Sontipodi/Dry Ginger powder benefits in Hindi – अच्छे स्वास्थ्य लाभ के लिये सोंठ या सूखी अदरक

अदरक एक जड़ी है जो मुख्य रूप से एशिया में पैदा होती है और खाने में मसाले के लिये प्रयोग होती है। यह अपने चिकित्सकीय गुणों के लिये जाना जाता है। यह भूमिगत तना (राइज़ोम) है जो ताज़ा, चूरा किया हुआ, सूखा या तेल के रूप में, या रस के रूप में प्रयोग किया जाता है।

सोंठ या सूखी अदरक कई सारी बिमारियों की घरेलू दवा है। सदियों से इसका प्रयोग आयुर्वेदिक दवाइयों में किया जा रहा है। इसकी प्रकृति गर्म और सूखी है।

अदरक रसोई में पाए जाने वाले मसालों में से एक है जो आपके भोजन में अलग ही असर छोड़ता है। इसका प्रयोग आमतौर पर मांस और मछली बनाने में किया जाता है, जिससे कि इन उत्पादों की अस्वास्थ्यकर और कच्ची महक दूर हो सके तथा इसकी बजाय आपको अदरक की खुशबू प्राप्त हो।

अदरक के कई स्वास्थ्य गुण भी होते हैं। इसका एक प्रमुख गुण सर्दी से रक्षा करना है। जब लोगों को सर्दी लगती है तो उनके गले में खराश उत्पन्न हो जाती है। पर सूखी अदरक (sukhi adrak) में थोडा सा नमक मिश्रित करके चबाने से इस समस्या से छुटकारा मिल जाता है।

सूखे मेवे और उनके स्वास्थ्य लाभ

सोंठ के गुण – सोंठ या सूखी अदरक के स्वास्थ्य लाभ और चिकित्सकीय उपयोग (Health benefits and therapeutic uses of dried ginger)

  • सोंठ के औषधीय गुण , पारम्परिक दवा में सूखी अदरक आंतों में गैस की समस्या से राहत पहुंचाता है और आंतों को आराम पहुंचाता है।
  • सोंठ के औषधीय गुण , अदरक गति से सम्बंधित बिमारियों के बचाव में लाभदायक है। यह मितली, ठण्ड में पसीने, चक्कर आने और उल्टी में कमी करता है। यह गर्भवती महिलाओं में सुबह की सम्स्याओं को ठीक करने में भी प्रभावी है।
  • सूखी अदरख के जिंजरोलस में बहुत शक्तिशाली जलन विरोधी गुण पाया जाता है। जो अर्थराइटिस और रह्यूमेटॉय्ड अर्थराइटिस के दर्द में कमी ला सकता है। एक साल तक प्रतिदिन उपभोगकरने वाले लोगों ने घुटने की समस्या में कमी का अनुभव किया है।
  • सोंठ के गुण , जिंजरोल्स कोलोरेक्ट्ल कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि और फैलाव से बचाव करता है। यह गर्भाशय के कैंसर की कोशिकाओं को क्रमादेशित मृत्यु और आत्म पाचन द्वारा मारता है।
  • सूखी अदरख पसीने को बढ़ाता है जो शरीर के तापमान को कम कर सकता है। यह प्रक्रिया जुखाम और बुखार के उपचार में सहायक हो सकेगा। यह शरीर के विषाक्तों से छुटकारा दिलाने में सहायक है।
  • सोंठ के गुण , सूखी अदरक से बनी चाय पाचन विकार को ठीक करने में सहायक है।
  • सूखे अदरक को गर्म दूध या चाय में देने से जुखाम, अम्ल का अपच और वायरल बुखार में आराम मिलता है।
  • सोंठ के गुण (sonth ke gun), एक चम्मच सूखी अदरक पाउडर को चावल के साथ खाने पर पेट साफ और शरीर स्वस्थ रहता है।

अखरोट खाने के बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ

सोंठ के लाभ – घरेलू इलाज़ (Homemade symptomatic cure with ginger)

  • दिन में कई बार एक चम्मच अदरक रस को उबलते पानी में मिलाकर लेने से डायरिया पर नियंत्रण होता है।
  • सोंठ के लाभ (sonth ke labh) , पेट दर्द, कब्ज और अपच में, एक चम्मच अदरक पाउडर, थोड़ा हींग और सेंधा नमक को गर्म पानी में लेने से आराम मिलता है।
  • सूखी अदरक, हींग और काला नमक गैस दूर करने में मदद करता है। सूखी पिसी अदरक और कैरम के बीज का मिश्रण नींबू रस में भिगा दें। इस मिश्रण को छाये में सुखा कर नमक मिलाये। इस पाउडर को प्रतिदिन सुबह लेने से गैस और पेडू के दर्द में आराम मिलता है।
  • सोंठ के लाभ , सूखी अदरक को दूध में उबालकर, ठण्डा किये दूध को पीने से हिचकी को आराम मिलता है।
  • पेशाब करते समय होने वाले दर्द और निकलने वाले खून को, सूखी अदरक और कैंडी शुगर मिलाकर देने पर ठीक होता है।
  • दिन में चार बार सूखी अदरक को पानी को उबालकर और ठंडा करके पीने पर पसलियों का दर्द रूक सकता है।
  • सूखे अदरक को जिगरी के साथ खाना बवासीर, पीलिया और सूजन को कम करता है।
  • घी, शहद और सूखी अदरक के पाउडर का मिश्रण खांसी और ज़ुकाम को ठीक कर सकता है। यह खांसी को रोकता है और कफ को कम करता है।
  • सूजे मसूढ़े और दांत दर्द को आराम पहुंचाने के लिये सूखी अदरक पाउडर को पानी के साथ निगल सकते है।
  • हाथ और पैर की सुन्नता के उपचार के लिये लहसुन, सूखी अदरक और पानी का लेप बनाकर लगायें।
  • लकवे को कम करने के लिये अदरक पाउडर, जिगरी और गर्म मसूर की दाल की गेंद बना के खा सकते है।
  • सर दर्द, माइग्रेन, गर्दन का दर्द , शरीर का दर्द को कम करने के लिए अदरक और पानी का लेप लगायें। सूखी अदरक को सूंघने से छींक आती है जो सर दर्द को आराम पहुंचाता है।
  • जोड़ों के दर्द के लिये जोड़ो के आस-पास सूखी अदरक, जाय्फल और तिल के तेल में भीगी पट्टी को लगाने से आराम मिल सकता है।
  • उबले हुए पानी के साथ शहद और अदरक पाउडर को पीने से गठिया को कम कर सकते है।
  • शहद और सूखे अदरक पाउडर को एक साथ चाटने पर बुखार को कम कर सकते है।

सोंठ के फायदे – वजन में कमी (Ginger and weight loss)

सरसों के बीज के स्वास्थ्य लाभ

हाल के अध्ययन बताते है कि अदरक का वजन कम करने पर प्रभाव है। लेकिन यह बहुत सीमित है। अदरख आपको संतुष्ट करता है जिसके कारण आप अधिक भोजन नही करते। अदरख वसा का अवशोषण कम करता है जब आप उच्च वसा आहार खाते है। यह अग्नाशय के कार्य को बढ़ाता है और पित्त के उत्पादन को बढ़ाता है।
सोंठ के फायदे (sonth ke fayde) , अदरक पाचन की सहायता से वजन को कम करने में सहायता करता है। प्रभावी पाचन खून की शर्करा और जमा वसा को उपयोग करने में सहायता करती है। अदरक में थर्मोजेनिक एजेंट होता है जो वसा को जलाने में मदद करके वजन को कम करता है। चयापचय की क्रिया को बढ़ा कर शरीर में जमा वसा को कम किया जा सकता है।

अच्छे स्वास्थ्य के लिये सौंठ / सूखे अदरक का पाउडर (Sontipodi/ dry ginger powder for good health)

जलनरोधी गुण (Anti-inflammatory benefit)

जब भी आप किसी बीमारी से पीड़ित होते हैं तो सबसे पीड़ादायक उस रोग से सम्बंधित जलन ही होती है। अगर किसी सुबह आप देखें कि आपकी सारी उंगलियाँ सूज गयी हैं तो आपको कैसा लगेगा ? आप निश्चित ही चिंताग्रस्त हो जाएँगे। आपको इसकी रोकथाम का कोई भी तरीका नज़र नहीं आएगा। इस स्थिति में नमक मिश्रित सूखी अदरक की जड़ आपके काफी काम आ सकती है। सिर्फ इसे चबाएं और आप पाएंगे कि आपकी सूजन काफी कम हो गई है। इससे दुर्घटनाओं के दौरान आ गयी सूजन से भी काफी राहत मिलती है।

मतली और मॉर्निंग सिकनेस का इलाज (Treating nausea and morning sickness)

यह समस्या गर्भवती महिलाओं में ज़्यादा देखी जाती है। जिस महिला की कोख में बच्चा होता है, उसे विभिन्न तरीके की स्वास्थ्य समस्याओं और परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मॉर्निंग सिकनेस और मतली भी ऐसी समस्याएं हैं जिनका शिकार महिलाएं काफी सामान्य रूप से होती हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें सूखे अदरक की जड़ चबानी चाहिए। ऐसा करने से वह खुद ब खुद सामान्य स्थिति में आ जाएंगी।

काला नमक के स्वास्थ्य लाभ

रक्त में शुगर को कम करे (Lowers blood sugar)

आजकल के दौर में चाहे लोगों की उम्र जो भी हो, रक्त में ज़्यादा मात्रा में शुगर का पाया जाना कई लोगों की समस्या बन जाती है। पर रक्त में उच्च शुगर का उपचार करने के कई प्राकृतिक उपचार उपलब्ध हैं। आप थोड़े से नमक के साथ 2 ग्राम अदरक का पाउडर ले सकते हैं। अगर आप रोज़ सुबह खाली पेट इसका सेवन करें तो आप पाएँगे कि आपके शरीर का उच्च शुगर काफी नियंत्रित हो गया है। इसके लिए आपको किसी भी दवाई की ज़रुरत नहीं पड़ेगी, बल्कि प्राकृतिक रूप से प्राप्त अदरक की जड़ भी आपके काम आ सकती है।

loading...