Best ways pregnant women can stay cool during Summer – गर्मियों में गर्भवती महिलाओं के लिए ठंडक प्राप्त करने के श्रेष्ठ उपाय

गर्भावस्था के दौरान कई महिलाओं को शारीरिक रूप से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पीठ के दर्द के अलावा कब्ज़ एवं गर्भावस्था से जुड़ी अन्य सामान्य समस्याएं, बार बार स्वभाव में परिवर्तन आदि से चीज़ें और भी प्रभावित होती हैं। गर्मियों के दौरान गर्भवती महिलाओं के लिए ठंडक प्राप्त करना और भी ज़्यादा समस्या का विषय बन जाता है। बढ़ता हुआ तापमान ना सिर्फ शारीरिक समस्याओं में वृद्धि करता है बल्कि गर्भवती महिलाओं की पहले से संवेदनशील त्वचा, जिससे काफी पसीना निकलता है, को प्रभावित करके त्वचा की कई अन्य समस्याओं को भी जन्म दे सकता है।

गर्मियों के दौरान शीतलता प्राप्त करना ना सिर्फ गर्भवती महिलाओं के के शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होता है, बल्कि इससे यह भी सुनिश्चित होता है कि उनका स्वभाव अच्छा बना रहे, जिसका अजन्मे बच्चे पर सीधा प्रभाव पड़ता है। पसीना आने से सर्दी खांसी जैसी स्वास्थ्य समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं। गर्मियों के दौरान ठंडक प्राप्त करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे अपनाना वाजिब रहता है। जीवनशैली एवं खानपान में उच्च परिवर्तन करने से आपको प्रभावी एवं सकारात्मक परिणाम प्राप्त होते हैं जिससे आप काफी सहज महसूस करते हैं। नीचे गर्मियों के दौरान गर्भवती महिलाओं के लिए ठंडक प्राप्त करने के कुछ प्रभावी उपायों के बारे में बताया गया है।

सही प्रकार के कपड़े पहनें (Wear the right type of clothing)

सही प्रकार के कपड़े पहनने से गर्मियों में आसानी से ठंडक का अनुभव प्राप्त किया जा सकता है। गर्मियों के दिनों में कसे हुए एवं सिंथेटिक कपड़े बिल्कुल भी सही नहीं होते, क्योंकि इस समय शरीर अपना तापमान कम रखने के लिए पसीना निकालता रहता है। सिंथेटिक कसे कपड़े हवा को त्वचा तक पहुँचने से रोकते हैं एवं इससे त्वचा पर पसीना जम जाता है। पसीने के जमने से ना सिर्फ त्वचा की समस्याएं सामने आती हैं बल्कि इससे आपको सर्दी खांसी भी हो सकती है।

गर्भावस्था के दौरान कैसा हो माँ का आहार?

ढीले ढाले सूती के कपड़े गर्मियों के दिनों में गर्भवती महिलाओं के लिए श्रेष्ठ होते हैं, क्योंकि सूती कपड़ों में काफी छिद्र होते हैं जिनसे हवा त्वचा तक आसानी से आ जाती है। इससे पसीना त्वचा पर जमा नहीं होता। अच्छी गुणवत्ता के सूती एवं लिनेन के कपड़े अतिरिक्त पसीने को सोखते हैं एवं त्वचा को सूखा रखता है। अतः गर्भवती महिलाओं के लिए यह आवश्यक है कि वे गर्मियों में ठंडक प्राप्त करने के लिए सिर्फ सूती या लिनेन के ढीले कपड़े पहनें।

कपड़े के अलावा वस्त्रों का रंग भी इस बात की पुष्टि करने में सहायता करता है कि आपका शरीर बाहर से कम ताप सोखे। सफ़ेद एवं पेस्टल (pastel) रंग गर्मियों के लिए सबसे उपयुक्त होते हैं क्योंकि ये रंग रोशनी की अधिकतर किरणों को परावर्तित करते हैं एवं आपको ठंडक प्राप्त करने में सहायता करते हैं। दूसरी तरफ काले रंग रोशनी को सोखते हैं एवं गर्मियों में आपको और भी ज़्यादा गर्मी का अहसास करवाते हैं। ढीले कपड़ों से गर्मियां सहज रूप से कटती हैं पर इस बात का ध्यान रखें कि साल के इस समय में पतले परन्तु ढके हुए कपड़े पहनना उपयुक्त होता है। ढीले, हल्के रंग के, शरीर को ढकने वाले कपड़े आपके शरीर को बाहरी गर्मी से अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करते हैं एवं ये आपके शरीर के तापमान को कम करने में भी सफल साबित होते हैं।

प्रेगनेंसी केयर टिप्स इन हिंदी – सही आहार लें (Eat the right diet)

आपके खानपान का आपके शरीर की गर्मी पर काफी गंभीर प्रभाव पड़ता है एवं गर्भवती महिलाओं के लिए यह काफी आवश्यक है कि वे गर्मियों में सही आहार ग्रहण करें। सामान्य रूप से अपने खानपान में अधिक पत्तेदार एवं हरी सब्ज़ियां शामिल करें। पत्तेदार एवं हरी सब्ज़ियां शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी एवं फाइबर प्रदान करती हैं। हालांकि पानी शरीर को अंदर से ठंडा रखने में सबसे अधिक सहायक होता है, परन्तु सब्ज़ियों में मौजूद फाइबर पाचन प्रणाली को स्वस्थ रखता है जो शरीर का तापमान आवश्यकता से अधिक बढ़ने से रोकता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

लौकी, तोरई एवं अन्य मौसमी सब्ज़ियां गर्मी के मौसम में गर्भवती महिला के लिए उपयुक्त होती हैं। तला एवं तैलीय आहार पाचन क्रिया के दौरान ज़्यादा ताप पैदा करता है, अतः अगर आप गर्मियों में अपने खानपान में तेल एवं तले खाद्य पदार्थों की मात्रा को कम कर लें तो काफी अच्छा होगा। तले आहार की बजाय उबले एवं कच्चे आहार का चुनाव करें।

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के लिए अपने रोज़ाना के खानपान में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन (protein) का सेवन करना काफी आवश्यक है। हालांकि नियमित रूप से मांस तथा अंडे का सेवन करने से शरीर में उत्पन्न ऊर्जा की मात्रा में काफी बढ़ोत्तरी होती है। अतः इस समय अपने खानपान को साधारण रखें। जानवरों से प्राप्त प्रोटीन की बजाय पौधों से मिलने वाले प्रोटीन पर ध्यान केंद्रित करें। हल्की उबली पिसी दालें, बीज एवं नट्स (nuts) का सेवन गर्भवती महिलाओं द्वारा अपनी रोज़ाना की प्रोटीन की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए किया जा सकता है, तथा इस स्थिति में आपको जानवरों से प्राप्त प्रोटीन का भी अधिक सेवन नहीं करना पड़ता। पौधों पर आधारित ये प्रोटीन पाचन क्रिया के समय कम शारीरिक ऊर्जा पैदा करते हैं एवं आपको अंदर से ठंडा रखने में सहायक होते हैं।

गर्भावस्था के दौरान लड़का होने के लक्षण

गर्मियों में गूढ़ कार्ब्स (carbs) पर आश्रित रहने की अपेक्षा, जो कि शरीर के लिए अधिक स्वास्थ्यकर माने जाते हैं, सफ़ेद चावल जैसे सामान्य कार्ब्स अपने खानपान में शामिल करें क्योंकि ये आपके शरीर का तापमान कम करने में सहायक होते हैं। सामान्य कार्ब्स पचाने में आसान होते हैं एवं ये पाचन क्रिया के समय कम ताप का उत्पादन करते हैं।

गर्भावस्था के दौरान दुग्ध उत्पादों एवं फलों के रस पर निर्भर रहना लाभप्रद है। ठंडा दूध, खट्टी दही, योगर्ट (yogurt) कुछ श्रेष्ठ आहार हैं जिनका सेवन गर्मियों में करने से आपको अंदर से ठंडक प्राप्त होती है एवं आपका पेट भी भरा रहता है। ताज़े फलों जैसे तरबूज़, अनानास, आम एवं खीरे से प्राप्त रस आपकी जीभ एवं शरीर के लिए काफी स्वादिष्ट साबित होती हैं। रस ऊर्जा एवं आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करते हैं एवं शरीर का तापमान कम रखने में सहायक होते हैं।

गर्मियों के दौरान नियमित अंतराल पर ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीना ना भूलें। पानी शरीर को अंदर से ठंडा करने में सहायता करता है एवं अतिरिक्त पसीना निकलने के फलस्वरूप शरीर में हुई पानी की कमी को रोकता है। बड़े भोजन की बजाय बार बार तथा कम मात्रा में भोजन करें। इससे आपके शरीर का तापमान एक सहज स्तर पर रहेगा।

किसी ठंडी जगह में रहें (Stay in a cooler place)

गर्भवती महिलाओं के लिए गर्मियों के दौरान ना सिर्फ घर के अंदर, बल्कि एक ठन्डे कमरे में रहना भी काफी आवश्यक है। अगर आपके घर में एयर कंडीशनिंग प्रणाली (air conditioning system) उपलब्ध नहीं है तो सुनिश्चित करें कि आपका रहना ऐसे कमरे में हो जहां दिन के ज़्यादातर समय में सूरज की रोशनी सीधे तौर पर ना आती हो। खुद को ठंडक प्रदान करने के लिए कई मंज़िलों वाली इमारत के ज़मीनी तल पर रहना एक आसान एवं प्रभावी उपाय सिद्ध हो सकता है।

दिन के समय दरवाज़ों एवं खिड़कियों पर भारी पर्दों के प्रयोग तथा पर्दों पर नियमित अंतराल पर पानी छिड़कने से आपका कमरा बिना एयर कंडीशनिंग के भी ठंडा रहेगा। घर में मिट्टी के कुछ मटके पानी से भरकर रखने से भी गर्मियों में आपको अपना कमरा ठंडा रखने में सहायता मिलेगी।

गर्मी में गर्भवती बार बार स्नान करें (Opt for frequent bathing)

गर्भावस्था के दौरान नींद पूरी करना

गर्भवती महिलाओं को गर्मियों के मौसम में एक या दो बार स्नान से संतुष्ट नहीं होना चाहिए। बार बार स्नान करने से शरीर का तापमान कम होता है एवं आपको अंदर से ठंडक का अनुभव प्राप्त होता है। अतः बार बार ठन्डे पानी से स्नान करना सुनिश्चित करें। अपने आप को पानी से पर्याप्त समय तक भिगोकर रखें जिससे पानी आपके शरीर की गर्मी को सोख सके।

यह भी ध्यान में रखें कि बार बार गर्म या गुनगुने पानी, जो गर्मी के दिनों में नल से आता है, से नहाने पर आपको अधिक लाभ नहीं होगा। अतः सुनिश्चित करें कि सुबह आ रहे ठन्डे पानी को सहेजकर रख लें एवं इससे सारा दिन स्नान करें।

नहाने के पानी में पुदीने के पत्ते या नहाने का नमक डालने से स्नान के दौरान आपको शरीर का अधिकतम ताप बाहर निकालने में सफलता मिलेगी। हालांकि बार बार स्नान करने से आपकी त्वचा में रूखापन आ सकता है, अतः अगर आप गर्मी से छुटकारा पाने के लिए बार बार स्नान कर रहे हैं तो त्वचा के खिंचाव युक्त होने की स्थिति में दिन में कम से कम एक बार एक तेलरहित बॉडी लोशन (body lotion) अवश्य लगाएं।

दिन के समय शारीरिक श्रम कम करें (Reduce physical activities during the day)

गर्म एवं उमस भरे गर्मी के दिनों में आप जितना अधिक शारीरिक श्रम करेंगे, उतना अधिक आपको गर्मी का अनुभव होगा। अतः आपके लिए उपयुक्त यही होगा कि दिन के समय गर्मी के अधिक रहने के दौरान शारीरिक गतिविधियां कम कर दें। आप सुबह जल्दी उठकर या रात के समय, जब बाहरी तापमान अपेक्षाकृत कम होता है, अपने काम पूरे कर सकती हैं। दिन के समय एक हवादार कमरे में आराम करें और गर्म गद्दे वाले बिस्तर या सोफे पर लेटने या बैठने से परहेज़ करें, क्योंकि इससे आपको गर्मी लगेगी एवं पसीना आएगा।

व्यायाम में कटौती करें (Cut back on exercise)

हम जानते हैं कि शारीरिक चुस्ती गर्भवास्था के दौरान भी काफी आवश्यक है, परन्तु गर्मी के मौसम में ठंडक प्राप्त करने के लिए कुछ समय के लिए व्यायाम के समय में कटौती करना ही लाभदायक है। इसकी बजाय योग का विकल्प चुनें जिसमें शारीरिक गतिविधि की काफी कम दरकार होती है एवं शारीरिक तापमान में भी ज़्यादा वृद्धि नहीं होती है। इसके अलावा अपने व्यायाम एवं योग का समय चतुराई से चुनें। इन्हें सुबह तड़के सूरज निकलने से पूर्व ही पूरा करने का प्रयास करें।

गर्भावस्था के दौरान आने वाले विभिन्न सपने

पानी से भीगे कपड़ों का प्रयोग (Use cold wash clothes for heat comfort)

अगर आप दिन के समय काफी गर्मी का अनुभव कर रहे हैं एवं आपके पास एसी की सुविधा नहीं है, तो पानी में भिगोये हुए कपड़ों को फ्रीजर (freezer) में घंटों तक रखें। बिस्तर पर सोते समय अपने माथे एवं पेट पर यह ठंडा कपड़ा रखें। इससे आपके शरीर के तापमान में कमी आएगी और आपको काफी आराम प्राप्त होगा।

ठंडक प्राप्त करने के लिए चन्दन का पाउडर (Use sandalwood powder to stay cool)

चन्दन त्वचा की प्राकृतिक रूप से सुरक्षा तथा इसे ठीक करने का प्रभावी माध्यम है। यह शरीर का तापमान कम करने में सहायता करता है। गर्मियों में अतिरिक्त ताप पर नियंत्रण करने के लिए स्नान करने के बाद अपने शरीर पर शुद्ध चन्दन पाउडर छिड़क लें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा और रोमछिद्रों में बाधा पहुंचाए बिना अतिरिक्त पसीने से भी निजात प्राप्त होगी।

loading...