पर चावल का आटा (Rice flour simple remedy for cracked heels)

फटी एड़ियों के उपचार कैसे करे?

चावल के आटे से मृत चमड़ी साफ़ होती है। जिससे चमड़ी कोमल और साफ़ होती है। घर में इसका स्क्रब बनाने के लिए इन तीन चीज़ों का ख़ास प्रयोग होता है। 3 चमच्च चावल का आटा, 1 चमच्च शहद, 1 चमच्च साइडर एप्पल विनेगर (सेव का सिरका)। तीनो को मिलाकर एक गाड़ा पेस्ट बना लीजिये। अगर आपकी एड़ी ज्यादा फटी हुई है तो पेस्ट में जैतून का तेल या बादाम का तेल मिला लीजिये। सबसे पहले आप पैरों को गर्म पानी में 10 मिनट तक भिगो कर रखिये फिर इस स्क्रब से पैरों पर अच्छी तरह स्क्रब कीजिये।

पैर फटना के लिए नीम (How to reduce cracking heels with neem?)

फटी एड़ियों का इलाज, नीम को मार्गो लीव्स भी कहा जाता है। इसमें एंटी फंगल प्रॉपर्टीज (जीवाणु विरोधी गुण) होती है जो एडी फटना, फटी एड़ियों (fati adiya) को भरने और साफ़ रखने में काम आती है। नीम से बना हुआ पेस्ट एक आम और पारंपरिक तरीका है एड़ी ठीक करने का।

नीम की पत्तियां लीजिये और इसका पेस्ट बना लीजिये उसमे 1 चमच्च हल्दी मिला लीजिये और इस पेस्ट को फटी हुई एड़ियों पर लगाइये। आधे घंटे तक इसे लगाकर रखिये फिर गर्म पानी से धो लीजिये और अच्छे से साफ़ कपडे से पोछ लीजिये। हल्दी की एंटी बैक्टेरिअल प्रॉपर्टी (जीवाणु विरोधी गुण)  और नीम की एंटी फंगल (फफूंद) प्रॉपर्टी पैरों को सुरक्षित रखती है और फटी एड़ियां की दरारे कम करती है।

एड़ी फटना के लिए नींबू (Best ways to cure cracked heels by lemon?)

फटी एड़ियों का इलाज, नींबू से सुखी त्वचा हटाने में मदद मिलती है। नींबू में अस्ट्रेंजेंट होता है जिससे रूखी त्वचा मुलायम बनती है और अच्छे परिणाम मिलते हैं।

2 नींबू के रस को निचोड़ कर गर्म पानी में मिला लीजिये फिर पैरों को उसमे 10 मिनट भिगो कर बैठ जाइए ज्यादा गर्म पानी ना ले। बाद में पैरों को प्यूमिक स्टोन और साबुन से साफ़ कीजिये और फिर धो कर नरम तौलिये से पोछ लीजिये या फिर आप सीधे नींबू भी फटी एड़ियां पर रगड़कर प्यूमिक स्टोन से साफ़ कर सकते हैं।

loading...