Baal kale karne ke ghareloo nuskhe – बाल काले करने के घरेलू नुस्खे

घने काले बाल हर महिला की चाहत होते हैं। प्राकृतिक तरीकों को अपनाकर घने-काले बाल पाए जा सकते हैं। असमय सफेदी को रोकने और मोटे काले बाल पाने के कई तरीके हैं। बाजार में मिलने वाले रासायनिक रंग बालों को नुकसान पहुंचाते हैं, इनकी जगह घरेलू प्राकृतिक उपचारों द्वारा बालों को सुन्दर और आकर्षक बनाया जा सकता है।

बालों की असमय सफेदी महिलाओं की वैश्विक समस्या है और इसका मुख्य कारण असंतुलित जीवन शैली है, मिलेनिन की कमी से बाल समय से पहले ही सफ़ेद हो जाते हैं। बालों की असमय सफेदी के अन्य कारणों में आनुवंशिकता, शरीर में रासायनिक परिवर्तन, वायु प्रदूषण, भावनात्मक चिंता और तनाव आदि प्रमुख हैं।

सफ़ेद बाल काले करने के लिए बाजार में कई तरह के रासायनिक शैंपू और लोशन उपलब्ध हैं जिनका लंबे समय तक प्रयोग करने से त्वचा और बालों को नुकसान पहुँचता है। बालों को नुकसान पहुंचाये बिना प्रभावी परिणाम देने के लिये हर्बल प्राकृतिक उपचार बेहतर विकल्प होते हैं।

भारतीय बालों का प्राकृतिक रंग काला होता है, परन्तु उम्र तथा अन्य कारकों की वजह से बालों की रंगत बदल जाती है। आजकल बालों का सफ़ेद होना काफी बड़ी समस्या बन गयी है, जिसका मुख्य कारण वातावरण का प्रदूषण होता है। जिस तरह हर चीज़ का एक निश्चित समय होता है, उसी प्रकार बाल सफ़ेद होने का भी एक निश्चित समय होता है।

हम आमतौर पर बाल सफ़ेद होने की उम्र 45 से 50 वर्ष के बीच रखते हैं। पर आजकल समय से पहले ही लोगों के बाल सफ़ेद हो जाते हैं। कई बार बालों को रंगने के लिए प्रयोग में लाये जाने वाले रसायन भी समय से पहले बालों को सफ़ेद कर देते हैं। यही समय है कि हम बाल काले करने के घरेलू नुस्खों का प्रयोग करें।

अगर आप भी घने काले बाल (balo ko kala karne ka tarika in hindi) पाने की चाहत तो रखती हैं पर केमिकल युक्त रंग या शैम्पू से बचना चाहती हैं तो प्राकृतिक उपचार आपके लिये एक बेहतर विकल्प है, जिसे आप घर में मिलने वाली आम सामग्री के द्वारा अपना सकती हैं और घने, काले और चमकदार बालों (balo ko chamakdar banane ke tarike) की मालकिन बन सकती हैं।

बालों के सफेद होने का कारण (Cause of white/grey hairs)

झड़ते बालों को रोकने के घरेलू नुस्खे

उम्र बढ़ने के साथ बालों का सफेद होना बहुत ही आम है, मगर आज कल युवा वर्ग में भी ये समस्या होने लगी है। सफेद बाल होने के वैसे तो कई कारण होते हैं, पर प्रमुख कारणों में धूप और विटामिन की कमी को माना जा सकता है। यदि किसी समस्या का कारण पता हो तो बचाव करना संभव एवं आसान हो जाता है। बाल सफेद होने के सभी कारण निम्नलिखित हैं :-

विटामिन की कमी

बालों के सफेद होने के प्रमुख कारणों में से एक विटामिन की कमी भी है। विटामिन की कमी से कई सारे शारीरिक विकार होते हैं, जिसमें बालों का सफेद होना भी शामिल है। बालों के स्वास्थ्य के लिए कुछ विशेष विटामिन जैसे विटामिन B-6, B-12, बायोटीन, विटामिन D और विटामिन E की जरूरत होती है। वे व्यक्ति जिनके शरीर में ये सभी विटामिन कम मात्रा में होते हैं, उनके बाल बहुत जल्दी सफेद होते हैं एवं झड़ने भी लग जाते हैं।

दवाइयां

कई बार बाल सफेद होने का कारण लंबे समय से दवाइयों का उपयोग होता है। बहुत ज्यादा दवाइयां खाने से यह एक साइड इफेक्ट के रूप में असर करता है। साइड इफेक्ट के कारण बाल झड़ते भी हैं एवं पूर्णतः सफेद भी हो जाते हैं।

बीमारियां

बाल सफेद होने के कारण कई बार कोई बड़ी या भयानक बीमारी भी होती है। ऐसी बीमारियों के शुरुआती लक्षण बाल सफेद होना होते हैं। इन बीमारियों के कारण बाल सफेद हो जाते हैं और झाड़ने लगते हैं। यह कैंसर, एड्स, थायराइड, एलोपेशिया के कारण होता है।

तनाव

बालों का मष्तिष्क से गहरा नाता है। कई ऐसी नसें होती हैं जो मस्तिष्क और बालों को पोषण देती हैं। ज्यादा तनाव लेने से या चिंता करने से मानसिक सेहत खराब होती है जिस कारण हमारे बाल झड़ते हैं एवं सफेद होने लगते हैं।

आनुवंशिकता

हमारे शरीर में कई सारे ऐसे तत्व होते हैं जैसे लंबाई, मोटापा, जो कि अनुवांशिक तौर पर हमारे जनकों से हमें प्राप्त होते हैं। उसी प्रकार कई बार बालों के सफेद होने की समस्या भी हमें आनुवंशिक रूप से हमारे पूर्वजों से प्राप्त होती है। हालांकि इसका इलाज कई बार संभव होता है।

सफ़ेद बालों को डाई करने की प्राकृतिक विधियां (Natural methods to dye grey hair/how to make white hair black naturally)

काली मिर्च (Black pepper)

काली मिर्च बालों के लिए काफी ज्यादा सहायक तत्व है। सामान्यतः इसका प्रयोग खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है लेकिन यह बालों के लिए भी कई मायनों में उपयोगी है। यह बालों को झड़ने से बचाती है और उन्हे सफेद होने से रोकती है। इसे प्रयोग करने के लिए, इसके दानों को पानी में उबाल दीजिए। उसके बाद उबालें हुए पानी में से काली मिर्च छान कर उस पानी को नहाने के प्रयोग में लाएं। बालों में अच्छे परिणाम देखने के लिए इसका प्रयोग निरन्तर एवं नियमित तौर पर करें।

एलोवेरा (Aloe Vera)

एलोवेरा मानव शरीर के लिए हर तरह से सहायक पदार्थ है। यह बालों के लिए भी काफी ज्यादा सहायक है। एलोवेरा कई तरीकों से बालों की मदद करता है। इसे लगाने से बाल न तो झड़ते हैं और न ही सफेद होते हैं। इसका प्रयोग करने के लिए एलोवेरा से जेल निकाल दें और उसमें नींबू का रस डाल दें। उसके बाद इस मिश्रण का पेस्ट बना लें और उसे बालों में लगाएं।

दही (Curd)

बालों के लिए दही रामबाण औषधि मानी जाती है। दही एक पूर्णतः प्राकृतिक तत्व है इसलिए इसके साइड इफेक्ट्स भी काफी कम हैं। दही से बालों को काला रखने के लिए, इसका पेस्ट बनाकर इस्तेमाल करें। पेस्ट में मेहंदी को भी मिलाएँ। पेस्ट बनाते हुए दही और मेहंदी मिला लें, उसके बाद इस पेस्ट को बालों में लगाइए। बेहतर परिणाम के लिए इसका निरंतर एवं नियमित रूप से प्रयोग करें।

गाय का दूध (Cow milk)

गाय का दूध बालों को काला रखने के लिए काफी ज्यादा उपयोगी है। गाय के दूध से बालों को हल्का हल्का गिला कर लें और यह सुनिश्चित कर लें कि वह आपकी जड़ों में पहुंच चुका हो। ऐसा रोज नहाने के तुरंत बाद करें और बालों को इसके बाद पुनः धो लें। बालों को सफेद होने से बचाने के लिए यह काफी असरदार है।

भृंगराज और अश्वगंधा

यह दोनों ही तत्व बालों के लिए काफी ज्यादा सहायक हैं। इनका प्रयोग करने के लिए पहले इनका पेस्ट तैयार कर लें। गौरतलब है कि इसका पेस्ट नारियल पानी से मिलाकर बनाएं। इसे लगाते वक़्त यह सुनिश्चित कर लें कि यह जड़ों के अन्दर तक पहुंचे। पेस्ट लगाने के बाद बालों को गुनगुने पानी से धो लें। यह काफी ज्यादा असर कारक होगा।

कच्चा पपीता (Raw papaya)

पपीता शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। इसमें कई सारे विटामिंस पाए जाते हैं जो कि शरीर के अन्य हिस्सों के साथ साथ बालों को भी पोषित करते हैं। बालों के लिए पपीता कच्चा उपयोग होता है। प्रयोग करने के लिए इसका पेस्ट बना लें। पेस्ट बनाने के बाद बालों पर निरंतर लगाएं। पेस्ट लगाने के पश्चात, दस मिनट के अंदर बाल धो लें और कुछ ही दिनों में असर देखें।

गाजर (Carrots)

यह एक ऐसा नुस्खा है जिसके अंतर्गत आपको मिश्रण बालों में नहीं लगाना, बल्कि इसका सेवन करना है। इसके अंतर्गत, थोड़े से गाजर लेकर इन्हें पीस लें एवं इनका रस निकाल लें। बेहतर परिणामों के लिए सुबह उठते ही इस रस का सेवन करें। जो भी इस ख़ास प्राकृतिक नुस्खे को अपनाता है, वह घने एवं काले बाल प्राप्त करने में कामयाब होता है।

आलू के छिलके (Potato Peel)

6 आलू लें एवं इनके छिलके निकाल लें। इन्हें 2 कप पानी में तब तक उबालें, जब तक ये गाढ़े स्टार्ची (starchy) मिश्रण में परिणत नहीं होता। इस मिश्रण को ठंडा होने दें एवं इसके बाद आलू के छिलकों को छानकर पानी को एक पात्र में निकाल लें। अपने बालों को धोकर कंडीशन (condition) करें एवं इसके पश्चात आलू के छिलके के पानी से अपने बाल धोएं। इसके बाद बाल धोने की आवश्यकता नहीं है। यह प्रक्रिया हफ्ते में 1-2 बार अपनाएं। यह स्टार्ची मिश्रण बाल सफ़ेद होने से रोकता है और इन्है काला करने में काफी असरदार साबित होता है।

गुड़हर का फूल (Hibiscus Flower)

गुड़हर के फूलों की उपयोगिता सिर्फ सुन्दर दिखने तक ही सीमित नहीं है, बल्कि इसमें आपके बालों के लिए भी काफी फायदे मौजूद हैं। गुड़हर काले बालों के लिए एक जांचा परखा एवं विश्वसनीय नुस्खा है। इसके लिए 1-2 गुड़हर के फूल तथा बालों में लगाने वाला एक तेल लें। गुड़हर के फूलों को अपने पसंदीदा तेल के साथ उबालें। एक बार इन फूलों के तेल के साथ पर्याप्त मात्रा में धीमी आंच पर 10 से 15 मिनट तक उबलने के बाद इस मिश्रण को छान लें। इसे ठंडा होने दें एवं अपने सिर की इससे अच्छे से मालिश करें। स्नान करने से पहले इस प्रक्रिया का अधिक से अधिक प्रयोग करने का प्रयास करें।आपके सिर में एक भी सफ़ेद बाल नहीं आएँगे।

आलू का मास्क (Potato mask)

आलू आपके बालों के लिए काफी उपयोगी साबित होते हैं। एक आलू लें एवं इसे पानी में उबालें। इस उबले हुए पानी का आपके बालों पर प्रयोग करना काफी लाभदायक होता है। यदि इसे दही के साथ मिश्रित किया जाए तो आलू का पानी काफी लम्बे समय तक बालों का रंग बनाये रखने में सहायता करता है।

बाल काले करने के उपाय हिंदी में (Hindi tips for hairs – bal kale karne ke upay)

लोगों को कम उम्र में सफेद बाल क्यों होते हैं? कारण और निवारण

बाल काले करने के उपाय के अंतर्गत प्राकृतिक तरीके की मदद से अच्छे परिणाम पाए जा सकते हैं। गुड़हल के लाल फूलों को नारियल के तेल में पकाकर बालों में मालिश करें। इससे बालों का सफ़ेद होना रुक जाता है और नए बाल भी निकलने लगते हैं। अगर गुड़हल के ताजे फूल उपलब्ध न हो तो गुड़हल के सूखे फूलों का भी प्रयोग किया जा सकता है।

तिल

बालों के लिए तिल का तेल बहुत फायदेमंद होता है।अगर आपके बाल असमय सफ़ेद हो रहे हों तो थोड़े से काले तिल को पानी में भिगो लें। भीग जाने पर इसे मिक्सी में पीसकर पेस्ट बना लें। काले तिल के पेस्ट को सिर की त्वचा और बालों पर 1 घंटे लगा के रखें और उसके बाद सौम्य शैम्पू से धोकर साफ़ कर लें।

मेहंदी और करौंदे के पैक

ताज़ी मेहंदी का पेस्ट बनाकर उसमे 3 चम्मच करौंदे का चूर्ण और 1 चम्मच कॉफ़ी थोड़े से पानी के साथ मिलाकर इस पेस्ट को बालों में लगाकर 2 घंटे तक छोड़ दें और उसके बाद साधारण शैम्पू से धो लें। यह बालों को रंगने का एक बेहतर विकल्प है।

बालों को काला करने का उपाय – काली चाय द्वारा (Black tea remedy)

चाय के पानी को बालों में लगाकर 1 घंटे बाद बिना शैम्पू का प्रयोग किये हुये पानी से धो लें।

लौकी के टुकड़ों (Ribbed gourd)

लौंकी के सूखे हुये टुकड़ों को 3 दिन तक नारियल के तेल में रखें और फिर काले होने तक गर्म करें। इस मिश्रण से बालों की जड़ों में मालिश करें। यह खोये हुये मिलेनिन को बालों में वापस लाता है।

काले बालों के लिये घरेलू नुस्खे (kale balo ke liye gharelu nuskhe)

पीने का पानी (Water to drink)

काले बाल प्राप्त करने के लिए यह ज़रूरी नहीं है कि आप बालों के पैक का ही प्रयोग करें। काले और सुन्दर बाल प्राप्त करने के लिए उनकी शारीरिक देखभाल काफी आवश्यक है। शरीर में पानी की कमी की वजह से भी बाल बेजान और सफ़ेद हो जाते हैं। आपके बालों के फोलिकल्स (follicles) को पर्याप्त नमी की आवश्यकता होती है। पीने का पानी आपके शरीर में ऑक्सीजन (oxygen) की मात्रा को नियंत्रित करता है और रक्त के संचार को दुरुस्त करता है। इससे काले और स्वस्थ बाल जन्म लेते हैं।

गर्मी का प्रयोग ना करें (Avoid using heat)

गर्मी एक ऐसा स्त्रोत है जिससे आपके बाल क्षतिग्रस्त हो सकते हैं। जवान लड़कियों में बालों की स्टाइलिंग (styling) के लिए हीटिंग आयरन (heating iron) का प्रयोग करने की बुरी आदत होती है। शुरुआत में आपको किसी नुकसान का अहसास नहीं होगा, परन्तु धीरे धीरे आप पाएंगी कि काफी कम उम्र में ही आपके बाल सफ़ेद होने शुरू हो गए हैं। अतः इस बात को सुनिश्चित करें कि ऐसे किसी स्टाइलिंग उत्पाद का प्रयोग ना करें जो आपके बालों को गर्मी प्रदान करें।

मालिश के लिए प्राकृतिक तेल (Natural oil for massage)

आजकल लोगों की नियमित अंतराल पर अपने बालों में तेल लगाने की आदत छूट सी गयी है। पर जैसे हमारी दादी कहती थी कि बालों में नियमित तेल लगाना और उनकी मालिश काफी ज़रूरी होती है। इससे आपके बालों की जड़ें काफी मज़बूत और स्वस्थ रहती हैं। इसके लिए अपने बालों में तेल डालें और अपने सिर की त्वचा पर अच्छे से फैलाएं। अब धीरे धीरे अपनी उँगलियों की सहायता से सिर की धीरे धीरे अच्छे से मालिश करें। आप पाएंगे कि आपके बालों की जड़ों में तेल समा रहा है। इस तरह आप प्राकृतिक रूप से काले बाल प्राप्त कर सकते हैं।

काले बालों के रख रखाव का पैक (Black hair maintenance pack)

बालों की वृद्धि के लिये घरेलू हेयर मास्क एंड पैक

मेहंदी और आँवले के चूर्ण को चाय के पानी में मिलाकर रात भर रखें अगली सुबह ब्राह्मी पाउडर, भृगराज पाउडर, 1 अंडे, दही और कुछ नींबू का रस मिलायें। इस पैक को पूरे सिर में लगाकर बालों की जड़ों में अच्छे से मालिश करें और आधे घंटे बाद धो लें। यह बालों को घना, मोटा, काला और चमकदार बनाता है और असमय सफेदी से बचाता हैं।

सही तरीके से कंघी (The correct combing technique)

आराम से और सही तरीके से कंघी करें।

गर्मी का प्रयोग ना करें (Say no to heat)

बालों में गर्म आयरन (iron) के औजारों का प्रयोग नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे बाल फ्रिज़ी (frizzy) तथा रूखे हो जाते हैं।

लम्बे बाल पाने के लिए (Growing hair long)

लम्बे बाल पाने के लिए बालों को कटवाने की जगह ट्रिम करवाएं।

केराटिन का उपचार (Keratin treatment)

बालों में केराटिन के पुनर्विकास का उपचार बालों के खोये हुए केराटिन को वापस लाता है तथा आपके बालों के काले प्राकृतिक रंग को बरकरार रखता है।

गर्म तेल की मालिश (Hot oil massages)

नारियल, आँवला या बादाम तेल को गर्म करके जड़ों की मालिश करने से बाल काले बने रहते हैं।

लम्बे काले,मोटे बालों के लिये घरेलू नुस्खे (Homemade recipes for thick and long black hair/lambe kale baal)

काले बालों के लिए करी (Currying for black hair)

घर में बनने वाले भोजन में करी पत्ती का प्रयोग करें यह बालों के जड़ों को मज़बूत बनाता है और सफेदी को दूर करता है।

काले बालों के लिए मक्खन का प्रयोग (Buttering for black hair)

गाय के शुद्ध दूध से बना मक्खन बालों के सफ़ेद होने की समस्या को दूर करने के लिए जाना जाता है। गाय के शुद्ध घी को आयुर्वेद के प्राचीन विशेषज्ञों द्वारा बालों के सफ़ेद होने की समस्या को रोकने के उपचार के दौरान प्रयोग में लाने की हिदायतें दी गयी है।

बालों को काला कैसे करें – गाय का शुद्ध घी (Ghee)

गाय का शुद्ध घी बालों की सफेदी को दूर करता है जिसकी प्राचीन आयुर्वेद चिकित्सा द्वारा भी सिफारिश की गई है।

काली चाय के बर्तन (Pot of black tea)

एक बड़े बर्तन में काली चाय डालें और ठंडी होने के बाद बालों को भिगोयें और 15 मिनिट बाद धो लें। इस प्रक्रिया को हर रोज तब तक दोहरायें जब तक इन पर गहरा काला रंग न दिखने लग जाये।

संतरे का रस (Orange juice to get jet black hair naturally)

बालों से रंग हटाने का आसान तरीका

संतरे का रस स्वस्थ और मज़बूत बालों के लिए बहुत प्रभावी होता है। इसमें थोड़ा से आंवले का रस मिलाने से इसका प्रभाव और बढ़ जाता है।

लंबे काले बालों के लिये प्राकृतिक घरेलू नुस्खे (Natural home remedies for black hair/black hair naturally in Hindi)

  • बालों को काला करने के उपाय के रूप में आधा लीटर पानी में दो चम्मच आँवला पाउडर मिलाकर आधा नीबू निचोड़ें और इस पानी से रोज अपने बालों को धोयें। कुछ ही दिनों में बाल काले और चमकदार हो जायेंगे।
  • 1 किलो घी, 250 ग्राम मुलेठी और 1 लीटर आंवले के रस को धीमी आंच पर तब तक पकाएं जब तक सारा पानी न उड़ जाए । इस मिश्रण से रोज नहाते समय बालों को धोएं। आपके बाल चमक उठेंगे।
  • आम की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को बालों पर लगाकर 15-20 मिनिट बाद पानी से धो लें। आपके बाल घने और काले हो जायेंगे।
  • बालों को काला करने के लिए आम की पत्तियों और कुछ कच्चे आमों को एक साथ तेल में पीसकर धूप में सुखाएं और इस मिश्रण से बालों को धोंयें। बाल घने एवं काले होंगे।