Best Tips for Good Digestion – अपचन से कैसे बचें, सही पाचन के आसान उपाय

पाचन एक सतत आवश्यक प्रक्रिया है जो शरीर की स्वस्थता को बनाए रखने के लिए ज़रूरी होती है। पाचन के सही होने से बाकी सभी क्रियाएँ भी शरीर में सही तरीके से सुचारु रहती है। भोजन के बाद अपचन की शिकायत किसी भी व्यक्ति को अच्छी नहीं लगती और यह एक परेशानी का सबब बन जाती है। यह स्थिति और भी असुविधाजनक हो जाती है जब हम कोई काम कर रहे होते हैं या आराम की मुद्रा में होते हैं। आज के समय में हर 10 में से 6 व्यक्ति अपचन की समस्या से ग्रसित है। आज की आधुनिक जीवनशैली इस समस्या का मुख्य कारण है।

अपनी जीवनशैली में निश्चित सुधार करके आप अपने पाचन क्रिया में आवश्यक सुधार कर सकते हैं। सही पाचन के लिए दवाओं का सहारा लेने से प्राकृतिक उपाय ज़्यादा बेहतर माने जाते हैं। यह सभी उपाय घर पर आसान विधि द्वारा कर सकते हैं और इनमें किसी अन्य असुविधा भी महसूस नहीं होती। घर पर आसानी से पाचन संबंधी समस्या का दूर करने के उपाय दिये जा रहे हैं जो इस प्रकार हैं,

आज के समय में अपचन की समस्या एक बहुत ही गंभीर समस्या बनती जा रही है जिसके प्रभाव से कई लोग परेशान हैं। बहुत से लोगों की समस्या यह है की, सही पाचन न होने की वजह से उन्हें कब्ज़ का भी सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही पेट में गैस बनने की शिकायत भी देखी गयी है। आइये जानें, सही पाचन के लिए किस प्रकार के घरेलू उपाय किए जाएँ?

अच्छे पाचन के लिए आसान टिप्स (Tips for good digestion in Hindi)

पाचन तंत्र मजबूत के लिए धीरे खाएं (Eat slowly)

कुछ लोगों की आदत होती है कि वे खान जड़ी जल्दी या तेज़ी से खाते हैं, तेज़ी से खाने की वजह से भोजन अच्छी तरह नहीं चबा पाते और अधचबा हुआ यह भोजन पचने में कठिन होता है। अगर आप दौड़ भाग करते हुये खाते हैं तो भी आप भोजन को ठीक तरह से नहीं चबाते, यह भी एक बुरी आदत है। बिना चबा हुआ भोजन पाचन की समस्याओं को जन्म देता है। इसीलिए हमेशा अच्छी तरह चबा कर ही भोजन करें और भोजन को देर तक धीरे धीरे खाएं। इससे मुंह की लार भोजन के साथ मिलकर पेट में पहुँचती है और भोजन को पचाने में मदद करती है।

बार बार अधिक खाने से बचें (Avoid supersized serve)

आपको ऐसे भोजन से बचना चाहिए जो आपके लिए हानिकारक हो सकते हैं। अक्सर घर में कुछ विशेष पकवान आदि बनने पर हम ज़रूरत से ज़्यादा खा लेते हैं, ज़्यादातर लंच के बाद ऐसे भोजन जिनमें अधिक कैलोरी तो होती ही है और जो पचने में भी थोड़ा अधिक समय लेता है ऐसे भोजन को लेने से बचना चाहिए। यह हमारे पाचन की प्रक्रिया को अव्यवस्थित कर देते हैं जिसके पश्चात अपच, कब्ज़ जैसी शिकायत होने लगती है। अगर आप खान अभी चाहें तो इस अतिरिक्त भोजन को कम मात्रा में ही लें, ज़्यादा न खाएं क्यूंकी अक्सर ये सभी भोजन स्वादिष्ट और ललचाने वाले होते हैं।

प्रोसेस्ड फूड खाने से बचें (No processed food for pachan shakti badhane ke liye in hindi)

आजकल बाज़ारों में प्रोसेस्ड फूड का काफी प्रचलन है। ये भोजन खाने में टेस्टी और पचने में कठिन होते हैं। यह स्वास्थ्य की दृष्टि से भी नुकसानदायक होते हैं। इमनें पोषक तत्वों की मात्रा न के बराबर होती है। इनकी जगह आपको प्राकृतिक पदार्थों का प्रयोग करना चाहिए। मौसमी फलों और ताज़ी सब्जियों का भरपूर सेवन करना सेहत और पाचन के लिए बहुत लाभकारी होता है। अच्छे पाचन के लिए घर में बनी हुई चीजों का उपयोग करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

कम मात्रा में बार बार खाएं (Repeated meals in small size)

सही पाचन के लिए आपको अपनी भूख का सही अंदाज़ा होना चाहिए। उतनी ही मात्रा में भोजन लेना चाहिए जितनी शरीर को ज़रूरत हो। भूख लगने पर एक साथ अधिक मात्रा में भोजन करना नुकसान दायक होता है और इस समय आप भूख से ज़्यादा खा लेते है। कोशिश करें कि, भोजन को अल्प अल्प मात्रा में विभाजित कर बार बार खाएं। इससे आपकी भूख भी नियंत्रण में रहती है और आप एक्सट्रा डाइट लेने से भी बच जाते हैं। कभी भी पेट भरकर न खाएं और भोजन को बार बार कम मात्रा में ही लें। यह पाचन को आसान बनाता है और आपको ज़्यादा कैलोरी लेने से भी रोकता है।

पाचन शक्ति बढ़ाने की दवा है पीपरमिंट टी (Peppermint Tea)

अगर आपको महसूस हो रहा है की आपका पेट सही तरीके से काम नही कर रहा या पाचन सही नहीं है तो आपके लिए पुदीने की चाय बेहतर विकल्प हो सकती है। अगर आपको पेट में भारीपन महसूस हो रहा हो तो आपको चाय या कॉफी की जगह पुदीने से बनी चाय का प्रयोग करना चाहिए।

सुबह का नाश्ता कभी न भूलें (Do not skip breakfast)

अगर आप स्लिम बने रहने के लिए नाश्ता नहीं करते तो यह एक गलत आदत है। सुबह का नाश्ता सारे दिन की ऊर्जा और सही पाचन के लिए बहुत ज़रूरी होता है। यह आपके मेटाबोलिस्म पर प्रभाव डाल सकता है। हम जो भी भोजन करते हैं उससे प्राप्त ऊर्जा 9 से 10 घंटों तक शरीर के काम आती है। रोज़ समय पर सुबह से नाश्ते में सेहतमंद भोजन लें।

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय, हमेशा एक्टिव रहें (Stay active and move)

भोजन के बाद एक जगह न बैठें और न ही रुकें रहें या सो जाएँ। भोजन के बाद कुछ देर टहलें और हल्की सैर करें। खाने के तुरंत बाद सोने या बैठे रहने से पाचन की क्रिया धीमी हो जाती है और भोजन को पचने में देरी भी लगती है। थोड़ी चहल कदमी से आपके शरीर को ऊर्जा मिलती है जो भोजन को पचाने में मदद करता है। भोजन के 1 घंटे बाद थोड़ी हल्की एक्सरसाइज़ करें इससे आपको अच्छा और आरामदायक महसूस होगा।

पानी से पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय (Water se pachan tantra kaise sudhare)

भोजन के बाद पानी पिएँ, पर भोजन लेते हुए पानी न पिएँ यह भोजन के पाचन में रुकावट का काम करता है। भोजन के बीच में बार बार पानी पीने की आदत अपचन का कारण बनती है। मसालेदार भोजन के बाद अधिक से अधिक मात्रा में पानी का सेवन करें। यह शरीर को हाइड्रेट करने में सहायक होता है। और अधिक पानी पीने की यह आदत आफ्नै दिनचर्या में भी शामिल करें। पानी भोजन को पचने में मदद करता है और कब्ज आदि समस्या से भी दूर रखता है।

उच्च रेशेयुक्त भोजन का प्रयोग करें (Hi fibre Food se pachan kriya badhane ke upay)

रेशेदार चीज़ें भोजन के पाचन में मुख्य भूमिका निभाती है। नियमित भोजन के साथ रेशेयुक्त पदार्थों का सेवन पाचन में मदद करता है। इससे आंत की क्रियाएं भी सही तरीके से चलती हैं। अपच की शिकायत होने पर डॉक्टर भी ऐसी चीजों के सेवन की सलाह देते हैं जिसमें उच्च मात्रा में रेशे पाये जाते हैं। ताज़े फल, सब्जियाँ आदि में काफी मात्रा में रेशे मौजूद होते हैं, इनका सेवन लाभदायक होता है।

मांस की तरफ रुझान (Lean Meat)

कई लोगों को मांस का काफी शौक होता है, और वे खाते वक़्त इसे ज़्यादा मात्रा में खा लेते हैं, हमेशा ध्यान रखें कि मांस या रेड मीट (Red meat) पचने में मुश्किल होता है और यह पाचन की क्रिया को भी धीमा करा देता है। अगर आप अपच कि समस्या से ग्रसित हैं तो आपको मांस का यह रुझान त्यागना होगा। इसके साथ यह शरीर में फैट बढ़ाने का भी कार्य करता है। अगर आप वाकई में अपने पाचन को सुगम और स्वस्थ बनाना चाहते हैं तो आपको मांसाहार का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

पाचन क्रिया ठीक करने के उपाय, समय पर करें भोजन (Meals on time)

भोजन के सही पाचन के लिए आपको अपने खान पान पर विशेष रूप से ध्यान देने की ज़रूरत पड़ती है। अपने खाने के समय की समय सीमा निर्धारित करें और सख्ती से उसका पालन करें। सुबह का नाश्ता ठीक समय पर करें। इसी तरह दोपहर और रात के भोजन का भी समय निर्धारित कर सही समय पर भोजन कर लें। इससे आपका पाचन तंत्र सही और संतुलित तरीके से काम करता है।

धूम्रपान और शराब का प्रयोग न करें (No smoking or Alcohol intake)

धूम्रपान और शराब अपने आप में एक बुरी आदत है जो कई तरह के रोगों के लिए जिम्मेदार होती है, अगर आपको इनकी आदत है तो जल्द से जल्द इन्हें छोड़ दें। यह आदतें पाचन की क्रिया में बढ़ा उत्पन्न करने का कार्य करती है। अगर आप सेहतमंद रहना चाहते हैं और चाहते हैं कि आपका शरीर और पेट की क्रियाएँ सुचारु रूप से कार्य करें तो आपको इस बुरी आदतों का साथ छोड़ना होगा।

loading...