Skin Tightening oils for body in Hindi – त्वचा में कसावट के लिए विभिन्न तेल

35 की उम्र में आपकी त्वचा में 20 की उम्र की तरह कसाव नहीं होता है। इसके कई कारण हो सकते है। आप आपकी इस समस्या का समाधान नीचे दिए गए उपचार का प्रयोग करके कर सकते है।

सदियों से कई प्रकार के तेल हमारे शरीर पर अपना चमत्कार दिखाते रहे हैं। इन तेलों से उम्रदराज त्वचा को जवान एवं तरोताज़ा बनाया जाता है। नीचे ऐसे ही कुछ तेलों के बारे में बताया गया है।

उम्र बढ़ने के साथ ही त्वचा अपनी लोच खोती रहती है। इससे खासकर आंखों, मुंह, गाल तथा गले के पास की त्वचा ढीली पड़ जाती है। उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तो उलटा नहीं जा सकता, पर त्वचा को जवान दिखाने के लिए तथा इसमें कसावट लाने के लिए कुछ तकनीकें अवश्य उपलब्ध हैं। नीचे त्वचा को कसने के कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में बताया जा रहा है।

चेहरे व शरीर की त्वचा के कसाव के लिए तेल (Skin Tightening Oils For your face and body)

त्वचा में कसाव के लिए सरसों का तेल (Mustard oil se twacha mai kasawat)

यह तेल शरीर में ढीले हुए वक्ष स्थल व पेट के कसाव में चमत्कारिक उपचार है। 2 चम्मच सरसों का तेल ले इसे थोडा गर्म करे, अब हथेली पर तेल की कुछ बुँदे लेकर फैला ले तथा स्तनों पर धीरे धीरे ऊपर की और मालिश करे यह आपके स्तनों के कसाव में मदद करेगा।

ढीली त्वचा में कसाव लाने के तरीके के लिए जैतून का तेल (Olive oil or jaitun oil)

जैतून का तेल त्वचा रोगों के इलाज के लिए एक आश्चर्यजनक तेल है। इसमें अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और ओमेगा -3 फैटी एसिड पाया जाता है जो की आपको स्वस्थ व खिली हुई त्वचा पाने में मदद करता है। जैतून के तेल के प्रयोग से आप बहुत कम दिनों में ही अपनी त्वचा में बदलाब देखेगे, इस तेल को गर्म ना करे क्यों की गरम होते ही यह अपने प्रोटीन खो देता है।

सूखी त्वचा को मुलायम

अंगूर के बीज का तेल (Grape-seed oil)

इस तेल में बहुत अधिक मात्रा में विटामिन E पाया जाता है, जो की आपकी त्वचा को सूखने से बचाता है, यह तेल आँखों के आसपास के काले घेरे और पेट के खिचाव के निशानों को भी हटाने का काम करता है। तेल की कुछ बुँदे ले और इसे आराम से हथेली की सहायता से गोलाई में घुमाये। इसे तेजी से व जोर से ना करे।

त्वचा में कसाव के लिए अवोकाडो तेल (Avocado oil – twacha mai kasaw)

हमारे शरीर में जब कोलोजल का उत्पादन कम हो जाता है। तब हमारी त्वचा लटकने लगती है, अवोकेडो तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो की कोलोजल के उत्पादन में मदद करता है। इसके आलावा अवोकेडो तेल हमारे शरीर से निकलने वाले तेल से मिलता है जिससे यह त्वचा द्वारा आसानी से सोख लिया जाता है।

त्वचा में कसाव लाने के उपाय के लिए अरंडी का तेल (Jojoba oil)

इन तेलों के आलावा आप अरंडी के तेल को चमेली व नीबू रस के साथ मिलाकर भी उपयोग कर सकती है। बादाम का तेल व जोजोबा तेल का भी प्रयोग त्वचा के लिए अच्छा होता है।

कैस्टर ऑइल (Castor oil)

एक कप गर्म कैस्टर ऑइल को लैवेंडर के तेल (lavender oil) की कुछ बूँदों और नीम्बू के रस के साथ मिश्रित करें। इन सबको मिश्रित करें और शरीर पर तेल की अच्छे से मालिश करें। अच्छे परिणामों के लिए स्नान करने जाने से पहले इसका प्रयोग करें।

बादाम का तेल (Almond oil)

बादाम का तेल स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) को दूर करने तथा त्वचा में कसावट लाने में मददगार होता है। थोड़ा सा तेल लें और शरीर पर अच्छे से मालिश करें। रोज़ाना 1 चम्मच तेल का प्रयोग करने से भी आपकी त्वचा को राहत मिलेगी।

खुबानी का तेल (Apricot kernel oil)

त्वचा की देखभाल के लिए बॉडी बटर का चुनाव कैसे करें?

यह त्वचा के लिए सबसे बेहतरीन एंटी एजिंग (anti-aging) तेलों में से एक है। इसमें विटामिन ए और इ (Vitamins A and E) होते हैं, जो त्वचा को नमी देने और पोषण प्रदान करने में हमारी मदद करते हैं। ये विटामिन महीन रेखाओं और झुर्रियों को दूर करते हैं और त्वचा की कोशिकाओं का पुनर्विकास करके कोलाजेन (collagen) के उत्पादन में वृद्धि करते हैं। यह तेल किसी भी प्रकार की त्वचा पर प्रयोग किया जा सकता है। यह त्वचा में आसानी से समा जाता है और चिपचिपा भी नहीं होता है।

नारियल तेल (Coconut oil)

जैविक शुद्ध नारियल तेल विटामिन इ से भरपूर होता है और त्वचा की मरम्मत करने तथा उम्र के निशान छिपाने में भी काफी कारगर होता है। नारियल का तेल ना सिर्फ उम्र के निशान छिपाने में मदद करता है, बल्कि त्वचा की बाहरी परत को सेलुलाइट्स (cellulites) और स्ट्रेच मार्क्स से भी बचाता है। यह उम्र बढ़ने या वज़न अचानक कम होने के फलस्वरूप ढीली हुई त्वचा को कसने में मदद करता है।

आर्गन का तेल (Argan oil)

यह तेल फैटी एसिड्स (fatty acids) से भरपूर होता है जिससे त्वचा को नमी प्राप्त होती है, लोच बनी रहती है और महीन रेखाएं और झुर्रियां मिटती हैं।

रोज़हिप सीड ऑइल (Rosehip seed oil)

यह तेल झुर्रियों, महीन रेखाओं और उम्र के निशानों को कम करने के लिए जाना जाता है। यह नई कोशिकाओं के बढ़त की दर को बढ़ाकर तथा कोलाजेन के उत्पादन में वृद्धि करके त्वचा की मरम्मत का काम प्रभावी तरीके से करता है। यह त्वचा की लोच बढ़ाता है और स्वरूप में निखार लाता है।

जिरेनियम का तेल (Geranium oil)

एक्ने क्या है? मुँहासे के प्रकार क्या हैं? कैसे मुँहासे का इलाज करे?

यह उम्र के निशानों को हल्का करता है और त्वचा के स्वरूप को समान बनाता है। यह त्वचा के अंदर रक्त का संचार सुचारू रूप से चलाए रखता है और कोशिकाओं के पुनर्विकास में मदद करता है। इससे त्वचा के दाग धब्बे और झुर्रियां दूर होते हैं।

सी बकथोर्न बेरी का तेल (Sea buckthorn berry oil)

यह एक और विटामिन से युक्त तेल है जो उम्र के निशान दूर करने में मदद करता है। यह रूखी त्वचा को नमी देने तथा रंजकता दूर करने का काम भी करता है।

अनार के बीज का तेल (Pomegranate seed oil)

इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) होते हैं जो फ्री रेडिकल (free radical) के नुकसान से आपको बचाते हैं और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में कमी लाते हैं। यह त्वचा को पोषण देता है, लोच बढ़ाता है और कोशिकाओं के पुनर्विकास में मदद भी करता है।

गाजर के बीज का तेल (Carrot seed essential oil)

यह त्वचा में नयी जान डालने का काम करता है। यह ढीली त्वचा को कसता है एवं इसे मुलायम बनाता है। यह दाग धब्बों को हल्का करता है एवं उम्रदराज त्वचा का स्वरुप भी बदल देता है।

लैवेंडर का तेल (Lavender essential oil)

यह उम्र और घाव के निशानों को हल्का करता है। यह त्वचा की कोशिकाओं का पुनर्विकास करता है। यह सूरज की किरणों से हुए धब्बे और सनबर्न (sun burn) से बचाता है।

मीर का तेल (Myrrh essential oils)

यह उम्रदराज त्वचा के लिए काफी उपकारी साबित होता है। इसमें जलनरोधी गुण होते हैं जो त्वचा के स्वरुप, कसावट और लोच में निखार लाते हैं। इससे आपको महीन रेखाओं और झुर्रियों से भी काफी राहत मिलती है।

नेरोली का तेल (Neroli essential oil works)

चेहरे और त्वचा की देखभाल के लिए सर्वश्रेष्ठ घरेलू पील ऑफ मास्क

यह तैलीय, संवेदनशील और व्यस्क त्वचा पर काम करता है। यह महीन रेखाओं को दूर करता है और ढीली त्वचा में कसावट लाता है।

पचौली का तेल (Patchouli essential oils)

यह उम्रदराज त्वचा के लिए काफी अच्छा है। यह नयी कोशिकाओं का विकास करता है और महीन रेखाओं और झुर्रियों को दूर करता है।

लांग लांग तेल (Ylang Ylang essential oil)

यह त्वचा की कोशिकाओं का विकास करता है, महीन रेखाओं को दूर करता है और त्वचा के लोच में वृद्धि करता है। इसका प्रयोग हर तरह की त्वचा पर किया जा सकता है।

नीम्बू का तेल (Lemon oil)

यह काले धब्बों को हल्का करता है और झुर्रियों तथा महीन रेखाओं को दूर करता है।

चन्दन का तेल (Sandalwood oil)

यह सूरज की रोशनी से क्षतिग्रस्त हुई त्वचा को आराम देता है और दाग धब्बे, झुर्रियां और महीन रेखाएं हटाता है।

त्वचा के कसाव के लिए मालिश कैसे करे (How to massage the skin tightening oils?)

आपकी त्वचा की आवश्कता के अनुसार तेल का चयन करे। एक कप तेल से नहाने के पहले शरीर की त्वचा पर मालिश करे। मालिश तब तक करे जब तक त्वचा इसे पूरी तरह से सोख ना ले। मालिश करने के लिए दोनों हथेली में तेल लगाकर गोलाई में घुमाये। हल्के हाथ से मालिश करे।

जवान व खिली हुई त्वचा रखने के लिए सुझाव (Tips to maintain a youthful appearance)

धूप से बचाने वाले लोशन

• नियमित रूम से व्यायाम करने से त्वचा को काफी फायदा होता है।

• सप्ताह में एक बार त्वचा से मृत कोशिकाओ को हटाना।

• रोजाना 8 घंटे की नींद लेना।

• अचानक और तेजी से वजन घटाने से बचें।

• कठोर रसायनों से युक्त साबुन से बचें।

• लंबी अवधि के लिए सूरज की किरणों से बचें।

• रिफाइंड चीनी और जंक फूड से बचें एवं ताजे फल और कच्ची सब्जियों का सेवन करे।

• अधिक मात्रा में फलो के जूस व पानी का सेवन करे।

• धूम्रपान व मदिरा का सेवन बंद कर दे।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday