Top benefits of eating nutrition rich food – पोषाहार खाने के श्रेष्ठ लाभ

स्वस्थ पौष्टिक आहार को लेने से आपको स्वास्थ्य सम्बंधित बहुत से लाभ प्राप्त होते है, जो आपको केवल शरीर से मजबूत नहीं बनाएगा बल्कि आपके दिमाग को तेज़ और स्वस्थ बनाएगा। सही मात्रा में अपने आहार में प्रोटीन, विटामिन, पौष्टिक तत्व (nutrients) और मिनरल को मिलाने से आपको अनगिनत लाभ मिलते है।

अगर आपको अपने आहार में स्वस्थ पदार्थो को मिलाना है तो आपको यह जानना चाहिए की कौन से पदार्थ में क्या पोषण छुपे हुए है और फिर उस अनुसार उन्हें अपने रोजाना के आहार में मिलाये। एक लिस्ट बनाए जिसमे आपको दिनभर में क्या खाना है वो सब लिख डालें। स्वस्थ से, ज्यादा स्वस्थ वाले प्रोडक्ट की ओर बढ़ते रहे और उनका सही मात्रा में सेवन करे और इस तरह स्वस्थ और सेहतमंद रहे।

शरीर के विकास के लिए पोषण बहुत ही अनिवार्य है। अगर आप स्वस्थ रहना पसंद करते है तो अपने आहार में पौष्टिक तत्वों को ज़रूर मिलाये। जब भी आप प्रोडक्ट (पदार्थ) की खरीदारी के लिए जाए तब अपने हर खाने के पदार्थ में उनमे मौजूद सामग्री को पढ़कर उनको खरीदने का विचार बनाये। हम सब खाने को केवल भूख मिटाने के लिए नहीं खाते बल्कि स्वाद के अनुसार भी खाते है।

आप अपने बच्चो को देख सकते है की वो खाना सही पर्याप्त से नहीं खा रहे है क्यूंकि उन्हें वो स्वाद उस खाने में नहीं मिल रहा है। लेकिन माता- पिता को उनके स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए। इसलिए यह आवश्यक है की वे सही मात्रा में पौष्टिक तत्वों को खाए।

पोषण से भरपूर आहार को खाने से प्राप्त होते है यह सब लाभ (Benefits of consuming nutrition rich food)

पोषण आहार से स्वस्थ हृदय (Healthy heart)

एक पौष्टिक आहार जिसमे कम फैट, सोडियम (sodium) और कोलेस्ट्रोल (cholestrol) होता है वो आपके हार्ट से सम्बंधित बीमारियों को दूर रखता है। इसलिए उन आहार को ज्यादातर खाए जिन्मे फल, पत्तेदार सब्जियां, कम फैट के डायरी प्रोडक्ट और अनाज हो जिस से आपका हृदय स्वस्थ रह सके। एक दिन में 4 से 5 बार फल और सब्जियों को खाने से आपको स्वस्थ सेहत प्राप्त होगी और हृदय की बिमारोयों से भी दूर रहेंगे।

क्या फल खाना सेहत के लिए लाभदायक होता है? शरीर पर फलों का प्रभाव

फैट के प्रकार से भी आप सेहत से सम्बंधित जोखिम में बदलाव ला सकते है। सैचुरेटेड (saturated) और ट्रांस फैट (trans fat) जो रेड मीट, पाम आयल (palm oil), नारियल का तेल, फ्राइड फ़ूड, पैकेज्ड स्नैक फ़ूड और नकली मक्खन (margarine) में मौजूद होता है जिस से हृदय के स्वास्थय पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए अपने आहार में से इन पदार्थो को दूर करें क्यूंकि यह फैट आपके शरीर के लिए हानिकारक है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

पौष्टिक आहार का महत्व एनर्जी (Poshtik bhojan se energy)

सही आहार का सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है की एनर्जी की मात्रा को बढ़ाना। शरीर में शुगर की मात्रा स्थिर रहती है जब बॉडी में ज्यादा फैट, रिफाइंड कार्बोहायड्रेट (refined carbohydrate) और शुगर नहीं होता। वाइट ब्रेड और कैंडीज (candies) में रिफाइंड कार्बोहायड्रेट होता है, इसलिए इन्हें अपने आहार से निकाल दें। रिफाइंड की बजाय आप अनप्रोसेस्ड कार्बोहायड्रेट (unprocessed carbohydrate) को अपनाए जो फल, सब्जियां और अनाज में मौजूद रहता है। यह अनप्रोसेस्ड कार्बोहायड्रेट में ब्लड शुगर की मात्रा को संतुलित रखने के गुण होते है जिस से आपकी एनर्जी बढ़ती है।

पोषण का महत्व स्वस्थ ब्रेन (Brain health)

एक सही पौष्टिक आहार ब्रेन में ब्लड के बहाव को नियंत्रित करता है जिस से आप ब्रेन सम्बंधित समस्या जैसे अल्झाइमर (alzheimer) और पार्किन्सन (parkinson) के शिकार बनने से बच सकते है। इसलिए अपने आहार में डार्क फल, डार्क सब्जियाँ जैसे पालक, ब्रोक्कोली, किशमिश, प्लम (plum), सूखा आलूबुखारा (prunes), चेरी, गोभी (kale), ब्लूबेरी, रसभरी (raspberry) और अन्य को मिलाये। विटामिन E वाले पदार्थो को ज्यादा खाए जैसे की पेकान  (pecan), बादाम, अखरोट और दुसरे नट्स जिन में अल्झाइमर से लड़ने की क्षमता हो। स्वस्थ ब्रेन (स्वस्थ दिमाग) के लिए आपको बेक्ड, फ्राइड, ग्रिल्ड (grilled) और स्टीम्ड (steamed) खाने से दूर रहना होगा।

पौष्टिक भोजन से नियंत्रित वजन (Weight control)

जब भी बात वजन घटाने की आती है या वजन को सही से नियंत्रित करना होता है तो सबसे पहले आहार में बदलाव लाना आवश्यक होता है। इसलिए ध्यान रखे की आप अपने आहार में ज्यादा कैलोरी (calorie) मात्रा वाले खाने को ना मिलाये। आप अपने आहार में लीन प्रोटीन, कम फैट वाला डायरी प्रोडक्ट, फल, सब्जियां और अनाज को शामिल करें। यह सभी खाने में कम कैलोरी होती है। इन पदार्थो को लें और फ़ास्ट फ़ूड, मीठा, हाई फैट को दूर रखें क्यूंकि इन सब से आपका वजन बढ़ता है और आप ओबेसिटी (obesity) के शिकार बन सकते है या अन्य अस्वस्थ परिस्तिथि से गुजरान पड़ेगा जैसे थाइरोइड डिसफंक्शन (thyroid disfunction), टाइप-2 डायबेटिक्स  (type- 2 diabetics) और क्लोग्ड आर्टरीज (clogged arteries)।

अच्छा खाना जो आपके मस्तिष्क शक्ति को बढ़ाये

दांत और हड्डी की ताक़त (Teeth and bone strength hai paushtik bhojan ke labh)

दांत और हड्डियाँ शरीर के सबसे महत्वपूर्ण भाग है जिनके बिना शरीर सही रूप से नियंत्रित नहीं हो सकता। उदहारण के लिए, अगर आपके कमज़ोर दांत है तो आपको खाने को चबाने में दिक्कत होगी और इस कारण आप खाना सही से पचा भी नहीं पायेंगे। और अगर आपकी हड्डियां कमज़ोर है तो आप सीधे खड़े नहीं रह सकेंगे, चलने में परेशानी होगी और कोई भी शाररीक गतिविधियों को करने में दिक्कत होगी। इसलिए आपको अपने खाने में पौष्टिक तत्व जैसे कैल्शियम (calcium) को मिलाना है जिस से आपकी हड्डियाँ और दांत दोनों मजबूत बनेंगे।

नियंत्रित ब्लड प्रेशर (Controls blood pressure)

आज कल आप बहुत से लोगो को जानते होंगे जिनका हाई ब्लड प्रेशर रहता है। इसका कारण है घर पर या ऑफिस पर ज्यादा टेंशन या स्ट्रेस रहने से। लेकिन कुछ पौष्टिक तत्व आपको आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में सहायक कर सकते है। इस कारण आप अपने ब्लड प्रेशर को संतुलित रख सकेंगे। इस परिणाम के लिए आपको अपने आहार में पोटैशियम (potassium) से भरपूर खाने को मिलाना होगा।

पौष्टिक भोजन के लाभ, पाचन में सहायक (Helps digestion poshtik aahar se)

ज्यादातर लोग पाचन से सम्बंधित समस्या का शिकार बनते है। उन्हें एसिडिटी (acidity) और गैस (gas) से लगातार गुज़रना पड़ता है। यह सब उनके साथ इसलिए होता है क्यूंकि वे ज्यादा मिलावटी सामग्री का खाना खाते है। लाइफस्टाइल में बदलाव भी बदहजमी (indigestion) की समस्या को उत्पन्न कर सकता है। अगर आप ज्यादा तेल और हाई कोलेस्ट्रोल का खाना खाते है तो आपका शरीर पाचन को सही से संतुलित नहीं रख पाता है। इस कारण आपको बदहजमी की समस्या से गुज़रना पड़ता है। लेकिन अलसी के बीज (flax seeds) में पोषण भरपूर होता है जिस से आपकी पाचन की शिकायत दूर हो सकती है।

loading...