Hindi tips for chapped lips to make smooth – पपड़ीदार होठों को कोमल बनाने के टिप्स

फटे होंठों की समस्या पर्यावरण के कई कारकों जैसे गर्मी, ठंडी हवाओं और आर्द्रता के कम होने की वजह से जन्म लेती है। इससे शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिससे आपके होंठ काफी सूख जाते हैं। सूखे और फ़टे होंठों का एक और कारण खानपान में किसी प्रकार की कमी होना या शरीर में किसी प्रकार की हार्मोनल असमानता (hormonal imbalance) भी हो सकता है। यह एक आम समस्या है, जिसके शिकार बच्चों से लेकर बुज़ुर्गों तक सभी आयु वर्ग के लोग होते हैं। कई लोग ऐसे भी होते हैं जो सारे साल फ़टे होंठों की समस्या से ग्रस्त रहते हैं। ऐसी स्थितियों में किसी पेशेवर व्यक्ति की मदद लें, क्योंकि इस तरह फ़टे होंठ होना किसी गम्भीर शारीरिक बीमारी का नतीजा भी हो सकता है। लाल या सूजे और फ़टे होंठ बैक्टीरियल या फंगल संक्रमण (bacterial or fungal infection) का संकेत हैं। आपको आगे बढ़कर फ़टे होंठों की समस्या को दूर करने के प्रयास करने होंगे।

इस समय हम सर्दियों में हैं जो कड़े तापमान, सूखी हवा और लगातार फटे और पपड़ीदार होठों को देता है। फटे होंठ भद्दे हो सकते है और वह काफी दर्दनाक हो सकता है! उम्मीद है कि निम्नलिखित संकेतक सर्दी को शामिल करते हुये लगभग सभी कष्टप्रद परेशानियों से छुटकारा दिलाकर सुखदायक होठ देगा।

लिप्स टिप्स, फटे होंठ क्षेत्र का कारण क्या है? (What causes chapped lip area?)

फटे होंठ प्रमुखतया पर्यावरणीय घटकों जैसे निम्न आर्द्रता और ठन्डी ऑक्सीजन, दोनों ही निर्जलीकरण को बढ़ावा देते हैं, के द्वारा लाया जाता है। होठों का फटना, बार बार होठों को चाटना शुरुआत में आपको आराम पहुंचाता है लेकिन यह बिमारी को और खराब करता है। क्या आप साल भर लम्बे समय से सूखेपन के शिकार है? यदि हाँ तो अपने किसी डॉक्टर के चर्चा करें। लम्बे समय से सूखापन किसी अन्य चिकित्सकीय बिमारी का संकेत हो सकता है।

फटे होठ क्षेत्र की सहायता के लिये हमें क्या करना चाहिये (What should i do to help remedy chapped lip area?)

स्त्रियों के होंठों की देखभाल

पिंक लिप्स के लिए उचित होठों के उत्पाद को चुनें (Pick the suitable lip product) : शीर्ष बाम सूखेपन और फटे होठ (fate honth) क्षेत्र को थोड़ा राहत देंगे, लेकिन वे सभी एक जैसी सामग्री को प्रयोग नहीं करते हैं। मोम एक अच्छा अवरोधक है और आपके होठों से नमी को हटने नहीं देगा। होंठों की खूबसूरती, पेट्रोलियम और लैनोलिन सामान्यतया अच्छे मॉइस्चराइज़र हैं। कुछ शीर्ष बाम में महक और तेल (पेपरमिंट तेल) होता है जिसे सहना होगा या आपको किसी एक सामग्री के कारण एलर्जी होने का अनुभव भी हो सकता है। हमारी सलाह होगी कि लेबल पर ध्यान दें और कुछ धैर्य भी रखें। आप अपनी गलतियों से भी सीखकर अपने लिये सही बाम चुन सकते हैं।

होठों की सुंदरता के लिए चाटना बंद करें (Stop licking) : आपके मुंह के लार में उपस्थित एंजाइम परिणाम रूप में निर्जलीकरण के साथ साथ जलन दोनों को देता है जो भोजन को पचाने में सहायता करता है। होंठों की खूबसूरती (honton ki khubsurti), आपको पता ही नहीं चलता है कि आप वास्तविकता में अपने होठों को बार बार चाट रहे हैं। इसलिये आपको एक साथी की जरूरत है जो यह बताये कि आप होठ चाट रहे हैं जिससे आपकी यह आदत छूटने में सहायता मिल सकती है।

पिंक लिप्स, लत को छोड़ना (Break the addiction) : सम्भव है कि आप अपने शीर्ष बाम के दास बन रहे हों और वास्तविकता में कई सच्चाईयां आपकी भावनाओं की हो सकती है। जैसे ही आप अपने शीर्ष बाम को लगाते हैं तुरंत यह आपकी त्वचा की कोशिकाओं को संकेत देता है कि कोशिकायें तेल का उत्सर्जन बंद करें। यह आपको ज्यादा सूखे होठ देता है अगर होठ उत्पाद हट जाय। चूंकि आपके अपने होठ सूखापन अनुभव करते है इसलिये आप और अधिक बाम का उपयोग करने लगते हैं इसके साथ ही यह चक्र लगातार दुहराया जाने लगता है, जो बाद में मानसिक लत में परिवर्तित हो जाता है। जाहिर है, नासमझी में शुरू किये गये होठ बाम को छोड़ना कठिन हो जाता है और यह आवश्यक भी नहीं है (खासतौर पर सर्दियों के दिन जैसे ही शुरू होते है आपके होठ, बाम के द्वारा और अधिक नमी पाना चाहते है) ।  दूसरी ओर, यह एक विकल्प है जिसके द्वारा आप अपनी लत को छोड़ना की इच्छा को पा सकते हैं।

डॉक्टर की सलाह से दवा (Receive a prescription) : अगर दवा की दुकान के विकल्पों से ठीक नहीं हो रहा है तो आपका डॉक्टर द्वारा दर्द से आराम के लिये हाइड्रोकॉर्टीसोन लेप लगाने की सलाह दी जा सकती है।

प्राकृतिक घरेलू उपचार काले होंठ हल्का करने के लिए

जमीनी स्तर (Bottom line)

होठों का फटना, सर्दियों के ठंडे महीनों में फटे होठ (fate honth) के क्षेत्र से बचना बहुत कठिन है। प्रयोगों से कुछ शीर्ष बाम है जिनकी सामग्रियां आपके लिये बेहतर पायी गयी हैं और होठ चाटने की आदत को छुड़ाने की कोशिश करती है जिससे आपके होठ देखने और महसूस करने में अच्छे लगते हैं।

फ़टे होंठ ठीक करने के नुस्खे (Tips for chapped lips)

  • फ़टे और रूखे होंठों के उपचार का सबसे आसान उपाय है लिप बाम या पेट्रोलियम जेल (lip balm or petroleum gel) का प्रयोग करना। बाज़ार में ऐसे कई अन्य उत्पाद भी उपलब्ध हैं जो आपको रूखे और फ़टे होंठों की समस्या से निजात दिलाते हैं।
  • लिप बाम होंठों को सूरज की गर्मी, ठंडी और रूखी हवाओं से बचाने का एक तरह का सुरक्षा कवच हैं। लिप बाम होंठों की दरार को भरता है और संक्रमण से आपकी रक्षा करता है।
  • होंठों को गर्मी की गर्म हवाओं और ठण्ड के मौसम से बचाने के लिए इन्हें एक स्कार्फ़ (scarf) से ढककर रखें।
  • होंठों के ऊपर की रूखी त्वचा को उँगलियों की मदद से हटाने का प्रयास ना करें। इससे समस्या उत्पन्न हो सकती है क्योंकि होंठों की परत काफी पतली होती है और ये काफी तेज़ी से सूखते भी हैं।
  • होंठों की नमी को बरकरार रखने के लिए उनपर एलो वेरा जेल (aloe vera gel) का प्रयोग करें।
  • शरीर में पानी की कमी की वजह से होंठों के फटने की समस्या सामने आती है, अतः इनसे निपटने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।
  • खनिज और विटामिन (vitamin) से युक्त भोजन काफी पोषक होते हैं और इनके सेवन से रूखे होंठों पर पैदा होने वाली धारियां गायब हो जाती हैं।
  • ठण्ड में होंठों के सूखने की समस्या को दूर करने के लिए नारियल के तेल का होंठों पर प्रयोग काफी लाभदायक होता है।
  • लिपस्टिक (lipstick) का प्रयोग सावधानी से करें। खराब गुणवत्ता की लिपस्टिक होंठों को और भी सूखा और पपड़ीदार बना देती है।
  • धूम्रपान से परहेज करें क्योंकि यह होंठों पर से तेल को गायब कर देता है।
  • ताज़ा मक्खन और गर्म घी भी फटे होंठों के उपचार में काफी लाभदायक साबित होते हैं।

घरेलू लिप स्क्रब और उनके फायदे

  • पपड़ीदार होंठों पर प्रयोग किये हुए टी बैग्स (tea bags) लगाकर रखने से भी फ़टे होंठों का उपचार मुमकिन है। यह एक सदियों पुरानी पद्दति है।
  • रात को सोने जाने से पहले दूध की मलाई और नीम्बू के रस का मिश्रण होंठों पर लगाकर सोएं।
  • जोजोबा का तेल (jojoba oil) फ़टे होंठों का काफी प्रभावी उपचार है। यह होंठों की धारियों को पोषण प्रदान करता है और होंठों की खोयी हुई नमी को वापस ले आता है।
  • गुलाबजल और शहद का प्रयोग रोज़ाना होंठों पर 15 मिनट तक करें। ये होंठों की त्वचा को जोड़कर रखने में सहायता करते हैं।
  • चीनी और शहद का मिश्रण होंठों की मृत त्वचा को निकालता है और उन्हें नरम और मुलायम बनाता है।
  • सिर्फ शहद का प्रयोग भी फायदेमंद रहता है और यह होंठों के लिए एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर (moisturizer) भी साबित होता है।
  • दूध में डुबोई गयी गुलाब की पंखुड़ियों और ग्लिसरीन (glycerin) को मिलाकर एक पेस्ट बनाएं और इसका प्रयोग होंठों पर करें। इससे उन्हें नमी मिलती है और उनका प्राकृतिक रंग लौटकर आता है।
  • खीरे के टुकड़ों को भी फटे पपड़ीदार होंठों पर रगड़ा जा सकता है। इससे जलन से तुरंत मुक्ति मिलती है और इसके ठंडक भरे तत्वों से चिड़चिड़ापन भी दूर होता है।
  • कैस्टर ऑइल (castor oil) भी सूखे और पपड़ीदार होंठों से तुरंत निजात दिलाता है। इसके लिए दिन में 3 से 4 बार होंठों पर कैस्टर ऑइल का प्रयोग करें।
  • धूप में निकलने से पहले होंठों पर शे मक्खन (shea butter) का प्रयोग करें क्योंकि यह सूरज की हानिकारक किरणों के खिलाफ सुरक्षा कवच का काम करता है।
  • बीज़वैक्स (beeswax) होंठों की पतली परत को नमी और पोषण देने का काफी कारगर उपचार सिद्ध होता है। यह होंठों को बिना किसी नुकसान के नरम बनाता है।
  • दूध की मलाई होंठों के लिए बेहतरीन मॉइस्चराइजर का काम करती है क्योंकि इसमें वसा की काफी ज़्यादा मात्रा होती है। दूध की मलाई को होंठों पर 10 मिनट के लिए रखें और इसके बाद इसे एक नरम कपड़े से पोंछ लें।
  • जब तक आपके फ़टे होंठ ठीक नहीं हो जाते, तब तक गर्म, मसालेदार और ज़्यादा नमक वाले खाद्य पदार्थों से परहेज करें। नीम्बू तथा अनानास जैसे अम्लीय (acidic) फल तथा मूली, अदरक और टमाटर जैसी सब्ज़ियों से परहेज़ करें। हलके गर्म पेय पदार्थ और मीठे व्यंजन आपके फ़टे होंठों को काफी आराम प्रदान करेंगे।
  • अवोकेडो (avocado) एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की तरह काम करता है तथा आपके होंठों को नरम और मुलायम बनाता है। अवोकेडो के पेस्ट का प्रयोग होंठों पर करें और इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे ठन्डे पानी से धो लें।

होंठों को बड़ा और सुन्दर बनाने के प्राकृतिक नुस्खे

  • होंठों को चाटने से परहेज करें, क्योंकि इससे होंठों की प्राकृतिक नमी गायब हो जाती है और वे सूख जाते हैं। लार हमारे हाज़मे के लिए काफी अच्छी होती है, पर इसमें मौजूद अम्लीय तत्व होंठों की त्वचा में दरार उत्पन्न कर देते हैं।
  • कुछ टूथपेस्ट्स (tooth pastes) तथा क्रीम, बाम और लिपस्टिक (creams, balms and lipstick) में मौजूद फ्लेवर्स (flavors) भी आपके होंठों की नाज़ुक त्वचा को हानि पहुंचा सकते हैं।
  • कई बार विटामिन इ के पूरक पदार्थों (vitamin E supplements) की कमी होने के अलावा शरीर में इनकी मात्रा में वृद्धि होने से भी होंठों की त्वचा फटने लगती है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday