Estrogen rich foods for women health & breast growth in Hindi – महिलाओं की सेहत और स्तन वृद्धि के लिए सर्वश्रेष्ठ एस्ट्रोजेन युक्त खाद्य पदार्थ

एस्ट्रोजेन हार्मोन के एक समूह को दर्शाता है जो महिलाओं के यौन वृद्धि और विकास के लिए जिम्मेदार हैं। इसे सेक्स हार्मोन भी कहा जाता है। महिलाओं में एस्ट्रोजन अंडाशय में निर्माण किया जाता है लेकिन यह अधिवृक्क ग्रंथि और वसा कोशिकाओं द्वारा भी निर्मित होता है। मासिक धर्म चक्र के दौरान एस्ट्रोजन चक्र के पहले भाग में गर्भाशय अस्तर के विकास को नियंत्रित करता है। एस्ट्रोजेन हड्डी के विकास में शामिल होता है।

एस्ट्रोजन महिलाओं के खून में बहता है। यह महिलाओं के स्वास्थय विकास में मदद करता है लेकिन यह चयापचय, यौन कार्य, आपात स्थिति में प्रतिक्रिया, ऊतक कार्य, प्रजनन और महिला द्वारा खाए गए भोजन को प्रभावित करता है। एस्ट्रोजन कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है और हड्डियों का विकास करता है।

यह गर्भावस्था में भ्रूण की परिपक्वता उत्तेजक की प्रमुख भूमिका निभाता है और सामान्य रूप से कार्य करने के लिए नाल को बचाता है। इस अवधि के दौरान स्तनों में परिवर्तन होता है। रजोनिवृत्ति के समय एस्ट्रोजेन के स्तर की कमी से स्तन/ब्रेस्ट की कोमलता, मिजाज में परिवर्तन और मूत्र तनाव असंयम की तरह मुसीबतों का सामना होता है।

महिलाओं के स्वास्थ्य की देखभाल – एस्ट्रोजन युक्त सब्जियां और फलियां (Vegetables and legumes rich in Estrogen)

चुकंदर, गाजर, खीरे, मटर, मिर्च, आलू, कद्दू, लहसुन, बैंगन, लाल राजमा, सोयाबीन और मटर में एस्ट्रोजन होता है। सोयाबीन में मैग्नीशियम, लोह, कैल्शियम और पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है।

फल और जड़ी बूटी (एस्ट्रोजेन rich food in fruits and herbs)

महिलाओं में श्वेत प्रदर की समस्या के घरेलू नुस्खे

एस्ट्रोजेन युक्त फल टमाटर, सेब, चेरी, अनार, पपीता हैं। सौंफ और अजमोद की तरह जड़ी बूटी भी एस्ट्रोजन युक्त हैं।

बीज और दूध से बने उत्पाद (Seeds and dairy)

तिल के बीज, सूरजमुखी के बीज और अंडे एस्ट्रोजन के स्त्रोत हैं। तिल के बीज तंतु और खनिज के समृद्ध स्रोत हैं।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,297 other subscribers

सुखा मेवा एस्ट्रोजन के स्तर को संतुलित करता है (Dry fruits balance the estrogen levels)

खजूर और खुबानी महिलाओं में एस्ट्रोजन का स्तर संतुलन करने में मदद करते हैं। सूखे मेवे में फायटोएस्ट्रोजन होता है जो शरीर में एस्ट्रोजन की कमी को पूरा करता है।

सोया युक्त खाद्य पदार्थ( Soy foods)

सोयाबीन एस्ट्रोजन का अच्छा स्त्रोत है। सोया नूडल, सोया का दूध, सोया का दही और सोया का चीज खाने से एस्ट्रोजन मिलता है।

टोफू या सोयाबीन का पनीर (Tofu)

टोफू सोया दूध से प्राप्त होता है। इसमें फायटोएस्ट्रोजन का बहुत अधिक स्तर होता है। टोफू को सूप में इस्तेमाल करें। 

अलसी (Flax seeds)

अलसी में काफी मात्रा में एस्ट्रोजन होता है। यह शुष्क त्वचा, त्वचा के रोग जैसे एग्ज़ीमा और सोरायसिस कम करता है और ह्रदय का स्वास्थय सुधारता है।

अतिरिक्त वज़न वाली माओं के गर्भ में पल रहे बच्चे 

अंकुरित अल्फ़ाअल्फ़ा (Alfalfa sprouts)

अंकुरित अल्फ़ाअल्फ़ा को अपने आहार में शामिल करें। यह हॉर्मोन के स्तर को बढाता है। यह खून में कोलेस्ट्रोल का स्तर कम करता है।

भीगे छोले की चटनी (Hummus)

भीगे छोले की चटनी छोले उबालकर और मसलकर बनाई जाती है।

टेम्पेह (Tempeh)

टेम्पेह सोयाबीन से बनाया जाता है। टेम्पेह में लोह, मैग्नीशियम और प्रोटीन होता है।

चोकर अनाज (Bran cereals)

अपने आहार में चोकर अनाज शामिल करें। यह फायटोएस्ट्रोजन का स्तर बढाते हैं| इन्हें खाने से शरीर में हॉर्मोन का स्तर भी नियंत्रित होता है। बाजरा, सोया, जौ, तिपतिया घास, सौंफ, काबुली चने, अलसी, दाल, गुर्दे सेम में फायटोएस्ट्रोजन होता है। अजवाइन, अजमोद, बीट, सेब, ब्रोकोली, फूलगोभी, गाजर, खीरे, मशरूम, समुद्री शैवाल, चेरी, सूरजमुखी के बीज, जैतून, नाशपाती, टमाटर, मूंग, लाल राजमा, खमीर, हल्दी इनमे भी फायटोएस्ट्रोजन होता है।

एस्ट्रोजन युक्त को आहार में कैसे शामिल करें (Incorporating estrogen rich nourishment)

अपने आहार में एस्ट्रोजन युक्त पदार्थ कम मात्र में खाना शुरू करें। रोज के खाने में 30 से 40 मिलीग्राम एस्ट्रोजन युक्त आहार लें।

एस्ट्रोजन युक्त आहार कब न खाएं (When not to eat estrogen rich food)

बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय

रजोनिवृत्ति के निकटवाली महिलाएं, स्तन के कैंसरग्रस्त महिलाएं इन्हें एस्ट्रोजन युक्त आहार नहीं लेना चाहिए। ब्रोकोली, गोबी, अंगूर, तरबूज, प्याज, अनानास, सफ़ेद चावल, गेहू का आटा इनके कारण एस्ट्रोजन का स्तर कम करने में मदद मिलती है।

एस्ट्रोजन महिलाओं के शरीर के विकास का ख्याल रखता है। एस्ट्रोजन युक्त खाद्य पदार्थ स्त्री छाती, महिलाओं को स्तनों के विकास में मदद कर सकते हैं और यह मासिक धर्म चक्र के दौरान गर्भाशय की अंदरूनी परत के विकास में मदद करते हैं।

estrogen_rich_foods

loading...