Hindi tips & homemade astringents for skin & face care – त्वचा और चेहरे के लिए सर्वश्रेष्ठ घरेलू एस्ट्रिंजेंट

एस्ट्रिंजेंट उन काफी महत्वपूर्ण सौंदर्य उत्पादों में से एक है, जिसे आपको अपने रोज़ाना के सौंदर्य उपचार में शामिल करना चाहिए। यह त्वचा के रोमछिद्रों को खोलने में आपकी सहायता करता है, जिसके फलस्वरूप त्वचा पर होने वाले एक्ने (acne) और मुहांसों में काफी कमी आती है।

यह त्वचा में रक्त के संचार को बढ़ाने में काफी मदद करता है और असमान त्वचा को सही करता है। एस्ट्रिंजेंट में मौजूद एंटीसेप्टिक और एंटी बैक्टीरियल (antiseptic and anti-bacterial) गुण चेहरे के रोमछिद्रों में मौजूद बैक्टीरिया (bacteria) और गन्दगी को निकालने में सक्षम होते हैं।

एस्ट्रिंजेंट का मुख्य कार्य त्वचा के बड़े रोमछिद्रों को छोटा करना है। बड़े और खुले रोमछिद्र हमारे लिए काफी समस्या खड़ी करते हैं। इन बड़े रोमछिद्रों में गन्दगी और बैक्टीरिया आसानी से वास कर सकते हैं और ब्लैक हेड्स,कील मुहांसे और दाग धब्बों जैसी परेशानियां अपने साथ लाते हैं। अतः इन रोमछिद्रों को सिकोड़ने की काफी आवश्यकता होती है और एस्ट्रिंजेंट यहीं काम आते हैं।

एस्ट्रिंजेंट त्वचा की कोशिकाओं में रक्त संचार बढ़ाते हैं और उनका सामान्य बर्ताव संतुलित रखते हैं। ये एस्ट्रिंजेंट इन कोशिकाओं की सफाई करते हैं और उनमें सीबम का स्तर बनाए रखते हैं। त्वचा में सीबम के संतुलित रहने से तैलीय त्वचा पर फायदा होता है। नीचे कुछ प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट्स के बारे में बताया गया है। चेहरे के लिए घरेलू उपाय :-

एस्ट्रिंजेंट के गुण (Astringent ke gun or Benefits of an astringent)

  • एस्ट्रिंजेंट रूखी, तैलीय, संवेदनशील तथा खुजलीदार त्वचा का प्रभावी रूप से इलाज करने में सक्षम है। आप किसी भी प्रकार की त्वचा पर सीधे ही इसका प्रयोग कर सकते हैं।
  • यह त्वचा में रक्त के संचार में काफी वृद्धि करता है।
  • यह त्वचा के अतिरिक्त तेल को दूर करके एक्ने और मुहांसों का सफाया कर देता है।
  • यह त्वचा के रोमछिद्रों को कसता है और मृत कोशिकाओं को निकालने में मदद करता है।

त्वचा की देखभाल के लिए प्राकृतिक घरेलू एस्ट्रिंजेंट (Natural homemade astringents)

साइट्रस फलों के रस के एस्ट्रिंजेंट्स (Citrus fruit juice astringents)

सर्वश्रेष्ठ घरेलू स्किन टोनर

सारे साइट्रस फलों में एस्ट्रिंजेंट के गुण होते हैं और ये खुले रोमछिद्र सिकोड़ सकते हैं। साइट्रस फल जैसे नींबू, संतरे एवं टमाटर को काफी बड़े पैमाने पर एस्ट्रिंजेंट के रूप में प्रयोग में लाया जाता है। किसी भी साइट्रस फल का रस लें और उसमें सूती का कोई कपड़ा डुबोएं। इसे अपनी त्वचा पर अच्छे से रगड़िये और 10 मिनट के बाद अपना चेहरा धो लें।

गुलाब जल एस्ट्रिंजेंट (Rose water astringent)

चेहरे के लिए घरेलू नुस्खे, 2 कप पानी लें और उसे गैस पर 10 मिनट तक उबालें। अब एक दूसरे पात्र में मुट्ठी भर गुलाब की पंखुड़ियाँ लें। गैस बंद करें और उस उबले पानी को गुलाब की पंखुड़ियों वाले पात्र में धीरे धीरे डाल दें। अब 30 मिनट तक प्रतीक्षा करें। अब गुलाब की पंखुड़ियों से गुलाबजल छान लें और उसे किसी ठंडी जगह पर रखें। इस पानी को चेहरे पर एस्ट्रिंजेंट की तरह इस्तेमाल करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

सिरके का एस्ट्रिंजेंट (Vinegar astringent)

प्राकृतिक चेहरे के पैक एवं मास्क

चेहरे के लिए घरेलू उपचार, एक गिलास पानी लें और उसमें 2 चम्मच सिरका और एक एस्पिरिन की टेबलेट डालें एवं इन सब पदार्थों को अच्छे से मिलाएं। अब इस मिश्रण को किसी कॉटन पद की सहायता से अपनी त्वचा पर लगाएं। यह एक एस्ट्रिंजेंट की तरह काम करता है और आपकी त्वचा के खुले रोमछिद्रों को बंद करता है। यह रोमछिद्रों को साफ़ करता है और उन्हें नमी और पोषण प्रदान करता है।

फिटकरी का एस्ट्रिंजेंट (Alum astringent)

फिटकरी को लें और उसमें एक चुटकी कपूर मिलाएं। अब इस मिश्रण में गुलाबजल डालकर इन्हें अच्छे से मिलाएं और त्वचा पर इसका प्रयोग एस्ट्रिंजेंट की भांति करें।

एलोवेरा का एस्ट्रिंजेंट (Aloevera astringent)

चेहरे के लिए घरेलू उपचार, एलोवेरा एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट है। ताज़े एलो वेरा के जेल को लेकर इसे अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।

संतरे के छिलके का एस्ट्रिंजेंट (Orange peel astringent)

प्राकृतिक घरेलू नीम से बने बालों के पैक

चेहरे के लिए घरेलू नुस्खे, सूखे हुए संतरे के छिलके का पाउडर लें। इस पाउडर में ताज़े नींबू का रस डालें और इन दोनों पदार्थों को अच्छे से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। यह मिश्रण आपकी त्वचा पर एक एस्ट्रिंजेंट की भांति काम करेगा और त्वचा के खुले हुए रोमछिद्रों को बंद करने में सहायता करेगा।

कैमोमाइल चाय (Chamomile tea) – यह चाय त्वचा के लिए एक बेहतरीन एस्ट्रिंजेंट तथा टोनर (toner) का काम करती है। कैमोमाइल की चाय और पुदीने के पत्तों से बने इस सुगन्धित एस्ट्रिंजेंट के प्रयोग से मस्तिष्क को सुकून मिलता है और चिड़चिड़ी त्वचा को भी आराम प्राप्त होता है। इस एस्ट्रिंजेंट के निर्माण के लिए कैमोमाइल चाय की पत्तियों को उबालें और इसमें पुदीने की कुछ पत्तियां मिश्रित करें। अब इस मिश्रण को ठंडा करके छान लें और इसका प्रयोग बाद में करने के लिए फ्रिज (fridge) में रख दें।

विच हेज़ल (Witch hazel) – त्वचा के तैलीयपन को कम करने के लिए इसका एक एस्ट्रिंजेंट के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। यह मुहांसों को सुखाने में आपकी मदद करता है और त्वचा को एक्ने और मुहांसों से दूर रखता है। आप इसका प्रयोग बड़ी आसानी से तैलीय, रूखी, सामान्य तथा मिश्रित त्वचा पर कर सकते हैं। हालांकि मिश्रित त्वचा पर इसका इस्तेमाल सावधानी से करें।

ग्रीन टी (Green tea) – यह एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट है, जो जलनयुक्त त्वचा को आराम देती है और सनबर्न (sunburn) को ठीक करती है। एक कप ग्रीन टी बनाएं और फिर इसे ठंडा होने दें। अब इस चाय में रुई का कपड़ा डुबोएं एवं इसका प्रयोग चेहरे पर करें।

खीरे का एस्ट्रिंजेंट (Cucumber astringent) – यह एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट होता है, जो आपकी त्वचा की सफाई करके इसे टोन (tone) करता है तथा त्वचा को उजला भी बनाता है। ताज़े कटे खीरे के टुकड़े चेहरे पर अच्छे से रगड़ने से काले धब्बे दूर हो जाते हैं। इससे चेहरे पर कुछ मिनट तक अच्छे से मालिश करें। इसके बाद चेहरे को अच्छे से पानी से धो लें।

तरबूज़ के फेस पैक/फेशियल

चन्दन का एस्ट्रिंजेंट (Sandalwood astringent) – यह त्वचा को काले धब्बों और त्वचा की मृत कोशिकाओं से दूर रखता है। इस एस्ट्रिंजेंट के निर्माण के लिए चन्दन के पाउडर को बादाम के तेल, संतरे के छिलके के पाउडर, बेकिंग सोडा (baking soda), शहद और गुलाबजल के साथ मिश्रित कर दें। इस मिश्रण में रुई का कपड़ा डालकर अपने चेहरे पर लगाएं और 2 मिनट के बाद ठन्डे पानी की मदद से अच्छे से धो लें।

नीम्बू (Lemon) – नीम्बू खुद में ही एक काफी बेहतरीन एस्ट्रिंजेंट है, पर इसे चेहरे पर लगाने से पहले पानी के साथ मिश्रित अवश्य करें, अन्यथा आपके चेहरे में जलन और खुजली काफी बढ़ जाएगी। नीम्बू का बेहतरीन एस्ट्रिंजेंट मिश्रण बनाने के लिए आधा कप नीम्बू का रस, 1 कप शुद्ध पानी और दो तिहाई कप विच हेज़ल आपस में मिश्रित करें और इसे कांच की एक बोतल में जमा करके रख दें। इसे अच्छे से हिलाएं और रुई के एक कपड़े की सहायता से रोज़ाना लगाएं।

देवदार का एस्ट्रिंजेंट (Pine astringent) – यह एस्ट्रिंजेंट बनाने में काफी आसान है और इसे जमा करके भी लम्बे समय तक रखा जा सकता है। देवदार के काँटों को शुद्ध पानी में उबालें और ठंडा होने दें। अब इन काँटों को छान लें और इसे एक कांच की बोतल में जमा करके रख दें। इसमें थोड़ा सा विच हेज़ल भी डालें। अब एक रुई के कपड़े की सहायता से इसका प्रयोग चेहरे पर करें।

हर्बल फूलों का एस्ट्रिंजेंट (Herbal flowers astringent) – यह एस्ट्रिंजेंट ताज़ी या सूखी गुलाब की पंखुड़ियों, लैवेंडर (lavender) के फूल, कैलेंडुला (calendula) के फूल तथा कैमोमाइल के फूल की मदद से बनाया जाता है। एक कांच के पात्र में बराबर मात्रा में ये फूल वोडका (vodka) में डुबोकर रखें और इसे बंद कर दें। अब इसमें विच हेज़ल का मिश्रण करें। इसे हिलाएं और इस पात्र को एक धूप वाली जगह पर 6 हफ़्तों तक रख दें और रोज़ाना इसे हिलाएं। इसके बाद इस मिश्रण को छान लें और इसे एक काले रंग की बोतल में डालकर एक ठंडी जगह में रख दें और इसका एस्ट्रिंजेंट के रूप में प्रयोग करें।

ठण्ड में त्वचा की देखभाल के नुस्खे

पुदीना (Mint) – यह एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट माना जाता है, जो हमारे चेहरे की मृत कोशिकाओं को दूर करने में सक्षम होता है। पुदीने में त्वचा को साफ करने, इसकी गुणवत्ता बढ़ाने तथा त्वचा को ठंडक और आराम प्रदान करने के गुण मौजूद होते हैं। आप पुदीने को प्रभावी बनाने के लिए इसका मिश्रण सिरके, विच हेज़ल तथा अन्य एस्ट्रिंजेंट के साथ कर सकते हैं।

एल्डर फ्लावर एस्ट्रिंजेंट (Elder flower astringent) – यह एक बेहतरीन एंटी एजिंग (anti ageing) तत्व है, जो झुर्रियों को पैदा होने से रोकता है। यह त्वचा के रोमछिद्रों (pores) के आकार को भी छोटा करता है तथा त्वचा को सूरज से होने वाली हानि से बचाता है। यह मुहांसों को पैदा होने से रोकता है और संक्रमणों को ठीक करता है। यह हर तरह की त्वचा के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। एस्ट्रिंजेंट का रोज़ाना प्रयोग करें, जिससे आपकी त्वचा लम्बे समय तक अच्छी स्थिति में रहे। सौंदर्य कंपनियों ने हर तरह की त्वचा के लिए एस्ट्रिंजेंट का निर्माण किया है। ये आमतौर पर उनके लिए खासतौर पर उपयोगी है, जिन्हें एक्ने और मुहांसों की समस्या सताती है। आजकल लोग बाज़ार में मिलने वाले सौंदर्य उत्पादों को लेकर काफी जागरूक रहते हैं। वे इनकी बजाय प्राकृतिक उपाय अपनाना पसंद करते हैं।

त्वचा की देखभाल के लिए बेहतरीन घरेलू एस्ट्रिंजेंट (Best homemade astringents for skin and face care)

गुलाब का एस्ट्रिंजेंट (Rose astringent)

प्राकृतिक रूप से गुलाब का एस्ट्रिंजेंट बनाने के लिए इसकी कुछ पंखुड़ियां तोड़ लें। इस प्रक्रिया के लिए आपको थोड़े से शुद्ध पानी की भी आवश्यकता होगी। इस पानी को उबालें और इसके 100 डिग्री तक जाने की प्रतीक्षा करें। अब गुलाब की पंखुड़ियों को इसमें डालें और गैस को बंद कर दें। गुलाब की पंखुड़ियों को उबलते पानी में डुबोकर रखें और इसे इसी तरह आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इस मिश्रण का प्रयोग एस्ट्रिंजेंट की तरह करें।

घरेलु पील ऑफ मास्क

टमाटर का प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट (Tomato astringent)

एक कच्चा टमाटर लें और इसे छोटे टुकड़ों में काट लें। अब टमाटर के इन टुकड़ों को पानी में डालें और इन्हें उबालने की कोशिश करें। एक बार जब यह उबलना शुरू हो जाए तो गैस बंद कर दें और इसे किसी चीज़ से ढक दें। एक बार इस मिश्रण के ठंडा हो जाने पर टमाटर के गूदे को छान लें और द्रव्य को अलग रख लें। अब टमाटर के इस एस्ट्रिंजेंट को फ्रिज में रख लें और जब भी आपको प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट की आवश्यकता हो, तो इसका प्रयोग करें।

नीम की पत्तियों का प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट (Neem leaf astringent)

कई सौंदर्य प्रसाधन बनने वाली कंपनियां अपने उत्पादों में नीम के अंश का इस्तेमाल करती हैं। आप अब इसके गुणों का इस्तेमाल एस्ट्रिंजेंट बनाने के लिए भी कर सकते हैं। एक गिलास शुद्ध पानी लें और इसे उबाल लें। इसमें मुट्ठीभर नीम की पत्तियां डालें और इसे दोबारा उबालने का प्रयास करें। एक बार जब इस द्रव्य का रंग हरा हो जाए तो इस प्रक्रिया को बंद कर दें। इस द्रव्य को ठंडा होने दें और एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट की तरह इसका चेहरे पर इस्तेमाल करें। इसमें एंटीसेप्टिक और एंटी बैक्टीरियल (antiseptic and anti bacterial) गुण भी मौजूद होते हैं।

loading...