Summer precautions and tips in Hindi – गर्मियों में सुरक्षित रहने के नुस्खे

तापमान में अचानक परिवर्तन से कम और ज़्यादा वर्ष के लोगों को सबसे ज़्यादा परेशानी होती है। ये वो दो वर्ग हैं, जो गर्मियों में अत्याधिक गर्मी से जूझते हैं। बुज़ुर्ग लोगों को इतने अधिक तापमान के साथ तारतम्य बैठाने में काफी तकलीफ होती है, अतः उन्हें इस समय काफी गंभीर समस्याओं जैसे बुखार, शरीर में पानी की कमी, लू लगने का सामना करना पड़ता है। अतः अत्यधिक गर्मी से बचने के लिए कुछ बचाव के नुस्खों का पालन करना पड़ता है।

गर्मी में क्या करे – बाहर जाने के समय को सुविधाजनक रखें (Reschedule outings hai garmi se bachne ke nuskhe in hindi)

अगर आपको किसी काम की वजह से बाहर जाना पड़ता है तो दोपहर में ना निकलें, क्योंकि इस समय गर्मी अपनी चरम सीमा पर होती है। या तो आप सुबह ही कहीं बाहर चले जाएं, या फिर सूरज डूबने की प्रतीक्षा करें। ये वो समय होंगे जब आप सूरज की तेज़ किरणों का सामना नहीं करेंगे। सुबह सुबह सूरज की रौशनी काफी खुशनुमा होती है और इससे आपकी त्वचा को काफी आवश्यक विटामिन डी की प्राप्ति होती है। शाम के समय भी ठंडी हवा चलती है, अतः यह समय कहीं बाहर जाने के लिए काफी अच्छा होता है।

गर्मियों में क्या खाएं – पेय पदार्थों का सेवन (Drinking fluids se garmi se bachne ke upay hindi me)

गर्मियों में किसी भी प्रकार का पेय पदार्थ जिसमें अल्कोहल या कैफीन ना हो, स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है। इस मौसम में आपका शरीर पसीने के रूप में काफी पानी खोती है, जिसकी पूर्ति पानी पीकर किया जाना आवश्यक है। गर्मियों में शरीर में पानी की कमी न होने देने के लिए रोज़ाना 8 गिलास पानी पियें। गर्मियों में क्या खाएं, ऐसे कई फल हैं जिनका रस पीने से भी शरीर में पानी की कमी पूरी होती है, जैसे नींबू, संतरा, सेब, अनानास आदि। अगर आप कुछ अलग पीना चाहते हैं तो एक जूसर लें तथा गर्मियों में तरह तरह के फलों के रस का आनंद लें।

गर्मियों की टैन के लिए चेहरे के स्क्रब्स

गर्मियों में स्वास्थ्य – घर में रहें (Stay indoors hai garmi se bachne ke tips)

सूरज की कड़ी धूप में बाहर निकलना मतलब अपनी त्वचा को जलाना है। अतः अगर कोई ज़रूरी काम ना हो तो घर के अंदर ही रहे। जो लोग बाहर काम करते हैं, उन्हें इस कड़ी धूप में भी बाहर निकलना पड़ता है। गर्मियों में स्वास्थ्य, अतः सुबह जल्दी से जल्दी अपने ऑफिस पहुंचें तथा अंदर ठंडी हवा में रहे। सूरज डूबने के बाद निकलें जिससे कि आपको चिलचिलाती गर्मी का सामना ना करना पड़े। अगर आपका बॉस अनुमति दे तो अपना काम घर पर लेकर आ जाएं तथा आराम से करें।

गर्मी में क्या खाएं – सोडियम और पोटैशियम (Sodium and potassium se garmi me sharir ka bachav)

गर्मियों के दिनों में जिन दो पोषक पदार्थों की आपकी शरीर को आवश्यकता होती है, वे हैं सोडियम और पोटैशियम। आप रोज़ाना प्रयोग में लाए जाने वाले नमक के रूप में सोडियम की मात्रा ग्रहण कर सकते हैं। पालक एक ऐसा भोजन है जिसमें काफी मात्रा में पोटैशियम होता है। आप गर्मियों से राहत पाने के लिए इसका सेवन कर सकते हैं। भुने हुए आलू भी इस मौसम में शरीर को स्वस्थ रखने में काफी उपयोगी साबित होते हैं। अगर आपके खाने में पोटैशियम की कमी है तो इसमें भुने आलू जैसे व्यंजन शामिल करें।

गर्मियों में त्वचा की देखभाल – SPF मॉइस्चराइज़र द्वारा त्वचा की सुरक्षा (Skin protection with SPF moisturizer)

गर्मियों में आपकी त्वचा ज़्यादातर समय असुरक्षित रहती है। अतः इसे इस मौसम में सुरक्षित रखना आवश्यक है। आपके चेहरे पर पड़ने वाली uv किरणें काफी हानिकारक होती हैं क्योंकि इनसे समय से पहले उम्र बढ़ने, सनबर्न तथा त्वचा के कैंसर की भी संभावना रहती है। ऐसे मॉइस्चराइज़र का प्रयोग करें जिसमें काफी मात्रा में spf हो। सूरज की रौशनी में जाने से पहले सनस्क्रीन लगाना ना भूलें।

गर्मियों में बालों की देखभाल के नुस्खे

गर्मी में क्या करे – गर्मियों में बालों की देखभाल (Hair care during summer hai garmi se bachne ka tarika)

गर्मियों में बालों की हालत काफी खराब हो जाती है तथा इसकी काफी देखभाल की जानी चाहिए। प्रदूषण की वजह से हमारे बालों में काफी मात्रा में गन्दगी और अशुद्धियाँ जमा हो जाती हैं। आप इस गन्दगी को रोज़ाना शैम्पू करके दूर कर सकते हैं। शैम्पू करने के बाद कंडीशनर अवश्य लगाएं। आप बाज़ार से ऐसे स्प्रे खरीद सकते हैं जिनमें spf की मात्रा हो। गर्मियों की दोपहरी में कहीं बाहर निकलने से पहले आप ये स्प्रे बालों में लगाकर निकलें।

गर्मियों में स्वास्थ्य रक्षा – एक्सफ़ोलिएटिंग (Exfoliating se garmi se bachaw)

कई बार ज़्यादा गर्मी की वजह से हमारी त्वचा भी सूखी पड़ जाती है। इसका असर हमारे पूरे शरीर पर दिखता है। अतः नियमित रूप से एक्सफोलिएशन एक अच्छा उपाय है। आप घर पर चीनी और जैतून का तेल मिलाकर अच्छा स्क्रब बना सकते हैं। इसे अपने चेहरे, हाथों तथा पैरों पर लगाएं और सूरज की किरणों से बचें। आप कपड़ों के अंदर छिपे भागों को भी एक्सफोलिएट कर सकते हैं। लेकिन स्क्रबिंग करते वक़्त विशेष ध्यान रखें क्योंकि ये भाग काफी नाज़ुक होते हैं। ज़्यादा कठोर तरीके से स्क्रब करने से उन जगहों पर रैशेस भी हो सकते हैं। इससे अंदर बालों को उगने से रोकने में भी सफलता मिलेगी।