Foods for this monsoon – tips in Hindi – इस मानसून / बरसात के मौसम में आपके आराम के लिये भोजन

बरसात के मौसम में बारिश की बूंदों के साथ ही खुशियों की भी बारिश होती है। जिस मौसम में हमें ठंडक मिले, उसका हमें हमेशा ही इंतज़ार रहता है। पर इस सुकून के बीच आप कई तरह की बीमारियों का भी शिकार हो सकते हैं। अतः आपको अपने द्वारा ग्रहण किये भोजन के प्रति काफी सावधानी बरतनी चाहिए।

चिकित्सकीय विशेषज्ञ आपको हमेशा ही रास्ते पर मिलने वाले भोजन से दूर रहने के लिए कहते हैं। सूप (soups), उबली सब्ज़ियों और विभिन्न अनाजों से युक्त ब्रेड (bread) का सेवन करना इस मौसम में स्वास्थ्यकर साबित होता है। बारिश के मौसम के दौरान ठंडक का वातावरण रहता है, अतः चाय या कॉफ़ी (coffee) पीनी की तलब होने लगती है।चाय के साथ ही आपको कुछ तले हुए उत्पाद खाने की भी इच्छा होती है।

बाहर बहुत तेज़ बारिश हो रही है और ऐसे में आपको गरमागरम कॉफी के साथ चटपटा नाश्ता करने की इच्छा होती है। ह्मम्म्म्म्म…… मजेदार, नहीं? अगर आप भारत में रहते हैं तो हर राज्य का अपना मानसून का स्वाद है जो आपके स्वाद ग्रंथियों को अच्छा लगता है।

गरमागरम पकौड़े, मसालेदार चाट, चिप्स, कड़क चाय, मसला चाय और इसकी एक लम्बी… सूची है। लेकिन क्या ये सब आपके पेट के लिये इस मानसून में अच्छा है? बिल्कुल नहीं। यहाँ मानसून के दिनों में “क्या खायें” और “क्या न खायें” के प्रकार का भोजन बतलाया जा रहा है। एक नज़र देखे और मानसून का मज़ा लें।

मानसून को हम गीली मिट्टी की खुशबू, बारिश की बूंदों की आवाज़, आपके चेहरे पर आती ठण्डी हवाओं के साथ साथ अन्चाही बीमारियों जैसे ज़ुकाम, बुखार, संक्रमण, अपच और ऐसी ही अन्य बिमारियों के लिये याद रखते हैं। आप इन सबको स्वस्थ भोजन के द्वारा दूर रख सकते हैं। ये हैं-

अच्छा खाना जो आपके मस्तिष्क शक्ति को बढ़ाये

  • मानसून डाइट – गर्म सूप (Hot soup): मानसून के मौसम में कतरे हुये अदरख के साथ गर्म सूप का मिश्रण लें। यह ठंड और फ्लू से न केवल दूर रखेगा बल्कि आपके शरीर को थकान और टूटन से बचाने में सहायता देगा। यह आपको पर्याप्त गर्माहट देगा। यह उन लोगों के लिये अच्छा आहार है जो बरसात के दिनों में परिश्रम नहीं कर पाते है जैसा कि अन्य दिनों में करते हैं। गले के संक्रमण में एक कटोरी सूप अच्छा आराम पहुंचायेगी और आपका पेट भी भर जायेगा।
  • बरसात में खानपान – कड़क चाय या मसाला चाय (Kadak chai or masala chai): भारतीय दृष्टिकोण से एक कप गर्म कड़क चाय या मसाला चाय (barsat me khan pan) का कोई जवाब नही है। यह बरसात के दिनों का उपयुक्त पेय है। लौंग और दालचिनी के उपयोग से बनाई गई मसाला चाय गले के संक्रमण और ज़ुकाम को दूर करने में सहायता करता है। वे लोग जो बरसात के दिनो में घूमने की योजना बनाते है चाय की दुकान के पास रुककर एक कप गर्म चाय पीकर आनंद और ताज़ापन पाते है।
  • मानसून में आहार – पकौड़े (Pakoras): बरसात के दिनों में पकौड़े को याद करते ही मुंह में पानी आने लगता है। बरसात के दिनों में एक कप गर्म चाय और एक प्लेट पकौड़े (monsoon me khana) का साथ अतुलनीय है। आप विभिन्न प्रकार के पकौड़े चुन सकते है जैसे प्याज पकौड़ा, पालक पकौड़ा, पनीर पकौड़ा, हरी मिर्च पकौड़ा, आदि। बरसात के दिनों में गलियों में मिलने वाले पकौड़े से बच कर रहें और अपने घर पर बनायें। हो सकता है कि यह कम उपभोग हो लेकिन इसका अपना मूल्य है। यह तला हुआ है इसलिये अधिक उपभोग न करें।
  • बरसात के दिनों का खास आहार – चिप्स, समोसा और कचौड़ी (Chips, Samosas and kachoris): सोंचे कि बरसात हो रही है और आपको गर्म चिप्स, मजेदार समोसे, चट्खारे लगाने वाली कचौड़ियां चाय में डुबा कर खाने को मिली है। सुनने में अच्छा लगा? ये आसानी से बनाये जा सकने वाले भोजन आपका पेट भी भरते है और दिल को भी खुश रखते हैं।

भोजन जिनसे आप बचें (Foods to be avoided during monsoon)

प्रकृति का सबसे अच्छा एस्ट्रोजेन युक्त भोजन

  • समुद्री भोजन जैसे मछली, झींगा, केकड़े आदि अगर ताज़े न हों तो उनसे बचें। यह इन प्राणियों के प्रजनन का समय होता है अत: आपको पेट का संक्रमण या फूड प्वाइज़निंग हो सकती है। इसलिये अच्छा होगा कि आप बरसात के दिनों में शाकाहार भोजन करें।
  • बाहर के भोजन से बचें। गंदी सड़को और ठहरे हुए पानी से भरी जगहों पर मच्छरों और अन्य कीटाणुओं को पनपने का मौका मिलता है। अत: बिमारियों जैसे मलेरिया, डेंगू आदि को बढ़ने का मौका मिलता है। इसलिये घर पर बना स्वास्थ्यवर्धक भोजन अच्छा होता है।
  • अपने आहार में बहुत सारे शाकाहार को शामिल करें। मानसून का समय बिमारियों का भी समय है। शाकाहर में पाये जाने वाले पोषक गुण आपको स्वस्थ और तैयार रखेंगे। आप हरी सलाद का उपभोग करें यह आपको भरेपन का एहसास देंगे और आपको अन्चाहे भोजनों से बचायेगा। शाकाहार को प्रयोग करने से पहले नमक और गुनगुने पानी से अच्छे से धुलें। यह धूल मिट्टी और ना दिखने वाले कीटाणुओं को भी हटायेगा।

यह सब केवल सलाह है निर्णय आपका है। स्वस्थ और तैयार रहकर हर क्षण मज़ा लेने के लिये अपनी देखभाल स्वयं करें।

बारिश के दौरान ग्रहण किये जाने वाले खाद्य पदार्थ (Foods to be consumed during monsoons)

हर्बल चाय (Herbal tea)

आमतौर पर बारिश के मौसम में लोग गर्म पेय पदार्थ पीना पसंद करते हैं। चाय ऐसे ही पेय पदार्थों में से एक है जिसके लोग दीवाने होते हैं। पर क्योंकि बारिश का मौसम अपने साथ बैक्टीरियल और फंगल (bacterial and fungal) संक्रमण लेकर आता है, अतः इस समय हर्बल चाय पीना ज़्यादा अच्छा होता है। आप अब अलग अलग स्वाद वाली हर्बल चाय का सेवन कर सकते हैं। कुछ ख़ास स्वाद हैं अदरक, नींबू, दालचीनी आदि। आप अब इनमें से किसी भी स्वाद का चयन करके बारिश का मज़ा ले सकते हैं।

चॉकलेट के स्वास्थ्य और सौंदर्य लाभ – मार्किट में मिलने वाली ऐसी ही कुछ चॉकलेट

सूखे भोजन (Dry food)

बारिश के मौसम के दौरान सूखे खाद्य पदार्थों का सेवन करना ज़्यादा अच्छा होता है, क्योंकि गीले पदार्थों में बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण होने की काफी ज़्यादा संभावना रहती है। आप बारिश के मौसम के दौरान खुद को स्वस्थ रखने के लिए दलिये, चने और भुट्टे का सेवन कर सकते हैं। तरल पदार्थों से इस मौसम में लोगों के पेट में दर्द और सूजन होने की समस्या सामने आती है।

उबला पानी (Water in boiled form)

बारिश के मौसम में कभी भी ऐसा पानी ना पियें जो उबला ना हो। भले ही आपने पानी के फिल्टरेशन (filtration) की प्रक्रिया को संपन्न कर लिया हो, फिर भी इसे उबाल लेइ, क्योंकि इससे पानी के अंदर के बचे खुचे जीवाणु और बैक्टीरिया मर जाते हैं। अतः पानी बिना उबाले पीने का ख़तरा मोल ना लें।

स्वास्थ्यवर्धक मसालों का सेवन (Healthy spices to consider)

जब आप पीने के पानी को उबालें तो इसमें एक चुटकी मसाले जैसे धनिया और लौंग मिश्रित कर लें। इन मसालों में एंटीसेप्टिक (antiseptic) गुण होते हैं, जिनकी मदद से बरसात के मौसम में आपकी प्रतिरोधक क्षमता में काफी इज़ाफ़ा होता है। अगर आपके पास मसलों का पाउडर नहीं है तो पानी को उबालते समय इसे ठोस रूप में डाल दें।

अदरक का पेस्ट (Paste of ginger)

अदरक और नमक से एक पेस्ट तैयार करें तथा इसे ब्रेड के ऊपर लगाएं। इसके अलावा इसमें अन्य खाद्य सामग्री जैसे उबली सब्ज़ियां मिश्रित कर लें। यह नाश्ता ना सिर्फ स्वादिष्ट होगा, बल्कि बारिश के मौसम का काफी स्वास्थ्यवर्धक नाश्ता होगा। इसके अलावा जब भी आपको बारिश के मौसम में गले में खराश या सर्दी की शिकायत हो तो अदरक को पतले रूप में काटकर तथा इसमें नमक मिश्रित करके खा लें।

स्वादिष्ट स्नैक्स (Tasty snacks)

अलसी के बीज से कुछ यूं करें अपने बढ़ते वजन को कम

ऐसे कई स्नैक्स हैं जो तले रूप में दुकानों पर बारिश के मौसम में पाए जाते हैं। लोगों को पकौड़े और समोसे खाने का काफी शौक होता है। पर क्योंकि रास्ते के किनारे खड़ी दुकानों के खाद्य पदार्थों में तमाम प्रकार के बैक्टीरिया और जीवाणुओं का समावेश होता है, अतः इनका सेवन करना आपके लिए सही नहीं होता। इसकी बजाय आप घर पर ही तले हुए स्नैक्स बनाएं और बारिश के साथ इनका लुत्फ़ उठाएं। इससे आपको स्वाद के साथ स्वास्थ्य का भी लाभ मिलेगा।

खानपान में सब्ज़ियां (Vegetables in diet)

बारिश का मौसम ऐसा होता है जब आपकी प्रतिरोधक क्षमता काफी ज़्यादा होनी चाहिए, क्योंकि यह मौसम अपने साथ कई प्रकार की बीमारियां लेकर आता है। इस समय आपके शरीर में काफी मात्रा में ऑक्सीडेंट्स (oxidants) जमा होते हैं, जिन्हें एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) की मदद से दूर किया जाना अनिवार्य है। अतः बारिश का मौसम आते ही काफी मात्रा में स्वास्थ्यक्र सब्ज़ियों का सेवन करें।

परहेज़ करने वाले भोजन (Food to be avoided)

ऐसे कुछ खाद्य पदार्थ होते हैं, जिनका बारिश के मौसम के दौरान परहेज किया जाना आवश्यक होता है। इनमें मुख्य रूप से रास्ते पर बिकने वाले खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं। बरसात के मौसम में अपने खानपान में मछली और प्रॉन (prawns) को शामिल ना करें। अगर आप इनका सेवन किये बिना नहीं रह सकते, तो यह सुनिश्चित करें कि वे ताज़े हों। बाज़ार से भी सब्ज़ियां लाते वक़्त इस बात पर ख़ास ध्यान दें कि वे ताज़े हों।

प्याज का पकौड़ा (Onion pakoda)

बारिश के मौसम का भोजन काफी स्वादिष्ट होना चाहिए। इस समय आपको गर्मियों के मौसम की तेज़ आंच परेशान नहीं करती। आप अब अपने पसंदीदा मसालेदार व्यंजनों का सेवन कर सकते हैं। प्याज का पकौड़ा एक ऐसा ही व्यंजन है, जिसका सेवन आब सुबह और शाम चाय या कॉफ़ी के साथ कर सकते हैं। अगर आप बारिश हो रही हो, तो चाय के साथ पकौड़ों का स्वाद ही अलग आता है। इसे घर पर बनाना भी काफी आसान है। इसके लिए आपको सिर्फ थोड़े से मैदे या बेसन, कटे हुए प्याज और मिर्च की ज़रुरत होती है।

मैगी या नूडल्स (Maggi or noodles)

विटामिन बी2 से भरपूर टॉप फूड

नूडल या मैगी भी एक बेहतरीन खाद्य पदार्थ है, जिसका सेवन आप बरसात के मौसम के दौरान कर सकते हैं। यह मसालेदार व्यंजन आपके शाम के नाश्ते के रूप में बिल्कुल उपयुक्त होता है। इसमें आप सब्ज़ियां और मसाले मिलाकर इसे और भी स्वादिष्ट बना सकते हैं। परंतु इसे घर पर ही पकाएं। रास्ते के भोजन स्वादिष्ट अवश्य होते हैं, पर इनसे पानी की बीमारियां होने की काफी संभावना रहती है। अतः हमेशा घर पर बना भोजन ही ग्रहण करें।

भुट्टा (Bhutta or corn)

भुट्टा खाने में भी बरसात के मौसम में काफी आनंद आता है। आप भुट्टे वाले से कच्चा भुट्टा खरीदकर आंच में डाल सकते हैं। इसे घर पर गैस में जलाएं। इससे आपको एक बेहतरीन सुगंध की अनुभूति होगी। इसे आंच में जलाने के बाद इसपर थोड़ा सा नींबू निचोड़ें और नमक डालकर सेवन करें। आप इसे भाप में गर्म करके मसाला डालकर भी खा सकते हैं।

मोमो (Momos)

बरसात के दौरान खाए जाने वाले उत्पादों में मोमो का स्थान काफी ऊपर आता है। यह उत्तरी बंगाल का काफी प्रसिद्ध व्यंजन है, जिसकी प्रेरणा उन्हें चीनियों से मिली थी। पर आजकल यह सारे भारत के लोगों का पसंदीदा व्यंजन बन गया है। बारिश के मौसम के दौरान आप आसानी से मोमो का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए मैदे के आटे को गूंथ लें। अब चिकन या सब्ज़ियों की करी (chicken or vegetable curry) बनाएं जिसे मैदे के अंदर डाला जाएगा। इसे अंदर डालें और मोमो का आकार अपने मन मुताबिक़ बनाएं। यह बारिश के मौसम के दौरान एक बेहतरीन खाद्य विकल्प साबित होता है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday