Do’s and don’ts for diabetics – मधुमेह के दौरान क्या करें एवं ना करें

मधुमेह काफी तेज़ी से विश्व की सबसे सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं में से एक बनता जा रहा है।  इस समस्या से ग्रस्त मरीजों की संख्या दिन ब दिन काफी तेज़ी से बढ़ती जा रही है। जहां बात मधुमेह से बचाव की आये तो सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आमतौर पर इस समस्या से ग्रस्त लोगों को इसका ज्ञान भी नहीं होता है।  एक बार मधुमेह के गंभीर लक्षण सामने आने पर ही उन्हें इस बात का अहसास होता है। मधुमेह का इलाज संभव है एवं इसके साथ भी एक व्यक्ति समान्य जीवन जी सकता है, परन्तु सही समय पर सही इलाज आवश्यक है।

टाइप 2 मधुमेह से ग्रस्त मरीज़ क्या करें (Dos for a patient of type 2 diabetes)

ब्लड ग्लूकोज़ मॉनिटर का इस्तेमाल (Use a home blood glucose monitor)

मधुमेह के लिए प्राकृतिक आयुर्वेदिक पूरक पदार्थ

टाइप 2 मधुमेह एक ऐसी स्थिति है जो धीरे धीरे बढ़ती है।  मधुमेह के मरीजों को रक्त में चीनी का स्तर बढ़ने पर किसी प्रकार का परिवर्तन महसूस नहीं होता हो।

शरीर में चीनी की बढ़ी हुई मात्रा काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है, अतः मरीज़ को होने वाले अहसास पर निर्भर रहने की बजाय घर पर नियमित ब्लड ग्लूकोज़ की जांच करवाएं। यह आजकल घर पर ही ब्लड ग्लुकोज़ किट की मदद से हो जाती है और काफी आवश्यक भी है।

आम बीमारियों से सुरक्षित रहें (Stay safe from common diseases)

मधुमेह से ग्रस्त लोगों के आम लोगों की तुलना में सर्दी या अन्य बीमारियों से ग्रस्त होने की अधिक संभावना नहीं होती है, परन्तु यदि आपको मधुमेह है तो शरीर की मरम्मत की प्रक्रिया सामान्य से धीमी होती है एवं सर्दी खांसी से ग्रसित होने पर भी आपके ठीक होने में काफी समय लग सकता है। अतः यदि आपको मधुमेह है तो सामान्य बीमारियों, निमोनिया एवं अन्य रोगों से सुरक्षित रहना सुनिश्चित करें।

पर्याप्त मात्रा में नींद लें (Get sufficient sleep)

टाइप 2 मधुमेह से ग्रस्त मरीजों के लिए अपनी नींद पूरी करना काफी आवश्यक है। पर्याप्त मात्रा में नींद ना लेने से ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर में बढ़ोत्तरी होती है। नींद कम होने से शरीर के तनाव वाले हॉर्मोन्स (hormones) जाग जाते हैं जो उच्च ब्लड शुगर का कारण बनते हैं।  अतः पर्याप्त मात्रा में नींद लें एवं सुनिश्चित करें कि काम करते समय आप थकान का अनुभव ना करें।  यदि आपको हर समय थकान का अनुभव होता है तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें।

टाइप 2 मधुमेह से ग्रस्त मरीज़ क्या ना करें (Don’ts for a patient of type 2 diabetes)

ब्लड शुगर नियंत्रित ना करना (Not controlling blood sugar)

अनियंत्रित ब्लड शुगर सबसे खतरनाक होता है एवं आपको अन्दर से खोखला बना देता है। यदि आपको पता है कि आपका ब्लड ग्लुकोज़ स्तर सामान्य से अधिक है और आप अभी भी मधुमेह से ग्रस्त मरीजों के लिए प्रस्तावित जीवनशैली का पालन नहीं कर रहे हैं तो यह आपके लिए काफी हानिकारक साबित हो सकता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,129 other subscribers

अनियंत्रित मधुमेह असामान्य नहीं है पर आपके शरीर को होने वाली सबसे हानिकारक चीज़ों में से एक है, तथा इसके गंभीर लक्षण काफी जल्दी दिख जाते हैं।

भोजन की अधिक मात्रा का सेवन (Eating big portions)

स्थायी रूप से मधुमेह किस प्रकार दूर करें

मधुमेह से ग्रस्त लोग कुछ भी खा सकते हैं पर कम मात्रा में। भोजन की सही गुणवत्ता बरक़रार रखना मधुमेह के मरीजों के लिए काफी आवश्यक है, क्योंकि तुरंत भोजन के सेवन से ब्लड ग्लुकोज़ का स्तर अचानक से बढ़ जाता है।  अतः यदि आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो अपने खाने पीने की आदतों में सुधार करें एवं एक बार में कम भोजन करें। यदि आप अधिक मात्रा में भोजन कर रहे हैं तो मधुमेह पर नियंत्रण असंभव है।

घाव की तुरंत देखभाल ना करना (Not taking immediate care of wounds)

मधुमेह से ग्रस्त रोगियों के घाव जल्दी नहीं भरते, अतः मधुमेह से ग्रस्त रोगियों के लिए छोटे से छोटे घाव का इलाज करना आवश्यक है।  मधुमेह से ग्रस्त रोगियों के लिए घाव को खुला छोड़ने से और बड़ी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। अतः रोज़ाना अपने शरीर के घावों की जांच करें एवं घाव को ठीक करने के लिए इसकी देखभाल करें।

loading...