Bleeding nose and its ayurvedic treatments in Hindi – नाक फूटने या नकसीर का आयुर्वेदिक इलाज

नकसीर (Bleeding nose)

गर्मियों नाक फूटना, नाक से खून आना एक आम समस्या और नाक के रोग है जो ज्यादातर लोगों में देखी जाती है। लेकिन अगर आपकी उम्र 50 के पार है और नाक से खून आने के कारण आपको यह समस्या होती है तो तुरंत अपना ब्लडप्रेशर चेक कराना चाहिये।

नकसीर से बचने के आयुर्वेदिक इलाज़ (Ayurvedic remedies to cure the bleeding nose problem)

नकसीर का इलाज – फिटकरी चिकित्सा (Alum treatment)

फिटकरी को पीसकर गाय के घी में मिलाकर नाक में डालने से नाक नहीं फूटती।

फिटकरी को ओक के पाउडर और कपूर के साथ मिलाकर पेस्ट बनाकर नाक में डालने से नाक से आता हुआ खून तुरंत रुक जाता है।

कपूर चिकित्सा (Camphor treatment)

कपूर के टुकड़े को धनिया पत्ती के रस में मिलाकर नाक में डालने से नकसीर में आराम होता है।

पेट की एसिडिटी को नियंत्रित और शांत करने के लिए घरेलू उपचार

नकसीर के उपाय – आँवला चिकित्सा (Amla treatment)

20 ग्राम आँवला ले और उन्हें रात भर के लिए पानी में भिगो दें, सुबह पानी निकाल कर पेस्ट बना लें और माथे और नाक एक ऊपर लेप करें।

लालचंदन से इलाज (Red sandal powder treatment)

लालचंदन, मुलेठी और नागकेसर नाक संबंधी परेशानियों के इलाज के लिये बहुत अच्छे माने जाते हैं, इन तीनों मिलाकर पीस लें और 3 ग्राम चूर्ण को दूध के साथ सेवन करें।

नकसीर का उपचार – अनार के फूल से उपचार (Naak se khoon ana – Pomegranate flowers treatment)

अनार के फूलों को धूप में सुखाकर पीस लें इसे हरड के चूर्ण, लक्का के फूलों के चूर्ण और रेशम कपास के पेड़ की गाद से साथ मिक्स कर लें एवं इस मिक्चर को शहद या दूध के साथ लें नकसीर में लाभ होगा।

नकसीर से बचने के लिये क्या खायें (Food items for curing nose bleeding)

पुराने चावल, गाय का घी, केला, लौकी, करेला, अनार, दाल, बंगाल चना, लाल चना, हरा चना शहद, ककड़ी, कमल का फूल का तना, और अंगूर आदि खाने से नाक नहीं फूटती।

नकसीर का उपचार – प्याज उपचार (Onion treatment)

एक प्याज का रस निकालें और दूब घास, हडजोड और आम के बीज के साथ मिश्रण बना कर नेजल ड्राप रूप में इस मिश्रण का प्रयोग करें।

क्या न खायें (Food not to eat)

नकसीर की समस्या को रोकने के लिये नमकीन और खट्टे फलों से दूर रहें।

रोज़ाना त्वचा की देखभाल के नुस्खे

केले के पत्तों से उपचार (Tender plantain leaves treatment)

नाक से बहते हुये खून को रोकने के लिए, केले के पत्तों, पानी और शक्कर को मिला कर पेस्ट तैयार कर के उपयोग करने से तुरंत आराम होता है। 2 ग्राम केले के पत्ते, 20 ग्राम शक्कर और 250 ग्राम पानी को मिक्स कर के पेस्ट बनायें और रोज एक चम्मच लें।

गुलकंद से उपचार (Gulkhand treatment)

गुलाब की पंखुड़ियों से बना हुआ गुलकंद हर रोज एक चम्मच खाएं नाक नहीं फूटेगी।

नीम की पत्तियों का रस (Neem juice remedy)

बहती हुई नकसीर में नीम की पत्तियों का रस नाक में डालने से तुरंत आराम मिलता है।

नकसीर का इलाज – पके अंजीर (Ripe figs)

नाक से खून बह रहा है तो शहद या गुड़ के साथ पके अंजीर का सेवन करें।

वसा अवलेह्यम का उपचार (Vasa Avalehyam remedy)

1 चम्मच वसा अवलेह्यम लें। इसे एक कप ठन्डे दूध में मिश्रित करें और दिन में तीन बार श्वास के माध्यम से इसे ग्रहण करें। इससे आपके नाक से आने वाला खून बंद होगा। नाक से निकलने वाला खून बंद करने के लिए आप अनु तैलम, जिसे 2 से 5 बूंदों की खुराक में लिया जा सकता है, का भी प्रयोग कर सकते हैं।

नस्य तेल चिकित्सा (Nasya oil remedy)

इस तेल नकसीर के उपचार के लिये बहुत अच्छा होता है । एक बर्तन में पानी को गर्म कर के तेल को बोतल सहित गर्म होने दें, गर्म हो जाने के पश्चात नाक में दो बूँद तेल डालें एवं नाक के ऊपर धीरे धीरे मालिश करें।

नमक पानी से चिकित्सा (Nakseer ka gharelu ilaj salt water treatment se)

नमक का पानी नकसीर के लिये सबसे फायदेमंद होता है। आधा ग्लास पानी में थोड़ा नमक नाक में छिड़कें तुरंत आराम मिलता है।

नकसीर के उपाय – नींबू के रस से चिकित्सा (Lemon juice remedy)

सफ़ेद कील हटाने के घरेलू नुस्‍खे

नकसीर के लिए नींबू का रस भी एक प्रभावकारी औषधि है। नाक के जिस नथुने से खून बहता हो उसमे 1 या 2 बूँद नींबू का रस डालें दोबारा नाक नहीं फूटेगी।

लिवरवर्ट से चिकित्सा (Liverwort treatment)

लिवरवर्ट, जिसे एग्रिमोनी के नाम से भी जाना जाता है एक, दर्द निवारक एवं नकसीर के लिये प्रभावकारी औषधि है। इसको निचोड़ कर रस के रूप में लिया जा सकता है।

loading...