Reasons to avoid the instant noodles and junk food – नूडल्स से बचने और स्वस्थ रहने के लिये कारण

इस लेख की शुरुआत में ही हम आपको बता दें कि हमें इंस्टेंट नूडल्स (instant noodles) बहुत पसंद है। ये स्वादिष्ट तथा मसालेदार होते हैं और इन्हें बनाने में भी ज़्यादा समय नहीं लगता है। यही हमारे लिए पर्याप्त कारण है जिसकी वजह से हमें नूडल्स पसंद हैं। पर क्या आपको पता है कि नूडल्स चाहे किसी भी कंपनी (company) के हों, आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं।

जी हाँ, आप सही पढ़ रहे हैं। हम सोचते हैं कि इंस्टेंट नूडल्स फ़ास्ट फ़ूड (fast food) का स्वास्थ्यकर विकल्प हैं, पर असल में ये उनके जैसे ही या फिर उनसे ज्यादा ही हानिकारक होते हैं। नीचे कुछ ऐसे कारण दिए हुए हैं जिनसे यह साबित होता है कि आपको स्वस्थ रहने के लिए इंस्टेंट नूडल्स का परहेज करना चाहिए।

इनसे आपका पेट भले ही भरता हो, पर पोषक ज़रूरतें पूरी नहीं होती (They might fill your stomach but will not fill your nutritional needs)

आपको भूख लगी तो आपने इंस्टेंट नूडल्स का एक पैकेट फाड़कर झट से पकाया और खा लिया। इससे आपका पेट भी भर गया। जी हाँ, इंस्टेंट नूडल्स आपके पेट को भरने का काम काफी प्रभावी तरीके से करता है, पर ये शरीर को पोषण के रूप में कुछ भी प्रदान नहीं करते। नूडल्स के रूप में आप सिर्फ काफी मात्रा में कार्बोहायड्रेट (carbohydrate) का सेवन करते हैं तथा इनमें कोई विटामिन्स, स्वास्थ्यकर खनिज पदार्थ तथा फाइबर (vitamins, healthy minerals or fiber) नहीं मिलते। अगर संक्षेप में कहें तो इंस्टेंट नूडल्स आपके पेट की भूख को तो मिटा देता है,पर इससे आपके शरीर की भूख नहीं मिटती। अतः इनका सेवन करना आपके शरीर के लिए स्वास्थ्यकर नहीं होता।

इनमें खराब वसा होता है (Comes loaded with bad fats – instant noodles ke side effects)

पेट की एसिडिटी को नियंत्रित और शांत करने के लिए घरेलू उपचार

यह काफी उच्च मात्रा में प्रोसेस्ड (processed) भोजन होता है, अतः इंस्टेंट नूडल्स सैचुरेटेड फैटी एसिड्स या ट्रांस फैट (saturated fatty acids or trans-fat) से भरपूर होते हैं, जो कि आपके शरीर या दिल के लिए अच्छा नहीं होता। ट्रांस फैट ना सिर्फ आपके शरीर में वसा की मात्रा में वृद्धि करते हैं, बल्कि ये धमनियों में भी जमा हो जाते हैं जिससे इनमें लोच का अभाव पैदा हो जाता है। इससे आपको उच्च रक्तचाप और दिल का दौरा पड़ने की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है। अतः इंस्टेंट नूडल्स से दूर रहना एक अच्छा उपाय है।

इंस्टेंट नूडल्स सोडियम से भरे होते हैं (Instant noodles are high in sodium)

शरीर को सोडियम की ज़रुरत अवश्य होती है, पर इसकी अतिरिक्त मात्रा से शरीर पर नकारात्मक प्रभाव ही पड़ता है। सोडियम की खाने में ज़्यादा मात्रा होने से उच्च रक्तचाप और दिल की समस्याएं पैदा होने की संभावनाएं काफी ज्यादा हो जाती हैं। इसके अलावा सोडियम का सीधा सम्बन्ध शरीर में पानी के भराव से होता है। अतः अगर आप ज़्यादा इंस्टेंट नूडल्स का सेवन कर रहे हैं तो इससे ना सिर्फ आपके शरीर का रक्तचाप बढ़ेगा, बल्कि सूजन जैसी समस्याएं भी पैदा होंगी और आप मोटे दिखेंगे।

इंस्टेंट नूडल्स शरीर में बिस्फेनोल का संचार करते हैं (Instant noodles supply bisphenol to your body)

बिस्फेनोल एक रासायनिक तत्व होता है जिसकी वजह से उच्च रक्तचाप, रक्त में चीनी की मात्रा यादा होने एवं पेट में चर्बी जमा होने जैसी समस्याएं जन्म लेती हैं। इन समस्याओं को एक साथ मिलाकर मेटाबोलिक सिंड्रोम (metabolic syndrome) कहा जाता है। इंस्टेंट नूडल्स में बिस्फेनोल स्टाईरोफोम पैकेजिंग (styrofoam packaging) से आते हैं और आपके शरीर की मेटाबोलिक प्रक्रिया के लिए काफी हानिकारक सिद्ध होते हैं। यह रसायन महिलाओं के विभिन्न होर्मोन्स (hormones) को भी काफी नुकसान पहुंचाते हैं।

ये MSG का भी स्त्रोत होते हैं (They are also a source of MSG)

मोनोसोडियम ग्लूटामेट (monosodium glutamate) एक रासायनिक कंपाउंड है, जिसका प्रयोग चीनी, कोरियाई और जापानी (chinese, korean and japanese) मसालेदार भोजनों में किया जाता है, जिसमें इंस्टेंट नूडल्स भी शामिल है। FDA द्वारा MSG का प्रयोग खाने के स्वाद को बढाने के लिए प्रयोग करने की इजाज़त दी गयी है। पर इसके शरीर पर आगे जाकर होने वाले नुकसान कई हैं। थोड़ी मात्रा में कुछ समय तक इसके सेवन से शरीर को ज़्यादा हानि नहीं पहुँचती, पर लम्बे समय तक इसका सेवन करने पर कई तरह की समस्याएं जैसे पाचन प्रणाली के कैंसर (cancer) आदि उत्पन्न होती हैं। यह आपके मोटापे का भी कारण बनता है।

साँसों की बदबू हटाने के घरेलू नुस्खे और पाए ताजी सांसे

ये हज़म करने में मुश्किल हैं (Instant noodles are hard to digest)

शोधों से पता चला है कि इंस्टेंट नूडल्स को हज़म करना आपके शरीर के लिए आसान कार्य नहीं होता। इसके लिए आपकी हाजमा प्रणाली को कुछ ख़ास परिश्रम की आवश्यकता होती है। ये हाजमे की समस्याओं तथा पेट की परेशानियों जैसे कब्ज़, सूजन और बदहजमी का कारण बन सकते हैं। अतः हाजमे को दुरुस्त रखने के लिए इंस्टेंट नूडल्स से दूर रहें।

यह बच्चों में पोषक तत्व का संचार होने से रोकता है (It hampers absorption of nutrients in children)

यह काफी ज़रूरी है कि 5 साल की उम्र से कम के बच्चे इंस्टेंट नूडल्स का सेवन ना करें। इनसे शरीर को कोई भी पोषक तत्व प्राप्त नहीं होता तथा 5 साल से कम उम्र के बच्चों के शरीर में पोषक तत्वों का संचार करने से भी ये रोकते हैं। यह प्रभाव उम्र बढ़ने के साथ कम होता जाता है, पर यह कभी भी शरीर के लिए अच्छा नहीं होता।

इनमें प्रोपेलेन ग्लाइकोल मिश्रित किया जाता है (They are added with propylene glycol)

प्रोपेलेन ग्लाइकोल एक और रासायनिक उत्पाद हैं, जिनका प्रयोग इंस्टेंट नूडल्स में इसलिए किया जाता है जिससे कि ये ठन्डे हो जाने के बाद चिपचिपे ना हो जाएं। इस तरह के नूडल्स खाने में तो काफी स्वादिष्ट होते हैं, पर इनमें मौजूद प्रोपेलेन ग्लाइकोल शरीर में जमा हो जाता है एवं कई स्वास्थ्य समस्याओं जैसे फेफड़ों और गुर्दे की समस्याओं का कारण बनता है। इसके अलावा यह कैंसर और दिल की बीमारियों की भी वजह बन सकता है।

ये प्रेसर्वेटिव्स से भरे होते हैं (Instant noodles are filled with preservatives)

ह्रदय के स्वास्थ्य को सुधारने के प्रभावी नुस्खे

क्या आपने कभी इस बात की जांच की है कि आप इंस्टेंट नूडल्स का कितने दिनों के अन्दर सेवन कर सकते हैं ? यह काफी आश्चर्यजनक बात है कि मैदा का उत्पाद होने के बावजूद ये काफी दिनों तक चलते हैं। आप मैदे को अच्छे पात्र में रखने के बाद भी महीनों नहीं चला सकते, जबकि आप नूडल्स को एक साल भी रख सकते हैं। इसका रा यह है कि ये नूडल्स प्रेसर्वेटिव्स से भरपूर होते हैं, जिसके फलस्वरूप इन्हें बैक्टीरिया, खमीर या फंगस (bacteria, yeast or fungus) से प्रभावित होने का ख़तरा नहीं होता। ये प्रेसर्वेटिव्स आपके शरीर के लिए काफी हानिकारक होते हैं और कैंसर का भी कारण बन सकते हैं।

गर्भवती महिलाओं के लिए वर्जित (Not recommended for pregnant women)

इंस्टेंट नूडल्स में मौजूद रसायनों से  अजन्मे भ्रूण को काफी नुकसान पहुंचता है और इसीलिए यह ज़रूरी है कि गर्भवती महिलाओं को इंस्टेंट नूडल्स का सेवन ना करवाया जाए। ये रसायन भ्रूण की पोषक तत्वों को सोखने की क्षमता को नुकसान पहुंचाते हैं, जिससे उसके विकास में बाधा पहुँचती है एवं गर्भावस्था के खासकर शुरूआती महीनों में गर्भपात की संभावनाएं भी बढ़ सकती हैं।

मोटापे का कारण (A reason of obesity)

बच्चों में मोटापे का बढ़ना सारी दुनिया के डॉक्टरों के बीच चिंता का विषय बना हुआ है। इन नूडल्स का सेवन इस मोटापे की एक बड़ी वजह माना जाता है। ये नूडल्स कार्बोहायड्रेट से भरे होते हैं और इनका लम्बे समय तक सेवन करने से ये मोटापे का कारण बनते हैं। नूडल्स में सोडियम की मात्रा ज्यादा होने की वजह से शरीर में पानी रोकने की मात्रा भी बढती है, जिससे आप मोटे दिखते हैं।

समय बहुत तेज़ी से बदल रहा है, हम भारतीय ज्यादातर अपने भारतीय घरेलू खाद्य को चुनते हैं लेकिन पश्चिमी संस्कृति का प्रभाव और उसका दिलचस्प जादुई स्वाद और समय लेने वाली प्रक्रिया और अन्य कई प्रमुख विशेषतायें हमें प्राय: इन्हें लेने की परिस्थितियां तैयार करती है, उनमें से कुछ हमारे दैनिक व्यंजनों का हिस्सा बन चुकी है। बहुतों में से एक, तुरंत बनने वाला नूडल्स हर उम्र के लोगों द्वारा मांग किया जाता है यह नूडल्स फीके आटे से बनाया जाता है जो कि तरल में उबालकर पकाया जाता है। प्रकार के आधार पर नूडल्स पकाने के पहले से सुखाया या ठन्डा किया जाता है। नूडल्स बहुत जल्दी बनते हैं और इसका लज़ीज़ स्वाद हमें इसे अपनाने के लिये मजबूर कर देता है। लेकिन यह लज़ीज़ व्यंजन कुछ स्वास्थ्य समस्याओं को भी देता है जब हम इसका उपभोग बहुत जल्दी जल्दी और अधिक मात्रा में करते हैं। इसलिये उन कुछ कारणों का पता लगायें जिससे की हम दैनिक तुरंत बनने वाले नूडल्स से बचें।

जंक फ़ूड के कुछ अजाने तथ्य

  1. नूडल्स के सेहत को नुक्सान – पोषक तत्व समस्या : तुरंत बनने वाले नूडल्स को पांच वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों को देने की सलाह नहीं दी जाती है। यह पोषक तत्वों को अवशोषित करने से रोकता है।
  2. कैंसर के कारण का एजेंट : तुरंत बनने वाले नूडल्स में “स्ट्रायफोअम” शामिल होता है जो कैंसर कारक एजेंट है और इसके कारण कुछ अधिक नकारात्मक प्रभाव होते हैं।
  3. नूडल्स के सेहत को नुक्सान – बचें : गर्भवती महिलाओं को प्रोटीन, खनिज, कैल्शियम आदि को शामिल किये हुए अच्छे आहार को अपनाना चाहिये। अगर वे तुरंत नूडल्स को चुनती हैं तो यह भ्रूण की वृद्धि को प्रभावित करती है और गर्भपात को बढ़ावा देती है।
  4. बेकार पदार्थ : तुरंत बनने वाले नूडल्स में कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, विटामिन और खनिज शामिल होता है जो स्वास्थ्य को मजबूत रखता है और इसलिये बेकार खाद्यों की सूची में शामिल किया जाता है।
  5. नूडल्स खाने के नुक्सान – सोडियम : तुरंत नूडल्स में बहुत अधिक मात्रा में सोडियम पाया जाता है और जो व्यक्ति अधिक मात्रा में सोडियम का उपभोग करता है उसे हृदय बीमारियां/ स्ट्रोक, ब्लड प्रेशर, और किडनी की क्षति हो सकती है।
  6. एमएसजी : तुरंत बनने वाले नूडल्स के स्वाद को बढ़ाने के लिये मोनो सोडियम ग्लूटामेट का उपयोग किया जाता है। जिन व्यक्तियों को अपने आहार में एमएसजी उपभोग से एलर्जी है उन्हें सिर दर्द, चेहरे पर आवेग, दर्द, जलने की अनुभूति होती है।
  7. नूडल्स के सेहत को नुक्सान – मोटापा : नूडल्स का उपभोग मोटापे की समस्या के लिये एक महत्वपूर्ण कारक है। जैसा कि नूडल्स में उच्च वसा और सोडियम की अधिक मात्रा होती है, इसलिये वे शरीर में पानी को रोकने का कारण होती है। बाद में यह अधिक वजन और मोटापे की समस्या को बढ़ावा देता है।
  8. अपच : तुरंत बनने वाले नूडल्स पाचन तंत्र के लिये अच्छा (noodles khane ke nuksan) नहीं होता है और नूडल्स का नियमित उपभोग अनियमित मरोड़ और पेट फूलने की समस्या का कारण हो सकता है। ये शरीर में पाचन तंत्र समस्या का कारण हो सकते हैं।
  9. नूडल्स खाने के नुक्सान – प्रोपाइलीन ग्लाइकोल : तुरंत बनने वाले नूडल्स में शामिल सामग्री प्रोपाइलिन ग्लाइकोल में एंटी-फ्रीज़ गुण होता है। यह शरीर के तंत्रिका तंत्र को कमजोर कर सकता है। यह शरीर द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाता है और किडनी, लीवर और हृदय अंगों में रहता है।
  10. चयापचय दर : नूडल्स का लगातार उपभोग शरीर के चयापचय को भी प्रभावित करेगा। नूडल्स में पाये जाने वाले रंग, योजक और संरक्षक चयापचय दर को प्रभावित करते हैं।

ऊपर के कारण सिर्फ झलक है जो भविष्य में होने वाले प्रभावों और समस्याओं पर प्रकाश डालते हैं इसलिये जहाँ तक सम्भव हो सके इनसे दूर रहने का प्रयास करें।