Hindi beauty tips for dry cracked skin in winter – सर्दियों में सूखी फटी त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे/घरेलू उपचार

ठण्ड में त्वचा का सूखा और पपडीदार होना काफी आम है। ठण्ड में चलने वाली रूखी और बर्फीली हवाएं त्वचा से जान छीन लेती हैं। उम्र का बढ़ना, सही खानपान का अभाव, आनुवांशिक समस्याएं आदि भी रूखी त्वचा का कारण बनती हैं।

बाज़ार में इस स्थिति से निपटने के लिए कई प्रकार के लोशंस तथा मॉइस्चराइज़र्स (lotions and moisturizers) उपलब्ध हैं, पर इनमें से ज़्यादातर में हानिकारक तत्वों की मौजूदगी होती है और ये काफी महंगे भी होते हैं। घरेलू विधियाँ इनके मुकाबले काफी किफायती हैं तथा त्वचा पर ज्यादा प्रभाव छोडती हैं।

सर्दियों के महीने मौसम के बदलाव के कारण आपको अपनी त्वचा में कई प्रकार के परिवर्तन दिखाई पड़ सकते हैं। यह आपकी त्वचा को सुखा और खुजली के निशान छोड़ सकता हैं। अगर आप किसी समारोह में हैं तो यह आपको अपनी त्वचा में हो रहे इस परिवर्तन की वजह से शर्मिंदा होना पड़ सकता हैं।

लोग अपनी त्वचा का सूखापन हटाने के लिए इसका इलाज करते हैं जिसमें बहुत सारा पैसा खर्च हो जाता हैं सब लोग ऐसा नहीं कर सकते। आपको कुछ घरेलु उपचार के बारे में पता होना चाहिए जो की आपकी सूखी त्वचा को हटा सकता हैं।

आपको सर्दियों में अपनी सुखी त्वचा का ख्याल रखना ज़रूरी हैं क्योकि सर्दी में बहने वाली हवा इसे आसानी से बेजान बना सकती हैं। ठण्ड में त्वचा की देखभाल काफी ज़रूरी हो जाती है, क्योंकि ठंडी हवाएं आपकी त्वचा की नमी को छीन लेती हैं। ठण्ड के दौरान हवा में उमस कम होने की वजह से त्वचा में खुजली और काफी रूखापन आ जाता है।

सर्दियों में त्वचा की देखभाल, कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से आपकी त्वचा तरोताजा और दमकती हुई सी लगेगी।

त्वचा की परेशानी (Discomfort for skin)

सर्दी के मौसम के लिए बाजार मे उपलब्ध बेहतरीन बॉडी लोशन्स

ठण्ड के महीनों में मौसम में काफी बदलाव होने से मानव त्वचा पर काफी प्रभाव महसूस किया जाता है। इससे खुजली, रूखापन, धारीदार त्वचा और पपड़ी उत्पन्न हो सकती है। जो व्यक्ति इससे प्रभावित होता है, उसके लिए यह काफी कष्टकारी स्थिति होती है। अगर आप किसी सामजिक अनुष्ठान में अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ हैं तो भी आपको इसे लेकर शर्मिंदा होना पड़ सकता है। सर्दियों में रखें त्वचा का ख्याल, अतः लोग त्वचा का रूखापन दूर करने के लिए कई प्रकार के सौन्दर्य उत्पादों की सहायता लेते हैं। लेकिन सभी लोग इतने पैसे खर्च नहीं कर सकते, अतः फटी और रूखी त्वचा ठीक करने के लिए घरेलू नुस्खे अपनाना ही सही रहता है।

ठण्ड से लड़ने के वैसे तो कई उत्पाद उपलब्ध हैं, पर ज़्यादातर लोगों को ये काफी महंगे तथा प्रभावहीन लगते हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ठण्ड के महीने में हमें अपनी त्वचा का काफी ख्याल रखना चाहिए क्योंकि हमारी त्वचा इस समय पानी की कमी से जूझ रही होती है। सर्दियों में त्वचा की देखभाल कैसे करें, नीचे इन्हें दूर करने के कुछ तरीकों का वर्णन किया गया है।

सर्दियों के दौरान शुष्क और सुखी त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे/घरेलू उपचार (Home remedies for treating dry and cracked skin during winter – sardiyo me skin ki dekhbhal)

केला, एवोकाडो और पपीता का पेस्ट (Paste of banana, Avocado and Papaya)

अगर आपकी त्वचा शुष्क हैं तो आप इस पेस्ट को इस्तेमाल करके इसकी खोयी हुई नमी लौटा सकते हो। 1 केला, पका हुआ पपीता और एवोकाडो लें और उसका पेस्ट बनाएं। फिर इस पेस्ट को 15 मिनट के लिए चेहरे पे लगायें और गुनगुने पानी से धो लें।

स्किन केयर टिप्स – बादाम का तेल (Almond oil)

कुछ लोग बादाम के तेल को बालों में इस्तेमाल करते हैं। आप इस तेल को अपनी त्वचा की नमी लौटने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपकी त्वचा के लिए बहुत असरदार इलाज हैं।

सर्दी/ठण्ड के समय बालों को मॉइस्चराइस्ड रखने के तरीके

स्किन की देखभाल – शहद (Honey)

जो लोग अपने आहार का समय से ख्याल रखते हैं आपको उनके घरों में शहद आसानी से मिल जायेगा। चूँकि वो लोग अपने आहार में चीनी को शहद से तब्दील कर देते हैं इसलिए उनमें प्राकृतिक चमक दिखाई देती हैं।

तेल चिकित्सा (Oil therapy)

अपने शरीर को नहाने से पहले हलके हाथों से तेल (जैतून, नारियल ,बादाम आदि) से मालिश करें। और नहाने के बाद क्रीम लगायें।

मिल्क क्रीम या मलाई (Milk cream or malai)

यह एक बहुत अच्छा मॉइस्चराइजर हैं। कुछ बूँदें नीम्बू की लें और उसे मलाई और दूध में मिलाएं और फिर अपने शरीर में रगड़े फिर नहाएं।

ठंड में त्वचा की देखभाल – दही (Curd se sardiyo me beauty tips)

यह त्वचा को नमी देने में काफी बड़ी भूमिका निभाता है। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट (Anti Oxidant) तथा जलनरोधी गुण ठण्ड के दौरान त्वचा में पैदा हुई जलन और रूखेपन को दूर करते हैं। इससे आपको तुरंत ही फर्क दिखना शुरू हो जाएगा।

एलोवेरा का पौधा (Aloe Vera plant)

यह त्वचा के लिए काफी लाभदायक है, क्योंकि यह आपके लिए बेहतरीन हाईड्रेन्ट (hydrant) का काम करता है। इस पौधे का जेल (gel) निकालकर चेहरे, हाथों और पैरों पर लगाएं तथा 5 मिनट बाद धो दें। इससे त्वचा में नमी का संचार होगा तथा चेहरे पर एक सुरक्षा परत बनेगी। इसके प्रयोग से आपकी त्वचा के रोमछिद्रों में अशुद्धियाँ जा नहीं पाएंगी।

कच्चा दूध (Raw milk se skin ke liye gharelu nuskhe)

फ्लू और ठण्ड से कैसे बचें?

यह बच्चों की त्वचा को मुलायम बनाने के लिए काम आता हैं। नीम्बू की कुछ बूँदें लें और उसे दूध में मिलकर लगायें।

ग्लिसरीन (Glycerin for skin treatment in hindi)

यह त्वचा को नमी सोखने तथा इसे बरकरार रखने में काफी सहायता करता है। एक चम्मच ग्लिसरीन में नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और इससे त्वचा पर मालिश करें। इसे कुछ मिनटों के लिए इसी तरह छोड़ दें तथा इसके बाद धो लें।

नारियल का दूध (Coconut milk)

नारियल का दूध आपका सूखापन ख़त्म करता हैं। इसके अलावा वह आपकी त्वचा से धब्बे हटाने का भी काम करता हैं।

खीरे का फेस पैक (Cucumber Face Pack)

यह सुखी त्वचा के लिए बहुत अच फेस पैक हैं यह सिर्फ आपकी त्वचा को नमी ही नहीं देता बल्कि उसे चमकदार और सुन्दर भी बनाता हैं।

सर्दियों के मौसम के लिए डाइट चार्ट (Diet chart for winter season)

  • जंक आहार का सेवन बिलकुल ना करें।
  • जितना ज्यादा से ज्यादा हो सकें पानी पियें।
  • फलों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें जैसे की नारंगी जिससे की आपके शरीर को नमी मिलें।
  • ठंडी खाने की चीज़ों को कम से कम लें जैसे की कोल्ड ड्रिंक्स , शेक्स आदि।
  • जैतून के तेल का इस्तेमाल करें अपने खाने को पकाने में भी क्योकि एक तो यह विटामिन इ से भरपूर होता हैं और आपके शरीर को नमी भी प्रदान करता हैं।
  • अपना आहार ऐसा रखें जो की विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर हो जिससे की आपकी त्वचा चमकदार और सुन्दर लगे सर्दियों में भी।

सर्दी मे त्वचा की सुरक्षा के लिए घरेलू बॉडी लोशन

  • अवोकाडोस विटामिन सी , इ और मोनौन्सतुरतेद अम्ल से भरपूर होते हैं और त्वचा को नमी प्रदान करते हैं।
  • जंक आहार से परहेज करें और ज्यादा से ज्यादा पानी पियें जिससे की आपका शरीर जलनियोजित रहें।
  • अपने आहार में फलों की मात्रा बाधाएं क्योकि यह आपके रोगों से लड़ने की क्षमता को भी बढ़ाती हैं।
  • पालक और हरी सब्जियों में सबसे ज्यादा विटमिन पाए जाते हैं और यह आपके शरीर को जलनियोजित भी रखती हैं।
  • नट्स और बीज में ओमेगा 3 फेटी एसिड्स होते हैं जो आपकी कोशिकाओं को बढ़ाते हैं , आपके शारीर को नमी प्रदान करते हैं , और आपको प्रदूषण से भी बचाते हैं।

रूखी त्वचा के घरेलू नुस्खे/घरेलू उपचार (Home remedies for dry skin)

जैतून का तेल (Olive oil se sardiyo me skin care tips)

इसमें कई एंटी ऑक्सीडेंटस (antioxidants) तथा स्वस्थ फैटी एसिड्स (fatty acids) होते हैं, जो त्वचा के लिए काफी लाभदायक हैं। यह शरीर की रूखी त्वचा को नर्म तथा कंडीशन (condition) करने का कार्य करता है। किसी भी मोइस्चराइसर (moisturizer) का प्रयोग करने से पहले थोडा सा जैतून का तेल लगा लें। वैकल्पिक तौर पर नहाने से आधे घंटे पहले सारे शरीर पर तेल की मालिश कर लें। आप जैतून के तेल को ब्राउन शुगर (brown sugar) के साथ मिश्रित करके एक स्क्रब (scrub) का काम भी ले सकते हैं। इसे गोलाकार मुद्रा में रूखी त्वचा पर रगडें। नहाने के बाद किसी मोइस्चराइसर का प्रयोग करें।

दही (Yogurt se sardiyo me beauty tips)

दही में एंटी ऑक्सीडेंटस तथा जलनरोधी गुण होने की वजह से यह त्वचा में नमी का संचार अच्छे से करता है, जिससे कि आपको रूखी और खुजलीदार त्वचा से निजात मिलती है। दही में मौजूद लैक्टिक एसिड (lactic acid) इन दोनों उपरोक्त समस्याओं को पैदा करने वाले जीवाणुओं तथा बैक्टीरिया (bacteria) को ख़त्म कर देता है। अपने हाथों और चेहरे पर दही लगाएं तथा इसे 10 मिनट के बाद धो दें। वैकल्पिक तौर पर दही और मैश्ड (mashed) पपीते में शहद तथा नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं। इसे चेहरे पर लगाएं और 10 मिनट के बाद धो दें।

पपड़ीदार होठों को कोमल बनाने के टिप्स

नारियल का तेल (Coconut oil se sardiyo me twacha ki dekhbhal)

यह तेल सर्दियों में रूखी त्वचा की समस्या को दूर करने में काफी सहायक सिद्ध होता है। रात में नारियल का गर्म तेल लगाएं तथा सुबह इसे धो लें। इससे आपकी त्वचा नर्म तथा मुलायम बन जाएगी। आप नहाने के बाद भी अपनी त्वचा पर, जो तब गर्म और गीली रहती है, नारियल का तेल लगा सकते हैं।

अवोकेडो (Avocado se sardiyo me beauty tips)

अवोकेडो में फैटी एसिड्स, विटामिन्स (vitamins) तथा एंटी ऑक्सीडेंटस होते हैं, जो त्वचा को अन्दर से पोषण प्रदान करते हैं। अवोकेडो में मौजूद विटामिन ए (vitamin A) की उच्च मात्रा त्वचा की देखभाल करने तथा इसे नर्म मुलायम बनाए रखने में काफी सहायक होती है। अवोकेडो के गूदे को मैश (mash) करके एक महीन पेस्ट (paste) बनाएं तथा अपने सारे शरीर पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें तथा इसके बाद ठन्डे पानी से धो दें। एक गिलास अवोकेडो का रस पीने से आपकी त्वचा नमीयुक्त तथा हाइड्रेटेड (hydrated) रहेगी।

दलिया (Oatmeal se rukhi twacha ke upay)

आप दलिए का प्रयोग नमी प्रदान करने तथा रूखी त्वचा के लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए कर सकते हैं। दलिए में मौजूद प्रोटीन (protein) की उच्च मात्रा आपकी त्वचा पर एक सुरक्षा कवच बनाती है, जो शरीर से अत्याधिक पानी निकलने से रोकता है तथा त्वचा की नमी को बनाए रखता है। गर्म पानी से भरे हुए टब (bathtub) में सादा दलिया डालें। इसमें लैवेंडर के तेल (lavender oil) की कुछ बूँदें डालें तथा इसमें आधे घंटे के लिए लेट जाएं। वैकल्पिक तौर पर आप मैश किये हुए पके केले तथा पिसे दलिए के साथ थोड़ा सा गुनगुना (lukewarm) दूध मिलाकर एक फेस पैक (Face pack) भी बना सकते हैं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं तथा 15 मिनट के बाद इसे ठन्डे पानी से धो लें।

खट्टी मलाई का फेस मास्क (Sour Cream Face Mask)

यह मास्क खट्टी मलाई तथा बेसन से बनाया जाता है और रूखी तथा पपडीदार त्वचा के मुख्य कारक सूखेपन को दूर करता है। इन दोनों पदार्थों से एक महीन पेस्ट (paste) बनाएं तथा इसका प्रयोग अपने चेहरे और गले पर करें। 20 मिनट के बाद त्वचा को ठन्डे पानी से धो लें। बेहतर परिणामों के लिए इस मास्क का प्रयोग हर दूसरे दिन करें। खट्टी मलाई में मौजूद लैक्टिक एसिड (lactic acid) त्वचा की मृत कोशिकाओं को एक्सफोलिएट (exfoliate) करके इसे नमी प्रदान करता है और चेहरे को नर्म मुलायम बनाता है।

सर्दियों में शरीर के लिए एवोकैडो से बना हुआ घरेलू स्क्रब

जई का आटा (Barley flour)

इस आटे को सरसों के तेल और हल्दी के पाउडर के साथ मिश्रित करने पर एक ऐसा मास्क तैयार होता है जो रूखी त्वचा के उपचार का बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है। इसका प्रयोग एक स्क्रब (scrub) के रूप में किया जा सकता है जिसे आप त्वचा पर अपनी उँगलियों या किसी ब्रश (brush) की सहायता से भी लगा सकते हैं।

चन्दन का पेस्ट (Sandalwood paste se skin ki dekhbhal)

यह स्वभाव से तैलीय होता है और इसलिए इसके त्वचा पर प्रयोग से रूखेपन से लड़ने में सहायता मिलती है। चन्दन के पाउडर और गुलाबजल का एक पेस्ट बनाएं और इसका प्रयोग अपने शरीर पर करें। यह आपकी त्वचा की मृत और रूखी कोशिकाओं को धीरे धीरे स्क्रब करके निकाल देता है।

नीम के पत्ते (Neem leaves)

इसके अन्दर एंटी बैक्टीरियल गुण (anti-bacterial properties) होते हैं जिसकी मदद से यह आपकी रूखी त्वचा का उपचार करता है। नीम के पत्तों का एक महीन पेस्ट बनाएं तथा इसे अपने चेहरे और शरीर पर अच्छे से लगाएं। यह आसानी से आपकी रूखी त्वचा का इलाज करता है और त्वचा से बैक्टीरियल संक्रमण (bacterial infections) दूर करने में भी आपकी मदद करता है।

loading...