Diseases away from the sunlight in Hindi – धूप से दूर होंगी बीमारियां

आजकल के बढ़ते फ्लैट कल्चर ने धूप से लोग को दूर कर दिया है वहीं कुछ ब्यूटी कांशियस लोग धुप में नहीं जाते है क्यूंकि उनका रंग काला हो जाएगा। इन्हीं दिक्कतों के कारण अधिक सारे बीमारियां शरीर को घेर रही हैं। आपके शरीर के लिए धूप कितना आवशयक है ये जानने के लिए इस खबर को जरूर पढ़ें। क्योंकि धूप न मिलने के कारण ही कई बीमारियां पैदा होती हैं।

धूप विटामिन डी का नेचुरल सोर्स है। विटामिन डी एक स्वस्थ शरीर का आवशयक पार्ट है। जब आपकी त्वचा धूप के संपर्क में आती है तो कोलेस्ट्रॉल से विटामिन डी बनता है। इन सारी प्रक्रिया के लिए धूप आवशयक होती है। कॉड लीवर ऑयल, सॉलमन फिश, एग योक जैसी चीजों से भी विटामिन डी मिलता है लेकिन नेचुरल विटामिन डी आपको 10 से 15 मिनट की धूप से ही मिल सकता है। खास कर सुबह की धूप से। तो आइए जानते हैं कि धूप सेंक कर आप किन रोगों से छुटकारा पा सकते हैं।

धूप से इन रोगों से छुटकारा पा सकते हैं

  1. ब्लड प्रेशर : जब आप धुप की रोशनी के संपर्क में आते हैं तो आपकी स्किन से नाट्रिक ऑक्साइड निकलता है जो ब्लड प्रेशर को लो करने का काम करता है। अगर आपको हाई बीपी है तो रोज कम से कम 15 मिनट धूप में जरूर रहें।
  2. नींद की खलल : नींद में खलल कई रोगों का कारण बनती है, लेकिन अगर आप रोज धूप लेना शुरू कर दें तो नींद से जुड़ी सारी दिक्कतें दूर हो जाएंगी। धूप से सिरकेडियन रिथम (circadian rhythm) सही रहता है। ये हर इंसान के 24 घंटे साइकिल के दौरान होने वाले फिजिकल, मेंटल बिहेवियर चेंजेस को सही रखने के लिए आवशयक होता है। ब्राइट लाइट आपके दिन की शुरुआत एनर्जी के साथ करती है।
  3. मानिसक स्वास्थ्य : धुप की रोशनी आपको एनर्जेटिक और एक्टिव बनाता है। जब धुप की रोशनी आपकी आंखों के रेटिना के जरिये अंदर जाती हैं तो सेरोटोनिन ( serotonin) का निर्माण होता है और ये हार्मोन आपके मानिसक स्वास्थ्य के लिए आवशयक होता है। अगर सेरोटोनिन का लेवल लो हो तो इंसान के डिप्रेशन में जाने की प्रबल संभावना हो जाती है। धुप की रोशनी आपके मूड स्विंग्स को सही करता है, खुशनुमा बनाता है।
  4. ब्रेस्ट कैंसर और स्किन एलर्जी : सनलाइन कई प्रकार के कैंसर से दूर रखने में सहायक होता है। ऐसा नेचुरल विटामिन डी के शरीर में निर्माण के कारण होता है। यही नहीं स्किन एलर्जी के लिए भी धूप आवशयक होती है। इससे स्किन की नई लेयर्स बनने की प्रक्रिया तेज होती है। ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना कम की जा सकती है। विटामिन डी कैंसर सेल्स के निर्माण में बाधा पहुंचाता है।
  5. नोट : एक बात जरूर याद रखें। अधिक ज्यादा धूप में रहना खतरनाक हो सकता है। इसलिए धूप में रोज रहें लेकिन दस से पंद्रह मिनट की धूप ही आपके लिए आवशयक होगी। क्योंकि अधिक ज्यादा धूप कई प्रकार कि स्किन डिज़ीज और कैंसर की वजह बन सकता है। अगर आपको पूरे दिन धूप में रहना है तो याद रखें सनस्क्रिन लगाना न भूलें क्योंकि यही आपको अल्ट्रा वॉयलेट रेज के दुष्प्रभाव से बचा सकता है।