Best ways to fight pimples during pregnancy – गर्भावस्था के दौरान मुहांसों से लड़ने के श्रेष्ठ तरीके

Pregnant woman relaxing at home on the couch

क्या आपको अचानक ही गर्भावस्था के दौरान मुहांसों की समस्या का सामना करना पड़ रहा है ? यदि आपका जवाब हाँ है तो असल में इसमें चिंता करने की बात नहीं है। भले ही आपको पहले कभी मुहांसों की समस्या न हुई हो, पर आपको अचानक ही गर्भावस्था के दौरान मुहांसे आ सकते हैं, एवं जो महिलाएं पहले भी एक्ने (acne) एवं मुहांसों की शिकार हैं, उनमें यह समस्या और भी गंभीर रूप धारण कर लेती है। हालांकि सामान्य मुहांसों के निकलने एवं गर्भावस्था के दौरान मुहांसों के निकलने में काफी अंतर है। अधिकतर गर्भावस्था के दौरान मुहांसों की समस्या और गंभीर हो जाती है जिसके लिए मुख्य रूप से हॉर्मोन्स (hormones) उत्तरदायी होते हैं।

Pregnancy makes you prone to getting pimples – गर्भावस्था के कारण मुहांसों का होना स्वाभाविक

गर्भावस्था का अर्थ केवल चेहरे पर खूबसूरत चमक प्राप्त करना नहीं होता, पर असल में गर्भावस्था एक ऐसा समय है जब आपके चेहरे पर कई प्रकार की समस्याएं एवं बदलाव होने की संभावनाएं होती हैं। इनका मुख्य कारण शरीर के हॉर्मोन्स का बदलता स्तर होता है, जो त्वचा को प्रभावित करता है। गर्भावस्था के दौरान मुहांसों की समस्या ज़्यादा गंभीर होती है एवं आप इनसे तब तक छुटकारा प्राप्त नहीं कर सकती जब तक आपने बच्चे को जन्म ना दे दिया हो एवं हार्मोनल (hormonal) संतुलन अपनी सामान्य अवस्था में ना पहुँच गया हो।

अच्छी बात यह है कि गर्भावस्था के कारण पैदा हुए मुहांसे बच्चे के जन्म के बाद खुद ही दूर हो जाते हैं।  अतः इस दौरान भले ही आप पूर्ण रूप से मुहांसों को दूर करने में सफल ना हो पाएं, लेकिन इसमें चिंता करने की कोई बात नहीं है। आपको सिर्फ इतना सुनिश्चित करना है कि मुहांसों का पैदा गंभीर ना हो जिससे आपकी त्वचा पर कोई प्रतिकूल असर पड़े; क्योंकि एक बार गर्भावस्था के समय के समाप्त हो जाने पर मुहांसे खुद ही दूर हो जाते हैं, परन्तु यदि ये त्वचा पर दाग छोड़ देते हैं तो इनसे छुटकारा पाना काफी मुश्किल है।

Fighting pimples during pregnancy can be critical – गर्भावस्था के दौरान मुहांसों से लड़ना महत्वपूर्ण

जब आप गर्भवती होती हैं तो आपको अपने द्वारा ग्रहण की जाने वाली दवा, चाहे वह खाने या लगाने वाली हो, पर कड़ा नियंत्रण रखना काफी आवश्यक है। भले ही गर्भावस्था के दौरान आपके मुहांसों की समस्या काफी गंभीर हो रही हो, आपकी स्त्रीरोग विशेषज्ञ आपको इसके लिए किसी प्रकार की औषधि का प्रयोग करने की सलाह नहीं देंगी, क्योंकि इन दवाइयों में मौजूद कुछ सामग्रियों को त्वचा सोख लेती है एवं यह बच्चे के शरीर में भी प्रवेश कर सकता है।  अतः यदि आप गर्भावस्था के दौरान मुहांसों से ग्रसित हैं तो प्राकृतिक एवं घरेलू उपायों का प्रयोग श्रेष्ठ होता है।

Fight pimple during pregnancy in natural ways – प्राकृतिक तरीकों से गर्भावस्था के दौरान मुहांसों का मुकाबला करें

Follow a simple CTM routine – साधारण सीटीएम रूटीन का पालन करें

गर्भावस्था के दौरान मुहांसों से लड़ने के लिए एक साधारण सीटीएम रूटीन काफी प्रभावी होता है।  हालांकि गर्भावस्था के दौरान शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तनों की वजह से आपकी त्वचा पर गर्भावस्था के दौरान मुहांसे हो जाते हैं, परन्तु यदि आप सही प्रकार से अपनी त्वचा की देखभाल करने में सफल हो पाती हैं तो इससे इस समस्या से लड़ने में काफी सहायता प्राप्त होगी। ।

रोज़ाना दिन में दो बार एक उपयुक्त परन्तु आसान क्लींजिंग – टोनिंग – मोइस्चराइजिंग (Cleansing-Toning-Moisturizing) की दिनचर्या अपनाने से आपको काफी अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं।  यदि आपकी त्वचा अच्छे से साफ़, मृत कोशिकाओं, गन्दगी एवं अतिरिक्त तेल से मुक्त है तो प्राकृतिक रूप से गर्भावस्था के दौरान भी आपके चेहरे पर मुहांसे होने की संभावना काफी कम हो जाएगी। मोइस्चराइज़र का प्रयोग भी बंद ना करें क्योंकि यह त्वचा के पोषण एवं मरम्मत में काफी बड़ी भूमिका निभाती है। परन्तु ऐसे किसी भारी मोइस्चराइज़र का प्रयोग ना करें जो आपकी त्वचा पर अतिरिक्त तेल की सृष्टि करे।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

Maintain proper hygiene – साफ सफाई बनाए रखें

गर्भावस्था के दौरान मुहांसों की समस्या से निपटने के लिए साफ़ सफाई रखना अनिवार्य है।  अपने चेहरे को साफ़ रखने के अलावा यह सुनिश्चित करना भी आवश्यक है कि आपके चेहरे के संपर्क में आने वाली कोई भी वस्तु साफ़ एवं ऐसे बैक्टीरिया (bacteria) से मुक्त हो जो मुहांसों का कारण बनते हैं। सुनिश्चित करें कि आपका रूमाल, तकिए का खोल एवं आपके मोबाइल जैसी हर एक वस्तु साफ़ सुथरी एवं जीवाणुओं से रहित हो।

यह बात सुनिश्चित करना काफी ज़रूरी है कि आपको डैन्ड्रफ की समस्या ना हो, जिसके फलस्वरूप गर्भावस्था में उत्पन्न हुए मुहांसे काफी गंभीर हो सकते हैं। इसके अलावा अपने चेहरे को गंदे हाथों से कभी ना छुएं। साफ़ सफाई की ये छोटी बातें गर्भावस्था के दौरान हुए मुहांसों से लड़ने में आपको बड़े फायदे प्रदान कर सकती हैं।

Go light on makeup – मेकअप हल्का रखें

यदि आपको गर्भावस्था के दौरान मुहांसों की समस्या सता रही है तो ऐसे समय में अपने चेहरे पर मेकअप का प्रयोग कम करना काफी अच्छा होगा, खासकर ऐसा मेकअप जो रोमछिद्रों को बंद कर दे या ऐसे रसायनों से युक्त हो जो संवेदनशील त्वचा पर जलन पैदा करते हैं। सुनिश्चित करें कि आपके मेकअप उत्पाद प्रयोग करने की नियत अवधि के बाहर प्रयुक्त ना हों। अपने मेकअप के सामान को साफ़ सुथरा रखें एवं इन्हें किसी साफ़ तथा सुरक्षित जगह पर रखें।

एक बार घर पहुँचने के बाद कभी भी अपने चेहरे से मेकअप हटाना ना भूलें। अपने चेहरे से मेकअप का हर एक भाग निकालना सुनिश्चित करें एवं इसके बाद ही सोने जाएं।

Home treatments – The best ways to fight pimples during pregnancy- घरेलू उपचार – गर्भावस्था के मुहांसों को दूर करने के श्रेष्ठ उपाय

Honey and cinnamon for fighting pimples – मुहांसों से लड़ने के लिए शहद एवं दालचीनी

शहद एवं दालचीनी से बना उपचार पैक गर्भावस्था के दौरान हुए मुहांसों को ठीक करने में काफी कारगर साबित होता है। इस उपचार के लिए पैक बनाने हेतु आधे चम्मच दालचीनी पाउडर को आधे चम्मच शहद के साथ मिश्रित करें।  इन दोनों का मिश्रण करके आपको एक गाढ़ा पैक प्राप्त होगा। अपने चेहरे को एक सौम्य क्लीन्ज़र से धो लें एवं इस पैक का प्रयोग अपने मुहांसों पर करें। इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें एवं इसके बाद पानी से हटा लें। इस उपचार का प्रयोग आप दिन में अधिकतम 2 बार कर सकते हैं।

Neem and basil wash for pregnancy pimple treatment- गर्भावस्था के मुहांसों के लिए नीम एवं तुलसी का उपचार

आप नीम एवं तुलसी के पत्तों से गर्भावस्था के मुहांसों का सुरक्षित एवं प्राकृतिक उपचार कर सकते हैं।  20 नीम एवं 10 से 12 ताज़ी तुलसी की पत्तियां इकठ्ठा करें। इन पत्तियों को साफ़ करके इन्हें 3 कप पानी में तब तक उबालें जब तक पानी आधा ना हो जाए। अब पत्तियों से पानी छान लें एवं इस मिश्रण को एक कांच की बोतल में बंद करें।  इस बोतल को फ्रिज (fridge) में रख दें।

चेहरे को क्लीन्ज़र से साफ़ करने के बाद इस मिश्रण से अपने चेहरे को दिन में कम से कम 2 से 3 बार धोएं। एक बार चेहरे पर इस द्रव्य का प्रयोग करने के बाद इसे पानी से ना धोएं।  इसे सूखने तक छोड़ दें एवं इसके बाद ही पानी से धोएं।  इसके बाद चेहरे पर हलके मोइस्चराइज़र का प्रयोग करें।

Oatmeal and honey for treating pregnancy pimple – गर्भावस्था के मुहांसों को दूर करने के लिए दलिया एवं शहद

दलिया त्वचा को सुकून प्रदान करके इसकी मरम्मत में सहायता करता है। दलिया त्वचा के बंद रोमछिद्रों को खोलकर त्वचा से अतिरिक्त तेल निकालने में भी सहायता करता है, जो मुहांसे ठीक करने में काफी उपयोगी साबित होते हैं।  दूसरी तरफ शहद में प्राकृतिक एंटीबैक्टीरियल (antibacterial) गुण होते हैं जो इसे मुहांसे दूर करने का आदर्श विकल्प बनाते हैं।

दो चम्मच दलिया लें एवं इसे पानी में 2 से 3 मिनट तक भिगोकर रखें। एक बार जब दलिया नर्म हो जाए तो अतिरिक्त पानी निकालकर इसमें 2 चम्मच शहद का मिश्रण करें। इन्हें अच्छे से मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं।  इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें एवं चेहरे को इसके बाद पैक से धीरे से रगड़ते हुए पानी से धो लें।

Sandalwood and turmeric for pregnancy pimple – गर्भावस्था के मुहांसों के लिए चन्दन एवं हल्दी

हल्दीमें प्राकृतिक एंटीबैक्टीरियल (anti-microbial) गुण होते हैं एवं चन्दनत्वचा की मरम्मत करके मुहांसों की सूजन एवं इन्हें लाल होने से रोकता है ।चन्दन एवं हल्दी से बने मिश्रण से गर्भावस्था के मुहांसों को ठीक करने मेंकाफी मदद मिलती है । यह पैक त्वचा को काफी मात्रा में पोषण प्रदान करता हैएवं आपको गोरा बनाने में भी मददगार होता है।

2 इंच हल्दी की जड़ लें एवं इसे पीसकर एक पेस्ट बनाएं। चन्दन का पेस्ट बनाएंएवं इसका एक चम्मच हल्दी के साथ मिश्रित करें। इन्हें आपस में मिलाकर अपनेचेहरे पर लगाएं तथा मुहांसों पर अधिक ध्यान दें । इसे करीब 90% सूखने तकछोड़ दें। अपने हाथों को पानी से भिगो लें, अपने चेहरे को पैक से हलके हाथोंसे 2 मिनट तक रगडें एवं इसके बाद पानी से धो लें । यह उपचार एंटी एक्नेस्क्रब (anti-acne scrub) एवं पैक के रूप में भी कार्य करता है।

Banana peel for fighting pregnancy acne – गर्भावस्था के एक्ने से लड़ने के लिए केले का छिलका

जबआप सुरक्षित रूप से मुहांसों से लड़ने का प्रयास कर रही हैं तो केले केछिलके आपके लिए काफी अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं। केले के छिलके मेंमौजूद पोषक तत्व मुहांसों को पैदा करने वाले जीवाणुओं को समाप्त करने मेंकाफी फायदेमंद साबित होते हैं एवं मुहांसों को भी काफी तेज़ी से ठीक करतेहैं। मुहांसों से लड़ने हेतु केले के छिलकों का प्रयोग करने के लिए  केले केताज़ा छिलके एकत्र करें एवं इसके अंदरूनी भाग को अपने मुहांसों पर 2 से 3 मिनट तक धीरे से रगडें। इसके बाद छिलका फेंक दें पर अपना चेहरा ना धोएं।अपने चेहरे को पानी से तभी धोएं यदि यह खिंचाव युक्त लगने लगे।  अच्छेपरिणामों के लिए इस उपचार का प्रयोग दिन में 2 से 3 बार करें।

Aloe vera and tea tree oil for pimple treatment during pregnancy – गर्भावस्था के मुहांसों के उपचार हेतु एलो वेरा एवं टी ट्री ऑइल

एलोवेरा त्वचा के लिए आरामदायक एवं पोषक होता है तथा टी ट्री ऑइल एक प्रभावीएंटी माइक्रोबियल है जो मुहांसों में मौजूद संक्रमणकारी बैक्टीरिया को तेज़ीसे समाप्त करता है। हालांकि टी ट्री ऑइल का प्रयोग त्वचा पर, खासकरगर्भावस्था के दौरान सावधानी से करना काफी आवश्यक है क्योंकि इस समय त्वचाअधिक संवेदनशील हो जाती है। यदि आपने पहले कभी टी ट्री ऑइल का प्रयोग नहींकिया है तो हमारे विचार में गर्भावस्था के समय इसका पहली बार प्रयोग करनासही नहीं होगा।

यदि आपने अपने चेहरे पर पहले कभीटी ट्री ऑइल का प्रयोग नहीं किया है तो आप इसे ताज़े एलो वेरा जेल के साथमिश्रित करके गर्भावस्था के दौरान मुहांसों पर लगा सकते हैं। एलो वेरा केपत्तोंन से ताज़ा रस निकालें एवं इस गूदे की मदद से एक महीन जेल बनाएं। टीट्री ऑइल की 1 बूँद के साथ 1 चम्मच एलो वेरा जेल मिश्रित करें एवं सीधेअपने मुहांसों पर लगाएं। आप इसे स्पॉट (spot) उपचार के रूप में प्रयोग करसकते हैं। इसे 5 से 10 मिनट के लिए चेहरे पर रहने दें एवं एक गीले रुई केकपड़े से पोंछ लें।

loading...