Hindi tips treat the bloating stomach – पेट फूलने के इलाज के लिये शीर्ष सुझाव

पेट का फूलना गुर्दे या दिल की बीमारी जैसी ही एक गंभीर समस्या है, जिसका कारण पेट में पानी का भरना नहीं, बल्कि आँतों में गैस का भर जाना है। पेट के फूलने का मुख्य कारण गैस, पानी जम जाने या असामान्यताएं हैं जो छोटे से छोटे पेट को फुला सकती हैं। स्वस्थ वयस्क लोगों में पेट फूलने का मुख्य कारण द्रव्यों का जमाव है, जो कि जेन्सेन (Jensen) द्वारा कही गयी गलत बात है।

पेट फूलने का कारण, जब पेट का व्यास अपने सामान्य आकार से अधिक बढ़ जाये और असहज और तंग महसूस कराये तो यह पेट फूलना कहा जाता है। पेट फूलने के कारण, इसे पेट की सूजन के नाम से भी जाना जाता है। यह बहुत ही सामान्य समस्या गलत खाद्य आदतों या जीवन शैली आदि के कारण हो सकता है। अगर पेट फूलने की समस्या से पीड़ित है तो इसे हटाने के लिये कुछ साधारण उपायों को अपना सकते हैं।

पेट फूलने की समस्या से छुटकारा पाने के लिये सलाह (Tips to get rid of bloating stomach)

पेट फूलना – पोटैशियम आधारित खाद्य (Potassium based foods se pet fulne ka ilaj)

पोटैशियम में शरीर में तरलता को संतुलित करने का गुण होता है जो फूलने की समस्या को दूर रखता है। पोटैशियम खाद्यों में शामिल है केला, टमाटर, पालक, आम और नट आदि। ये पोटैशियम आधारित खाद्य शरीर में उपस्थित अतिरिक्त पानी को निकाल देगा जिसके द्वारा आप पेट फूलने (pet ka fulna) से आराम पा सकते हैं।

केला श्रेष्ठ घरेलू उपचार (Pet ka phoolna ke liye bananas)

केला फाइबर का बेहतरीन स्त्रोत होता है तथा यह कब्ज़ से जुड़ी गैस एवं पेट के फूलने की समस्या का उपचार करता है। केला पोटैशियम (potassium) से भरपूर होता है जिसकी मदद से हमारे शरीर में द्रव्यों का स्तर नियंत्रित होता है। यह हमें पेट फूलने की समस्या से निजात दिलाता है। आप पेट के फूलने की समस्या को दूर करने के लिए रोज़ाना केले का सेवन कर सकते हैं। आप या तो नाश्ते में केले का सेवन करें, या फिर  इन्हें फलों के सलाद या मीठे में शामिल करें।

पेट फूलना उपचार – हवा की पर्याप्त मात्रा निगल नहीं (Don’t swallow adequate amount of air to avoid bloating)

जानबूझकर या अनजाने में हम हवा की बहुत सारी मात्रा को हम निगलते हैं, यह भी पेट फूलने के लिये एक कारण हो सकता है। इसलिये, धूम्रपान, जूस पीने, बबल गम चबाने और खाना खाते समय बात करने की आदत को जांचें।

सौंफ के बीजों की मदद से पेट का फूलना कैसे ठीक करें ? (How to get rid of bloating stomach with fennel seeds?)

सौंफ के बीजों में एंटी माइक्रोबियल (anti-microbial) गुण होते हैं, जिसकी वजह से ये पेट के दर्द, गैस की जलन और पेट फूलने की समस्या से आपको निजात दिलाने की क्षमता रखते हैं। यह हाजमे की प्रणाली की मांसपेशियों की अकडन को दूर करके आपके पेट का फूलना ठीक करते हैं। भारी भोजन करने के बाद सौंफ के बीजों को चबाएं। आप एक कप गर्म पानी में 1चम्मच सौंफ के बीज भी डाल सकते हैं। इसे पानी में 5 से 10 मिनट तक मिश्रित होने दें। अब इस मिश्रण को छानकर इसका सेवन करें। इसका सेवन दिन में 2 से 3 बार करें।

पेट की सूजन से निपटने के उपाय

स्टार्च खाद्य को सीमित मात्रा में लें या बचें (Take limited amount or avoid starch food to decrease bloating)

पेट फूलने के मुख्य कारण में से एक स्टार्च खाद्य भी है। स्टार्च शामिल खाद्य जैसे नूडल्स, सफेद ब्रेड, पेस्ट्री, केक, पास्ता आदि को सीमित या से बचने की कोशिश करें।

पेट फूलना – शारीरिक व्यायाम को अपनायें (Follow a physical activity to remove bloating)

प्रतिदिन शारीरिक व्यायाम को करना शरीर में गतिविधि के द्वारा आपके पेट के पाचन को बढ़ाता है। आठ घंटे के लिये सोना शरीर के स्वास्थ्य की आवश्यकता भी है।

पेट फूलने की समस्या के लिए अदरक (Ginger se pet phoolna ka ilaj)

अदरक का प्रयोग गैस और पेट फूलने की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है क्योंकि इसमें कई कार्यशील तत्व मौजूद रहते हैं। इसमें शोगाओल तथा जिंजरोल्स (shogaols and gingerols) जैसे कंपाउंड्स (compounds) मौजूद रहते हैं, जो आँतों में आई सूजन को कम करने में आपकी मदद करते हैं। अदरक के 5से 6कटे हुए टुकड़े लें और इन्हें 1कप उबलते पानी में मिश्रित करें। अब इस उबलते पानी को एक कप में डालें तथा इसे किसी ढक्कन से ढक लें। इसे 10मिनट तक इसी तरह छोड़ दें और अगर आपको इसे इस रूप में पीने में कठिनाई महसूस हो रही है तो इसमें थोडा सा शहद और नींबू का रस मिश्रित करें। इसका सेवन दिन में 3बार करें।

पेट का फूलना – मसालेदार खाद्य से बचें (Foods to avoid bloating)

मसालेदार खाद्य से बचने की कोशिश करें जो परेशानी या आपके पेट फूलने की समस्या का कारण हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति को पेट फूलने की समस्या है तो कुछ मसालेदार खाद्यों से बचें जैसे काली मिर्च, सिरका, मिर्च पाउडर, सरसों, मूली, प्याज, लहसुन।

पेट फूलने पर क्या करें – मालिश (Massage for pait ka phoolna)

पेट फूलने पर क्या करें, गैस को बाहर को निकालने के लिये पेड़ू पर जठरांत्र की दिशा में मालिश करें, अपनी उंगलियो से ठीक कूल्हे के पास दबायें।

पेट के फूलने की समस्या को दूर करने के लिए काला जीरा (Caraway seeds to remove bloating stomach)

काले जीरे में एंटी माइक्रोबियल, अकडन दूर करने वाले और कार्मिनेटिव (carminative) गुण होते हैं। काले जीरे में मौजूद कार्वोल तथा कार्वेन (carvol and carvene) नामक दो रासायनिक उत्पाद हाजमा प्रणाली की मांसपेशियों को सुगठित करने का काम करते हैं। इससे आपको गैस निकालने में काफी आसानी होती है, जिससे पेट फूलने की समस्या से आपको काफी हद तक निजात प्राप्त होती है। अगर आप गंभीर रूप से पेट के फूलने का शिकार हैं तो दिन में कई बार काले जीरे को चबाएं। ऐसी स्थिति में कच्चे काले जीरे का सेवन आपके लिए काफी अच्छा साबित होगा। आप काले जीरे को पीसकर इसकी मदद से चाय भी बना सकते हैं।

पेट फूलने का इलाज – चबाने से सावधान (Beware of chewing to remove bloating stomach)

लीवर में फैट

अपने भोजन को अधिक से अधिक बार चबायें, भोजन को जल्दी जल्दी बिना चबायें निगलना पेट फूलने का कारण हो सकता है। भोजन जो पचा नहीं है बड़ी आंत से गुजरते समय बैक्टीरिया द्वारा मारा जा सकता है, यह प्रक्रिया गैस को छोड़ती है और पेट को फूलने को प्रोत्साहन देती है।

पेट फूलने का इलाज – फाइबर को चुनें (Look for fiber to remove bloating)

फूलना फाइबर की अत्यधिक उच्च मात्रा या निम्न मात्रा को लेने के कारण हो सकता है, इसलिये फूलने के अनुभव को कम करने के लिये फाइबर को अपने आहार में सीमित मात्रा में शामिल करें।

पेट का फूलना – कब्ज (Constipation to reduce bloating)

कब्ज पेट फूलने का मुख्य दोषी है, अपने आहार में फाइबर को अच्छी मात्रा में शामिल करना आपके पाचन तंत्र को नियमित करेगा, जो बदले में कब्ज से मुक्त करायेगा। उच्च फाइबर खाद्य है भूंसी आधारित अनाज, फलियां, सेम, मक्का, भूरा चावल, एवोकैडो, गेहूं, पास्ता, नाशपाती, आर्टीचोक्स, गेहूं की रोटी, फूल गोभी, सेब, मटर, रैस्पबेरी और बादाम।

अगर आपको कब्ज की समस्या नहीं है, तो फाइबर की उच्च मात्रा को न लें क्योंकि यह आपकी समस्या को बद्तर ही करेगा। जिन लोगों को पेट फूलने पर कब्ज की समस्या है उन्हें फाइबर की मात्रा को कम रखने की जरूरत है।

पकी सब्जियां (Cook vegetables for bloating)

पेट फूलने पर उपचार, पकी सब्जियां, कच्ची सब्जियों की तुलना में आसानी से पच जाती हैं। पकाने की प्रक्रिया में कुछ फाइबर और एंजाइम बाहर निकल जाता है जो पेट को गड़बड़ करने और फूलने की समस्या का कारण हो सकता है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday