Home remedies for cough in men/boys – पुरुषों को होने वाली खांसी के घरेलू उपचार

खांसी (Cough) किसी भी उम्र वर्ग के लोगों को होने वाली एक आम समस्या है. कम प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों को इसका शिकार जल्दी होना पड़ता है. एक या दो दिनों से ज्यादा खांसी को नज़रअंदाज करना आसान नहीं होता, कुछ सामान्य लक्षण हैं जो पुरुषों में आम तौर पर अधिक दिखाई देते हैं. खांसी जैसी समस्या को लम्बे समय तक नज़रअंदाज करना भी नहीं चाहिए क्योंकि हो सकता है कि यह किसी एलर्जी की वजह से हो रहा हो या इसके अलावा किसी अन्य अंदरूनी बिमारी का एक लक्षण हो. इसीलिए समय पर खांसी के लक्षणों को पहचान कर उसका उचित उपचार करना चाहिए.

(Khansi ke gharelu upay Hindi me)

लम्बे समय से बनी हुई खांसी अच्छा संकेत नहीं होती. यह महिला और पुरुष दोनों के ही लिए खतरनाक हो सकती है. पुरानी खांसी किसी शारीरिक समस्या से भी जुडी हो सकती है जो फेफड़ों और श्वसन तंत्र को कमजोर बनाती है.

खांसी के प्रकार (Types of cough in Hindi)

पुरुषों में प्रमुख रूप से दो तरह की खांसी देखी जाती है.पहली है सूखी खांसी, जिसमें गले में खुजली जैसा अहसास होता है और कुछ चिपका हुआ सा महसूस होता है. दुसरे तरह की खांसी बलगमयुक्त होती है जिसमें गाढ़ा चिपचिपा बलगम निकलता है, जो कि सीने में जमा हुआ होता है.

सूखी खांसी बहुत लम्बे समय तक नहीं रहती. यह किसी तरह की एलर्जी जैसे धूल या किसी अस्थाई चीज की वजह से परेशानी का कारण बनती है. बलगम निकलने वाली खांसी का जड़ से उपचार किया जाने पर कुछ ही दिनों में इसके लक्षण समाप्त हो जाते हैं और यह पूरी तरह ठीक हो जाती है.

खांसी के उपचार के लिए आप अपने चिकित्सक की सलाह पर उचित दवाओं का सेवन कर सकते हैं. अगर खांसी के यह लक्षण युवा लड़कों या पुरुषों में दिखाई देते हैं तो सामान्य तरह की इस खांसी में एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल करने की जगह घरेलू उपायों का जोर देना चाहिए.

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

खांसी के घरेलू उपाय हिंदी में (Home remedies for cough in Hindi)

नमक पाने से गरारा (Salt water gargling)

गरारा करने के लिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें. इसमें नमक मिलाकर इस पानी का उपयोग गरारा करने के लिए करें. इससे सीने में जमा गाढ़ा बलगम पतला होकर आसानी से बहार निकलने लगता है और खांसी में राहत मिलती है.

शहद (Honey – Cough home remedy in Hindi)

शहद कई तरह के प्राकृतिक गुणों के साथ एक बेहतरीन एंटीबायोटिक भी होता है. यह इम्युनिटी को भी मजबूत बनाता है. खांसी को प्राकृतिक तरीके से ठीक करने के लिए शहद एक आदर्श घरेलू उपाय है.

लेने का तरीका

दिन में दिन में 2 से 3 बार शहद का सेवन खांसी में लाभ देता है, सोने के पहले इसका सेवन सबस अच्छा माना जाता है और 2 साल तक के बच्चों के लिए यह एक बहुत ही श्रेष्ठ उपाय है.

अदरक (Ginger – Khansi ke gharelu upay in Hindi)

अदरक खांसी के लिए बहुत फायदेमंद होता है और गले की खराश को भी दूर करता है. अदरक का स्वाद थोडा कडवा और चरपरा सा होता है लेकिन प्राकृतिक तरीके से खांस ठीक करने के लिए यह सबस यासन और अच्छा उपाय है. आप अदरक के एक छोटे टुकड़े को अच्छी तरह धोकर मुंह में रख सकते हैं.

खाने एक तरीका

अदरक को एक अन्य तरीके से भी खाया जा सकता है. इसके लिए अदरक को छिल कर इसके बहुत छोटे छोटे टुकड़े कर लें और इसे शहद के साथ सेवन करें.

अजवायन फूल (Thyme – Khansi ka ilaj)

इसमें एंटीमाइक्रोबियल गुण होता है जो खांसी को ठीक करता है.

तरीका

थाइम को 250 मिली पानी में भिगो दें और इसे कुछ घंटों के लिए छोड़ दें. जब ये अच्छी तरह भीग जाये तो इस पानी को दिन में 2 से 3 बार पियें.

ये सभी उपाय पूरी तरह प्राकृतिक और सुरक्षित है जिससे शरीर को किसी तरह के दुष्प्रभाव का सामना नहीं करना पड़ता. अगर आपको सामान्य खांसी के लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो इन उपायों को ज़रूर आजमाना चाहिए.

loading...