Hindi tips to boost your fertility and get pregnant faster – प्रजनन शक्ति बढ़ाने और जल्दी गर्भवती होने के नुस्खे

जब आप बच्चे के बारे में सोचती हैं तो सबसे पहले आपके मन में सम्भोग करके गर्भवती होने का ख्याल आता है। कुछ महिलाएं एक बार में गर्भवती हो जाती हैं वही कई महिलाओं को इसमें ज़्यादा समय लगता है। यह वीर्य निकलने के ज़ोर और शुक्राणुओं के गर्भाशय में जाकर उर्वर अंडा बनाने पर निर्भर करता है। आपको महीने के उस समय की जानकारी होनी चाहिए जब आप की काफी प्रजनन शक्ति रहती हैं। 36 घंटों तक अंडा आपके प्रजनन अंगों में सुरक्षित रहता है। आपको अण्डोत्सर्ग के पहले अपने शरीर के लक्षण देखकर गर्भधारण की सोचनी चाहिए। प्रजनन काल से कुछ दिन पहले कई महिलाएं साफ़ म्यूकस निकालती हैं।

प्राकृतिक तरीके से प्रजनन शक्ति बढ़ाना (Helping fertility in a natural way)

बच्चा होना एक दंपत्ति के जीवन का सबसे सुखद क्षण होता है। महिला के गर्भधारण से लेकर बच्चा पैदा होने तक गर्भावस्था की प्रक्रिया दम्पत्तियों के लिए काफी सुखद होती है। पर अगर आपको बच्चा पैदा करने में परेशानी हो रही है तो गर्भावस्था का समय काफी परेशानी भरा हो सकता है। इसके अलावा प्रजनन शक्ति का इलाज और अन्य दवाइयाँ काफी महंगी होती हैं। अगर आप प्रजनन शक्ति की समस्या से जूझ रही हैं तो आपको प्राकृतिक तरीके से प्रजनन शक्ति बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए।

पीरियड्स के एक दिन बाद गर्भवती होने की संभावना

प्रजनन शक्ति बढ़ाने के उपाय (Steps to fertility or fertility kaise badaye)

अगर आप अपनी प्रजनन शक्ति बढ़ाना चाहती है तो सबसे पहले आपको यह पता लगाना होगा कि आप सबसे अधिक महीने के किस समय उर्वर रहती हैं। आप कई तरीकों से अपनी उर्वरता की जांच कर सकते हैं। आप बसल शरीर तापमान जांचने से इसकी शुरुआत कर सकते हैं। इससे आप अण्डोत्सर्ग का समय जान सकती हैं। इस समय आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है। अण्डोत्सर्ग के पहले सम्भोग करने से गर्भवती होने की संभावना ज़्यादा होती है।

प्रजनन क्षमता बढ़ाने के उपाय है सम्भोग की मुद्राएं (Sexual positions)

अगर आपको गर्भवती होने में परेशानी हो रही है तो आपको अपने साथी के साथ सम्भोग की विभिन्न मुद्राएं अपनानी चाहिए। गर्भवती होने के लिए आपके साथी को अपना वीर्य आपके गर्भाशय के जितना पास हो सके डालना चाहिए। खड़े होकर, बैठकर या फिर महिला के ऊपर होकर सम्भोग करने की मुद्राओं से परहेज करें क्योंकि इन प्रक्रियाओं में वीर्य शरीर से निकल जाता है। मिशनरी मुद्रा का प्रयोग करें जिससे अंदर तक असर होता है। पीछे की तरफ से सम्भोग की मुद्रा भी काफी प्रभावी है क्योंकि इससे आपका साथी आपके गर्भाशय के बिलकुल पास वीर्य डालने में सफल होता है। वीर्य को निकलने से रोकने के लिए सम्भोग के बाअद 15 मिनट तक अपने पृष्ठ भाग को थोड़ा उठाकर रखें।

गर्भवती होने के तरीके, सही खानपान (Eating right)

महिलाओं के फर्टाइल दिनों की गणना करने के तरीके

यह आपको थोड़ा नया लगेगा पर सही उर्वरता के लिए सही खानपान भी काफी ज़रूरी है। सही खानपान हॉर्मोन्स को नियंत्रित करता है और आपके प्रजनन तंत्र को स्वस्थ रखता है। एक स्वास्थ्यकर भोजन आपके वज़न को भी नियंत्रित रखता है जिससे प्रजनन शक्ति बढ़ती है। जिन महिलाओं का वज़न कम या ज़्यादा होता है उन्हें गर्भधारण करने में दिक्कतें पेश आती हैं क्योंकि शरीर के वसा का स्तर सेक्स के हॉर्मोन्स की उत्पत्ति को प्रभावित करता है।

प्रजनन क्षमता बढ़ाने के उपाय है व्यायाम (Exercise)

हल्का व्यायाम प्रजनन शक्ति का अच्छा उपचार है। जब इसे पोषक और सही आहार के साथ मिला दिया जाए तो व्यायाम से आपके शरीर का वज़न सही होता है। इससे आपके शरीर का अतिरिक्त वसा जलता है जिससे हॉर्मोन का स्तर सामान्य हो जाता है। परन्तु ज़्यादा व्यायाम करने से बचें क्योंकि इससे भी प्रजनन शक्ति प्रभावित होती है। हलके व्यायाम जैसे चहलकदमी, तैराकी और साइकिलिंग करें।

महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के उपाय है अण्डोत्सर्ग की जांच (Ovulation test)

अगर आप अपनी प्रजनन शक्ति बढ़ाना चाहती हैं तो सबसे पहले अपने अण्डोत्सर्ग की जांच करें। कई महिलाएं अण्डोत्सर्ग की सही तिथि जानने के लिए पूर्ण रूप से कैलेंडर पर ही निर्भर रहती हैं। पर इससे कई बार गलती भी हो सकती है। अतः बाज़ार में बिकने वाली अण्डोत्सर्ग के जांच की किट खरीदें। जैविक उत्पादों का प्रयोग करें।

फोलिक एसिड का सेवन (Folic acid consumption)

गर्भधारण करने का सही समय

शरीर के अन्य पोषक तत्वों की तरह फोलिक एसिड भी काफी आवश्यक है। अगर आपके शरीर में फोलिक एसिड की सही मात्रा नहीं है तो दवाइयों की दूकान से इसका विकल्प लेने का यही सही समय है। महिलाओं को फोलिक एसिड के साथ अपने खाने में मल्टी विटामिन की मात्रा लेनी चाहिए क्योंकि इससे बच्चे की रीढ़ की हड्डियों का विकास होता है जो कि इस दुनिया में आ रहा है। पर आपको फोलिक एसिड डॉक्टर द्वारा बतायी हुई मात्रा के अनुसार ही ग्रहण करना चाहिए।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday