Food & diet plan to reduce cellulite tips in Hindi – सेल्युलाईट को कम करने के लिए भोजन एवं आहार योजना

सेल्युलाईट या जांघों के डिंपल का मुख्य कारण खान पान की आदत है। अपने खान पान का ध्यान रख कर आप सेल्युलाईट को कम कर सकते हैं। हमेशा संतुलित आहार लें और कुछ भी खाने से पहले सोच समझ कर खायें जो आपके शरीर को पोषण प्रदान करे। अच्छे और संतुलित आहार के द्वारा सेल्युलाईट को कम किया जा सकता है।

सेल्युलाईट त्वचा के नीचे जमा हुआ वसा होता है। यह आमतौर पर पेट और कूल्हे के निचले हिस्से जैसे जाँघों और पृष्ठ भाग पर देखा जाता है। सेल्युलाईट होने के मुख्य कारण हार्मोनल कारण (hormonal reasons), खराब खानपान, जीवनशैली में परिवर्तन, उम्र और आनुवांशिकता आदि में से कुछ भी हो सकते हैं। इन सारे कारणों में एक कारक समान है कि इनसे शरीर में विषैले तत्व उत्पन्न होते हैं। सेल्युलाईट जमने की वजह सालों से लोगों द्वारा डिब्बाबंद भोजन, नमक, पकाए हुए जानवरों के प्रोटीन्स (proteins), प्रिज़र्वेटिव्ज़ (preservatives), रिफाइंड (refined) चीनी, प्रोसेस्ड स्टार्चेस (processed starches), रसायन और कीटनाशकों का सेवन किया जाना होती है। पर्यावरण में मौजूद कई रसायनों और घर तथा बाहर के कई प्रकार के प्रदूषक तत्वों के संपर्क में सालों तक आते रहने से भी यह समस्या होती है। हफ़्तों, महीनों और सालों से धूम्रपान, शराब पीने और ड्रग्स (drugs) लेने से भी यह समस्या पैदा होती है।

अच्छा खाना जो आपके मस्तिष्क शक्ति को बढ़ाये

सेल्युलाईट से लड़ने के लिए वसा जलाने वाले भोजन (Fight cellulite with fat burning foods at home)

प्राकृतिक उपाय के रूप में नींबू का रस (Fresh lemon juice to reduce cellulite as a natural home remedy)

ताज़ा नींबू सेल्युलाईट को कम करने में आपकी काफी मदद करता है। एक ताज़ा नींबू को निचोड़कर इसका रस निकालें। इसका प्रयोग शरीर के प्रभावित भागों में करने से शरीर में जमा विषैले पदार्थ और अन्य द्रव्य आसानी से निकल जाते हैं। आप पानी से भरे गिलास में भी नींबू का रस मिश्रित कर सकते हैं। इससे भी आपको अपने शरीर में सेल्युलाईट का स्तर घटाने में काफी मदद मिलती है। नींबू में काफी मात्रा में विटामिन सी (vitamin C) होता है और यह एंटी ऑक्सीडेंटस (anti-oxidants) से भी भरपूर होता है। सुबह सुबह उठकर एक गिलास गर्म पानी में ताज़ा नींबू निचोड़कर पीने से शरीर के विषैले तत्व निकल जाते हैं।

स्वस्थ शरीर और सेल्युलाईट हटाने के लिए खूब पानी पियें (Drink plenty of water for good health and also prevents cellulite)

आपकी त्वचा के निचले भागों में वसा की परतों के रूप में जमे रहने वाले विषैले पदार्थों को पानी की मदद से जड़ से हटाया जा सकता है। वसा सेल्युलाईट की गांठें होती हैं, जो आपके शरीर में काफी अच्छे से दिखती रहती हैं। पान्नी आपके शरीर से सेल्युलाईट को दूर करने का काफ प्रभावी तरीका है, क्योंकि यह आपके शरीर को इसमें जमा विषैले पदार्थ और द्रव्य बाहर निकालने के लिए मजबूर करता है। त्वचा को नमी प्रदान करने से यह स्वस्थ बनती है और आपकी त्वचा की गांठों को भी काफी कम कर देती है। सेल्युलाईट घटाने के लिए काफी मात्रा में पानी का सेवन करना काफी अनिवार्य है। सारे दिन में कम से कम 7 से 8 गिलास पानी अवश्य पियें।

फाइबर युक्त भोजन के सेवन से सेल्युलाईट कैसे दूर करें? (How to get rid of cellulite with fiber rich foods?)

प्याज के हमारे शरीर पर लाभ

फाइबर युक्त भोजन आपके शरीर से सारे विषैले पदार्थ दूर करने में मदद करते हैं, क्योंकि ये सेल्युलाईट भी कम कर देते हैं। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों में काफी मात्रा में पोषक पदार्थ होते हैं और ये आसानी से हजम भी हो जाते हैं। फाइबर युक्त भोजन वज़न घटाने में भी आपकी काफी सहायता करते हैं। फाइबर में प्राकृतिक रूप से त्वचा को साफ़ करने के बेहतरीन गुण होते हैं, जिसकी वजह से यह आपको स्वस्थ बनाए रखता है। अतः अपने रोजाना के खानपान में ओटमील, क्विनोवा, जई, ब्राउन ब्रेड, मीठे आलू और कुस्कस (oatmeal, quinoa, barley, brown bread, sweet potatoes, and couscous) को अवश्य शामिल करें।

लिम्फेटिक ड्रेनेज के लिए आहार (Foods good for lymphatic drainage)

ऐसे भोज्य पदार्थ जो पोटेशियम से भरपूर एवं सोडियम रहित होते हैं वे लिम्फेटिक ड्रेनेज या लसिका निकास के लिए श्रेष्ठ माने जाते हैं।सेल्युलाईट कैसे कम करें,  केला,आलू, गाजर और तरबूज आदि पोटेशियम के अच्छे स्त्रोत होते हैं। इनके अलावा विटामिन सी और ई से भरपूर भोज्य पदार्थ रक्त के प्रवाह को बढ़ाते हैं, जिससे सेल्युलाईट का निर्माण नहीं हो पाता।

कब्ज को रोकने वाले आहार (Constipation prevention food se cellulite ke upchar)

सेल्युलाईट का इलाज, फाइबर युक्त भोज्य पदार्थ शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालते हैं जिसके कारण सेल्युलाईट के निर्माण पर रोक लगती है। फाइबर युक्त भोज्य पदार्थ भूख को कम करते हैं एवं हानिकारक टोक्सिन को बाहर निकाल देते हैं।

कुछ स्वस्थ भोजन से बचे: उनमे से कुछ भोजन ज्यादा न खाए

लीवर के पोषण के लिए आहार (Food for liver health)

यकृत या लीवर का काम शरीर में हानिकारक तत्वों का छानना होता अगर लीवर की स्थिति स्वस्थ होती है तो सेल्युलाईट का निर्माण नही हो पाता। इसलिये लीवर को दुरुस्त रखने के लिए सेब, नाशपाती, लहसुन, जई, चुकंदर और प्याज आदि का सेवन करें। कई बार इस तरह का डाइट प्लान फॉलो करना मुश्किल होता है पर याद रखें अच्छा आहार ही आपके शरीर में सेल्युलाईट को उत्सर्जन को रोक सकता है।

फल और सब्जियां (Fruits and vegetables)

सेल्युलाईट को रोकने वाले अन्य भोज्य पदार्थों के अलावा फल और सब्जियां सर्व श्रेष्ठ आहार होती हैं। वे वसा मुक्त होती हैं और प्रभावशाली तरीके से सेल्युलाईट के निर्माण को रोकती हैं। सेल्युलाईट कैसे कम करें, फल और सब्जियां एंटी ओक्सिडेंट का भी एक बढ़िया स्त्रोत होती हैं जो फ्री रेडिकल और अन्य विषैले तत्वों को रोकने के लिए आवश्यक होते हैं। अतः अगर फल और सब्जियों, जो कि एंटी ओक्सिडेंट का अच्छा स्त्रोत होती हैं, का सेवन नियमित रूप से किया जाये तो सेल्युलाईट के निर्माण को रोका जा सकता है। अपने आहार में प्रतिदिन ताजे फल और हरी सब्जियों को शामिल करें।

सेल्युलाईट उपचार, फलों के रूप में केला, पपीता, अंगूर, जामुन, रस भरी, स्ट्राबेरी, और इंडियन गूज बेरी को आहार में शामिल कर सकते हैं। इनके साथ साथ ककड़ी, तरबूज, शतावरी आदि को भी शामिल करें। विटामिन सी से युक्त फल जैसे संतरा, नीबू, पाइनएप्पल भी स्वास्थ्य की दृष्टि से श्रेष्ठ समझे जाते हैं। गाजर टमाटर और हरी सब्जियां आदि को ज़रूर आहार में शामिल करें।

प्रोटीन्स (Proteins se cellulite ke upay)

लो कोलेस्ट्रोल आहार

प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थ सेल्युलाईट की मात्रा को घटाते हैं। फलीदार सब्जियां, दालें, अंडा, कम बसा युक्त डेरी उत्पाद, जैसे दूध दही आदि प्रोटीन के अच्छे स्त्रोत होते हैं। इसके अलावा सफ़ेद मछली और जेली फिश जैसी मछलियाँ भी प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत होती हैं। इन्हें अपने भोजन में शामिल करके सेल्युलाईट के निर्माण को रोका जा सकता है।

घरेलू उपचार सेल्युलाईट हटाने के लिए प्रोटीन का सेवन भी सेल्युलाईट के निर्माण को रोकता है। कार्बोहाइड्रेट की जगह प्रोटीन का सेवन अधिक लाभ पहुंचाता है क्यूंकि पाचन के वक्त ये ज्यादा मात्रा में कैलोरी को बर्न करती है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday