Tips in Hindi to stay away from sun – धूप से बचाव के तरीके

गर्मियों की झुलसती धूप कई तरह की समस्याएं उत्पन्न करती है, धूप के प्रभाव से त्वचा का कालापन, सरदर्द, एसिडिटी आदि का हमें अक्सर सामना करना पड़ता है। गर्मियों में खुद को धूप से बचाने की हर संभव कोशिश करें और जहाँ तक हो सके धूप में बाहर न जाएँ। नीचे दिये गये तरीकों को अपना कर आप गर्मियों में भी अपनी त्वचा को खूबसूरत बनाये रख सकते हैं।

  1. सही स्तर के SPF का चुनाव करें (Choose an appropriate level of SPF) गर्मी से बचने के घरेलू उपाय, धूप में जाने से पहले हमेशा स्कार्फ पहने। अगर आप महिला हैं तो चेहरे, गर्दन, सर और माथे को अच्छी तरह से ढंकने वाला स्कार्फ खरीदें और सही तरीके से बांधें। स्कार्फ को हमेशा आरामदायक तरीके से ही बांधें और पूरा चेहरा ढकें जिससे हानिकारक किरणें त्वचा तक न पहुँच पायें। स्कार्फ हलके रंग का होना चाहिये जो त्वचा को ठंडक प्रदान करता है। अगर आप पुरुष हैं तो आपको हमेशा अपने सर पर टोपी लगाकर निकलना चाहिये और कोशिश करनी चाहिये कि आपके बाल और सर धूप के संपर्क में न आयें क्योकि उससे आपको सरदर्द हो सकता है।
  2. धूप से बचने के लिए कॉटन की जैकेट पहने और ध्यान रखें कि इसका रंग हल्का या सफ़ेद हो क्योकि सफ़ेद रंग धूप की किरणों को परावर्तित कर देता है। सूरज से बचने के लिए अगर आपके पास जैकेट नहीं है तो हलके रंग के आरामदायक कपड़े पहने। गर्मियों में ज्यादातर कॉटन के कपड़ों को ही प्राथमिकता दें क्योकि इन कपड़ों में सूर्य की किरने आसानी से प्रवेश नहीं कर पाती है। अगर इनकी जगह आप सिल्क या सिंथेटिक कपड़े पहनते हैं तो ये आपको गर्मियों में परेशान कर सकते हैं।
  3. धूप से बचने के उपाय, गर्मियों में कभी भी गहरे या काले रंग के कपड़े न पहनें क्योकि इन कपड़ों में धूप की किरणें आसानी से अवशोषित हो जाती हैं और गर्मी पैदा करती हैं। साथ ही पहने जाने वाले कपड़े बहुत अधिक मोटे या बहुत अधिक पतले नहीं होने चाहिये क्योकि पतले कपड़ों में किरणें आसानी से प्रवेश कर जाती हैं और अधिक मोटे कपड़े गर्मी बढ़ाते हैं। इसलिये हमेशा आरामदायक कपड़े ही पहने।
  4. अधिक समय तक धूप में न रहें और कोशिश करें कि जब आप बाहर रहें तो किसी छाया या पेड़ के नीचे खड़े रहें। जब आप रोड पर चल रहे हों तो बीच में चलने की बजाय किनारे की तरफ छूकर चलें जिससे रोड के किनारे लगे हुये पेड़ों की छाया आपको धूप की किरणों से बचा सके। धूप के दिनों में बाहर जाने के लिए दो पहिया वाहन का प्रयोग करें या बस में सफ़र करें लेकिन ज्यादा दूर तक पैदल चलने से बचें। क्योकि अगर आप जितनी दूर धूप में पैदल चलेंगे उतनी ही देर तक किरणों के संपर्क में रहेंगे।
  5. धूप से बचने के घरेलू उपाय, अगर आप एक खिलाड़ी हैं तो आपको खेलते वक्त अपने सर पर टोपी लगानी चाहिये और साथ ही आँखों को धूप से बचाने के लिए चश्मे का भी प्रयोग करना चाहिये। खेलने के लिये ऐसी जगह को चुनें जो छायादार हो या कम छायादार हो जिससे खेलते वक्त आप पूरे समय धूप के संपर्क में न रहें। बच्चों को भी दोपहर के वक्त रोड पर खेलने की बजाय छायादार मैदान में खेलना चाहिये।

गर्मी में त्वचा की समस्याएं एवं उनके समाधान

ऐसा माना जाता है कि SPF या सन प्रोटेक्टिव फैक्टर (sun protective factor) का अंक SPF का प्रभाव्प्रदार्षित करता है, पर असल में यह अंक यह दर्शाता है कि यह आपको कितनी देर तक सूरज की अल्ट्रावायलेट (ultraviolet) किरणों से बचाता है। इसे निकालने के लिए एक गणना की जाती है, जिसके अंतर्गत आपकी त्वचा को जलने में लगने वाले समय को SPF के समानांतर अंक के साथ गुना किया जाता है। अतः अगर आपकी त्वचा सूरज की किरणों के संपर्क में 5 मिनट तक आने के बाद जलती है, तो SPF 30 आपकी त्वचा को 150 मिनट तक बचाएगा।

अमेरिकन अकादमी ऑफ़ डर्मेटोलॉजी (american academy of dermatology) के अनुसार आपको SPF 30 या इससे ज़्यादा की क्रीम का ही प्रयोग करना चाहिए। उच्च SPF वाले फ़ॉर्मूला (formula) का प्रयोग करने से आमतौर पर मना ही किया जाता है, क्योंकि ये आपको झूठी आशा देते हैं और इनकी वजह से आपके शरीर के अन्दर काफी मात्रा में रसायन प्रवेश करते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि आजकल SPF 50 इससे कम SPF की तुलना में कोई खास ज्यादा सुरक्षा प्रदान नहीं करता।

पानी की कमी ना होने दें (Stay hydrated hai dhoop se bachaw)

चाहे दिन कितना ही गर्म या ठंडा क्यों ना हो, आपके शरीर को तरोताजा बनाए रखने के लिए पानी ही सबसे अच्छा विकल्प साबित होता है। विशेषज्ञों द्वारा सुझाया गया है कि पुरुषों को रोजाना 13 कप या 3 लीटर पानी तथा महिलाओं को रोज़ाना 9 कप या 2.2 लीटर पानी पीना चाहिए।

  • अगर आप बाहर गर्मी में सामान्य काम कर रहे हैं तो विशेषज्ञों के अनुसार आपको हर 15 से 20 मिनट के अन्दर 1 कप पानी पीना चाहिए।
  • ऐसा कहा जाता है कि स्पोर्ट्स ड्रिंक्स (sports drinks) में कथित तौर पर इलेक्ट्रोलाइट्स (electrolytes) के गुण होते हैं, पर फिर भी पानी ही आपको सबसे प्रभावी रूप से नमी प्रदान करता है। इसका कारण यह है कि स्पोर्ट्स ड्रिंक्स में चीनी और सोडियम (sodium) मौजूद होते हैं। भले ही ये इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं, पर चीनी में काफी मात्रा में कैलोरीज (calories) मौजूद होती है और नमक आपके शरीर में पानी की कमी करने में पूरी तरह सक्षम होता है। अगर आप अपने शरीर के इलेक्ट्रोलाइट के स्तर को लेकर चिंतित हैं तो एक मुट्ठीभर प्रेत्ज़ेल्स और नट्स (pretzels and nuts) का सेवन करके इन्हें शरीर में वापस लाया जा सकता है।

कैफीन और शराब से दूर रहें (Avoid caffeine and alcohol)

कैफीन और शराब दोनों ही आपके शरीर में पानी की मात्रा को कम कर सकते हैं, अतः इनसे जितना हो सके परहेज करने का प्रयास करें। बीच बीच में पिया जाने वाला ठंडा सोडा (soda) आपके शरीर में भले ही पानी की कमी नहीं करता, लेकिन फिर भी यही बेहतर होगा कि आप पानी का सेवन करें।

गर्मी में शरीर को ठंडा रखने के उपाय

शराब आपके निर्णय लेने की क्षमता को काफी क्षति पहुंचाती है और प्रतिक्रिया करने के समय में भी काफी वृद्धि करती है। वयस्कों और किशोरों में पानी में मौज मस्ती करते हुए होने वाली मृत्यु का 70 प्रतिशत शराब की वजह से होता है। अगर आप बीच बीच में गर्मियों में बियर (beer) पी लेते हैं तो अब से दोगुनी मात्रा में पानी का सेवन करना शुरू कर दें।

धूप से बचकर रहें (Stay out of the sun – twacha ki dekhbhal kaise kare)

सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच बाहर जाने से परहेज करें क्योंकि इस समय सूरज की UV किरणें सबसे ज्यादा प्रभाव छोड़ती हैं। अगर आप उस समय बाहर भी हैं तो छाया में रहने का प्रयास करें। सनबर्न (sunburn) छाया में या बादल भरे दिनों में भी हो सकता है, पर कम से कम यह आपकी सुरक्षा करेगा।

  • अपने लिए हमेशा छाँव की व्यवस्था करके ही रखें। सूरज की रोशनी से बचाव के लिए हमेशा अपने साथ एक छाता या पैरासोल (parasol) अवश्य रखें।
  • भरी दोपहरी के समय कोई शारीरिक कार्य ना करें, बल्कि इसके लिए सुबह या शाम का समय चुनें। अगर आपको फिर भी दोपहर में बाहर काम करना पड़ा तो बार बार अंतराल लेने की चेष्टा करें और हर 15 से 20 मिनट में 1 कप पानी पीते रहें।
  • अगर आप अपने बच्चों को बाहर घुमाने ले जाना चाहते हैं तो इसके लिए दिन के ठन्डे समय का चुनाव करें। बच्चे के स्ट्रोलर (stroller) के ऊपर कैनोपी (canopy) की छाँव कर दें। गर्म दिन में निकलते हुए इस बात का ध्यान रखें कि बच्चे पूरी तरह से कपड़ों, टोपी, चश्मों और सनस्क्रीन (sunscreen) से ढके हों।