How to increase eye fluid naturally without eye drops – ऑय के फ्लूइड को बिना ऑय ड्राप के उपयोग के प्राकृतिक रूप से कैसे बढाए

आज कल की दुनिया में सबसे सामान्य समस्या है सूखी आँखे (dry eyes)।  ये वो समस्या नहीं रही जो 40 से ऊपर के उम्र वाले लोग में उत्पन्न होती थी, आज कल ये 20 और 30 साल की उम्र से भी व्यक्ति में उत्पन्न होने लगी है। सूखी आँखे / ड्राई ऑय एक ऐसी समस्या है जो आँखों में कम फ्लूइड (eye fluid) उत्पन्न होने से बनती है जैसे ही टीयर ग्लैंड (tear gland) में टीयर्स बनाना कम हो जाते है या टीयर्स की क्वालिटी कम होती है, तब ये समस्या उत्पन्न होती है।

सूखी आँखों से आपको दर्द भी होता है और साथ ही चिडचिडाहट भी और इसलिए नियमित समय से ऑय ड्राप (eye drop) के उपयोग से आपकी आँखों में फ्लूइड बनना शुरू होता है। अगर आप केवल इस परिस्तिथि के शरुआती दौर पर है और अभी तक आपके लक्षण तीव्र नहीं बने है तो आप प्राकृतिक नुस्खो को अपनाकर अपने आँखों के फ्लूइड को बढ़ा सकते है और इस तरह सूखी आँखों की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

अगर ये दिए गए नुस्खे एक महीने में अपना असर / प्रभाव नहीं दिखाते है तो आपको ऑय स्पेशलिस्ट (eye specialist) के पास जाना होगा। इस आर्टिकल में ऐसे ही कुछ प्राकृतिक उपाय को दर्शाया गया है जिनका सही रूप से पालन करने से आप अपने आँखों के फ्लूइड को प्राकृतिक रूप से बढ़ा सकते है।

नेत्र रोग – अपने आदतों को बदले (Change your habits)

सबसे आसान तरीका और प्रभावशाली रूप से आँखों के फ्लूइड को बिना ऑय ड्राप के बढाने का तरीका ये है की आप अपनी उन आदतों को दूर कर दें जिनसे आपकी आँखों को क्षति पहुँचती है। नीचे दिए गए चीज़ों का पालन  कर आप एक हफ्ते में बेहतर परिणाम को देख सकेंगे,

आँखों के रोग में प्रबुद्ध स्क्रीन को घंटो तक तकना बंद करें (Stop staring at an illuminated screen for hours)

ज्यादातर लोग जो आँखों में कम फ्लूइड की समस्या से गुज़र रहें है उसका कारण ये है की वे अनेक गैजेट (gadget) जैसे कंप्यूटर, मोबाइल, टैब्स (tabs), लैपटॉप और टेलीविज़न (television) का उपयोग करते है। हम सबको एक ऐसी आदत लग गयी है की हम सभी प्रबुद्ध स्क्रीन (illuminated screen) पर ज्यादा समय तक तकते रहते है या एक डिवाइस (device) पर घंटो तक देखते रहेंगे। इन स्क्रीन से निकलने वाली रेस/ किरणे हमारी आँखों को सूखा बनाती है और यही सबसे मुख्य कारण है।

बाजार में उपलब्ध सर्वोत्तम आइ लाइनर

अगर आपकी आँखों में कम फ्लूइड बनता है और अप इसका इलाज ऑय ड्राप के बिना करना चाहते है तो सब से पहले आपको स्क्रीन पर बिताए जाने वाले समय को कम करना होगा। ये ध्यान रखें की लगातार आप अपने प्रबुद्ध स्क्रीन पर 20 मिनट तक ना तकते रहें। हर 20 मिनट के बाद अपनी आँखों को 2 मिनट का ब्रेक प्रदान करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

पलक को नियमित समय से झपकते रहें (Blink often)

हम कभी कुछ काम में इतना व्यस्त हो जाते है की पलक झपकना भी भूल जाते है। लैपटॉप पर महत्वपूर्ण काम करते दौरान या दोस्तों के साथ बातें करते समय या किताब में कुछ ख़ास पढ़ते समय हम अपनी आँखों को झपकना भूल जाते है। क्या आप जानते है की आँखों को कम झपकने से आपकी आँखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है और इस से आपकी आँखे सूखी पड़ सकती है। इसलिए ये ध्यान रखें की आप कुछ भी कर रहे हो वो फरक नहीं पड़ता लेकिन अपनी आँखों को समय- समय पर झपकाते रहें। आँखों को झपकाने से आप अपने आँखों के फ्लूइड को फैलाते है और इस तरह आँखों को सूखा पड़ने से रोकते है।

अँधेरे में प्रबुद्ध स्क्रीन को ना ताके (Do not stare at an illuminated screen in the dark)

ज्यादातर लोग अँधेरे में लैपटॉप और स्मार्ट फ़ोन पर काम करना पसंद करते है। लेकिन क्या आपको पता है की अँधेरे में प्रबुद्ध स्क्रीन पर तकने से आपकी आँखों पर दबाव बनता है और इस तरह आँखे सूखी पड़ने लगती है। इसलिए अगर आपकी आँखों में कम फ्लूइड बनता है तो आपको इस अँधेरे में प्रबुद्ध स्क्रीन को तकने की आदत को दूर करना होगा। ये भी ध्यान रखें की आप अपने स्क्रीन को अपनी आँखों से दूर रखें और ज्यादा उज्ज्वल भी ना रखें, जिस से आँखों पर दबाव पड़ सकता है।

नेत्र रोग घरेलू उपचार आँखों पर बार- बार पानी को छिडकें (Splash clean water on your eyes frequently)

अपनी आँखों पर पानी छिडकने से आपकी आँखों को बहुत ही लाभ प्राप्त होता है जो आपने सोचा भी नहीं होगा। पानी एक महत्वपूर्ण पदार्थ है जिसकी सहायता से आप अपनी आँखों में स्नेहन (lubrication) को बढ़ा सकते है। पानी से आप अपनी आँखों पर कम दबाव डालते है और इस तरह ये आपकी आँखों पर बिना कोई हानि पहुंचाए साफ़ करता है और साथ ही आँखों को किसी भी प्रकार से सूखा नहीं पड़ने देता है। जब भी आपकी आँखों पर कोई भी दबाव महसूस हो तो आप एक साफ़ साधारण पानी को अपने चेहरे पर छिड़क लें और इस तरह आपकी आँखे फ्रेश हो जायेंगी और इस तरह आँखों को सूखा पड़ने से भी रोक सकेंगे।

चश्मा पहनने से हुए डार्क सर्कल्स से छुटकारा कैसे पाएँ

आँखों की देखभाल – आँखों को आराम दें (Rest your eyes)

अपनी आँखों को नियमित समय से आराम देना भी एक आसान और प्रभावशाली तरीका है जिस से आप अपनी आँखों को ड्राई पड़ने से रोक सकते है और इस तरह अपनी आँखों में फ्लूइड को बढ़ा सकते है। ध्यान रखें की आप 8 घंटे तक सोए और इस तरह अपनी आँखों को सही से आराम प्रदान करें। अगर आप निद्रा नहीं ले रहे है तब भी आप अपनी आँखों को हर 20 मिनट के काम के बाद 5 मिनट के लिए बंद कर आराम प्रदान करें। ये आँखों में आंसू को बढ़ाएगा और इस तरह आँखों के फ्लूइड को बढ़ाएगा और सूखी पड़ने से रोकेगा।

अपने वातावरण को बदले (Change your environment for aankhon ki dekhbhal)

ड्राई ऑय, वातावरण के कारण भी उत्पन्न हो सकती है। ठंडी और हवा से भरपूर वातावरण से आपकी आँखों पर असर पड़ता है और इस तरह आँखों में फ्लूइड कम उत्पन्न होता है। अगर आपकी आँखों में कम फ्लूइड उत्पन्न होता है तो आपको अपने वातावरण पर ध्यान देना चाहिए और उस अनुसार आपको बदलाव को लाना चाहिए।

घर में ह्यूमिडफाइअर का उपयोग करें (Use a humidifier in your home)

वातावरण में सूखापण (dryness) होने से भी आँखे सूखी पड़ सकती है इसलिए ध्यान रखें की आपके वातावरण में सूखापन ज्यादा ना हो या आप अपना ज्यादा समय एयर कंडीशन में बिताते है तो, वातावरण को सूखा पड़ने से रोकने के लिए ह्यूमिडफाइअर (humidifier) का उपयोग करें। इस तरह आप अपने वातावरण को पूर्ण तरह से सूखा पड़ने से रोक सकते है और अपनी आँखों को ड्राई पड़ने से बचा सकते है।

आँखों में दर्द – अपनी आँखों को तेज़ हवा और कड़ी धुप से ढक कर रखें (Cover your eyes from harsh wind and sun)

तेज़ हवा और सूरज की कड़क किरणों से आँखों को क्षति पहुँच सकती है और इसलिए आपको सूखी आँखों की समस्या से गुज़रना पड़ता है। इसलिए इन समस्या से छुटकारा पाने के लिए आपको अपनी आँखों को तेज़ हवा और सूरज की हानिकारक किरणों से सुरक्षित रखना होगा। अगर आप गतिविधियाँ जैसे मोटरसाइकिल चलाना या राइडिंग करना करते है तो आपकी आँखों पर तेज़ हवा का प्रभाव पड़ सकता है जिस से आँखों से सम्बंधित समस्या जैसे सूखी आँखे और कम फ्लूइड बनना उत्पन्न हो सकता है, इसलिए ये सब गतिविधियाँ करते समय अपनी आँखों को गॉगल्स (goggles) से अच्छे से ढक कर रखें। साथ में ये भी ध्यान रखें की सूरज की किरणों में निकलने से पहले अच्छे सनग्लास्सेस (sunglasses) का उपयोग करे ताकि हानिकारक किरणों से आपकी आँखों को कोई क्षति नहीं पहुँच सकें।

कंप्यूटर की हानिकारक किरणों से कैसे बचाएं आँखों को

सिगरेट के धुएँ से दूर रहे (Stay away from cigarette smoke)

रिसर्च के अनुसार आँखों के कम फ्लूइड बनना और सूखी आँखों का कारण सिगरेट का धुएँ ( cigarette smoke ) है। अगर आप धूम्रपान करते है तो सबसे पहले आपको इस आदत से छुटकारा पाना होगा। ये भी ध्यान रखें की आप जहाँ रहते है वहाँ का वातावरण भी सिगरेट के धुएँ से मुक्त रहे। इसलिए धूम्रपान वाली जगह पर ना जाए या वहाँ ना जाए जहाँ लोग ज्यादा धूम्रपान कर रहे होते है।

अपने आहार पर ध्यान दें (Check out your diet)

पूरे शरीर के स्वास्थय के लिए रोजाना का आहार एक महत्वपूर्ण चीज़ है। अगर आपको अपनी आँखों का फ्लूइड प्राकृतिक रूप से ज्यादा बढ़ाना है वो भी ऑय ड्राप का उपयोग करे बिना तो आपको अपने रोजाना के आहार पर ध्यान देना होगा।

विटामिन A से भरपूर खाने को खाए (Eat vitamin A rich foods)

आँखों के स्वास्थय के लिए और रौशनी के लिए सबसे महत्वपूर्ण किरदार विटामिन A निभाता है। अगर आप ड्राई ऑय और आँखों में कम फ्लूइड की समस्या से गुज़र रहें है तो आपको अपने आहार में विटामिन A से भरपूर पदार्थ को मिलाना चाहिए। इस तरह इनको रोजाना अपने आहार में मिलाकर खाने से आप अपने आँखों को स्वस्थ बनाते है। गाजर, चकोतरा, पालक, खुबानी (apricot), सलाद के पत्तो (lettuce) में विटामिन A ज्यादा पाया जाता है। इसलिए इन रंगीन सब्जियों को अपने आहार में मिलाये और इस तरह अपने शरीर में विटामिन A को बढाए और अपनी आँखों की सेहत एवं रौशनी को स्वस्थ बनाए रखें।

अपने आहार में ज्यादा ओमेगा 3 फैटी एसिड्स को मिलाये (Include more omega 3s in your diet)

रिसर्च के अनुसार अपने आहार में ज्यादा ओमेगा 3 फैटी एसिड (omega 3 fatty acid) मिलाने से आँखों से सम्बंधित समस्या जैसे ड्राई आँख और आँखों में कम फ्लूइड बनने से छुटकारा पाया जा सकता है। ओमेगा 3 फैटी एसिड को जलन दूर करने के लिए प्रभावशाली माना जाता है और ये आँखों में फ्लूइड को बढाता भी है और इस तरह आपकी आँखों से सम्बंधित समस्या को दूर करता है। ओमेगा 3 फैटी एसिड आंसू के भी क्वालिटी को सुधारता है जो टीयर ग्लैंड में बनता है। इस से सूखी आँखे और कम फ्लूइड की समस्या दूर हो जाती है।

अलसी का बीज (flax seeds), चिया के बीज, अखरोट (walnut) में ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर होते है। इनके अतिरिक्त फैटी फिश जैसे सैल्मन (salmon), ट्यूना (tuna), मैकरील (mackerel) और सारडाइन (sardines) में भी ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर भरे है। अन्डो में भी ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है। इसलिए अपने रोजाना के आहार में ये पदार्थ को मिलाये और आँखों के फ्लूइड को प्राकृतिक रूप से बढाए।

आँखों के नीचे काले घेरे के लिए श्रेष्ठ कंसीलर

कुछ घरेलु नुस्खे (Some home treatments)

ऑय फ्लूइड को बढाने में ग्रीन टी सहायक है (Green tea might help in increasing eye fluid)

ग्रीन टी में एंटी ऑक्सीडेंट (anti oxidant) ज्यादा ही पाया जाता है जिस से आप अपनी आँखों पर पहुंचे ओक्सीडेतिव (oxidative) की क्षति को कम कर सकते है। आप ग्रीन टी को रोजाना पी कर उनमे मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट का भरपूर लाभ उठा सकते है जिस से आँखों से सम्बंधित समस्या का भी इलाज होता है जिसमे आँखों में ऑय फ्लूइड को बढ़ाया जाता है। आप चाहे तो हलके ग्रीन टी के छाने हुए पानी को ठंडे पड़ने के बाद भी इस से अपनी आँखों को धो सकते है और इस तरह ऑय फ्लूइड को बढ़ा सकते है।

करौंदा भी प्रभावशाली है (Gooseberry can be effective)

भारतीय करौंदा (indian gooseberry) में विटामिन A और विटामिन c भरपूर पाया जाता है। ताज़े भारतीय करौंदे से निकले एक्सट्रेक्ट में पानी मिलाये और इस से आप अपने अनेक प्रकार के आँखों से सम्बंधित समस्या का इलाज कर सकते है जैसे की सूखी आँखे और आँखों में फ्लूइड का कम उत्पन्न होना। ताज़े करौंदे का एक्सट्रेक्ट निकाले और इसमें शुद्ध पानी को मिलाये। अब इस मिश्रण को आँखों पर छिडकें। बेहतर परिणाम पाने के लिए इसका उपयोग दिन में 1 से 2 बार रोजाना करें।

loading...