Scrubs for lightning underarms, armpits blackness, darkness in Hindi – कांख का काला गहरा रंग हल्का करने के लिए घरेलू स्क्रब

बगल का काला या गहरा रंग ना ही कोई बिमारी है और ना ही यह गंभीर समस्या है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए पर्याप्त देखभाल करनी चाहिए। कभी कभी यह बुरी गंध देकर बुरा प्रभाव छोड़ता है।

लोगों की काँखों में कालापन दिखना काफी आम बात है। कुछ लोगों में ये जन्म से होता है और कई अन्य लोग गलत हेयर रिमूवर क्रीम्स (hair remover creams) और अन्य सौन्दर्य पदार्थों के इस्तेमाल से काँखों के कालेपन के शिकार होते हैं। यहाँ तक कि हमारे द्वारा ग्रहण किये गए भोजन से भी हमारी कांख काली हो जाती हैं। इन्हें दूर करने के लिए कई सौन्दर्य उत्पाद बाज़ार में उपलब्ध हैं, पर ये सबकी त्वचा पर अच्छे से काम नहीं करते। त्वचा के कुछ प्रकार काफी संवेदनशील होते हैं और कुछ सामान्य। अतः आपके लिए घरेलू नुस्खों का प्रयोग करना ज्यादा अच्छा रहेगा। नीचे ऐसे ही कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में बात की गयी है। शरीर की देखभाल कैसे करे :-

कांख / अंडरआर्म का गहरा रंग होने के कई कारण हो सकते हैं (Dark underarms can be due to a variety of reasons including)

  • कुछ डियो और प्रतिस्वेदकों में रसायन होते हैं और दैनिक जीवन में उनका उपयोग त्वचा को प्रभावित कर सकता है। प्रोपलीन, एल्यूमीनियम और पराबेंस जैसे हानिकारक एजेंट त्वचा को बाधा पहुंचाते हैं।
  • मृत त्वचा हटाने के लिए घरेलू स्क्रबर का उपयोग करें। नहाने के बाद तौलिया इस्तेमाल कर मृत त्वचा को साफ करें।
  • कई लोग कांख के बाल हटाने के लिए दाढ़ी का ब्लेड इस्तेमाल करते हैं लेकिन यह त्वचा को गहरे रंग में बदल जाता है। उसके बाद त्वचा पर चकत्ते बनकर जलन होने लगती है। बाल हटाने के लिए वैक्सिंग करके देखें।
  • सिंथेटिक पोशाक त्वचा को लगातार घिसता है और कुछ समय के बाद त्वचा गहरे रंग की हो जाती है।
  • कोरिनबैक्टीरियम – यह कीटाणु कांख की गंध और ज्यादा पसीने से उत्पन्न होता है। यह कीटाणु डियो उपयोग करने वालों की कांख का रंग गहरा करने के लिए मुख्य कारण है।

दमकती त्वचा के लिए प्राकृतिक स्क्रब्स

अगर बगल का रंग गहरा तो घरेलू उपचार से उसे कम किया जा सकता है। ये घरेलू उपचार अतिरिक्त दुष्प्रभाव से सुरक्षित करते हैं और इनके कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होते। कुछ लोगों में अकान्थोसिस निग्रिकान्स बीमारी से कांख का रंग काला होना देखा जाता है। ऐसे लोगों को डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी है।

कांख / अंडरआर्म का गहरा रंग हटाने के लिए घरेलू स्क्रब (Homemade scrub for the dark armpits, scrub ke labh)

  • 1/4 कप शक्कर
  • 1 बड़ा चम्मच समुद्री नमक
  • 1 बड़ा चम्मच शहद
  • 1 बड़ा चम्मच जैतून का तेल
  • 3 बूंदें नींबू का रस

स्क्रब कैसे करे, यह सामग्री मिलाकर पेस्ट बनायें। गीली त्वचा पर इसे लगाकर 3 मिनट तक हल्की मालिश करें और स्क्रब के फायदे, फिर गुनगुने पानी से धो डालें।

शहद और नींबू रस का पैक  (Honey and lemon juice pack scrub use karne ka tarika)

  • 1 बड़ा चम्मच शहद
  • 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस

स्क्रब कैसे करे, दोनों मिलाकर गीली त्वचा पर लगायें। 10-15 मिनट छोड़कर गुनगुने पानी से धो डालें। एक हफ्ते में यह पैक 2 बार इस्तेमाल करें।

नींबू का रस (Lemon juice)

हाथों और पैरों के घरेलू स्क्रब्स

नींबू के रस में कपास डुबायें। नहाने के बाद कपास से यह रस लगाकर 10 मिनट रखें। फिर ठंडे पानी से धो डालें।

दही और संतरे के छिलके का पैक (Yogurt and orange peel for the dark arm pit)

  • 2 बड़े चम्मच दही
  • 1/2 बड़ा चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर

दोनों को मिलाकर पतली पेस्ट बना लें। गीली त्वचा पर लगाकर 15 मिनट तक छोड़ दें। फिर गुनगुने पानी से धो डालें। स्क्रबिंग, हफ्ते में 2 बार इसे पैक को इस्तेमाल करें और कांख का गहरा रंग बदलता देखें।

कांख का रंग हल्का करने के घरेलू नुस्खे (Simple home remedies to lighten armpits)

  • आलू (Potato) आलू कांख की त्वचा को गोरा करने का काफी अच्छा ब्लीचिंग एजेंट (bleaching agent) है। यह त्वचा में जलन पैदा नहीं करता है क्योंकि इसमें हलके एसिड (acid) के गुण होते हैं। इस विधि के अंतर्गत अपनी बांहों के नीचे आलू का पतला टुकड़ा रगड़ें या फिर आलू का रस निकालकर इसे कांख पर लगाएं। इसे सूखने के लिए छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें।
  • खीरा (Cucumber) खीरे में भी आलू के जैसे ब्लीचिंग के गुण होते हैं, जिससे त्वचा की रंगत निखरती है। इसके लिए खीरे का एक पतला टुकड़ा लेकर कांख पर रगड़ें या इसे किसकर इसके रस को लगाएं। वैकल्पिक तौर पर खीरे के रस को एक चुटकी हल्दी पाउडर और नीम्बू के रस की कुछ बूँदों के साथ मिलाएं और बेरंग भागों पर लगाएं। इसे आधे घंटे बाद धो लें।

त्वचा की देखभाल के लिये घरेलू स्क्रब

  • बेकिंग सोडा (Baking soda) इसकी मदद से काले काँखों को गोरा करने के लिए एक बेहतरीन स्क्रब बनाया जा सकता है। यह स्क्रब मृत कोशिकाओं को निकालने में मदद करता है, जिसके जमे रहने की वजह से रोमछिद्र (pores) बंद हो जाते हैं और कांख काले पड़ जाते हैं। गुलाबजल और बेकिंग सोडा की मदद से एक गाढ़ा पेस्ट बनाएं और इससे अपनी काँखों को स्क्रब करें। कुछ देर बाद इस भाग को धो लें।
  • नारियल का तेल (Coconut oil) यह काली काँखों को गोरा करने का काफी बेहतरीन विकल्प है। इसमें मौजूद विटामिन से काँखें गोरी होती हैं। प्रभावित काँखों की नारियल के तेल से मालिश करें और 10 मिनट तक छोड़ने के बाद इसे धो लें।
  • दूध (Milk) दूध काली काँखों को गोरा करने का काफी अच्छा उपाय साबित होता है। मलाईदार दूध, बेसन और दही को मिश्रित करके एक गाढ़ा पेस्ट निर्मित करें। इस पेस्ट का प्रयोग काँखों पर करें और 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे अच्छे से ठन्डे पानी से धो लें। वैकल्पिक तौर पर केसर के कुछ अंशों को दूध में 20 मिनट तक डुबोकर रखें। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं और काँखों पर लगाएं। इसे आधे घंटे तक छोड़ दें और फिर इस भाग को साफ़ कर लें।
  • चन्दन (Sandalwood) चन्दन एक प्रभावी उत्पाद है जो काँखों की काली त्वचा को उजला बनाने का काम करता है। चन्दन के पाउडर और गुलाबजल का एक पेस्ट बनाएं और इसका प्रयोग काँखों पर करें। इसे सूखने के लिए छोड़ दें और इसके बाद ठन्डे पानी से धो लें।
  • बेसन (Gram flour) बेसन भी काली काँखों को गोरा करने के काम आता है। बेसन, दही, हल्दी और नींबू के रस का एक गाढ़ा पेस्ट बनाएं और इसका प्रयोग अपनी काँखों पर करें। इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें और इसके बाद गर्म पानी से धो लें।
  • सिरका (Vinegar) यह भी काँखों को उजला बनाने का काम करता है। यह त्वचा की मृत कोशिकाओं पर पनपने वाले बैक्टीरिया (bacteria) और अन्य जीवाणुओं को ख़त्म कर देता है। चावल के आटे और सिरके को मिलाकर एक गाढा पेस्ट बनाएं और गर्म पानी से अच्छे से स्नान करने के बाद इस पेस्ट का प्रयोग अपनी काँखों पर करें। इसे सूखने के लिए छोड़ दें और इसके बाद इसे गर्म पानी से धो लें।
  • सेब (Apple) सेब काली काँखों की मृत कोशिकाओं को निकालने वाला काफी प्रभावी तत्व है। सेब में AHA नामक तत्व होता है जो जीवाणुओं और बैक्टीरिया का नाश करता है। एक सेब को मसलें और इससे प्रभावित भाग पर मालिश करें। इसे सूखने के लिए छोड़ दें और इसके बाद इसे निकाल लें। अब इस सेब लगे हुए भाग को एक गीले कपड़े की मदद से साफ़ कर लें।

होठों के देखभाल लिए घरेलू स्क्रब

  • जैतून का तेल (Olive oil) जैतून का तेल काँखों को गोरा करने और पसीने की बदबू को दूर करने में आपकी सहायता करता है। जैतून के तेल और ब्राउन शुगर (brown sugar) को मिश्रित करके एक स्क्रब बनाएं। इस स्क्रब का प्रयोग अपनी बांहों के नीचे करें और 5 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे पानी से धो लें।

कांख की त्वचा को गोरा करना (Underarm gora aur saaf karna)

केसर और दूध (Saffron and milk scrub kaise kare in hindi)

आप सभी जानते होंगे कि केसर और दूध का मिश्रण गोरापन प्राप्त करने का सबसे प्रभावी नुस्खा है। कई सौन्दर्य कंपनियां इन दोनों उत्पादों का प्रयोग करके कई प्रकार की क्रीम (cream) तथा अन्य उत्पाद निर्मित करती हैं। पर अगर आपके पास असल सामग्रियां उपलब्ध हैं तो आप प्राकृतिक नुस्खों का भी प्रयोग कर सकती हैं। इसके लिए आधा कप दूध लें और इसमें थोड़ा सा केसर डालें। इन्हें अच्छे से मिलाएं और अपनी काँखों के नीचे लगाएं। इसे लगाने के बाद कुछ देर के लिए छोड़ दें। इसे रातभर छोड़ना ज्यादा सही रहेगा। सुबह इसे धो लें।

चने का आटा (Chick pea flour scrub kaise kare)

ज़्यादातर भारतीय परिवार चने के आटे को एक महत्वपूर्ण भोजन सामग्री की तरह प्रयोग में लाते हैं। पर कई लोगों को यह नहीं पता कि काँखों का कालापन दूर करने का भी यह बेहतरीन नुस्खा साबित होता है। इसके लिए 2 चम्मच चने का आटा , एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच दही और एक चुटकी हल्दी लेकर इनका मिश्रण तैयार करें। इसके बाद इस मिश्रण को अपनी काँखों पर लगाएं। इस पेस्ट के सूखने तक प्रतीक्षा करें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी की मदद से धो सकती हैं।

आयुर्वेदिक जड़ के अंश का नुस्खा (Herbal root extract remedy)

इसके लिए ऐस्पन (aspen), मुलैठी और रास्पबेरी (raspberry) के अंशों को लें और इनका मिश्रण तैयार करें। अब इसे एक छोटे पात्र में लेकर अच्छे से मिलाएं और अपनी काँखों पर लगाएं। इसे करीब आधे घंटे तक रखें और इसके एक बार सूख्नने पर पानी से धो लें। क्योंकि इन जड़ीबूटियों में औषधीय गुण होते हैं, अतः इनका प्रयोग करने से आप आसानी से खतरे से दूर रह सकते हैं। इन जड़ीबूटियों में फियोमेलेनिन (pheomelanin) पाया जाता है, जो आपकी कांख की त्वचा को उजला बनाता है।

हर तरह की त्वचा के लिए घरेलू बॉडी और फेशियल स्क्रब

तेल का मिश्रण (Oil mixture scrub ke fayde)

आप अब कई प्रकार के एसेंशियल ऑइल (essential oil) को मिलाकर काली काँखों के उपचार का एक बेहतरीन नुस्खा बना सकते हैं। इसके लिए 2 बूँद जोजोबा तेल, जैतून का तेल, सिट्रस का तेल और वीट जर्म ऑइल (Jojoba oil, olive oil, citrus oil and wheat germ oil) लें और इनका मिश्रण बनाएं। अब इसका प्रयोग अपनी काँखों के नीचे करें। इस तेल को आप रातभर या फिर कुछ घंटों के लिए अपनी काँखों पर रखें और फिर हटा दें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday