Best ways to delay periods – पीरियड्स को कैसे टालें? मासिक धर्म को टालने के बेहतर उपाय

एक महिला के लिए बहुत सी वजह हो सकती है जब वो अपने पीरियड्स के देर से आने की कामना करती है। पहले से प्लान कि गयी कोई ट्रिप, कोई फंक्शन, कोई समारोह या कोई प्रोजेक्ट, ये उन कई कारणों में से चुने गए कुछ साधारण से उदाहरण हैं। इस पीरियड की समस्या स्थिति में ज़्यादातर लड़कियों द्वारा दवाओं का सहारा लेतीं हैं। मासिक धर्म में देरी के लिए ली जाने वाली ज़्यादातर गोलियां और कुछ नहीं बल्कि हॉर्मोनल पील्स (peels) ही हैं।

जो हमारे शरीर के हॉरमोन संतुलन को बाधित करती है साथ ही लंबे समय तक लेने कि वजह से हानिकारक भी हो सकती है। इन सबके अलावा इसकी वजह से मतली, उल्टी, सिर में दर्द और अत्यधिक गर्मी का एहसास होता है जो स्थिति को और भी बदतर बना देती है। तो इन सब से निकलने का क्या तरीका है?

अन्य समस्याओं कि तरह ही इससे निकलने के लिए प्राकृतिक तरीका ही सबसे बेहतर उपाय है। घरेलू उपचार कि मदद से आप इसमे देरी कर सकते हैं। और साथ ही इनके लंबे समय तक प्रयोग से आपको कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता। तो अगर अगली बार आप अपने मासिक धर्म को कुछ दिन के लिए स्थगित करना चाहतीं हैं तो गोलियों कि बजाय इन प्राकृतिक उपचारों को अपनाएँ और इसके प्रभाव महसूस करें। यहाँ मासिक धर्म लेट आने के उपाय (masik dharm late aane ke upay) बताए जा रहें हैं जो निम्न हैं

पीरियड टिप्स के लिए मसालों का प्रयोग ना करें (Exclude the spicy food from your diet se mahwari ko rokna)

योनी की शुष्कता के लिए घरेलू उपचार

सामान्य तौर पर इस बात में विश्वास किया जाता है की तीखी और मसालेदार चीज़ें आपके पीरियड्स को नियमित करती हैं और यह माहवारी लाने के उपाय (mahvari lane ke upay) के तौर पर बेहतर है। तो जब भी आपको पीरियड्स में देरी करनी हो तब आप इसके 15- 20 दिन पहले इन खानों से दूरी बना लें। कुछ मसाले जैसे मिर्च, काली मिर्च, लहसुन और लाल शिमला मिर्च शरीर में हीट को बढ़ा देते हैं और मासिक धर्म के चक्र को तेज़ कर देतें हैं। हल्दी भी इन सब की तरह ही प्रभाव डालता है। तो अगर आप अपने मासिक धर्म में देरी (masik dharm me deri) नहीं करना चाहतीं हैं तो इन सब चीजों के साथ कच्ची हल्दी का प्रयोग अपने खाने में बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

पीरियड्स को लेट करना चने की दाल से (Gram lentils se menses ko rokne ka tarika)

पुराने समय से ही चने की दाल का प्रयोग इस समस्या की उपचार के लिए किया जाता है। पीरियड्स को डिले कैसे करें? (Periods ko delay kaise kare?) चने की दाल की कुछ मात्रा लेकर उसे तल लें, फिर इसे पीस कर पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को रोज़ सुबह खाली पेट में 1 कप गरम पानी में घोल कर पिएँ। आप इसे दोपहर और रात में भी खाने के पहले ले सकतीं हैं। मासिक धर्म के निश्चित दिन से एक हफ्ते पहले ही इसे लेना शुरू कर दें।

विनेगर (Periods aane se kaise roke vinegar se)

विनेगर या सिरका भी मासिक धर्म में देरी के लिए उपयोग में लाया जाता है। इसके अलावा भी यह पीरियड्स से जुड़ी समस्याओं जैसे एंठन आदि में प्रभावकारी होता है। 3-4 चम्मच विनेगर पनि में मिलाकर सुबह पीने से राहत मिलती है। इसके साथ ही यह मासिक धर्म के समय तेज़ बहाव को भी कम करता है। इसे सही तरीके से लेने पर सही लाभ भी मिलतें हैं। तो अगर आप अधिक बहाव के कारण अच्छा महसूस नहीं कर रहीं हो तो इस उपाय को ज़रूर कीजिये और पीरियड्स की समस्या (periods ki samsya) से निजात पाइए।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

माहवारी को लेट करना निर्गुण्डी से (Chaste berry)

प्राकृतिक रूप से वक्षों को बढ़ाने के उपयोगी तरीके

हमारे शरीर में प्रोजेस्टेरोन मासिक धर्म की नियमित क्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। निर्गुण्डी हमारे शरीर में प्रोजेस्ट्रोन और प्रोलैक्टीन के संतुलन को सामान्य बनाने के साथ ही साथ पीरियड्स में कुछ समय के लिए डिले (delay) करने में भी सहायक हो सकता है। इसके साथ ही यह पीरियड्स के समय अंतराल को कम कर कम बहाव करने की क्षमता रखता है।

जिलेटिन से मासिक धर्म को कैसे लेट करे (Gelatin)

मासिक धर्म में देरी, जिलेटिन पिरिड्स को टालने और देरी से लाने के लिए बहुत ही प्रभावी माना गया है। इसे केवल इमरजेंसी में लेना ही ठीक होता है। यह पीरियड्स को केवल कुछ घंटों के लिए ही टालता है। 2 बड़े चम्मच जेलेटिन को हल्के गरम पानी के साथ अच्छी तरह मिलाकर एक बार में ही पी लेना चाहिए। इन दोनों के प्रभाव से मासिक धर्म चक्र में कुछ समय की देरी हो जाती है।

भारी व्यायाम करना है ज़रूरी (More exercise se masik dharm ko talna)

यह पीरियड्स को डिले करने का सबसे आसान प्राकृतिक तरीका है। तो जब भी आपको अपने मासिक धर्म में देरी चाहिए तो आप खूब एक्सरसाइज़ करें। यह आपकी बॉडी के स्ट्रैस को कम करता है और आपके पीरियड्स को पोस्टपोन करता है। अगर आप पहले से ही नियमित एक्सरसाइज़ कर रहें हो तो आप अपनी समय सीमा बढ़ा लें साथ ही थोड़े और भारी व्यायाम करें, इससे आपके बॉडी का स्ट्रैस लेवल कम होगा। इससे आपके शरीर पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा बल्कि आपको इससे लंबे समय तक लाभ मिलता रहेगा।

पार्स्ले की पत्तियाँ और शहद के फायदे (Parsley leaves and honey)

गर्भनिरोधक गोलियों से पीरियड्स को कैसे टालें

पार्सले पोषण और गुणों से भरपूर पत्तियाँ हैं जिनहे हम रोज़ के खाने के साथ लेते हैं। कई प्रकार के विटामिन से युक्त होने के साथ ही यह वोलेटाइल ऑइल और फ्लेवोनाइड्स से भरपूर होतें हैं। शहद के साथ इन पत्तों को लेने से पीरियड्स पोस्टपोन (postpone) में प्राकृतिक रूप से मदद मिलती है। पार्सले की पत्तियों का एक गुच्छा बना कर उसे अच्छी तरह साफ कर लें। अब 2 कप पानी में इसे तब तक उबालते रहें जब तक की पानी आधा ना रह जाए। अब इसमे 1 चम्मच शहद मिलाकर इसे गरम अवस्था में ही पी लें। इसे दिन में 2 से 3 बार पी सकतें हैं। अनुमानित तारीख से 1 हफ्ते पहले इसे लेना शुरू कर दें। इससे आपके पीरियड्स में तो देरी होगी ही साथ ही आपका मानसिक तनाव भी कम होगा। पर इन सब के अलावा यह थोड़ा खतरनाक भी है।यह शरीर में दर्द पैदा कर सकता है साथ ही इसे मासिक धर्म डिले (delay)करने वाले विकल्प के रूप में ज़्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

loading...