Coping with summer pregnancy – Tips in Hindi – गर्मियों में गर्भावस्था हेतु नुस्खे

बाहर मौसम गर्म एवं उमस भरा है एवं आप गर्भवती हैं। इन तीनों चीज़ों का संगम किसी भी महिला का मनोबल कम करने के लिए पर्याप्त है। शोधों के अनुसार, गर्भवती महिलाएं प्राकृतिक रूप से कुछ हद तक गर्मी के प्रति संवेदनशील होती हैं एवं अगर यह ग्रीष्म ऋतू है एवं आप किसी उष्णकटिबंधीय देश में रह रही हैं, तो यह समस्या काफी गंभीर रूप ले सकती है। अतः गर्भवती महिलाओं के लिए सही बचाव उपाय एवं तरीके अपना आवश्यक है, जिससे गर्मियों की उनकी गर्भावस्था की स्थिति काफी आरामदायक अनुभव बन सके। यदि आपको गर्मियों के मौसम में गर्भावस्था की स्थिति से निपटने में काफी परेशानियां हो रही हैं तो चिंतामुक्त हो जाएं, क्योंकि आप अकेली नहीं हैं एवं मदद पास ही है।

Stay indoors during the day – दिन के समय घर के अन्दर रहें

गर्भवती महिलाओं के लिए, खासकर दिन के उस समय जब तापमान अपने चरम पर होता है, सबसे महत्वपूर्ण नुस्खा घर के अन्दर रहना है । यदि आप सारा दिन घर के अन्दर नहीं रह सकती तो कम से कम यह सुनिश्चित करें कि आप सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे के बीच धूप में ना निकलकर घर के अन्दर रहें। घर के अन्दर रहने से आप सूरज के प्रचंड ताप से बचकर रहेंगी जो आपकी त्वचा को काफी नुकसान पहुंचाती है, आपके शरीर से अत्यधिक पसीना निकलवाती है एवं आपको कमज़ोर महसूस करवाती है। अपने बाहर के काम सुबह सुबह या सूरज ढलने के बाद ही पूरे करने का प्रयास करें।

Do not exert yourself physically – खुद को शारीरिक रूप से नाथकाएं

गर्भावस्था की स्थिति के दौरान ताप से निपटने के लिए यह काफी आवश्यक है कि आप दिन के समय एवं तापमान उच्च रहने के दौरान शारीरिक रूप से थकाने वाले कार्य ना करें। यदि आप गर्भवती हैं और  यह गर्मी का समय है तो, तो किसी शारीरिक रूप से थकाने वाले कार्य को करने के लिए सहायता लें। शारीरिक रूप से कार्यशील रहने पर आपको अंदरूनी रूप से काफी गर्मी का अहसास होगा। इसके अलावा दिन के समय ओवन (oven) के पास जाने से परहेज करें क्योंकि इससे आपको काफी गर्मी लग सकती है एवं आप पसीने से लथपथ हो सकती हैं . यदि आपको कोई कार्य पूरा करना है तो बेहतर होगा कि उन्हें सुबह जल्दी उठकर या रात को, जब तापमान कम होता है, करने का प्रयास करें।

Wear light, cotton clothes – हल्के सूती के कपड़े पहनें

गर्भावस्था के दौरान गर्मी से निपटने में हल्के सूती के कपड़े काफी लाभदायक सिद्ध होते हैं। सूती एक प्राकृतिक कपड़ा है जो त्वचा पर काफी नर्म एवं आरामदायक होता है। यह हवा की आवाजाही का रास्ता प्रदान करती है एवं पसीने को नहीं रोकती, जिसके फलस्वरूप काफी चिडचिडापन एवं अन्य परेशानियां पैदा हो सकती हैं। गर्मियों में हल्के एवं ढीले कपड़े गर्भावस्था के दौरान आपको काफी राहत का अहसास करवाते हैं।  आरामदायक एवं सूती के अंतर्वस्त्र पहनना भी काफी लाभदायक हो सकता है। सोते या आराम करते समय अंतर्वस्त्र उतार लें .इससे आपको काफी राहत प्राप्त होगी एवं उन भागों पर रैशेस (rashes) की समस्या में भी कमी आएगी।

Take frequent baths – नियमित अंतराल में स्नान करें

नियमित रूप से नहाने पर गर्मियों की गर्भावस्था की स्थिति के दौरान काफी सहायता प्राप्त होती है। स्नान करना शरीर के अतिरिक्त ताप को बाहर निकालने एवं ठंडक का अहसास करने का काफी प्रभावी माध्यम है। आप स्नान को और भी आरामदायक बनाने एवं शरीर को ठंडा रखने के लिए अपने स्नान करने के पानी में नहाने का नमक एवं पुदीने का आवश्यक तेल भी डाल सकते हैं। हमेशा स्नान करने में 5 मिनट से अधिक समय लगाएं जिससे आपके शरीर का अतिरिक्त ताप बाहर निकल सके एवं ठंडक आपके शरीर में काफी लम्बे समय तक रह सके। हालांकि, अगर आपको काफी प्रचंड गर्मी लग रही हो, तो ऐसी स्थिति में तुरंत बिलकुल ठन्डे पानी से स्नान करना सही नहीं होता। इससे शरीर के तापमान में काफी त्वरित परिवर्तन होते हैं जिसके फलस्वरूप आपको सर्दी लग सकती है।

Gettheright diet – सही खानपान लें

आपके द्वारा ग्रहण किये गए भोजन का आपके शरीर के ताप पर काफी प्रभाव पड़ता है, अतः गर्मियों में गर्भावस्था की स्थिति से निपटने के लिए यह काफी आवश्यक है कि आप अपने खानपान पर ध्यान दें। वैसे तो गर्भावस्था के दौरान खानपान, प्रोटीन (protein), विटामिन्स (vitamins) एवं खनिज पदार्थ से भरपूर होना चाहिए, परन्तु जानवरों से प्राप्त प्रोटीन पर निर्भर रहने की बजाय पौधों से प्राप्त प्रोटीन एवं डेरी (dairy) उत्पादों का अधिक सेवन करें। सोया उत्पाद जैसे सोया दूध, टोफू (tofu) आदि भी जानवरों से प्राप्त प्रोटीन का काफी अच्छा विकल्प हो सकते हैं। मांस पाचन प्रक्रिया के दौरान आपके शरीर की गर्मी में काफी वृद्धि करता है, अतः गर्मियों में गर्भावस्था की स्थिति से निपटने के लिए मांस का सेवन कम करना काफी फायदेमंद साबित होगा।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

अपने खानपान में हर प्रकार की ताज़ी सब्ज़ियां एवं फल शामिल करें। पेय पदार्थों का सेवन अधिक करें।  पानी, ठंडा दूध, फलों का रस, मिल्कशेक (milkshakes), लस्सी आदि गर्मियों के मौसम में आपके शरीर को ठंडा रखने एवं गर्भावस्था को स्वस्थ रखने में काफी फायदेमंद साबित होते हैं। कार्बोनेटेड (carbonated) पेय पदार्थों एवं अतिरिक्त चीनी युक्त खानपान से दूर रहे क्योंकि ये चीज़ें हाज़मे की सामान्य प्रक्रिया को बाधित कर सकती हैं जिसके फलस्वरूप शरीर में अधिक ताप का निर्माण होता है।

Keepyourlegsup – पैरोंकोऊपरकीओररखें

गर्भावस्था के दौरान पैरों के सूजने की समस्या काफी सामान्य है एवं यह गर्मियों के मौसम में और भी गंभीर हो जाती है। अपने पैरों की सूजन को नियंत्रित करने के लिए उन्हें ऊपर की ओर करके रखना सबसे बेहतरीन विकल्प होता है। अगर आप कुर्सी पर बैठी हैं तो फुट रेस्ट (foot rest) पर पैर रखना सुनिश्चित करें, जो आपके पैरों को सीधा रखने में सहायता करता है। ज़्यादा देर तक बैठी हुई मुद्रा में ना रहें। इसके अलावा सोते या पैरों को फैलाते समय अपने पैरों के नीचे एक तकिया या तौलिया अवश्य रख लें।  इससे आपके पैरों की अतिरिक्त सूजन में काफी कमी आएगी। ऐसे समतल जूते पहनें जो हवा की आवाजाही का पर्याप्त रास्ता दे सकें।

गर्भावस्था के दौरान अपने नमक के सेवन पर ध्यान देना भी पैरों की सूजन पर नियंत्रण प्राप्त करने में कारगर साबित हो सकता है, क्योंकि नमक शरीर में पानी बरक़रार रखने से जुड़ा हुआ है। हालांकि, पैरों की सूजन को दूर करने के लिए नमक का सेवन पूर्ण रूप से बंद ना करें। नमक में मौजूद आयोडीन (iodine) भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए आवश्यक होता है एवं नमक शरीर की सामान्य कार्यप्रणाली के लिए काफी आवश्यक होता है।

Go for swimming – तैराकी करें

गर्मियों में गर्भावस्था की स्थिति से निपटने का एक बेहतरीन तरीका तैराकी को एक नियमित आदत बनाना है। स्वस्थ गर्भावस्था के लिए व्यायाम काफी आवश्यक है, परन्तु एक गर्भवती महिला के लिए गर्मियों के उमस भरे दिन में किसी भी प्रकार के शारीरिक व्यायाम का चुनाव करना काफी मुश्किल होता है, क्योंकि इससे वह अंदर से काफी गर्म एवं पसीने से लथपथ अनुभव करती है। दूसरी तरफ, तैराकी आपको बिना पसीना निकाले व्यायाम के सरे फायदे प्रदान करती है। तैराकी ना सिर्फ आपको ठंडक प्रदान करती है बल्कि यह एक बेहतरीन तथा सुरक्षित व्यायाम है जो गर्भावस्था से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करती है। तैराकी के दौरान आपका शरीर पूर्ण रूप से हल्का हो जाता है तथा एक गर्भवती महिला के लिए यह काफी सुन्दर अनुभव होता है।

Take more care of your skin – अपनी त्वचा का अधिक ध्यान रखें

गर्भावस्था के दौरान त्वचा की समस्याएं सामान्य हैं एवं यदि आप गर्मियों की गर्भावस्था से जूझ रही हैं तो अपनी त्वचा की देखभाल करना काफी अहम् है। गर्भावस्था के दौरान शरीर के बदलते हार्मोनल (hormonal) स्तर के फलस्वरूप त्वचा काफी संवेदनशील हो जाती है एवं इस दौरान त्वचा की कई समस्याएं जैसे रूखी, चिड़चिड़ी त्वचा, काले धब्बे, चकत्ते एवं रैशेस होने की काफी संभावनाएं होती हैं। गर्मियों के समय त्वचा की इन समस्याओं के होने की संभावना काफी अधिक होती है।

अतः, गर्मियों के दौरान गर्भावस्था से निपटने के लिए शुरुआत से ही एक स्वस्थ त्वचा की देखभाल की प्रक्रिया बनाकर रखना काफी महत्वपूर्ण है। धूप में बाहर निकलने से पहले अपनी त्वचा पर एक अच्छी गुणवत्ता का सनस्क्रीन (sunscreen) अच्छे से लगाएं एवं हर दो घंटे में इसका प्रयोग करें।  इससे सूरज की किरणों के फलस्वरूप त्वचा पर बनने वाले मेलेनिन (melanin) के अतिरिक्त उत्पादन को नियंत्रित किया जा सकता है। एक हल्के मॉइस्चराइज़र (moisturizer), जैसे एलो वेरा जेल (Aloe Vera gel) का अपनी त्वचा पर प्रयोग करें, जो आपकी त्वचा को चिपचिपा या भारी बनाए बिना त्वचा का रूखापन दूर करता है। हल्के सूती के कपड़े पहनने एवं पसीने के प्रति बचाव उपाय अपनाने से घमौरियों जैसी गर्मियों की समस्याओं से निजात प्राप्त करना काफी फायदेमंद होता है।

Sleep in an air-conditioned room or under multiple fans – वातानुकूलित कमरे में या कई पंखों के नीचे सोएं

गर्भावस्था, खासकर गर्भावस्था के अंतिम चरणों के दौरान आपके शरीर को आराम की आवश्यकता होती है। यदि आप गर्मियों के दौरान गर्भावस्था से जूझ रही हैं तो यह काफी आवश्यक है कि आप पर्याप्त नींद लें, जो स्वस्थ एवं आरामपूर्वक रहने के लिए आवश्यक है। वातानुकूलित कमरे में सोना काफी फायदेमंद होता है एवं इससे यह सुनिश्चित होता है कि आपको सोते समय पसीना ना आए एवं आप अच्छी नींद सो सकें। यदि वातानुकूलन की सुविधा उपलब्ध नहीं है तो ऐसे कमरे में सोएं जो अधिक गर्म ना हो तथा हवादार हो। इसके अलावा सोते समय पसीना रोकने के लिए एकाधिक पंखों का प्रयोग करें।

Use cold compress for immediate relief – तुरंत राहत के लिए ठंडी सेंक का प्रयोग

यदि आपको काफी उच्च तापमान में अचानक गर्मी लग रही है, जो गर्भावस्था के दौरान कोई असामान्य बात नहीं है, तो तुरंत राहत के लिए ठंडी सेंक का प्रयोग काफी आरामदायक होता है। काफी मात्रा में खीसा या पानी में गीले किये हुए तौलिये पानी की कुछ बोतलों के साथ फ्रिज (fridge) में रखें। आप इन ठन्डे तौलियों से अपने माथे, गले, कांख, जाँघों के अंदर, पेट के नीचे तथा श्रोणि को पोंछकर अपने शरीर को जल्दी ठंडा कर सकते हैं। अचानक गर्मी का अहसास होने पर अपने माथे एवं गले पर एक ठंडा कपड़ा रखना काफी आरामदायक होता है। आप सोते समय पानी की ठंडी बोतलों को अपने हाथों एवं पैरों के नीचे दबाकर ठंडक का अहसास प्राप्त कर सकती हैं।

loading...