Camphor for skin & hair – त्वचा और बालों की देखभाल के लिए कपूर

कपूर की अपनी अलग और अनूठी खुशबू ही इस रासायनिक योगिक की सम्पत्ति नहीं है। पूजा के लिए इसका खास उपयोग किया जाता है लेकिन पूजा ही नहीं सेहत के लिए भी होता है कपूर का उपयोग। वास्तव में यह अन्य सम्पत्तियों में से एक है, कपूर अपनी प्राकृतिक चिकित्सा गुणों के लिए व्यापक रूप से जाना जाता है।  इसके अलावा, कपूर प्राचीन काल से, विभिन्न सौंदर्य से संबंधित मुद्दों का इलाज करने के लिए सबसे अच्छे उपचारों के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। यह कहने की आवश्यकता नहीं है की क्यों कपूर आयुर्वेद का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।  यदि आप कपूर का इस्तेमाल सोंदर्य लाभ के लिए करना चाहते है तो इस लेख को नीचे तक पड़े।

कपूर सौंदर्य समस्याओं को दूर करने का काफी लम्बे समय से एक कारगर उपाय माना जाता रहा है। ऐसे कई आयुर्वेदिक उपचार हैं जिनमें कपूर का काफी इस्तेमाल किया जाता है। एक्ने (acne) और मुहांसे ठीक करने से लेकर त्वचा से एक्ने के दाग हटाने तक यह प्राकृतिक तत्व काफी चमत्कारी सिद्ध होता है। नीचे कपूर के कुछ फायदे बताये गए हैं जिनकी मदद से निश्चित रूप से आपको भी अपना सौंदर्य बढ़ाने में सहायता प्राप्त होगी।

कपूर के सौंदर्य लाभ (Beauty benefits of camphor – camphor ke labh)

कपूर के फायदे – मुहाँसे का इलाज (Treats pimples hai kapur ke fayde)

मुहाँसे और मुहाँसे के निशान एक बहुत बड़ी समस्या है, चाहे हम किसी भी उम्र या लिंग के क्यों ना हो हममें से अधिकांश लोगो को इस समस्या का सामना करना पड़ता है। महत्वपूर्ण बात यह की हम मुहांसों के उपचार के बारे में देख रहे है। जैसा की पहले कहा गया है कि कपूर के अद्भुत चिकित्सा गुण मुहाँसे व मुहाँसे के निशान के लिए एक अच्छा उपाय है। कपूर के तेल को चेहरे पर लगाना एक अच्छा आयुर्वेदिक उपाय है।

त्वचा में कसावट के लिए विभिन्न तेल

कपूर के फायदे- खुजली और त्वचा की जलन (Itching and irritations of skin mai kapoor ke gun)

खुजली व जलन जैसी समस्याओ के लिए भी कपूर का इस्तेमाल किया जाता है। इस रासायनिक योगिक कपूर आपकी तंत्रिका को ख़त्म कर देता है जिससे आप ठंडा महसूस करते है कपूर आपको जलन व खुजली से ना केवल राहत दिलाता है बल्कि इसका उपचार करने में भी मदद करता है।

कपूर के गुण – कटने व जलने के निशान को ठीक करने के लिए (Scars from cuts and burns can be cured with kapoor ke fayde)

जिद्दी दाग व मुहांसों के निशान को ठीक करने के अलावा कपूर का इस्तेमाल कटने व जले हुए निशान को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको थोड़ी मात्रा में कपूर को पानी में मिलाकर निशान पर लगाना है। इसे रोजाना इस्तेमाल करे आप निशान को जाते हुए देखेंगे। कपूर के उपाय , हो सकता है की इससे आपकी त्वचा में जलन और सुजन पैदा हो पर यह आम बात है। कपूर का इस्तेमाल दर्द के लिए भी किया जाता है।

कपूर के बेमिसाल फायदे – एड़ियों को सुन्दर बनाए (Keep your heels looking great)

कपूर का एक महत्वपूर्ण गुण यह है कि यह आपकी फटी और आसमान एड़ियों के उपचार में काफी कारगर साबित होता है। ठंड का मौसम अपने साथ काफी मात्रा में रूखेपन को भी ले आता है। लेकिन इस प्रभावी नुस्खे का प्रयोग करके आप फटी एड़ियों की समस्या को हमेशा के लिए अलविदा कह सकते हैं। पैरों की अच्छी देखभाल करने के लिए अपने पैरों को कपूर और पानी के मिश्रण में कुछ मिनटों तक डुबोकर रखें तथा इसके बाद अपने पैरों को स्क्रब (scrub) करके उन्हें धो लें। अपने पैरों को नमी युक्त तथा नरम बनाए रखने के लिए उनपर एक अच्छी कोल्ड क्रीम या पेट्रोलियम जेली (cold cream or petroleum jelly) लगाना ना भूलें।

कपूर के बेमिसाल फायदे – त्वचा पर लाल चकत्ते हो जाना (Skin rashes and redness)

त्वचा की देखभाल के लिए लाल चंदन का उपयोग कैसे करें?

एक और आम समस्या है त्वचा में जलन होना। अगर आप भी इस समस्या का सामना कर रहे है तो इसका समाधान है कपूर को पानी में घोल कर जलन वाली जगह पर लगाना। कपूर के उपाय, इसे लगातार दो दिनों तक करे आप जलन को जाते हुए देखेगे। कपूर का इस्तेमाल फटी हुई एडियो को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है।

कपूर के गुण – मांसपेशियों के दर्द और कफ के लिए लाभदायक (Good for muscle pain and cough)

यह मांसपेशियों के दर्द और चिड़चिड़ेपन को दूर करने का काफी अच्छा उपाय है। कपूर में ठंडक देने वाले गुण होते हैं, जिनकी वजह से मांसपेशियों तथा शरीर के अन्य भागों को राहत मिलती है और खुजली तथा चिड़चिड़ापन दूर होता है। आप पीठ के या दांत के दर्द को भी कपूर की मदद से ठीक कर सकते हैं।

एंटी ऑक्सीडेंट गुण (Anti-oxidant properties – camphor ke gun)

इसमें एंटी ऑक्सीडेंट के गुण होते हैं तथा यह आपके शरीर से फ्री रेडिकल्स (free radicals) को कम करने में भी काफी प्रभावी सिद्ध होता है। ये ऐसे केमिकल (chemical) होते हैं जो आपके शरीर की शांति को नष्ट कर सकते हैं। ये शरीर के तंतुओं तथा कोशिकाओं (tissues and cells) को भी काफी हानि पहुंचाते हैं। कपूर शरीर से इन रेडिकल्स को दूर रखता है तथा आपके शरीर को मधुमेह, कैंसर (cancer) तथा दिल की बीमारियों से भी निजात दिलाने में सक्षम है।

एसेंशियल ऑयल्स कई बीमारियां दूर करने में सहायक (Essential oils help keeping away number of ailments)

कपूर से निकला एसेंशियल ऑइल कपूर का तेल कहलाता है और यह कपूर के पेड़ की डिस्टिल्ड भाप (distilled steam) से तैयार किया जाता है। यह तेल बिलकुल शुद्ध होता है और इसमें काफी मात्रा में जलनरोधी गुण होते हैं। यह एक आरामदायक औषधि भी है और आपकी नसों को काफी सुकून प्रदान करता है। यह कीड़े के काटने के या किसी भी अन्य संक्रमण को प्रभावी रूप से ठीक करने में सक्षम होता है। जिन लोगों को शरीर में अकड़न की शिकायत होती है, उनके लिए भी यह काफी फायदेमंद साबित होता है। यह एक डीकंजेस्टेन्ट (decongestant) का कार्य भी काफी कारगर तरीके से करता है।

सूखी त्वचा को मुलायम बनाये रखने के लिए सौंदर्य टिप्स

कपूर के साथ बालों की देखभाल (Hair care with kapur ke gun in hindi)

त्वचा के लिए ही नहीं कपुर आपके बालो के लिए भी फायदेमंद है। कपूर के तेल का इस्तेमाल दुसरे आयुर्वेदिक तेल के साथ मिलाकर करे। कपूर का तेल आपके बालो को बढाएगा दिमाग को शांत व थकान को दूर करने में मदद करेगा। यह बालो की जड़ो को मजबूत करता है। आप अच्छे परिणाम के लिए इसमें अंडा या दही भी कपूर के तेल के साथ मिला सकते है।

यह कपूर के कुछ महत्वपूर्ण उपाय व सुझाव है जिनके प्रयोग से आप त्वचा व बालो के सोंदर्य को बढ़ा सकते है। कपूर में रासयनिक योगिक होता है तो ध्यान रहे की आपको इससे परेशानी ना हो। इसके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक से सुझाव जरुर ले।

बालों की बढ़त और झड़ते बालों को रोकना (Hair growth and stopping of hair fall)

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बालों का झड़ना आज के दौर में काफी सामान्य समस्या बन चुकी है। लेकिन कपूर की मदद से आप इस समस्या का भी पूरी तैयारी के साथ सामना कर सकते हैं। जी हाँ। बालों की प्रभावी रूप से बढ़त करवाने के गुण के साथ ही कपूर बालों को झड़ने से रोकने में भी आपकी काफी मदद करता है। इसके लिए सिर्फ अपने सिर की त्वचा और बालों को कपूर के तेल की मदद से रोज़ाना अच्छे से मसाज (massage) करें।

तो ये सारे उपरोक्त कपूर के सबसे प्रभावी गुण हैं। लेकिन इस गुणकारी तत्व का प्रयोग अपनी त्वचा पर करने से पहले इस बात को सुनिश्चित करें कि आपको कपूर से किसी प्रकार की कोई एलर्जी (allergy) नहीं है। आपके लिए यही सही रहेगा कि कपूर का किसी भी रूप में इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टरों से सलाह मशविरा कर लें। क्योंकि कपूर एक केमिकल (chemical) तत्व है, अतः यह आपको सूट (suit) नहीं भी कर सकता है और आपकी त्वचा को और भी अधिक नुकसान पहुंचा सकता है।सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि क्षतिग्रस्त त्वचा पर कपूर का इस्तेमाल ना करें। यह आपके शरीर में प्रवेश करके अंदर ज़हरीला प्रभाव भी छोड़ सकती है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday