Hindi tips for your Relaxation – आराम प्राप्त करने के कुछ बेहतरीन नुस्खे

आजकल के दौर में तनाव होना कोई अनहोनी बात नहीं है। प्रतियोगिता कड़ी हो जाने  तथा तकनीक में वृद्धि होने से हर व्यक्ति अजीब और ज़्यादा व्यस्त होता जा रहा है। हमारे शरीर को थोड़े  से आराम की ज़रुरत होती है, पर हमारा प्रतियोगी मन ऐसा होने नहीं देता है।

सुकून पाने की प्रक्रिया हमारे सोचने के तरीके से जुड़ी हुई है। इसके लिए आपको सिर्फ अपने लिए थोड़ा सा समय निकालने की आवश्यकता है। नीचे सुकून पाने के कुछ तरीकों का वर्णन है जिसका प्रयोग आप अपने दैनिक जीवन में कर सकते हैं।

तनावमुक्त होने के नुस्खे (Tips for relaxation se relax karne ke tarike)

  • भविष्य के बारे में सोच सोचकर चिंतित होने से हमारा मस्तिष्क काफी प्रभावित होता है और हम दूसरे महत्वपूर्ण मुद्दों की ओर ध्यान नहीं दे पाते। भविष्य के बारे में सिर्फ सोचने से कोई फायदा नहीं है, पर सही प्रकार से उन लक्ष्यों को पूरा करने का प्रयत्न करना ही सबसे ज़रूरी है। मस्तिष्क को सुकून देने के लिए हमेशा आज के बारे में सोचें।
  • आपके आसपास का वातावरण आपके मस्तिष्क की शान्ति को प्रभावित करता है। हमें इस बात का अहसास नहीं होता, पर आसपास के लोग और माहौल हमारी अंदरूनी शान्ति और संतुलन को काफी हद तक प्रभावित करते हैं। उदाहरण के तौर पर अगर आप अपने कमरे पर नज़र दौड़ाएं और सब कुछ बिखरा हो तो आप कभी भी सुकून का अनुभव नहीं करेंगे और आपके मस्तिष्क पर दबाव पड़ेगा।

बरसात के दिनों में त्वचा की देखभाल कैसे करें?

  • जिन लोगों के साथ आप रहते और सम्बन्ध बनाते हैं, वे भी आप पर अपनी छाप छोड़ देते हैं। हमेशा अपने संबंधों को खुशगवार और स्वस्थ बनाए रखें, जिससे आप भी खुश रहें। दुःख भरे सम्बन्ध, धोखे और मतभेद आदि ऐसी स्थितियां हैं, जिन्हें हम रोक नहीं सकते। परन्तु हम उस चीज़ को नियंत्रित करने की कोशिश कर सकते हैं जिसपर हमारा बस है।
  • ध्यान लगाना आपको तनावमुक्त करने की काफी अच्छी प्रक्रिया है। हर रोज़ अपने लिए 10 से 30 मिनट निकालें और शान्ति से बैठे रहें। कुछ देर ध्यान करें और अपने मस्तिष्क में चलने वाले विचारों को कुछ देर रोककर रखें। ध्यान करने से अंदरूनी शान्ति में इजाफा होता है और आप बेकार की चिंताओं से मुक्त हो जाते हैं। इससे आपके एकाग्र होने की क्षमता में वृद्धि होती है और आप कार्यस्थल पर ज्यादा ध्यान लगा पाते हैं।
  • सुकून का मतलब दिन बर्बाद करना नहीं होता। रोज़ाना के कामों के बीच थोड़ा सा अंतराल लेकर खुद को तनावमुक्त रखें। काम करते करते 10 मिनट संगीत सुनना, घर लौटते हुए 15 मिनट चहलकदमी करना, अपनी पसंदीदा आइसक्रीम (ice cream) खाना, हफ्ते में दो बार तैराकी करना आदि तनाव को दूर भगाने के उपाय हैं।
  • जितना हो सके आत्मनिर्भर बनें। दूसरों पर निर्भर रहने से हम दूसरों से ज़्यादा खुद पर बोझ डालते हैं। जब आप हर काम खुद से करेंगे तो खुश भी ज़्यादा रहेंगे। अगर चीज़ें सही होती हैं तो आपको ख़ुशी होती है और अगर चीज़ें गलत होती हैं तो आपको फिर भी अपने प्रयास पर गर्व होता है। इसका मतलब यह नहीं है कि हम दूसरे लोगों की तरफ ध्यान देना छोड़ दें। हमें दूसरे लोगों की कई अवसरों पर काफी ज़रुरत पड़ती है। परंतु जो काम हम खुद कर सकते हैं, उसके लिए हमें दूसरों पर निर्भर नहीं होना चाहिए।
  • दिमाग में सकारात्मक सोच बनाकर रखें। ऐसी किसी भी चीज़ से परहेज़ करें जो हानिकारक और नकारात्मक हो। ये चीज़ें कुछ भी हो सकती हैं, जैसे कोई कार्य, कोई सोच या किसी दूसरे व्यक्ति का प्रभाव। ज़िन्दगी की दुश्चिंताओं को पीछे छोड़ें और हमेशा अच्छी बातें सोचें।
  • खुद के लिए हर रोज़ समय निकालें। घर आकर समाचार देखें, अपना समय लगाकर स्नान करें, अपना पसंदीदा भोजन बनाएं और जो भी आपको अच्छा लगता है वह करें। इससे आपका तनाव दूर होगा।
  • बीच बीच में छुट्टियां लेकर कहीं निकल जाने से भी आप तनाव के शिकार नहीं होंगे। कोई भी जगह चुनें और वहां चले जाएं। अगर आप कोई साथी नहीं चाहते हैं तो अकेले ही चले जाएं। इससे आपके मस्तिष्क को शान्ति और सुकून प्राप्त होगा।

आँखों की सुरक्षा के आसान और प्राकृतिक तरीके

एक प्रसिद्ध कहावत है कि पैसा कमाने में इतना व्यस्त ना हो जाएं कि ज़िन्दगी के सुखों को कमाने का मौक़ा ही ना मिले। हर चीज़ ज़रूरी है, पर आपके सुकून से ज़रूरी कुछ भी नहीं।

थोड़ा आराम हो जाए (Tips for relaxation or aram karne ke tarike)

कार्यशील बनें (Be always busy) :- अगर आप तनाव के शिकार हो रहे हैं तो इस स्थिति में सबसे अच्छा काम जो आप कर सकते हैं वो है दौड़ना या जिम में जाना। हालांकि आपके लिए टीवी के सामने बैठकर आराम करना ज़्यादा पसंदीदा काम रहेगा, आपके लिए इस स्थिति में व्यायाम काफी अहम है क्योंकि इससे मूड अच्छे करने वाले केमिकल जैसे एंडोर्फिन और एनंडमाईन उत्पन्न होते हैं जो बेचैनी को कम करते हैं और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं। आपके मूड को बढ़िया करने और आपके तनाव को कम करने के अलावा व्यायाम तब भी बहुत अच्छा होता है जब आपको किसी चीज़ से ध्यान हटाना हो या चैन से सोना हो।

एमिनो एसिड युक्त भोजन ग्रहण करें (Food having amino acids) :- हममें से कई लोग जब तनाव में होते हैं तब भोजन की शरण में जाते हैं। हालांकि ये कोई बुरी बात नहीं है क्योंकि कुछ ख़ास तरह के भोजन तनाव घटाने में हमारी मदद कर सकते हैं। वे भोजन जिनमें ट्रिप्टोफैन होता है जो कि एक काफी महत्वपूर्ण एमिनो एसिड होता है,आपके लिए काफी अच्छे सिद्ध होते हैं अगर `आपको आराम या विश्राम करना हो तो। इस पोषक तत्व से शरीर में सेरोटोनिन की मात्रा बढ़ती है जो आपके मूड को अच्छा करता है तथा मेलैंटोनिन के साथ मिलकर आपकी सोने में मदद करता है। चीज़,टर्की, चिकन तथा सोयाबीन आदि ट्रिप्टोफैन से भरपूर भोजन हैं।

ह्रदय के स्वास्थ्य को सुधारने के प्रभावी नुस्खे

आराम करो – लम्बी सांसें लें (Take deep breath) :- अगर आपके पास समय कम है तो सुकून पाने का सबसे सरल उपाय है लम्बी लम्बी सांसें लेना। तनाव के समय मनुष्य की आम मानसिकता जल्दी जल्दी सांसें लेना होती हैं और इस समय सुकून प्राप्त करने के लिए लम्बी और गहरी सांसें लेना काफी फायदेमंद है। अगर आप छोटी छोटी बातों से तनाव में आ जाते है तो आपको अपनी जीवनशैली में योग द्वारा सांस लेने की प्रक्रिया का सहारा लेना चाहिए, या फिर योग, पिलाटिस या आत्म चिंतन की कक्षाओं में भाग लेना चाहिए। ये सभी उपचार योग के द्वारा सांस लेने की प्रक्रिया को अपनाते हैं और आपको स्वस्थ रखते हैं।

डार्क चॉकलेट (Dark chocolate) :- आपके लिए एक अच्छी खबर यह है कि चॉकलेट, जिसे विश्व भर में सुकून पाने के लिए खाए जाने वाले व्यंजनों में से एक माना जाता है,आपके तनाव को दूर करने वाला एक अदभुत व्यंजन है। चॉकलेट में मैग्नीशियम की काफी मात्रा होती है जो आपकी आराम में मदद करता है। इसमें एनंडमाईन भी होता है जो मस्तिष्क में सीधे असर करके आपको सुकून की अनुभूति देता है। इसमें मौजूद फिनाइलीथाईलमाईन की मात्रा की वजह से डार्क चॉकलेट एंडोर्फिन के स्तर को बढ़ाता है। अतः अब आपके पास एक और कारण है जिससे कि आप अपनी पसंदीदा डार्क चॉकलेट खा सकते हैं।

आराम करो, अच्छा संगीत सुनें (Listen good music) :- हममें से ज़्यादातर लोगों को पता है कि अगर हम अपना मनपसंद संगीत सुनें तो इससे हमारा मूड काफी अच्छा हो जाता है। कुछ शोधो के मुताबिक़ भी यह पाया गया है कि अच्छा संगीत सुनने से तनाव कम होता है। कई वैज्ञानिक परीक्षणों के बाद यह पाया गया है कि संगीत और रोज़ाना के कार्यों को करने में हो रहे तनाव में कमी का आपस में गहरा सम्बन्ध है। अन्य शोधों में यह भी पता चला है कि संगीत सुनने से शल्य क्रिया में लिप्त लोगों, गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों और गर्भवती महिलाओं को हो रहे भीषण तनाव से राहत मिलती है। सुकून देने वाले गाने सुनने की कोशिश करने के बजाय आपके लिए बेहतर यही होगा कि ऐसे गाने सुनें जो आपको पसंद हों और जो आपके मन को प्रफुल्लित करते हों।

खुद को सुकून प्रदान करें (Make your self relaxed)

दौड़ना/जॉगिंग के लिये टिप्स

सबसे बढ़िया और राजसी तरीका जो आपको सुकून दे सकता है वो है अपने मन की सुनना। खुद की काफी अच्छे से देखभाल करें। अपने पैसे का खुद पर सदुपयोग करें। अगर आपको किसी ख़ास व्यक्ति को सुकून प्रदान करके ख़ुशी मिलती है तो उसे हेल्थ स्पा या ब्यूटी सलून में मसाज,फेशियल या अन्य किसी सौंदर्य उपचार के लिए लेकर जाएं। इसके अलावा आप खुद भी अपने लिए कुछ कर सकते हैं जैसे अच्छे से नहाना, साथ में कुछ मोमबत्तियां जलाना, पीठ के बल लेटकर फेस मास्क लगाना या फिर कुछ सुकून भरे गाने सुनना।

गले मिलें (Hug someone) :- गले मिलने से मन के भावों में सकारात्मक परिवर्तन दिखता है और साइकोमैटिक रेमेडीज में छपे शोधों के मुताबिक़ अच्छे से गले मिलने से तनाव में काफी हद तक कमी आती है। शरीर के एक दूसरे से संपर्क में आने पर ऑक्सीटोसिन की मात्रा में वृद्धि होती है जिसे लव हॉर्मोन भी कहा जाता है और इससे तनाव के हॉर्मोन कोर्टिसोल की मात्रा में कमी भी आती है। गले मिलने की यह प्रक्रिया आप सिर्फ मनुष्यों के ही साथ नहीं, बल्कि अपने पालतू जानवर के साथ भी पूरी कर सकते हैं। ये तो शोध में भी साबित हुआ है कि जिनके घर में पालतू जानवर होते हैं उन लोगों को तनाव की समस्या ना के बराबर रहती है।

घरेलू नुस्खे (Home remedies to help you relax)

संतरे (Oranges) : संतरे की मादक खुशबू और इसके छिलके आपको शांत करते हैं। सिट्रस (citrus) तनाव और चिंताओं से लड़ता है और प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। एक संतरे को छीलें और इसकी खुशबू को महसूस करें। आप छिलकों को गर्म पानी में डालकर उबाल सकते हैं। इस खुशबू को सूंघने से बेचैनी दूर होती है। एक कप ताज़े संतरे के रस में एक चम्मच शहद और एक चुटकी जायफल पाउडर मिलाकर पीने से भी आपको काफी आराम मिलेगा।

लैवेंडर (Lavender) : लैवेंडर आपको तनावमुक्त रखता है और आपकी चिंताओं को दूर करता है। इसका प्रभाव काफी सुकून भरा होता है जो हमारी नसों को राहत देता है। इसमें तनाव से लड़ने वाले तत्व भी होते हैं। 2 कप पानी उबालें और इसमें 2 से 4 बूँद एसेंशियल ऑइल (essential oil) डालें। इसे सूंघें और मन को शांत करें। आप इस तेल की 2 से 4 बूंदों के साथ बादाम या जैतून के तेल को मिश्रित करके अपने कन्धों, पीठ और गले की मालिश भी कर सकते हैं।

रोज़ाना त्वचा की देखभाल के नुस्खे

बादाम (Almonds) : इसमें मौजूद पोषक पदार्थों के अलावा बादाम आपका मूड अच्छा करने के लिए भी जाना जाता है। यह चिंता और बेचैनी से लड़ता है। इसमें मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड्स (omega-3 fatty acids) जलनरोधी होते हैं और कोशिकाओं की जलन को दूर करते हैं। करीब 10 बादामों को पानी में भिगोयें और रातभर छोड़ दें। अगली सुबह इनके छिलके निकालकर इन्हें पीस लें। इसमें एक चुटकी जायफल और अदरक डालें तथा इन सबको एक गिलास दूध में मिलाएं। कुछ दिनों तक इसे पीने से आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

सौंफ (Fennel) : इसमें मौजूद तेल बेचैनी दूर करते हैं। यह गैस की समस्याओं को भी दूर करने की क्षमता रखता है। एक टिश्यू (tissue) पर थोड़ा सा सौंफ का तेल छिडकें और इसे सूंघें। अगर ज़रुरत हो तो इसका प्रयोग कुछ घंटों बाद फिर करें। आप इसे अपनी चाय में भी मिला सकते हैं और इसका रस भी बना सकते हैं।

स्नान (Bath) : सुकून पाने का सबसे आसन तरीका है गर्म पानी से नहाना। बाथटब (bathtub) में एक तिहाई कप बेकिंग सोडा और अदरक मिलाएं तथा इसमें गर्म पानी भरें। इसमें आप 5 बूँदें अरोमाथेरेपी ऑइल (aromatherapy oil) और थोड़ा सा कैरियर तेल (carrier oil) भी डाल सकते हैं। इसमें खुद को 20 मिनट तक डुबोए रखें और आराम महसूस करें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday