Foods that increase Brainpower – स्मरण शक्ति बढ़ाने वाले प्रमुख भोज्य पदार्थ

मानव मस्तिष्क एक शक्तिशाली मशीन की तरह होता है जो सोच, इन्द्रियों और गति को नियंत्रित करता है। इसमें बहुत बड़ी मात्रा में तस्वीरें, शब्द और घटनाएँ संगृहित होती हैं, इसके द्वारा ही शरीर में श्वसन, रक्तसंचार, हार्मोन नियंत्रण जैसे कार्य संचालित कराये जाते हैं। शरीर सो जाता है लेकिन मस्तिस्क तब भी कार्य करता है।

हम जानते हैं कि भोजन का प्रभाव शरीर पर पड़ता है पर यह समझने की जरुरत है कि हम जो खाते हैं उसका असर मस्तिष्क की क्रियाशीलता, याददाश्त और तार्किक क्षमता पर भी पड़ता है। मस्तिष्क को ऐसे भोजन की ज़रूरत होती है जो इसकी क्रियाशीलता को बढ़ाए।

हम सभी आमतौर पर अन्य कार्यों के साथ अपने मस्तिष्क को भी सारा दिन काम पर लगाए रखते हैं। सिर्फ मजदूरों जैसे लोग ही शुद्ध रूप से शारीरिक कार्य करते हैं, पर हम सभी तृतीय श्रेणी से सम्बन्ध रखते हैं, जहां मस्तिष्क का कार्य ही मुख्य होता है। आजकल कंप्यूटर (computer) हमारी जिन्दगीका एक अहम् भाग बन गया है जिसकी मदद से हम ऑनलाइन या ऑफलाइन (online or offline) कार्य कर सकते हैं।

हमारे मस्तिष्क को कई चरणों में सुधार की आवश्यकता होती है। अतः ऐसे तरीके भी निश्चित रूप से हैं, जिनकी मदद से हमारे मस्तिष्क की क्षमता काफी ज़्यादा बढ़ जाती है। हम ऐसे ही नुस्खों पर आज विचार विमर्श करने जा रहे हैं जिनकी मदद से हमारे मस्तिष्क की क्षमता का विकास होता है। आपके मस्तिष्क को भी अपनी स्मृति के विकास और सिधार के लिए पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

ऑयली मछली खायें (Take oily fish)

मछली में ओमेगा-3 फैट होता है जो मस्तिस्क के लिये उत्तम माना जाता है साथ ही इसमें मस्तिष्क के लिए आवश्यक तत्व ई पी ऐ और डी एच ऐ पाए जाते हैं जो इसकी क्रियाशीलता को बढ़ाते हैं।

स्मरण शक्ति बढ़ाने के उपाय – साबुत अनाज लें (Opt for wholegrains)

शरीर के दूसरे अंगो की तरह मस्तिष्क को भी कार्य करने के लिए शक्ति की ज़रूरत होती है और उसे वह मिलती है विशिष्ट पैटर्न के ग्लूकोज से जो रक्त द्वारा इसमें पहुँचाया जाता है। साबुत अनाज मस्तिष्क की इस ज़रूरत को पूरा करता है।

पेट की एसिडिटी को नियंत्रित और शांत करने के लिए घरेलू उपचार

स्मरण शक्ति बढ़ाने वाला खाना – टमाटर खायें (Eat tomatoes)

टमाटर में शक्तिशाली एंटीओक्सिडेंट लायकोपेन पाया जाता है जो अल्झाइमर जैसे रोग से बचाता है।

स्मरण शक्ति बढ़ाने के उपाय – जामुन (Binge on blueberries)

जामुन एकाग्रता में कमी को दूर करता है इसलिये बेहतर स्वास्थ्य के लिए जामुन खाएं।

विटामिन से जीवन शक्ति बढायें (Add vitality with vitamins)

विटामिन बी, बी12, बी6 आदि अल्झाइमर और स्ट्रोक जैसे रोगों को दूर रखते हैं और प्राणशक्ति को मज़बूत रखते हैं।

स्मरण शक्ति बढ़ाने वाला खाना – कद्दू के बीज का प्रयोग करें (Use pumpkin seeds)

अपने भोजन में कद्दू का उपयोग करें यह जिंक का एक अच्छा स्त्रोत होता है जो याददाश्त को बढ़ाता है।

विटामिन सी युक्त भोजन लें (Get vitamin C food)

विटामिन सी मानसिक क्रियाशीलता को बढ़ाता है, इससे युक्त भोजन का उपयोग करें।

सेज का सेवन (Sprinkle on sage)

सेज को काफी लम्बे समय से स्मृति शक्ति बढ़ाने के लिए उपयोगी तत्व के रूप में देखा जाता है। जहां शोधों से पता चलता है कि सेज का मुख्यतः प्रयोग एक ज़रूरी तेल के तौर पर ही किया जाता है, आप अपने खानपान में भी सेज को शामिल अवश्य कर सकते हैं।

पथरी होने के लक्षण, निदान, कारण और उपचार

स्मरण शक्ति बढ़ाने वाले आहार – ब्रोकली (Broccoli)

इसमें विटामिन ‘के’ होता है जो मस्तिष्क की स्मरण शक्ति और तार्किक क्षमता बढ़ाने  का एक बड़ा स्रोत है।

सूखे मेवे लें (Take nuts)

इनमे विटामिन ई पाया जाता है जो मस्तिस्क को क्रियाशील बनाये रखता है।

दिमागी शक्ति की ख़ुराक (Brainpower supplements)

विभिन्न अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि मस्तिष्क की क्रियाशीलता और लिए गये भोजन में गहरा संबंध होता है। कई मानसिक समस्याएँ असंतुलित आहार की वजह से हो सकती हैं। इसलिये अगर आप असंतुलित आहार ले रहे हैं तो सावधान हो जाएँ और अपने भोजन में मल्टीविटामिन और ओमेगा 3 फैटी एसिड जैसे तत्वों को शामिल करें।

स्मरण शक्ति बढ़ाने वाले आहार – दिमागी शक्ति बढ़ाने वाले भोजन (Foods to increase brain power – memory badhane wala khana)

करी (Curry)

अजवाइन (Celery)मसाले के रूप में प्रयुक्त होने वाली हल्दी सब्जी में पीला रंग स्त्रोत होती है। साथ ही यह मस्तिस्क के लिए भी अच्छी समझी जाती है।

अजवाइन लयूटेओलिन का एक अच्छा स्त्रोत होता है। जो मस्तिष्क में अपक्षयी परिवर्तन के चक्र को रोकने के लिए आवश्यक होता है।

वालनट्स ओमेगा (Walnuts Omega)

फैटी एसिड मस्तिस्क की सुरक्षा करता है, ओमेगा 3 धमनियों को स्वच्छ रखता है और रक्तप्रवाह को स्वस्थ बनाये रखता है इन का प्रभाव मस्तिष्क पर भी पड़ता है और वह क्रियाशील एवं स्वस्थ रहता है। वालनट ओमेगा 3 के सबसे अच्छे स्त्रोतों में से एक होता है।

चर्मक्षय (लूपस) के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचार

केंकड़ा (Crab se memory kaise banaye)

इसमें एमिनो एसिड फिनाइलेलाइन पाया जाता है जो मस्तिस्क को पोषण प्रदान करता है और एड्रेनल और थाइरोइड हार्मोन को स्टीमुलेट करता है। कुछ मछलियों में भी यह पाया जाता है पर केंकड़ा इसका सबसे अच्छा स्त्रोत होता है।

कुटू का आटा (Buckwheat)

यह प्राकृतिक रूप से आपके स्वभाव को शांत करता है तथा मैग्नीशियम (magnesium) से भरपूर होता है। आप इसे नाश्ते के सीरियल (cereal) के रूप मेंखा सकते हैं या फिर सूप, स्टू या सलाद (soups or stews or salads) में डालकर भी इसका सेवन कर सकते हैं।

छोले या गारबैंजो बीन्स (Chickpeas or garbanzo beans)

ये बीन्स मैग्नीशियम का काफी अच्छा स्त्रोत होते हैं जो कि एक खनिज पदार्थ होता है जो ऊर्जा के मेटाबोलिज्म (metabolism) में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मैग्नीशियम मस्तिष्क की कोशिकाओं के रिसेप्टर्स (receptors) तथा सन्देश के संचार को तेज़ करने के लिए काफी लाभदायक साबित होता है। यह रक्त की धमनियों को भी आराम पहुंचाता है जिससे कि आपके मस्तिष्क में भेजने के लिए यह ज़्यादा रक्त इकठ्ठा कर सके।

ब्रेवर्स यीस्ट या मार्माईट (Brewer’s yeast or marmite)

यह थियामाईन (thiamine), जिसे विटामिन बी 1 (vitamin B1) भी कहते हैं और पाईरिडॉक्सिन (pyridoxine) का काफी अच्छा स्त्रोत होता है जो कई तरीकों से मस्तिष्क की कार्यशीलता के साथ जुड़ा होता है। थियामाईन की कमी से एक किस्म का मनोभ्रम होता है, जिसे डिमेंशिया (dementia) कहा जाता है। शोधों से पता चला है कि अल्जाइमर्स (Alzheimer’s) और डिमेंशिया की समस्या को रोकने या बढ़ने से  बचाने के लिए थियामाईन के पूरक की व्यवस्था की जा सकती है। पाईरिडॉक्सिन न्यूरो ट्रांसमीटर (neuro transmitter) के उत्पादन में सहायता करता है जो आपकी स्मरण शक्ति और ज्ञान बोध को बढाने में मदद करता है। किसी एक खाद्य पदार्थ में काफी ज़्यादा मात्रा में थियामाईन और पाईरिडॉक्सिन का पाया जाना काफी मुश्किल होता है, और फोर्टीफाइड (fortified) सीरियल्स इन पदार्थों से युक्त खाद्य पदार्थों में से एक होते हैं।

लाल मांस (Red Meat se memory kaise badhaye)

लाल मांस को सीमित करने के कई कारण है, लेकिन यह मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा बूस्टर बना हुआ है। बकरी, भेड़, पोर्क आदि में उपस्थित विटामिन बी 12 एक समग्र ऊर्जा बूस्टर होता है। विटामिन बी 12 मस्तिष्क के एक स्वस्थ कार्यप्रणाली के लिए महत्वपूर्ण है। विटामिन बी 12 की कमी तंत्रिका और मस्तिष्क क्षति का कारण बनता है।

अवोकेडो (Avocado)

अवोकेडो मोनोअनसैचुरेटेड (monounsaturated) वसा, ओमेगा 3 एवं ओमेगा 6 फैटी एसिड्स (omega 3, and omega 6 fatty acids) का स्त्रोत होता है। ये आपके मस्तिष्क में रक्त के संचार में वृद्धि करने, कोलेस्ट्रोल (cholesterol) कम करने और एंटीऑक्सीडेंटस (antioxidants) को सोखने में मदद करने के लिए जाने जाते हैं। विटामिन इ (Vitamin E) अवोकेडो का एक एंटीऑक्सीडेंट होता है जो आपके मस्तिष्क को फ्री रेडिकल (free radical) से होने वाली क्षति से बचाता है। अवोकेडो पोटैशियम और विटामिन के (potassium and vitamin K) का भी अच्छा स्त्रोत होते हैं जो आपके मस्तिष्क को दौरा पड़ने के खतरे से बचाते हैं।

खर्राटे दूर करने के लिए सबसे अच्छे सुझाव

नारियल का तेल (Coconut oil)

नारियल के तेल में मध्यम चेन ट्राईग्लिसराइड्स (chain triglycerides) होते हैं जिनका प्रयोग हमारा शरीर शक्ति प्राप्त करने के लिए करता है और इसके बाद मस्तिष्क के लिए ग्लूकोज़ (glucose) छोड़ दिया जाता है। यह आपके ब्लड शुगर (blood sugar), रक्तचाप और कोलेस्ट्रोल पर भी काफी अच्छा प्रभाव छोड़ता है तथा जो भी चीज़ आपके ह्रदय और रक्त संचार के लिए फायदेमंद है, वह मस्तिष्क के लिए भी काफी अच्छी होगी। नारियल का तेल अल्जाइमर्स और डिमेंशिया की रोकथाम करने में भी काफी प्रभावी साबित होता है।

रोजमेरी (Rosemary)

रोजमेरी में सिर्फ इसकी खुशबू की बदौलत ही हमारी स्मरण शक्ति और ज्ञान बोध में सुधार लाने के गुण होते हैं। यह मस्तिष्क में रक्त के संचार में सुधार लाता है, आपका मूड (mood) अच्छा करता है तथा एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य करता है।

भिन्डी (Ladies finger/ Bhindi se yaddasht kaise badhaye in hindi)

काफी प्रसिद्ध चर्चा यह है कि भिन्डी आपके मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाने के लिए काफी कारगर सिद्ध होती है। आमतौर पर माता पिता अपने बच्चों को खाने में यह सब्जी देते हैं, जिससे कि वे अपना सबक प्रभावी रूप से याद कर सकें। इसके सेवन से एक व्यक्ति की स्मरण शक्ति में आसानी से काफी वृद्धि होती है।

स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए ब्राह्मी (Brahmi to boost memory)

ब्राह्मी एक काफी प्रसिद्ध जड़ीबूटी है जिसकी जड़ें भारत में फैली हुई हैं। सालों से इसका प्रयोग एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जा रहा है। इसके अलावा आप इस उत्पाद का पूरक एवं टॉनिक (tonic) भी प्राप्त कर सकते हैं, जिससे आपकी स्मरण शक्ति में काफी वृद्धि होगी। अगर आप भोजन के साथ इस जड़ीबूटी का सेवन करें तो इससे आपकी स्मरण शक्ति काफी आसानी से बढ़ जाएगी। आज ही इसका प्रयोग करें और आप पाएंगे कि आपकी स्मरण शक्ति काफी बढ़ चुकी है।

लौकी के बीज (Pumpkin seeds)

जोड़ों के दर्द से छुटकारा कैसे पायें

आपने ज़रूर अपने खानपान में अन्य सब्जियों के साथ लौकी का भी सेवन किया होगा। हम सभी खाने के बाद लौकी के बीजों को यूं ही फेंक देते हैं। पर अब से कभी भी लौकी के बीजों को ना फेंकें। इसकी बजाय इसे अलग से संभालकर रखना काफी ज़रूरी है क्योंकि इसके सेवन से आपके मस्तिष्क की स्मरण शक्ति में वृद्धि होती है। लौकी का बीज जिंक (zinc) से भरपूर होता है और इससे काफी मूल्यवान खनिज प्राप्त होते हैं, जो आपके मस्तिष्क की स्मरण शक्ति को बढ़ाते हैं।

पालक (Spinach)

पालक उन हरी पत्तेदार सब्जियों में से एक है जो आपकी स्मरण शक्ति को बढ़ाने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह विटामिन इ और फोलेट (vitamin E and folate) का काफी अच्छा स्त्रोत होता है और DNA को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है। अगर आप अपनी स्मरण शक्ति में वृद्धि करना चाहते हैं तो हफ्ते में कम से कम 3 दिन पालक का सेवन करें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday