Hindi tips for cracked heels – फटी एड़ियों का घरेलू इलाज़

जब लोग आपको निहारते हैं तो वे सिर्फ आपका चेहरा नहीं देखते बल्कि ऊपर से नीचे तक आपको देखते हैं । तो अगर आप प्रेजेंटेबल दिखना चाहती हैं तो एड़ियों को छुपायें नहीं बल्कि उनकी केयर करें । कुछ लोगों को सर्दियों में यह समस्या होती है जबकि कुछ लोग पूरे साल एड़ियों के फटने से परेशान होते हैं। शुरुआत में फटी एड़ियों से हो सकता है आपको कोई परेशानी न हो पर जैसे जैसे समय गुज़रता जाता है इनमे दर्द होने लगता है। लेकिन शुरुआत में ही थोड़ी सी सावधानी से इस परेशानी से बचा जा सकता है।

फटी हुई एड़ियों से बचाव के घरेलू उपाय (Here are some home remedies to get rid of cracked uneven heels)

  • फटी बिवाई, ¼ बाल्टी पानी में एक नीबूं निचोड़ें और इसमें पैर डुबो कर रखें और घिसने वाले पत्थर से घिस कर साफ़ करें और फिर साबुन के झाग से मलने के बाद धो लें। इस प्रक्रिया को हफ़्ते में दो बार दोहरायें।
  • हल्दी, तुलसी और कपूर को बराबर मात्रा में लेकर एलोवेरा के जेल के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें।

इस पेस्ट को एड़ियों पर लगा कर 20 मिनिट के लिए छोड़ दें और उसके बाद गर्म पानी से धो लें। सुखाकर इनमे मॉइस्चराइजर लोशन लगायें। आप एलोवेरा जेल अकेले भी एड़ियों पर लगा सकती है।

लीवर में फैट

  • फटी एड़ियां (fati adiya), गर्म पानी लें और 15 मिनिट के लिये एड़ियों को डुबो कर रखें यह मृत त्वचा से आपको राहत देगी अब इसे रगड़ कर साफ़ करें।
  • पैर फटना, सोने से पहले शीशम के तेल से एड़ियों की मालिश करें यह फटी एड़ियों के लिये एक बढ़िया औषधि है।
  • एक अधिक पका हुआ केला लेकर मसल लें और और इसे फटी एड़ियों में लगायें 15 मिनिट बाद ठन्डे पानी से धो लें।
  • एड़ियों के लिये खासतौर पर मिलने वाली क्रीम्स का भी उपयोग किया जा सकता है।
  • एड़ी फटना, हर दिन शाम को अपनी एड़ियों में नारियल का तेल से मालिश करें और गर्म पानी से धोयें।
  • फटी एड़ियां(fati adiya), पपीते और नीबू के रस का मिक्चर एड़ियों पर लगायें और 20 मिनिट बाद गर्म पानी से धो लें।
  • पैर फटना, गर्म पानी में नमक डालकर इसमें एडियाँ डालकर रखें।
  • फटी बिवाई, नारियल के तेल में मोम को घोल कर शीशी में भर लें, सोने से पहले इसे एड़ियों पर लगायें और सुबह गर्म पानी से दो लें।
  • एड़ी फटना, गर्म पानी में बेकिंग सोड़ा मिलाकर एड़ियों को इसमें डुबो कर रखें, और रगड़ कर साफ़ करें।
  • एडी फटना, डिहाइड्रेशन के कारण भी एडियाँ फटती हैं इसलिये पानी पीते रहें। 

फटी एड़ियों के प्रमुख चिकित्सा (Top remedies for cracked heels)

फटे पैर – चावल का आटा (Rice flour)

फटे पैरों, जिस तरह त्वचा के अन्य भागों की मृत त्वचा बाहर निकालते हैं, उसी प्रकार एड़ियों की मृत त्वचा भी बाहर निकाली जा सकती है। फटी एड़ियां बाहरी त्वचा की परत पर मृत कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देती हैं, जिसे दूर करके ही निचे छिपी हुई नर्म और खूबसूरत त्वचा का अहसास पाया जा सकता है। आप एक मुट्ठीभर चावल, 1 चम्मच सेब के सिरके और शाहद के कुछ चम्मच मिलाकर एक बेहतरीन स्क्रब (scrub) तैयार कर सकते हैं। इन्हें अच्छे से मिश्रित करके इनसे एक गाढा पेस्ट तैयार कर लें। अगर आपकी त्वचा ज़्यादा ही रूखी है तो इसपर जैतून के तेल की कुछ बूंदों का प्रयोग करना काफी आदर्श और अच्छा साबित होगा। अगर आपके पास मीठे बादाम का तेल है तो आप इसे जैतून के तेल के बदले में प्रयोग कर सकते हैं। एक बार जब आप अपनी एड़ियों को गर्म पानी में डुबोकर इस पेस्ट का प्रयोग करते हैं तो आपको काफी राहत प्राप्त होती है।

पेट की सूजन से निपटने के उपाय

फटे पैरों – ग्लिसरीन और गुलाब जल (Glycerin and rose water)

गुलाबजल और ग्लिसरीन का मिश्रण भी फटी एड़ियों को ठीक करने का काफी अच्छा उपचार है। सालों से लोग अपनी रूखी त्वचा को नमी देने के लिए ग्लिसरीन का प्रयोग करते आ रहे हैं। कई सौन्दर्य उत्पादों जैसे क्रीम्स और लोशंस (creams and lotion) में भी आपको ग्लिसरीन की मात्रा दिख जाएगी। इस मिश्रण में गुलाबजल को मिला देने से आपको विटामिन सी, ए, इ, डी तथा बी3(vitamin C, A, E, D as well as B3) भी प्राप्त हो जाएंगे। इनमें एंटीसेप्टिक, एंटीऑक्सीडेंटस तथा जलनरोधी (antiseptic, antioxidants as well as anti inflammatory) गुण पाए जाते हैं। इस विधि के प्रयोग के लिए एक चम्मच गुलाबजल और ग्लिसरीन लें और इन्हें आपस में मिश्रित करें। इसका प्रयोग रोजाना अपनी एड़ियों पर करें और एक हफ्ते में ही फर्क महसूस करें।

फटे पैर – नीम (Neem)

आपने कई फेस वाश तथा स्क्रब (face washes, face scrub) आदि के बारे में सुना होगा जिनका मुख्य तत्व नीम होता है। इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं, जिसकी मदद से आपकी त्वचा पर होने वाले किसी भी संक्रमण को दूर किया जा सकता है। कई बार फटी एड़ियों के होने के मुख्य कारण भी किसी प्रकार की जलन और गंभीर संक्रमण हो सकते हैं। नीम में एंटी फंगल (anti fungal) गुण होते हैं जिनकी मदद से त्वचा के संक्रमणों से लड़ा जा सकता है। इस घरेलू नुस्खे के लिए नीम की कुछ पत्तियाँ जमा करें और एक चम्मच हल्दी पाउडर भी लें। अब नीम को अच्छे से पीसकर और हल्दी के साथ मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें और अपने पैरों पर इसका प्रयोग करें। एक बार सूख जाने के बाद इसे धो लें। पैरों में नीम के प्रयोग और इसे गर्म पानी से धोने पर आपकी एड़ियों को काफी सुकून मिलता है।

नीम की पत्तियों को हल्दी के साथ पीसकर पेस्ट बना ले और इसे फटी हुई एड़ियों(fati edi) पर लगायें गुलाब जल और ग्लिसरीन को बराबर मात्रा में लेकर प्रतिदिन एडिओं पर लगायें। नीम एक बहुत अच्छा एंटीसेप्टिक होता है और हल्दी के साथ मिलकर और भी बेहतर परिणाम देता है गुलाब जल और ग्लिसरीन को बराबर मात्रा में लेकर प्रतिदिन एडिओं पर लगायें।

फटी एड़ियों का इलाज – पैराफीन वैक्स (Paraffin wax)

पैरों के छालों का घरेलू उपचार

त्वचा की ऐसी कई समस्याएं हैं, जो अलग अलग प्रकार की त्वचा से सम्बंधित होते हैं। फटी एड़ियों की समस्या भी सामान्य, चिंताजनक और गंभीर के वर्ग में बांटी जा सकती है। अगर आपकी एड़ियों की समस्या गंभीर है तो पैराफिन वैक्स का उपचार ही इसे ठीक करने का एकमात्र उपाय है। पैराफिन वैक्स को पिघलाने के लिए डबल बायलर (double boiler) का इस्तेमाल करें। इस बायलर में दो चम्मच नारियल के तेल या सरसों के तेल का मिश्रण करें। इसे उबालने के बाद तब तक ठंडा होने के लिए रख दें, जब तक कि आपको इसपर एक पतली परत नहीं दिख जाती। अब इसमें अपने पैरों को डुबोकर रखें। इसके बाद पैरों को प्लास्टिक (plastic) से ढक लें और इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें। एक बार ये प्रक्रिया संपन्न हो जाने पर आप आसानी से अपने पैरों पर से वैक्स हटा सकते हैं। यह विधि गंभीर रूप से फटी एड़ियों को ठीक करने का काफी कारगर उपाय साबित होती है। पैराफीन वैक्स से एड़ियों(fati edi) की मालिश इन्हें मुलायम बनाकर कर ठीक कर देती है। इसके साथ सरसों या नारियल का तेल लगाकर और भी बेहतर परिणाम प्राप्त किया जा सकता है।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday