Harmful toxic chemicals in cosmetics in hindi – छुपे खतरे – सौंदर्य उत्पादों के हानिकारक रसायन

कई महिलायें ऐसे कई सौंदर्य उत्पाद इस्तेमाल करती हैं जिसमे कई हानिकारक रसायन होते हैं जो शरीर को हानि पहुंचाते हैं।

वैज्ञानिकों ऐसे सौंदर्य उत्पाद जिनमे सीसा होता हैं उनके उपयोग से परहेज करने की सलाह देते हैं। उत्पादों को रंग देने के रसायनों में सीसा पाया जाता है। लिपस्टिक में सबसे ज्यादा मात्रा में सीसा पाया जाता है| लिपस्टिक लगाने से यह सीसा आपके मुंह में बड़ी मात्रा में प्रवेश करता है। इसी कारण से यह सीसा पेट में जाता है। सीसे के साथ ही ऐसे और कई हानिकारक रसायन होते हैं जो शरीर पर बुरा असर दिखाते हैं।

सौंदर्य उत्पादों से जुड़े पुराने कानूनों को बदलने के कदम उठाये जा रहें हैं। खाद्य एवं औषधि प्रशासन को ऐसे अधिकार देने की प्रक्रिया शुरू है जिससे वह सीधी तरह से ऐसे हानिकारक सौंदर्य उत्पाद के निर्माताओं को सजा देने में मदद करेंगे।

सौंदर्य उत्पादों में पाए जाने वाले 5 हानिकारक रसायन (Five toxic ingredients in cosmetics to be avoided – cosmetic product ke side effects)

महिलाओं के उत्पादों में विषैले पदार्थों के नुकसान

  • खुशबु निर्माण करने के लिए इस्तेमाल किये गए रसायनों से दमा, एलर्जी, बांझपन और हॉर्मोन असंतुलन जैसी समस्याएँ पैदा होती हैं। इसलिए ऐसे रसायन कम मात्रा में इस्तेमाल किये जाने चाहिए। 
  • पैराबेंस रसायन सौंदर्य उत्पादों में परिरक्षक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह रसायन मनुष्य की त्वचा से उसके शरीर में प्रवेश करते हैं जिससे पुरुषों के प्रजनन प्रणाली में समस्या पैदा हो सकती है और महिलाओं में स्तनों के कैंसर हो सकता है। पैराबेंस रसायन कई शैम्पू, लोशन,स्क्रब में इस्तेमाल किया जाता है। यह रसायन मनुष्य की प्रकृति पर बुरा असर दिखाता हैं। पैराबेंस सौंदर्य उत्पादों/सौंदर्य प्रसाधन में कीटाणु की पैदावार को रोकता है। यह रसायन त्वचा में आसानी से सोख लिए जाता है और इंसानों के पाचन संस्था और खून में भी मिल जाते हैं। इस कारण एलर्जी, प्रजनन प्रणाली में समस्या और शरीर की प्रतिकार क्षमता कम होती है।
  • ट्राईक्लोसान रसायन कीटाणुओं से सौंदर्य उत्पादों को बचाने के लिए साबुन और शैम्पू जैसे उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है। इस रसायन से थाइरोइड ग्रंथि को हानि होती है। यह रसायन लिपस्टिक में भी पाया जाता है जिस कारण एलर्जी हो सकती है।
  • फॉर्मल्डेहाइड छोड़ने वाले प्रेसेर्वेटिव्स (Formaldehyde-Releasing Preservatives) – फॉर्मल्डेहाइड को मानव कार्सिनोजेन (carcinogen) के रूप में भी जाना जाता है। जिन सौन्दर्य उत्पादों में ऐसे प्रेसेर्वेटिव्स होते हैं जो फॉर्मल्डेहाइड छोड़ते हैं, उनसे परहेज करना चाहिए।
  • सोडियम लौरेथ सल्फेट शैम्पू और स्क्रब में इस्तेमाल किये जाता है। इससे कैंसर होने का ख़तरा होता है। यह कई क्रीम उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है। यह त्वचा की सोखने की क्षमता को बढाता है।

सुरक्षित सौंदर्य उत्पाद कैसे खोजें? (How to find safe cosmetics? – beauty saman ke nuksan)

स्टेसी मालियान जो सुरक्षित सौंदर्य प्रसाधनों के लिए अभियान के सह-संस्थापक हैं वह सौंदर्य उत्पादों की सुरक्षा की जांच करने के लिए पर्यावरण कार्य समूह की वेबसाइट पर खोज की सिफारिश करते है। उन्होंने सभी सामग्री और विदेशी देशों में प्रतिबंधित रसायनों की एक सूची का खुलासा करने की प्रतिज्ञा की है। प्राकृतिक मेकअप सावधानी से किया जाना चाहिए। जैविक खाद्य पदार्थ निर्माताओं के लिए कुछ सख्त कानून हैं, लेकिन ऐसे कोई कानून सौंदर्य उत्पाद के उद्योग के लिए नहीं हैं और इसलिए यह सौंदर्य प्रसाधनों से हानिकारक तत्व निकालना मुश्किल है। कई लिपस्टिक में सीसा पाया गया है जो स्वास्थ्य के लिए खतरनाक (cosmetic saman ke khatre) है। प्राकृतिक सौंदर्य, इसलिए हल्के रंग का लिपस्टिक उपयोग करने की सलाह दी गयी है।

रसोई के उत्पादों द्वारा सौंदर्य उपचार

सुरक्षित प्रसाधन सामग्री के लिए अभियान यह धार्मिक, पर्यावरण, महिलाओं और उपभोक्ता समूहों का एक संयोजन है जोकैंसर,जन्म दोष और स्वास्थ्य के साथ जुड़े जहरीले रसायनों का उपयोग करने से बचने के लिए भोजन, स्वास्थ्य और सौंदर्य उद्योग का अनुरोध द्वारा लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए एक लक्ष्य के साथ काम कर रहे हैं। प्राकृतिक सौंदर्य, सुरक्षित सौंदर्य प्रसाधन, प्राकृतिक और नकली उत्पादों का अंतर खोजने के लिए उपभोक्ताओं को मदद करने के लिए नए उद्योग के मानकों के अभियान द्वारा प्रणाली विकसित की जा रही हैं।

सुरक्षित सौन्दर्य उत्पादों के लिए अभियान (The Campaign for Safe Cosmetics)

स्वास्थ्य, धार्मिक, पर्यावरण, महिलाओं तथा उपभोक्ताओं के गुट लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा करने के उद्देश्य से खाद्य, स्वास्थ्य और सौन्दर्य उद्योगों से ऐसे विषैले रसायनों के प्रयोग को रोकने का निवेदन कर रहे हैं जो कैंसर (cancer), जन्म के समय शारीरिक दोष और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनते हैं। सुरक्षित सौन्दर्य उत्पादों द्वारा चलाये जा रहे अभियान के अंतर्गत नए औद्योगिक मापदंड निर्धारित किये जा रहे हैं जिससे कि प्राकृतिक, कम प्राकृतिक और नकली उत्पादों के बीच के अंतर से एक उपभोक्ता को परिचित करवाया जा सके। यह अभियान ऐसे मापदंड को सामने लाने का प्रयास कर रहा है, जिसके अंतर्गत प्राकृतिक और सुरक्षित उत्पादों का प्रयोग होगा।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday