How to cure ear piercing infection tips in Hindi – कान छिदने के स्थान पर संक्रमण का उपचार कैसे करें?

व्यक्तियों को भिन्न और आकर्षक रूप देने के लिये विभिन्न प्रकार के झुमकों के साथ कान के आधार के ऊपर के स्थान पर कान छिदवाना आजकल प्रचलन में है। न केवल महिलायें बल्कि पुरुष भी कान छिदवाने के लिये बहुत उत्सुक रहते है। कुछ लोग कान छेदवाने के इतने दिवाने होते है कि वे न केवल कान में छेद कराते हैं बल्कि वे शरीर के अन्य भागों जैसे नाभी, भौंह, होठ आदि को चुनते हैं और कान छिदवाने की प्रक्रिया के लिये जाते हैं।

लेकिन इसे कराते समय कुछ लोगों को संक्रमण हो जाता है और गंभीर त्वचा संक्रमण से पीड़ित हो जाते हैं। लेकिन ऐसे कुछ तरीके है जिनसे कान छिदवाने के संक्रमण (kaan chedan ka infection) का उपचार किया जा सकता है। आपको सबसे पहले संक्रमण के चिन्हों को जानना होगा और तब आपको सुरक्षा के लिये जाना होगा।

त्वचा संक्रमण को पहचानना (Recognizing the skin infection)

  • क्षेत्र पर लालिमा, सूजन और कोमलता
  • कान छिदने के स्थान पर चिन्ह और लकीर
  • कान छिदने के स्थान पर पीला और हरा स्राव
  • दर्द के कारण बुखार

कान छिदने के स्थान पर संक्रमण के उपचार के तरीके (Ways to cure ear piercing infection)

अंडरआर्म को गोरा करने के शीर्ष घरेलू उपाय

कान छिदवाना – नमकीन पानी उपचार (Salt water treatment)

आप कान छिदने के स्थान पर संक्रमण के उपचार के लिये प्राकृतिक तरीके को अपनायें। कुछ पानी को उबालें और उसमें नमक को मिलायें। इस मिश्रण को मिलायें और गुनगुना होने के  लिये छोड़ दें। अब रूई के टुकड़े को भिगाकर संक्रमण के स्थान पर रगड़ें।

कान का छेदन – हल्दी (Turmeric se kaan chedan ke baad dekhbhal)

यह एक घरेलू एंटीसेप्टिक सामग्री है, यह संक्रमण में अच्छा कार्य करती है। कुछ पानी को गर्म करें और चुटकी भर हल्दी उसमें मिलायें। हल्दी को गुनगुने पानी में घुलने दें और रूई के टुकड़े को भिगायें। अतिरिक्त पानी को निचोड़ें और रूई को छिदे स्थान पर हुये संक्रमण पर लगा लें। कान के संक्रमण को खत्म करने के लिये दिन में दो बार यह प्रक्रिया दोहरायें।

कान छिदवाना – नीम (Indian lilac or Neem)

मुट्ठीभर नीम की पत्तियों को लेकर पानी में तब तक उबालें जब तक कि पानी हरा न हो जाये। अब इस पानी को सूजन और दर्द वाले स्थान पर लगा लें। आप नीम की पत्तियों का लेप भी बना सकते हैं। प्रभावित क्षेत्र पर इस लेप को लगायें 10 मिनट तक छोड़ने के बाद हटा दें।

कान छिदवाने – बर्फ का टुकड़ा (Ice cubes)

कभी कभी बर्फ के टुकड़े कान छिदने के संक्रमण के उपचार में चमत्कार कर देते है जिससे आप पीड़ित होते हैं। बर्फ के टुकड़ों को छोटा करके संक्रमित स्थान पर रगड़ें। बर्फ के टुकड़े वास्तविकता में अच्छा कार्य करते है और सूजन को ठीक करते हैं। आप सूजन और संक्रमित त्वचा को हटाने के लिये इसे दिन में तीन बार लगा सकते हैं।

कान छिदवाने – एंटीबैक्टीरिया साबुन (Antibacterial soap)

एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुणों के लिये डॉक्टरों के पास बहुत से विकल्प हैं। आप दवाखानों में विभिन्न प्रकार के एंटीबैक्टीरियल साबुन पा सकते हैं। बाज़ार से कोई एक खरीद कर संक्रमित क्षेत्र पर लगाकर धुलें। इससे धोने पर कान छिदने से होने वाले सूजन और दर्द से दूर रह सकते हैं।

सन टैन के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार

कान का छेदन – एल्कोहल (Alcohol)

आपके कान के संक्रमण का समाधान करने में एल्कोहल उपचार मददगार हो सकता है। एल्कोहल वास्तविकता में किसी भी प्रकार के घाव को ठीक कर सकता है। आप रूई में थोड़ा सा एल्कोहल लें और जहाँ पर कान छिदवाया है वहाँ पर लगा लें।

कान छिदवाने के औजार (Tools of ear piercing)

अगर आप कान छिदवाने जा रहे है तो बहुत महत्वपूर्ण है कि औजार संक्रमण मुक्त किये गये हों। साथ ही किसी पेशेवर से इस प्रक्रिया को करवाना चाहिये। इसे अकेले करने की कोशिश न करें यह स्थिति को और भी बद्तर कर देगा। आप ऐसे बहुत से संगठनों को पा सकते हैं जो कान छेदने का कार्य करते हैं। आप ऑनलाइन इन्हें ढ़ूढ़ सकते हैं और दर्द मुक्त सेवा को पाने के लिये सम्पर्क कर सकते हैं।

डॉक्टर के पास जायें (See a doctor after kaan chidwana)

अगर घरेलू और अन्य तरीके काम नहीं कर रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें। डॉक्टर आपको दवायें और क्रीम लगाने के लिये देगा जिससे कि आप कान छिदवाने के संक्रमण के उपचार को पा सकती है।