Ear piercing tips in Hindi – कान छेदने के बाद देखभाल के सर्वोत्तम सुझाव

हर बच्ची के जन्म के बाद उनके कान में छेद किये जाते हैं जिससे वह कान में बाली पहन सकती हैं। आजकल एक से ज्यादा छेद करने की फैशन हो गई है। कान में छेद करने के बाद उसे संक्रमण से बचाना बहुत जरुरी है। कान में बाली पहनने से पहले उस छेद का जख्म पूरी तरह से ठीक होना जरुरी है।

कानों में एक से ज्यादा छेद करना परंपरा की बजाय फैशन की बात हो गई है। कई लडकियां सुंदर दिखने के लिए एक से ज्यादा छेद करा लेती हैं। छेद में संक्रमण से बचने के लिए निचे दिए गए सुझावों का पालन करें।

कान छिदवाना और कान छेदने के बाद देखभाल के सुझाव (Ear piercing after care Tips)

  • नए छेद से छेड़छाड़ न करें।
  • हर रोज छेद को 2 बार धोयें।
  • कीटाणुरोधी उत्पाद इस्तेमाल करें।
  • सोडियम युक्त उत्पाद इस्तेमाल करने से बचें जो त्वचा को हानि पहुंचा सकता है।
  • छेद की जगह पर नमी बनाये रखें।
  • अगर आपको किसी प्रकार का संक्रमण दिखे तो डॉक्टर की सलाह लें।
  • छेद को हाइड्रोजन पेरोक्साइड या अल्कोहोल से साफ़ न करें।
  • कीटाणुरोधी मलम न इस्तेमाल करें।
  • छेद पर किसी प्रकार का दबाव न दें।
  • छेद ठीक होने से पहले कोई आभुषण न पहने।

इयर कैण्डल के प्रयोग द्वारा कान

ज्यादा देर सोना, सब्जियां खाना और फल खाना छेद का जख्म ठीक होने में मदद कर सकता है।

कान छिदवाने और कान छेदने के बाद देखभाल के सुझाव (After care tips of ear piercing)

कान छिदवाना, संभलकर छेद करना (Kaan chidwana or piercing with care)

  • छेद करते समय छेद करने वाला बाली से छेद करेगा। यह बाली कानों की त्वचा के लिए सुरक्षित होती है। आपको जितने समय तक बाली रखने के लिए कहा जाए तब तक उसे छेद में रखें। समय के पहले निकालने से जख्म बढ़ सकती है।
  • छेद करने के लिए 6 हफ़्तों तक कान में बाली रखें।
  • अगर बाली पूरी तरह से छेद ना करें तो उसे 8 से 12 हफ़्तों तक रखें।

कान का छेदन, कानों का न छुएं (Avoid touching ears)

एक बार छेद करने के बाद उस जगह को बार बार न छुएं। छूने से संक्रमण हो सकता है। उसे सिर्फ साफ़ करते समय छुएं और साफ करने के लिए कीटाणुरोधी साबुन इस्तेमाल करें।

कान का छेदन, बाली में अटकने वाले कपडे न पहने  (Avoid the items that snag earrings)

  • ऐसे कई कपडे, रुमाल या टोपियाँ है जिन्हें पेहेनने से वह कानों की बाली में अटक सकती हैं।
  • अगर आप बुरखा पहनती हो तो उसे थोडा ढीला पहने। बुरखा हमेशा साफ़ और धुला हुआ होना चाहिए।

घर पर कानों को साफ़ करने के बेहतरीन उपाय

कान छिदवाने, कोई भी चीज आपके कानों को न छुएं (No substance should touch your ear)

कई शैम्पू और साबुन नहाते समय आपके कानों पर गिर सकते हैं। इसके हानिकारक रसायन आपके कान के जख्म को बिगाड़ सकते हैं।

  • नहाते समय शावर कैप का इस्तेमाल करें।
  • गर्मियों में तैरते समय कानों पर पानी लग सकता है। इसलिए थोड़े दिन तैराकी न करें।

सोने का तरीका (Sleeping technique)

सोते समय अपनी पीठ के बल सोयें। अपने कानों को तकिये से दबाये न रखें। अगर पीठ के बल ज्यादा देर न सो सकें तो करवट पर एक नरम और कीटाणुरोधी तकिया इस्तेमाल करें।

शुरुआत के बाली को निकालें (Removal of starter earring)

जब आप कान छिदवाने की प्रक्रिया से गुज़रती हैं तो कान छेदने वाला विशेषज्ञ कान छिदवाने के तुरंत बाद आपके कानों में एक बाली पहनाता है। पर जब आप एक बार घर में आएं तो इस बाली को ना निकालें। इसे तभी निकालें जब प्रभावित भाग पूरी तरह ठीक हो गया हो। ऐसा नहीं करने पर आपके द्वारा छिदवाए हुए कान का रास्ता बंद हो जाएगा। इस बाली को निकालने का सही वक़्त कान छिदवाने के 8 से 12 हफ्ते के बाद का है।

कान ढकने वाले कपड़ों से कुछ दिनों तक परहेज करें (Avoid garments or items that snag ears)

जिस तरह से आप विभिन्न प्रकार के कपड़े पहनती हैं, उसी प्रकार आपको ऐसी चीज़ों की तलाश करनी चाहिए जो गर्मी को सोख लें। हम इनका प्रयोग मुख्यतः गर्मियों और सर्दियों में करते है. क्योंकि हमें अत्याधिक ठंड और गर्मी से अपने कान को बचाने की आवश्यकता महसूस होती है। पर अगर आपने हाल में ही अपने कान छिदवाए हैं तो स्कार्फ तथा हैट (scarf and hat) जैसे उत्पादों का इस्तेमाल ना करें, जिससे कि ये आपके कान के चोटिल भाग के संपर्क में न आएं और इसके ठीक होने की प्रक्रिया में बाधा ना पहुंचाएं।

छेद किए हुए भाग को साफ करें (Clean piercing area)

एक बार जब कान छिदवाने की प्रक्रिया सम्पन्न हो जाती है तो यह स्वाभाविक है कि इससे खून और पस बाहर निकलेगा। अतः कान के इस प्रभावित भाग को साफ करना काफी ज़रूरी है। इस भाग को साफ करने के लिए पानी लें और इसमें थोड़ा सा एंटीसेप्टिक (antiseptic) द्रव्य डालें। अब इसमें रुई का गोला डुबोएं और धीरे धीरे छेद वाली जगह पर लगाकर धीरे धीरे रगड़ें। आप नमक के पानी के मिश्रण से भी इस जगह को साफ कर सकते हैं।

loading...