Glycerin for skin care & hair care tips in Hindi – त्वचा एवं बालों की देखभाल के लिए ग्लिसरीन के लाभ

ठंड में ठंडी हवा के कारण त्वचा उचित नमी के अभाव में अत्यंत सूखी हो जाती है। ग्लिसरीन क्या है? ग्लिसरीन एक चिपचिपा रंगहीन और गाड़ा तरल है। ग्लिसरीन प्राकृतिक शीतल गुण के कारण यह त्वचा के साथ साथ बालों के लिए भी उपयोगी है।

ग्लिसरीन की कुछ बुंदों को दूसरे प्राकृतिक पदार्थों के साथ मिलाकर त्वचा के लिये एक मास्क एवं पेस्ट तैयार किया जाता है। त्वचा में ग्लिसरीन पतला कर के लगाने पर यह वातावरण से नमी को त्वचा में खींच लेता है। यह सभी दवाईयों की दुकानों पर उपलब्ध है। इसे बनने के बाद 2 साल तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

ग्लिसरीन कार्बन कंपाउंड्स (carbon compounds) में से एक है। ग्लिसरीन का सामान्य फार्मूला (formula) है C3H8O3। इसे रसायन विज्ञान में ग्लिसेरोल (glycerol) कहा जाता है। ग्लिसरीन एक ह्यूमेकटैंट (humectant) का काम करता है, जिसका अर्थ यह है कि यह आसपास से पानी को सोखने का काम करता है। इस मिश्रित ग्लिसरीन का जब आप अपनी त्वचा पर प्रयोग करते हैं तो इससे आपकी त्वचा को नमी प्राप्त होती है।

ग्लिसरीन हर बड़ी दवाई की दुकान पर उपलब्ध होता है। आप इसे इसके उत्पादन से 2 साल के अन्दर प्रयोग में ला सकते हैं। ग्लिसरीन को खरीदने से पहले इसका लेबल (label) जांच लें। नीचे ग्लिसरीन के कुछ सौन्दर्य लाभों के बारे में बताया गया है।

ग्लिसरीन के फायदे (Some characters of glycerin – glycerin ke fayde hindi me)

मुल्तानी मिट्टी के सौंदर्य टिप्स

1.   सामान्य तापमान पर भी चिपचिपा और गाढा होने के कारण खाद्य पदार्थों में उपयोग में लाया जाता है।

2.   जैव अनुकूल होने के कारण जीवित उत्तकों (टिशू) जैसे मांसपेशियों के लिये भी यह उपयोगी होता है।

3.   जल में घुल जाने के कारण कई फार्मा उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है।

4.   इसे शरीर में अंदरूनी एंव बाहर इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

5.   हवा के साथ जल्दी न उड़ने की वजह से कई जगहों पर चिकनाई देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

त्वचा की खूबसूरती में ग्लिसरीन का उपयोग (Beauty benefits of glycerin for skin)

कांतिमय कोमल त्वचा (Skin smoothening mei glycerin ka use)

ग्लिसरीन और गुलाब जल पूरे शरीर की खुरदरी तथा सूखी त्वचा के साथ-साथ घुटनों तथा कोहनियों को भी कोमल व मनमोहक बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं ।

सेल मैच्युरेशन समस्याओं का उपचार (Maturation of cell)

कोशिका के मैच्युरेशन के लिये बहुत कारगर होता है। इसके निरंतर उपयोग से ऑयली त्वचा एवं बैक्टीरियल त्वचा-संक्रमण वाली समस्याओं के साथ ब्लैकहेड्स, कील व मुंहासों जैसी परेशानियों से भी दूर रह सकते हैं।

त्वचा की बीमारियों के उपचार में सहायक (Treatment of skin problems)

तैलीय त्वचा वाले लोगों को हमेशा ग्लिसरीन का प्रयोग करना चाहिए, क्योंकि यह ऐसी त्वचा पर काफी अच्छे से काम करता है। अगर आपकी त्वचा पर बैक्टीरिया (bacteria) का संक्रमण हो गया है तो ग्लिसरीन आपकी काफी सहायता करेगा।

ग्लिसरीन के उपयोग – त्वचा को समान बनाना (Even skin structure ke liye glycerin ke labh)

जाने केसर किस तरह हमारे सौंदर्य और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है

ऐसे कई लोग हैं जिनकी त्वचा साफ़ और समान होती है। ऐसी त्वचा पाना काफी आसान है। ग्लिसरीन में हाईग्रोस्कोपिक (hygroscopic) तथा ह्युमेकटेंट्स (humectants) के गुण होते हैं जो आपको समान त्वचा प्रदान करते हैं। क्योंकि इसमें उतनी ही मात्रा में नमी होती है जितने कि आपकी त्वचा को ज़रुरत है, अतः आपकी त्वचा बिना चिपचिपेपन के काफी खूबसूरत लगेगी। ऐसे कई बाहरी तत्व हैं जो आपकी त्वचा को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं। ग्लिसरीन आसानी से इन तत्वों से आपकी त्वचा की रक्षा करता है।

ग्लिसरीन के उपयोग – त्वचा पर नरमी (Gentleness over skin)

बाज़ार में मौजूद सौन्दर्य उत्पाद आपकी त्वचा के लिए काफी हानिकारक सिद्ध हो सकते हैं। परतु ग्लिसरीन त्वचा के लिए काफी अच्छी और 100% सुरक्षित होता है। अतः इसे त्वचा के लोशन (lotion), साबुन और क्रीम (cream) में भी इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि तैलीय त्वचा वाले लोग हर तरह के उत्पादों का प्रयोग नहीं कर सकते, अतः उन्हें उत्पादों के चुनाव के समय सावधानी बरतनी होगी। यह काफी सौम्य होता है और त्वचा पर किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है। इसके साइड इफेक्ट्स (side effects) भी काफी कम हैं।

त्वचा में पानी को सोखे (Retention of water in skin)

नमी के साथ ही आपकी त्वचा को पर्याप्त मात्रा में पानी की भी आवश्यकता होती है, जिससे चेहरा खूबसूरत लग सके। क्योंकि ग्लिसरीन में ह्यूमेकटैंट के गुण होते हैं, अतः इसके प्रयोग से आपकी त्वचा में पानी को सोखकर रखा जा सकता है। ग्लिसरीन के हाइग्रोस्कोपिक (hygroscopic) गुण हवा से पानी को खींचते हैं तथा इसे त्वचा की तरफ भेज देते हैं। इससे आपकी त्वचा काफी मुलायम और पहले के मुकाबले काफी ज़्यादा पोषण युक्त हो जाती है।

त्वचा के लिए मोइस्चराइज़र (Moisturizer for the skin)

ग्लिसरीन और शहद को बराबर भाग में मिश्रित करें और अच्छे से मिलाएं। इस मिश्रण का प्रयोग अपने रूखे हाथों, पैरों और चेहरे पर करें। इसे अपने शरीर पर करीब आधे घंटे के लिए रखें और फिर ठन्डे पानी से धो लें। ग्लिसरीन हमारे प्रभावित भागों को पोषण प्रदान करके नमी का संचार करता है और इन्हें रूखेपन से मुक्त करता है।

स्कीन एक्सफोलिऐटिंग एजेन्ट एवं टोनर (Glycerin as skin exfoliator)

1 छोटा  चम्मच ग्लिसरीन्, 2 छोटे  चम्मच शहद, 2 छोटे  चम्मच दूध एवं ओटमील से तैयार गाढ़े पेस्ट को चेहरे पर रगडने से त्वचा के रोम-छिद्र खुल कर त्वचा कांतिमय, गोरी व सुंदर हो जाती है । एक बेहतर टोनर के रूप इसे नींबू के रस में मिलाकर त्वचा से धूल व तेल को दूर किया जा सकता है।

तैलीय चेहरे की त्वचा के लिये मेकअप किट में सौंदर्य उत्पाद

चेहरे के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल – त्वचा में निखार लाए (Skin lightening)

ग्लिसरीन आपकी त्वचा में निखार लाने में भी काफी कारगर सिद्ध होता है। यह टैनिंग (tanning) से आपको पूरी तरह सुरक्षा प्रदान करता है। इस उत्पाद का प्रयोग करके आप अपनी त्वचा की परतों से गन्दगी को बाहर निकाल सकते हैं। जल्दी ही आप पाएंगे कि आपकी त्वचा में बेहतरीन गोरापन आ गया है। ग्लिसरीन ज़्यादातर टोनर्स तथा मॉइस्चराइज़र्स (toners and moisturizers) में काफी मात्रा में प्रयोग किया जाता है। यह त्वचा को नमी देने में सहायता करता है तथा आपका रंग भी साफ़ करता है।

उम्र बढ़ने से रोकने में सहायक (Anti aging aid)

ग्लिसरीन और गुलाब जल एंटी-एजिंग गुण के कारण इसका इस्तेमाल से त्वचा पर झुर्रियाँ पड़ने से रोक सकते हैं और त्वचा अधिक जवान व सुंदर दिखाई देती है।

चेहरे के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल – त्वचा का टोनर (Glycerin ka use in hindi as skin toner)

ग्लिसरीन की मदद से त्वचा को स्वस्थ रूप से साफ़ किया जा सकता है। इसके प्रयोग से त्वचा का रंग टोन्ड (toned) होता है। आप इसका प्रयोग त्वचा के काले धब्बे एवं अन्य अशुद्धियों को दूर करने में कर सकते हैं। यह एक प्राकृतिक पदार्थ है और इसमें थोड़ा सा नींबू का रस मिलाने से एस्ट्रिंजेंट तथा ब्लीचिंग एजेंट (astringent and bleaching agent) दोनों का काम हो जाता है।

बालों के लिए ग्लिसरीन के लाभ (Hair benefits of glycerin in Hindi)

हाइड्रोस्कोपिक एवं नमी बनाये रखने वाले गुण (Retention of water in skin)

हाइड्रोस्कोपिक एवं नमी सोखने के गुणों के कारण त्वचा को नुकसान पहुंचाने वाले बाहरी तत्वों को बाहर ही रोक देता है।

नमी देने का बेहतरीन गुण (Moisturizer for the skin)

आपकी त्वचा की देखभाल के लिए गुलाब जल के शीर्ष सौंदर्य लाभ

समान मात्रा में शहद व ग्लिसरीन को मिलाकर शुष्क, कटी-फटी त्वचा उपचार में 20 मिनट तक लगाकर रखें के बाद ठंडे पानी से धो लें।

बालों के लिए लाभदायक (Uses of glycerin for hair)

बालों में नमी बनाये रखता है। नियमित इस्तेमाल से बालों का झडना व टूटना रूकता है एवं बाल लंबे घने होते हैं । पानी व ग्लिसरीन को बराबर मात्रा में मिलाकर इस का इस्तेमाल घुंघराले बालों के लिये किया जाता है। यह बालों में प्राकृतिक तेल को बनाये रखता है। इसे नारियल तेल में मिलाकर सिर की मालिश करने से सिर की खुश्की , रूसी, दोमुहे बालों की समस्याओं से निजात भी पायी जा सकती है।

सिर की खुजली से बचाव (Eradicating itch)

ठण्ड में आपके त्वचा की परतें रूखी होने लगती हैं। इस समय सिर की त्वचा भी काफी खुश्क हो जाती है जिससे खुजली होने लगती है। पर अगर आप रोजाना ग्लिसरीन का प्रयोग अपने सिर पर करें तो खुजली की समस्या से मुक्ति पाना संभव है।

डैन्ड्रफ से बचाव (Stopping dandruff)

आज के दौर में डैन्ड्रफ काफी गंभीर समयसा बनता जा रहा है। अगर आप ठण्ड के मौसम में निरंतर ग्लिसरीन का इस्तेमाल कर सकें तो डैन्ड्रफ से छुटकारा पाना काफी आसान हो जाएगा। ग्लिसरीन में आराम प्रदान करने वाले गुण होते हैं जो आपकी त्वचा की परतों को सुकून पहुंचाते हैं। इस तरह डैन्ड्रफ पर आसानी से काबू पाया जा सकता है।

दोमुंहे बालों की समस्या को रोके (Stopping split ends)

प्रदूषण और अन्य समस्याओं की वजह से आजकल बाल लम्बे होते ही दोमुंहे होने लगते हैं। ग्लिसरीन के प्रयोग से बालों का दोमुंहा होना रूक जाता है। अगर इसमें एसेंशियल तेलों (essential oils) की कुछ बूँदें मिला दी जाएं तो यह और भी प्रभावी बन जाता है।

बालों का स्प्रे (Hair spray – glycerin ke gun)

पानी और ग्लिसरीन को बराबर मात्रा में मिलाएं। अब इसे एक स्प्रे बोतल (spray bottle) में भरें और बालों को घुंघराला रखने के इसे बालों पर छिडकें। यह बालों के लिए एक बेहतरीन कंडीशनर (conditioner) का काम करता है।

फ्रिज़ी बालों की देखभाल (Frizzy hair care)

नीम के तेल का लाभ बालों की देखभाल, त्वचा की देखभाल, सौंदर्य की देखभाल के लिए

हममें से कई लोग फ्रिज़ी और बिना कंडीशन (condition) किये हुए बालों की देखभाल को लेकर काफी चिंतित रहते हैं। ये फ्रिज़ी और बिना कंडीशन किये हुए बाल ही बालों के क्षतिग्रस्त होने और झड़ने का कारण होते हैं। बालों के फ्रिज़ी होने का मुख्य कारण इनमें नमी की मात्रा का ना होना है। अगर आप बालों में ग्लिसरीन का प्रयोग करें तो आपको फ्रिज़ी और बिना कंडीशन किये हुए बालों की समस्या से छुटकारा प्राप्त हो सकता है।

घुंघराले बालों की देखभाल (Maintaining curly hair)

घुंघराले बाल देखने में तो काफी अच्छे लगते हैं, लेकिन आपको इनकी देखभाल भी काफी अच्छे से करनी पड़ती है। इस तरह के बालों को कंडीशन करने के लिए ग्लिसरीन का प्रयोग किया जा सकता है। ये हवा से नमी प्राप्त करता है और इसका संचार बालों में करता है। इससे आपके बाल नमी को सोख पाएंगे और काफी स्वस्थ भी रहेंगे। आप अपने घुंघराले बालों को प्राकृतिक तैलीय स्तर पर रख सकते हैं और ये नमी की कमी की वजह से रूखे नहीं बनेंगे।

तेल और ग्लिसरीन (Oil and glycerin)

आप ग्लिसरीन का प्रयोग अपने बालों में लगाने वाले तेल के साथ कर सकते हैं। नारियल का तेल आपके बालों के लिए काफी अच्छा होता है और आप इसमें ग्लिसरीन की कुछ बूँदें डालकर अपने सिर की मालिश भी कर सकते हैं। इसे रातभर के लिए छोड़ दें और सुबह बालों को शैम्पू से धो लें। अगर आपके बाल रूखे हैं तो आप जैतून के तेल (olive oil) और ग्लिसरीन का मिश्रण अपने बालों में लगा सकते हैं।