Dry skin Hindi tips – शुष्क त्वचा / ड्राई स्‍किन के लिए अपनाएं घरेलू टिप्स / उपाय

त्वचा शुष्क होने के कई कारणों में से एक कारण आसपास का वातावरण है। सर्दियों में ठंडी हवा चलने पर त्वचा शुष्क होती है। त्वचा की कई बीमारियाँ जैसे एक्जीमा भी बढ़ने लगती है। किसी दवाई को लंबे समय तक लेने से भी त्वची शुष्क हो सकती है। कीटाणुओं के संक्रमण से भी त्वचा शुष्क होती है।

यह समस्या आमतौर पर सर्दियों के मौसम में देखी जाती है जब तेज़ हवाओं के चलने की वजह से आपकी त्वचा अनाकर्षक हो जाती है। क्योंकि इस समय आपके त्वचा की नमी खोने लगती है, अतः आपको अपनी त्वचा के स्वरुप पर खुजली जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इससे त्वचा की कई गंभीर बीमारियाँ जन्म ले सकती हैं और एलर्जी (allergy) तथा चिडचिडापन भी पैदा होता है।

रूखी त्वचा काफी सामान्य समस्या है। सेबाशियस (sebaceous) ग्रंथियां ज़्यादा कार्यशील नहीं होती और रूखी त्वचा पैदा करती हैं। इस रूखी त्वचा से चिडचिडेपन और खुजलाहट की समस्या जन्म लेती है। महीन रेखाएं और त्वचा का फटना भी इस समय चेहरे पर देखे जा सकते हैं। आपकी त्वचा लाल भी हो जाती है। ये रूखी त्वचा के मुख्य लक्षण होते हैं।

जब रूखी त्वचा पर पपड़ियाँ और मृत त्वचा पैदा होने लगती हैं तो यह लोगों और खासकर महिलाओं के लिए काफी शर्मनाक बात होती है। यह तब ज़्यादा शर्मनाक बन जाती है जब आप लोगों के बीच जाते हैं। रूखी त्वचा होने के कई कारण हो सकते हैं। कई लोगों की त्वचा जन्म से ही रूखी होती है, वहीँ कई अन्य लोगों की त्वचा किसी चिकित्सकीय समस्या की वजह से रूखी हो जाती है।

उम्र बढना भी रूखी त्वचा का एक कारण है। जैसे जैसे एक व्यक्ति की उम्र बढती है, वैसे वैसे उसकी त्वचा पर जमा प्राकृतिक तेल घटने लगता है और इससे रूखी त्वचा पैदा होती है। आजकल आप रूखी त्वचा के कई घरेलू नुस्खे प्राप्त कर सकते हैं। इस लेख में इनके बारे में ही बताया गया है।

त्वची की वसामय ग्रंथियां साधारण से कम त्वग्वसा का निर्माण करती है जिसके कारण त्वचा शुष्क होती है।

शुष्क त्वचा की स्थिति (Dry skin condition)

कुछ मामलों में शुष्क त्वचा/ड्राई स्‍किन को आसानी से मॉइस्चराइजिंग लोशन इस्तेमाल करके ठीक किया जा सकता है। लेकिन अन्य मामलों में यह गंभीर होता है और यह अपने चरम हालत तक पहुँच सकता है। किसी को शुष्क त्वचा की दीर्घकालिक समस्या हो तो यह खतरा हो  सकता है। पहले से ही सूखी त्वचावाले लोगों को जो ठंड शुष्क मौसम और सर्दियों में हवा बहती है उसका बुरा प्रभाव हो सकता है। निर्जलीकरण के कारण भीलोगों की त्वचा शुष्क होती है। त्वचा की परत में वसा और प्रोटीन की कमी से समस्या हो सकती है। शुष्क त्वचा के कारण त्वचा की संवेदनशीलता बढती है।

घरेलू बॉडी और फेशियल स्क्रब

शुष्क त्वचा की वजह से त्वचा के क्षतिग्रस्त होने की भी समस्या सामने आ सकती है। स्वास्थ्यकर खानपान और घरेलू नुस्खे आपको त्वचा की इस स्थिति से निजात दिलाने में सफल हो सकते हैं।

सूखी त्वचा की समस्या अस्थायी होती है। मौसमी परिवर्तन सूखी त्वचा के मुख्य कारण होते हैं।

यहाँ पर सूखी त्वचा के लिए अन्य कुछ कारण दिए गए हैं।

शुष्क त्वचा-ड्राई स्‍किन के कारण (Causes for dry skin)

विटामिन की कमी (Vitamin deficiency)  आवश्यक विटामिन जैसे विटामिन ए, सी और इ की कमी से त्वचा शुष्क होती है। ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं जिनमे इन विटामिन की मात्रा अधिक हो।

पर्यावरण (Environment)  ठण्ड के मौसम में त्वचा की नमी चली जाती है और त्वचा को रूखा बना देती है।तापमान और नमी के स्तर से रूखी त्वचा होती है। सर्दियों में त्वचा के लिए मॉइस्चराइजर इस्तेमाल करें।

लम्बे समय तक और गर्म पानी से नहाना (Long bath and hot baths)  इस प्रकार नहाने से भी त्वचा रूखी हो जाती है। कुछ लोगों को दिन में 3-4 बार नहाने के आदत होती है। गर्म पानी त्वचा से नमी सोखकर उसे शुष्क बनाता है।

लम्बे समय तक सूरज के संपर्क में रहना (Long exposure to sun)  धूप में ज़्यादा देर तक रहने से त्वचा शुष्क और इसकी रंगत फीकी पड़ जाती है। सूरज की UV किरणें त्वचा की नमी छीन लेती हैं। धुप में ज्यादा देर त्वचा खुली रहने से सूर्य के अल्ट्रावायलेट किरण त्वचा को शुष्क बनाते हैं।

ब्यूटी प्रॉडक्ट्स (Beauty Products) – बाल काटने के या बालों को निकालने के मशीन भी त्वचा को शुष्क बना सकते हैं।

पानी की कमी (Dehydration) – शरीर में पानी का स्तर कम होने पर भी रूखी त्वचा होती है।

आनुवांशिक (Hereditary) – अगर आपके माता या पिता की त्वचा शुष्क हो तो आपको भी जन्म से वैसी त्वचा होने की संभावना बढती है। अगर आपके परिवारजनों और रिश्तेदारों की त्वचा रूखी है, तो आपकी त्वचा भी रूखी होने की काफी संभावना होती है। अतः अगर आपने अपने पूर्वजों से रूखी त्वचा पाई है तो कुछ घरेलू नुस्खों का पालन करना सबसे अच्छा रहेगा।

एक्जिमा का इतिहास (History of eczema) – अगर आप उन लोगों में से हैं जिन्हें पहले कभी एक्जिमा का सामना करना पड़ा हो तो आपकी त्वचा इस प्रक्रिया में क्षतिग्रस्त और रूखी हो जाती है। अगर आपको कभी एक्जीमा का सामना करना पड़ा हो तो आपकी त्वचा शुष्क होने की काफी संभावना होती है।

एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) – कई बार एंटीबायोटिक की कड़ी खुराक से लोगों की त्वचा शुष्क हो जाती है। अतः आपके लिए एंटीबायोटिक्स की कम खुराक लेना ही श्रेयस्कर रहेगा। जब कोई रोग जीर्ण हो जाता है तब डॉक्टर अन्य दवाओं के साथ एंटीबायोटिक लेने की सलाह देते हैं। कभी कभी एंटीबायोटिक से लोगों को त्वचा का रूखापन की समस्या हो सकती है।

थायराइड समस्या (Effect of thyroid) – हाइपोथायरायडिज्म की समस्या से पीड़ित लोगों को भी शुष्क त्वचा की परत दिख सकती है। इन लोगों को बार-बार अपनी त्वचा की जाँच करनी चाहिए और उसकी अच्छी तरह से देखभाल करनी चाहिए।

त्वचा की बनावट (Skin texture) – कुछ लोगों को त्वचा की बनावट ही ऐसी होती है की वह शुरू से ही शुष्क होती है। इन लोगों को अपनी त्वचा की अतिरिक्त देखभाल की आवश्यकता है। नियमित आधार पर मॉइस्चराइजिंग करना और मृत त्वचा निकालना यह उपाय किये जा सकते हैं।

उम्र बढ़ने की प्रक्रिया (Aging process) – जैसे जैसे आपकी उम्र बढती है, वैसे ही आपके सामने कई समस्याएं एक के बाद एक आकर खड़ी होने लगती हैं। रूखी त्वचा की समस्या भी एक ऐसी परेशानी है जो उम्र बढ़ने के फलस्वरूप आपको होती है। उम्र बढ़ने के साथ साथ त्वचा की परतें सूखने लगती हैं और इनसे प्राकृतिक तेल कम होने लगता है। इससे सूखेपन की समस्या सामने आती है।

त्वचा की देखभाल के लिए दही के फायदे और इसके उपयोग के नुस्खे

शुष्क त्वचा-ड्राई स्‍किन के लिए घरेलु उपाय (Home remedies for dry skin in Hindi – dry skin ke liye desi ilaj)

रूखी त्वचा के उपाय के लिए कई घरेलु नुस्खे उपलब्ध हैं। कुछ काफी असरदार हैं और कुछ थोड़े कम असरदार हैं।

  • 1 ताजा टमाटर और पके हुए पपीते के 2-3 छोटे टुकडे मिक्सर में पीसकर तरल पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपनी शुष्क त्वचा और चेहरे पर लगाएं और फिर ठंडे पानी से धो डालें।
  • 6-7 बादाम रात भर के लिए भिगोयें। दुसरे दिन सुबह उन्हें पीसकर पेस्ट बना लें। उसमे 1 बड़ा चम्मच दूध मिलाएं। यह पेस्ट अपने चेहरे पर और शुष्क त्वचा पर लगाएं। 15 मिनट के बाद ठंडे पानी से धो डालें| दूध प्राकृतिक मॉइस्चराइजर है और वह त्वचा में नमी को बनाये रखता है। इस मिश्रण में शहद भी मिलाया जा सकता है।
  • पके हुए अवोकाड़ो से बीज निकालकर फिर उसे पिस लें। 1 बड़ा चम्मच नींबू और जैतून का तेल उसमे मिलाएं। अच्छी तरह से मिलाकर यह मास्क शुष्क त्वचा पर लगाएं।एक पका केला पिस लें और उसमे 1 बड़ा चम्मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं। शहद प्राकृतिक मॉइस्चराइजर है और केला त्वचा में नमी बनाए रखता है।
  • 1 बड़ा चम्मच गुलाब का तेल और बादाम का तेल मिलाएं। सोने से पहले यह मिश्रण शुष्क त्वचा पर लगाएं।
  • घृतकुमारी का अर्क त्वचा को प्राकृतिक रूप से नमी प्रदान करता है। ताजा अर्क शुष्क त्वचा पर लगाकर 10 मिनट के बाद धो डालें।
  • ओमेगा 3 फैटी (Omega 3 fatty) आम्ल से आपकी त्वचा में सुधार आता है। यह आम्ल अवोकेडो,अलसी के बीज, अखरोट और ठंडे पानी में मिलनेवाली मछली में पाया जाता है। बाजार में इस आम्ल का निचोड़ उपलब्ध है जो आपके चेहरे पर और त्वचा पर लगाया जा सकता है।
  • एलोवेरा जेल (Aloe vera gel se dry skin treatment in hindi) एलोवेरा जेल एक बेहतरीन पौधा है जो आपकी रसोई के बगीचे में आसानी से उपलब्ध भी होता है। सिर्फ एलो वेरा की एक पत्ती लें और इसमें से जेल निकाल लें। आप एलो वेरा जेल से बेहतरीन फायदे प्राप्त कर सकते हैं, क्योंकि यह त्वचा को प्राकृतिक रूप से नमी प्रदान करने का काम करता है। इसके प्रयोग से बिना किसी साइड इफेक्ट्स (side effects) के आपके चेहरे से रूखापन दूर हो जाएगा।एलो वेरा जेल का प्रयोग बाज़ार में मिलने वाले ज़्यादातर  मोइस्चराइज़र्स (moisturizers) तथा त्वचा की सुन्दरता के उत्पादों में भी किया जाता है। पर प्राकृतिक रूप से निकाला गया जेल ज्यादा प्रभावी साबित होगा।
  • चॉकलेट मास्क (Chocolate mask se rukhi twacha ke upay) चॉकलेट में वसा होता है और इससे बना मास्क आपकी त्वचा से शुष्क परत,त्वचा का रूखापन निकाल देता है और उसे पर्याप्त नमी पहुंचाता है। यह मास्क बनाने के लिए एक डिब्बे में 3 छोटे चम्मच कोको पाउडर, 2 छोटे चम्मच शहद और मसला हुआ अवोकेडो 1 चम्मच लें। अच्छी तरह से सभी पदार्थ मिलाकर अपने शरीर पर लगाएं। चॉकलेट मास्क के प्रयोग से आपके चेहरे के दाग और धब्बे पूरी तरह दूर हो जाएंगे।
  • जई के साथ खाने का सोडा (Oatmeal with baking soda) जई को थोडा मोटा पीसकर उसमे थोडा खाने का सोडा और वनिला मिलाएं। इसमें थोडा गुनगुना पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं। यह पेस्ट अपने चेहरे पर लगाकर उँगलियों से मालिश करें। 1 मिनट तक रखकर फिर निकाल दें।
  • दही (Yogurt se gharelu nuskhe for dry skin) लोग सालों से दही को अपनी त्वचा और चेहरे को मुलायम और सुंदर बनाने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। शुष्क त्वचा के लिए दही अद्भुत उपचार है। 1 चम्मच दही, 2 बूंदें नींबू का रस और 1 चम्मच शहद मिलाएं। अच्छी तरह से मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं।
  • जैतून के तेल की मालिश (Olive oil massage se dry skin treatment in hindi) आजकल लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी जागरूक हो गए हैं, अतः घर पर जैतून का तेल मिलना काफी आसान है। लोग एनी किसी तेल की बजाय जैतून के तेल का सेवन ज़्यादा पसंद करते हैं। पर्याप्त मात्रा में जैतून का तेल लें और इसका प्रयोग अपने चेहरे तथा शरीर पर करें। इससे तब तक मालिश करें जब तक कि यह तेल आपकी त्वचा में समा ना जाए।
  • दूध का उपचार (Milk remedy se rukhi skin ke liye tips in hindi) थोड़ा सा कच्चा दूध लें और इसे अपनी त्वचा पर इस तरह लगाएं कि आपका चेहरा एवं गला अच्छे से ढक जाए। दूध में प्राकृतिक एवं अच्छा वसा होता है जो आपकी त्वचा की खोयी नमी को लौटा लाता है। एक पात्र में सादा कच्चा दूध लें तथा इसमें रुई का गोला डुबोएं। अब इसका प्रयोग अपने चेहरे पर करें। कुछ समय तक इसका प्रयोग करने के बाद इसके सूखने की प्रतीक्षा करें। इसके बाद ठन्डे पानी से धो लें।
loading...