Winter skin care tips in Hindi for women – महिलाओं के लिए सर्दियों में त्वचा की देखभाल के टिप्स

शीतकाल त्वचा को अधिक नुकसान पहुँचाता है। इस समय शरीर को अतिरिक्त देखभाल करने की जरूरत है। हमारी त्वचा में नमी कम होने की वजह से रूखापन हो सकता है। यदि आप अपनी त्वचा का ख्याल नहीं रखेगे तो इसमें निर्जलीकरण, लाल धब्बे और संवेदनशीलता हो सकती है। सूखी त्वचा वाली महिलाओं को सर्दी के मौसम का अधिक असर होगा तो, इस मौसम में आप अपनी त्वचा की देखभाल कैसे करें? आप ठंडे मौसम और भयानक सर्दी में इन सरल सुझावों, विंटर ब्यूटी टिप्स का पालन करके चिंताओं को दूर कर सकते हैं।

ठंड के मौसम में आपकी त्वचा उतनी आकर्षक नहीं रहती, जितनी आप इसे अन्य मौसमों में पाती हैं। अत्याधिक ठण्ड आपकी त्वचा को रूखी और अनाकर्षक बना सकती है। कई महिलाओं की त्वचा ठण्ड के आते ही काफी बेजान सी हो जाती है। पर आप कुछ नुस्खों की मदद से ठण्ड के मौसम में कई तरीकों से स्वस्थ त्वचा पा सकती हैं। गर्म पानी से नहाने से या चुभती ठंडी हवाओं से आपकी त्वचा, खासकर आपके बाल और चेहरा काफी बुरी तरीके से प्रभावित होते हैं। ठंड में हवाओं के चलने के साथ ही सिर की त्वचा में परतों का जम जाना आम होता है। आपको कुछ ऐसे विंटर ब्यूटी टिप्स, प्रभावी नुस्खों की आवश्यकता है, जो आपकी बेजान त्वचा में नयी ऊर्जा भरने का कार्य कर सकें। सर्दियों में त्वचा की देखभाल के उपाय

सर्दियों में त्‍वचा का रखें खास ख्‍याल (Winter skin care tips)

कोई भी मलाईदार क्रीम से चेहरा साफ़ करें (Adapt any creamy face cleaner)

क्लीनज़र , जो आप मेकअप से छुटकारा पाने के लिए उपयोग करते हैं। चाहे आपकी सूखी, तैलीय या संयोजन त्वचा हो, आपको बिस्तर पर जाने से पहले पूरी तरह से मेकअप निकालना चाहिये। इससे नई कोशिकाओं के उत्पादन में  मदद मिलती है, जिससे आपकी त्वचा ताजा और अच्छी लगती है।

सर्दियों के दौरान अपनी त्वचा को मुलायम रखने के लिए

सनस्क्रीन की परत (Slather around the Sunscreen)

सर्दियों में भी सूरज की किरणों से आपकी त्वचा को बहुत नुकसान हो सकता है। इसलिए इस दौरान आप सनस्क्रीन का उपयोग करें। ठंड में बाहर जाने से आधे घंटे पहले अपने चेहरे और हाथों पर (अगर वे उजागर हो रहे है) व्यापक स्पेक्ट्रम के सनस्क्रीन का उपयोग करने की कोशिश करें। यदि आप थोड़ी ज्यादा  देर के लिए बाहर हों तो इसे पुन:लगाइए।

पूरे दिन के लिए मॉइस्चरिज़ (Moisturize the whole day)

एक मॉइस्चराइजिंग मास्क का उपयोग शुरू करें। सर्दियों में त्‍वचा का रखें खास ख्‍याल, स्नान के बाद शरीर पर लोशन का प्रयोग करें। यह अतिरिक्त नमी को सुरक्षित करने में मदद कर सकते हैं।

दस्ताने का प्रयोग करें (Allow the hands some sort of Palm)

आपकी बाहों की त्वचा शरीर के बाकी अंगों की तुलना में आमतौर पर पतली और कम तेल ग्रंथियों वाली होती है। जिस कारण सर्दियों के सूखे मौसम में हाथो को नम रखना अधिक मुश्किल है। परिणाम स्वरुप हाथ मे चरचराहट और क्षति हो सकती है। इसलिए आप जब भी बाहर जाएं, आरामदायक पतले रेशमी  सूती दस्ताने पहन कर जाएँ।

सोने से पहले फिर से मॉइस्चरिज़ (Moisturize again before bed)

यह त्वचा  नम रखने के लिए अच्छा है। त्वचा रहे सेहतमंद, सुबह और शाम नहाने के बाद एक दिन मे कम से कम दो बार उपयोग करें। हालांकि सोने से पहले फिर से लगाने से तापमान में एक मामूली बदलाव के कारण हमारी त्वचा में वह बेहतर तरीके से रिस जाएगा।

बहुत गर्म पानी से ना नहाए (Suspend super hot Bathing)

बहुत गरम पानी से स्नान करना आपको अच्छा लग सकता है, लेकिन ऐसा करने से आपकी त्वचा की टोन पर असर होता है और आपकी त्वचा  की नमी में कमी आ सकती है।

गहरी और असमान रंगत वाली त्वचा के घरेलू उपचार

त्वचा को साफ रखें (Stay clear of skin kare sardiyo me skin ki dekhbhal)

रंग उत्पादों और बालों की स्टाइल के उत्पादों मे यदि लिखित सामग्री मे बढ़ा हुआ अलकोहल है तो वह आपकी त्वचा को सुखा सकता है। इसलिये अलकोहल रहित उत्पादको का प्रयोग करें।
इस मौसम मे आप बालों को तौलिये से सुखाने का प्रयास न करें क्योकि इससे बालों को नुकसान पहुँचता है।
सर्दियों में सबसे महत्वपूर्ण कठिनाई आमतौर पर विफटित मुंह क्षेत्र हैं। कम से कम 15 एसपीएफ़ का , संभव हो तो एंटीसेप्टिक एजेंटों के साथ सनस्क्रीन का उपयोग शुरू करें। अधिकांश उत्पादक चाय के पेड़ के तेल के साथ निर्मित होते हैं जिससे दर्दनाक दरारों का इलाज होता है।
सर्दियों में हाथ , पैर , कमर तथा कोहनी की देखभाल करनी चाहिए। त्वचा रहे सेहतमंद तो मक्खन , पेट्रोलियम , पोषक तत्व का तेल, चाय के पेड़ के तेल या ग्लिसरीन युक्त उत्पादों को रोज लगायें। नमी को सुरक्षित करने के लिए दस्ताने या मोजे पहनें।

सर्दियों के मौसम के दौरान,महिलाओं की फ़टी एड़ी आम समस्या है। घबराओ मत, यहाँ सर्दियों में त्वचा की देखभाल के उपाय, सबसे अच्छा उपाय है। बिस्तर पर जाने से पहले 20 मिनट के लिए गर्म पानी में अपने पैर डाले। आप सफेद रंग के साथ पैरों की मृत त्वचा का निरीक्षण कर सकते हैं। झांवां का प्रयोग करें और पैर रगड़ कर मृत त्वचा को साफ़ करें। अब मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगायें। अधिक परिणामों के लिए आप हर दिन रात में कम से कम एक सप्ताह के लिए इसका पालन करें।

सूखी त्वचा के लिए (For dry skin)

आम तौर पर कुछ लोगों की शुष्क त्वचा होती है, ऐसे लोग  आमतौर पर सर्दियों के मौसम में अधिक पीड़ित होते हैं। अगर आपकी त्वचा सूखी और निर्जलित हो रही हो तो इसका सबसे अच्छा इलाज है कि, साबुन से बचना।

रूखी त्वचा के लिए दूध (Milk for dry skin)

तैलीय त्वचा के लिए घर के बने फेस स्क्रब

रूखी त्वचा को ठीक करने के प्राकृतिक उपायों में दूध सबसे बढ़िया विकल्प है, क्योंकि इसके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते। आप सीधे दूध को अपने चेहरे तथा शरीर पर लगा सकती हैं तथा फर्क महसूस कर सकती हैं। अगर आप प्रयोग करने के लिए काफी मात्रा में दूध है तो नहाने के तुरंत बाद अपनी त्वचा को दूध से धोने का प्रयास करें। आप सूती के कपड़े को दूध में डुबोकर इसे भी अपनी त्वचा के हर एक भाग पर लगा सकती हैं। कोई भी भाग ना छोड़ें। दूध को त्वचा पर सूखने दें तथा इसे सामान्य गर्म पानी से धो लें।

त्वचा के स्वास्थ्य के लिए जैतून का तेल (Olive oil for skin health)

ठण्ड के मौसम के आने के साथ ही आपको अपनी त्वचा के स्वास्थ्य पर भी काफी ध्यान देना पड़ता है। इसके लिए आप जैतून के तेल (olive oil) का प्रयोग अपनी त्वचा पर रोजाना कर सकती हैं। ओलिव ऑइल लगाने का सबसे अच्छा समय नहाने से ठीक पहले का होता है। इसे अपने गले से पैरों तक लगाने के बाद अपनी त्वचा पर अच्छे से सूखने दें। एक बार इसके पूरी तरह सूख जाने के बाद नहाने की प्रक्रिया पूरी कर लें। इसके प्रयोग के बाद आप ताजगी का अनुभव करेंगी तथा तेल के आपकी त्वचा की परतों में मौजूद होने के कारण आपमें एक नयी स्फूर्ति आ जाएगी।

ह्यूमिडिफायर्स (Humidifiers se sardiyo me skin care)

ठण्ड का मौसम आ जाने के साथ ही आप अपने घर में ह्यूमिडिफायर्स रख सकती हैं, क्योंकि इस कड़कड़ाती सर्दी में ये आपकी त्वचा का अच्छा स्वास्थ्य सुनिश्चित करेंगे। ह्यूमिडिफायर्स की मदद से आप हवा में ज्यादा नमी प्राप्त कर सकती हैं, जिससे आपको इस रूखे वातावरण में काफी राहत मिलेगी। यह एक काफी प्रभावी उपचार है, जिसकी मदद से आपकी त्वचा रूखी होने से बचती है। ठंड में आप अपने घर में चारों तरफ छोटे ह्यूमिडिफायर्स रखने के बारे में भी सोच सकती हैं, क्योंकि इससे आपके सारे घर को पर्याप्त नमी की प्राप्ति होगी और आपकी त्वचा को प्रभावित करने वाले रूखे वातावरण से आपको निजात मिलेगी।

गर्म पानी से स्नान ना करें (No superhot baths)

चेहरे की त्वचा संरचना को बढ़ाने के लिये घरेलू सलाह

लोग ठण्ड के मौसम में गर्म पानी से नहाना पसंद करते हैं, क्योंकि ठंडा पानी आपके शरीर को इस मौसम में सहन नहीं होता और इससे आपकी त्वचा अस्वस्थ भी हो सकती है। परन्तु नहाने के समय अत्याधिक गर्म पानी से परहेज करें, क्योंकि इससे आपकी त्वचा रूखी और पपडीदार हो जाती है। अगर आप ठण्ड के समय ठन्डे पानी का स्पर्श भी सहन नहीं कर सकती तो इस पानी में थोड़ा सा गर्म पानी अवश्य मिला लें, जिससे कि यह पानी हल्का गुनगुना (lukewarm) हो जाए। गुनगुने पानी से ही हमेशा नहाने का तथा त्वचा पर प्रयोग करने का प्रयास करें, क्योंकि यह आपकी त्वचा को बिलकुल नुकसान नहीं पहुंचाता और इसे फटने से भी बचाता है। इस विधि का निरंतर रूप से ही प्रयोग करने का प्रयास करें, जिससे कि ठण्ड के इस पूरे मौसम में आप अच्छी तरह स्वस्थ और हाइड्रेटेड (hydrated) रह सकें।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday