Best essential oils for weight loss and cellulite in Hindi – वज़न घटाने एवं सेल्युलाईट के लिए श्रेष्ठ आवश्यक तेल

आवश्यक तेल सेल्युलाईट एवं वज़न बढ़ने की समस्याओं से निपटने का एक कम जाना हुआ तरीका है। पर शोधों से पता चला है कि आवश्यक तेल वज़न घटाने एवं त्वचा पर जमा रिवर्स (reverse) सेल्युलाईट को दूर करने के इच्छुक लोगों के लिए सीधे और परोक्ष दोनों स्वरूपों में फायदेमंद होते हैं। आवश्यक तेलों का नियमित प्रयोग स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) दूर करता है, ढीली त्वचा को मज़बूत बनाता है एवं मस्तिष्क में वज़न घटाने का अच्छा माहौल तैयार करता है। आवश्यक तेल तनाव एवं भावनात्मक समस्याओं को दूर करता है एवं शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। यह अब साबित हो चुका है कि वज़न का बढ़ना एवं अधिक भोजन करना मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े हैं। अतः आवश्यक तेलों का प्रयोग वज़न बढ़ने से जुड़ी समस्याओं का इलाज करने के सबसे मूलभूत तरीकों में से एक है। आवश्यक तेलों में एंटी एजिंग (anti-aging) गुण होते हैं, जो कोलेजन (collagen) की हानि रोकते हैं एवं त्वचा की कोशिकाओं में सेल्युलाईट बढ़ाते हैं।

यहाँ वज़न घटाने एवं सेल्युलाईट का इलाज करने के लिए श्रेष्ठ आवश्यक तेलों के बारे में बताया गया है:

दालचीनी का तेल (Cinnamon oil)

दालचीनी का तेल कुकीज, केक्स (cookies, cakes) एवं मिठाइयों में इस्तेमाल किये जाते हैं। यह स्टीम डिस्टिलेशन (steam distillation) की प्रक्रिया द्वारा दालचीनी के पेड़ की पत्तियों एवं छाल से प्राप्त किया जाता है। दालचीनी के तेल में इन्सुलिन (insulin) छोड़ने को एवं ब्लड शुगर (blood sugar) नियंत्रित करने के गुण होते हैं। यह मिठाई खाने की आपकी इच्छा को नियंत्रित करता है। अपने दैनिक खानपान में दालचीनी के तेल की कुछ बूँदें डालने से आपको जंक foods (junk foods) का सेवन रोकने में सहायता मिलती है।

Cinnamon oil[इसे ऑनलाइन खरीदें]

चकोतरे का तेल (Grapefruit oil)

चकोतरे का तेल साइट्रस पैराडीसी (Citrus paradisi) पौधे से प्राप्त चकोतरे के बीजों, सफ़ेद मेम्ब्रेंस (membranes) एवं गूदे से निकाला जाता है। इसमें कई चंचल यौगिक होते हैं जो एक सुन्दर फलों की खुशबू पैदा करते हैं। यह एक ताज़ा एवं साफ़ तेल है जिसका स्वाद कड़वा होता है। चकोतरे के तेल का प्रयोग सदियों से वज़न बढ़ने, सूजन, हैंगओवर (hangover) के लक्षणों एवं चीनी की इच्छा का इलाज करने के लिए किया जाता रहा है। इसमें जलनरोधी, एंटी कार्सिनोजेनिक (carcinogenic) तथा एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) के गुण होते हैं।

Grapefruit oil[इसे ऑनलाइन खरीदें]

नींबू का तेल (Lemon oil)

नींबू का तेल एक पीला खुशबूदार तेल है जो नींबू के फल के छिलके से निकाला जाता है। यह काफी आसानी से उपलब्ध होने वाला एवं किफायती तेल है। यह एल काफी वाष्पशील है एवं इसमें लिमोनेन (limonene) है, जो मस्तिष्क में नोरेपाइनेफ्रीन (norepinephrine) की मात्रा बढ़ाकर चर्बी गलाने एवं आपके स्वभाव को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह सकारात्मक विचार पैदा करके आपका आत्मविश्वास बढ़ाता है। नींबू के तेल का शरीर पर प्रयोग करने से शरीर की बदबू दूर होती है एवं आप सारा दिन तरोताज़ा रहते हैं। अपने खानपान में नींबू के तेल एवं चकोतरे के तेल को शामिल करने से लाइपोलाइसypolysis) बढ़ता है, जो एक ऐसी प्रक्रिया है जो ट्राईगलीसेराइड्स, लिपिड्स एवं फैटी एसिड्स (triglycerides, lipids, and fatty acids) को हाइड्रोलाइज करता है।

Lemon oil[इसे ऑनलाइन खरीदें]

अदरक का तेल (Ginger oil)

अदरक का तेल साल्वेंट एक्सट्रैक्शन एवं स्टीम डिस्टिलेशन (solvent extraction and steam distillation) के माध्यम से अदरक की जड़ से निकाला जाता है। इसकी गंध गर्म एवं तेज़ होती है। इसका प्रयोग मुख्य रूप से आयुर्वेदिक नुस्खों में हाजमे से जुड़ी समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। अदरक के तेल में जिंजरोल्स (gingerols) नामक यौगिक होते हैं जो आँतों में खनिजों एवं विटामिन्स को सोखने की क्षमता बढ़ाने में काफी फायदेमंद साबित होते हैं। ये पाचन प्रणाली मज़बूत बनाते हैं एवं शरीर में अतिरिक्त चर्बी के जमाव को रोकते हैं। ये सूजन कम करके कई रोगों की रोकथाम करते हैं। त्वचा पर अदरक का तेल लगाने से त्वचा मुलायम होती है एवं एक समान टेक्सचर (texture) आता है।

Ginger oil[इसे ऑनलाइन खरीदें]