Home remedies to tackle, treat indigestion – बदहज़मी का इलाज करने के घरेलू नुस्खे

ज्यादा खाना निश्चित रूप से बदहजमी के सबसे सामान्य कारणों में से एक है, पर यह इसका एकमात्र कारण नहीं है। पेट की समस्या, गलत समय पर खाना, मसालेदार एवं तैलीय भोजन करना, कम पानी पीना, तनाव आदि बदहजमी के कारण हो सकते हैं। जहां बदहजमी का इलाज करने के लिए हम सबके पास एंजाइम (enzyme) के रूप में एक आसान विकल्प है, यह स्वास्थ्य के लिए ज्यादा अच्छा नहीं है। यदि आप निरंतर बदहजमी से पीड़ित रहते हैं तो पेट का संक्रमण इसकी जड़ हो सकता है एवं ऐसी स्थिति में बदहजमी को पूरी तरह से दूर करने के लिए सबसे पहले पेट के अन्दर संक्रमण को ठीक करना आवश्यक है।

ऐसे कुछ घरेलू नुस्खे हैं जिनका प्रयोग आप बदहज़मी से मुक्ति पाने के लिए कर सकते हैं और इनके कोई साइड इफेक्ट्स (side effects) भी नहीं हैं। नीचे ऐसे ही कुछ नुस्खों के बारे में बताया गया है।

अदरक की चाय (Ginger tea)

अजीर्ण का घरेलू इलाज

अदरक प्राचीन समय से हाजमे की प्रक्रिया बढ़ाने के लिए जाना जाता रहा है।  अदरक की चाय का सेवन बदहजमी का इलाज करने का एक अच्छा तरीका है।

एक गिलास गर्म पानी लें एवं इसमें 2 इंच पिसे हुए अदरक डालें। इसे 5 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें एवं अदरक के टुकड़ों युक्त पानी का सेवन करें।  यह आपको 20-30 मिनट के अन्दर बदहजमी से मुक्ति प्रदान करेगा। गंभीर बदहजमी का इलाज करने के लिए आप दिन में तीन बार अदरक की चाय पी सकते हैं अथवा खाने से पहले एवं बाद में अदरक के छोटे टुकड़े चबा सकते हैं।

कैमोमाइल चाय (Chamomile tea)

कैमोमाइल जड़ीबूटी का प्रयोग बदहजमी का इलाज करने के लिए आयुर्वेद में काफी मात्रा में किया जाता है।  यह जड़ीबूटी पाचक एंजाइम्स (enzymes) के स्त्राव को बढ़ाने एवं पेट को आराम प्रदान करने के लिए जानी जाती है। 1 गिलास गर्म पानी में 2 चम्मच सूखे कैमोमाइल के पत्तों को 10 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद पत्तियां निकाल लें एवं इसे पी लें।  यह चाय आपको 15 से 20 मिनट के अन्दर बदहजमी से मुक्ति दिला देगी। आप हाजमे की गंभीर समस्या का इलाज करने के लिए दिन में तीन बार कैमोमाइल चाय का सेवन कर सकते हैं।

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

सेब का सिरका आपके हाजमे की प्रक्रिया को प्राकृतिक रूप से बेहतर बनाने का एक अच्छा घरेलू नुस्खा है।  इस सिरके में मौजूद पेक्टिन (pectin) पाचन में सहायता करता है और आपको तुरंत आराम प्रदान करता है।  एक कप गर्म पानी में 1 चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच शहद मिश्रित करें। इस मिश्रण का धीरे धीरे सेवन करें और निश्चित रूप से आपको 20 मिनट के अन्दर आराम मिलेगा। नियमित बदहजमी को ठीक करने के लिए आप इस मिश्रण का सेवन दिन में 2 से 3 बार कर सकते हैं।

सौंफ (Fennel seeds)

सौंफ बदहजमी दूर करने के सबसे सामान्य घरेलू नुस्खों में से एक है।  आप सौंफ को पीसकर इसके 2 चम्मच 10 मिनट के लिए पानी में डालकर छोड़ दें एवं इसके बाद इसका सेवन करें।  आप बदहजमी से मुक्ति पाने के लिए सौंफ चबा भी सकते हैं।  सौंफ में कुछ ऐसे कंपाउंड्स (compounds) होते हैं जो पाचन एंजाइम्स का स्त्राव बढ़ाने में सहायता करते हैं जो प्राकृतिक रूप से बदहजमी ठीक करता है। सुबह सुबह उठकर सौंफ के पानी का सेवन करने से नियमित बदहजमी की समस्याओं से मुक्ति मिलना संभव है।

बेकिंग सोडा (Baking soda)

बेकिंग सोडा एसिड्स (acids) को गौण बनाकर बदहजमी से मुक्ति दिलाने में काफी सहायक साबित होता है।  यदि आप बदहजमी के साथ छाती में जलन के भी शिकार हैं तो यह आपको राहत प्रदान करता है।  इसके लिए एक गिलास पानी में केवल 1 चम्मच बेकिंग सोडा और नींबू की कुछ बूँदें मिश्रित करें एवं इसका सेवन करें।  यह काफी प्रभावी रूप से काम करता है और 30 मिनट के अन्दर आपको आराम देता है।