Signs of labor in Hindi – प्रसव के लक्षण

मुझे कैसे पता चलेगा कि मैं लेबर या प्रसव पीड़ा में हूँ या नहीं? (when I am going to labor?)

लेबर या प्रसव पीड़ा के शुरू होने का सही समय बताने का कोई सटीक तरीका मौजूद नहीं है। अगर आपको लेबर की शुरूआती निशानियाँ पता चल भी जाती हैं, फिर भी आपके बच्चे का जन्म शायद कई दिनों या हफ़्तों के बाद ही होगा।

असल में आपका शरीर आपके बच्चे के जन्म से एक महीने पहले से ही लेबर या प्रसव पीड़ा की प्रक्रिया के लिए खुद को तैयार करने लगता है, अतः जैसे जैसे यह दिन नज़दीक आता जाता है, आपको कुछ नए लक्षण पता चलने लगते हैं।

नीचे लेबर की कुछ शुरूआती निशानियों (delivery ke lakshan) के बारे में बताया गया है।

प्रसव का समय, बच्चे का नीचे आना (Your baby “drops”)

अगर यह आपका पहला गर्भधारण है तो आपको लाइटनिंग (lightening) नामक प्रक्रिया के बारे में लेबर के कुछ हफ़्तों पहले पता चलेगा, जिसका मतलब यह होता है कि बच्चा आपकी कोख के निचले हिस्से में पहुँच गया है। आपको अब अपनी छाती की हड्डियों के नीचे काफी कम दबाव महसूस होगा और इससे आपको सांस लेने में भी आसानी होगी।

लेबर और डिलीवरी के दौरान दर्द से छुटकारा 

प्रसूति समय, ब्रेक्सटन हिक्स कॉन्ट्रेक्शन में वृद्धि (You have more braxton hicks contractions)

बार बार और तीव्र रूप से होने वाली ब्रेक्सटन हिक्स वाली मरोड़ें इस बात का संकेत है कि आपके शरीर में लेबर की प्रक्रिया शुरू होने वाली है। इस समय आपकी गर्भाशय ग्रीवा (cervix) पतली और चौड़ी होती रहती है। इसके बाद असल लेबर की शुरुआत होती है। कई महिलाएं इस दौरान मासिक धर्म (menstruation) जैसी मरोड़ों का अनुभव करती हैं।

प्रसव का समय, आपकी गर्भाशय ग्रीवा में बदलाव (Your cervix starts to change)

बच्चे के पैदा होने के कई दिनों और हफ़्तों पहले गर्भाशय ग्रीवा को जोड़ने वाले तंतुओं में परिवर्तन होने की वजह से यह नर्म और अंत में पतली तथा चौड़ी हो जाती है, जिसे डाईलेट (dilate) होना कहा जाता है। अगर आपने पहले कभी बच्चे को जन्म दिया है, तो लेबर शुरू होने से पहले आपकी गर्भाशय ग्रीवा करीब 1 से 2 सेंटीमीटर तक डाईलेट होगी। परन्तु इस बात का ध्यान रखें कि पहले बच्चे के साथ 40 हफ्ते की गर्भावस्था में होने और 1 सेंटीमीटर डाईलेट होने से भी यह बात निश्चित नहीं होती कि लेबर होने वाला है। जब आप बच्चे के पैदा होने की तिथि के नज़दीक पहुँच जाती हैं, तो इस समय आपका डॉक्टर आपके गुप्तांग की जांच करके इस बात का पता लगाने का प्रयास करता है कि आपकी गर्भाशय ग्रीवा में बदलाव आना शुरू हुआ है या नहीं।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

प्रसव के संकेत, म्यूकस प्लग का निकलना (You pass your mucus plug or notice “bloody show”)

अगर आपके लेबर के करीब जाने के समय आपकी गर्भाशय ग्रीवा डाईलेट होती रहती है तो आप अपना म्यूकस प्लग निकाल सकती हैं। यह छोटी मात्रा में मौजूद गाढ़ा म्यूकस होता है, जो आपकी गर्भनाल में 9 महीनों से जमता रहता है। यह प्लग एक बार में भी पूरा निकल सकता है, या फिर कई दिनों तक आपके गुप्तांग से थोड़ा थोड़ा निकलता रहता है। इस म्यूकस में भूरे, गुलाबी या लाल खून की मात्रा होती है, जिसकी वजह से इसे ब्लडी शो भी कहा जाता है। सेक्स (sex) करने या गुप्तांगों की जांच करने से म्यूकस प्लग में गड़बड़ी होती है और इससे थोड़ा सा रक्त निकलता है। हालांकि इसका यह मतलब नहीं है कि आपका लेबर शुरू होने वाला है।

लेबर और डिलीवरी की समस्याओं से निजात

लेबर या प्रसव पीड़ा के तुरंत शुरू होने की निशानियों में मुख्य है : –

प्रसव के संकेत, आपकी मरोड़ों का तेज़ी से तीव्र होना (Your contractions become increasingly intense)

ब्रेक्सटन हिक्स वाली मरोड़ों के उलट लेबर की मरोड़ें काफी तीव्र, लम्बी और काफी कम अंतराल में होती है, और इसकी वजह से आपकी गर्भाशय ग्रीवा डाईलेट हो जाती है।

प्रसूति समय, आपके पानी का छूटना (Your water breaks or prasav ka dard)

जब आपके बच्चे को चारों ओर से घेरा हुआ द्रव्य युक्त अम्नियोटिक सैक (amniotic sac) foot जाता है, तो आपके गुप्तांगों से एक द्रव्य निकलने लगता है। चाहे यह काफी ज़्यादा मात्रा में या धीरे धीरे ही क्यों ना निकले, यह इस बात का संकेत है कि डॉक्टर या धाय को बुलाने का समय आ गया है।

ज़्यादातर महिलाओं में पानी छूटने से पहले सामान्य मरोड़ें उठने लगती हैं, परन्तु कुछ स्थितियों में पानी पहले छूटता है। अगर ऐसा होता है तो जल्दी ही लेबर की प्रक्रिया भी शुरू हो जाती है।

पानी छूटने और मरोड़ें शुरू ना होने पर क्या होगा? (What happens if my water breaks and I don’t have contractions?)

गर्भावस्था के दौरान खून निकलना गंभीर समस्या

अगर एक निश्चित अवधि के बाद आपकी मरोड़ें शुरू ना हुई तो आपको इंड्यूस (induce) करने की आवश्यकता पड़ेगी, क्योंकि अम्नियोटिक सैक के जीवाणुओं से सुरक्षा ना देने की वजह से आपका बच्चा संक्रमित भी हो सकता है। अगर आपमें ग्रुप बी स्ट्रेप्टोकॉकस (group B streptococcus) पाया गया है तो एक बार पानी छूटने के बाद आपको अस्पताल जाना चाहिए, जिससे आपको दवाइयां दी जा सकें।

प्रसव की तैयारी, असल और नकली लेबर का अंतर (How can I tell the difference between true labor and false labor?)

असल लेबर के शुरू होने की गणना करना आसान नहीं है, क्योंकि शुरूआती लेबर की मरोड़ें ब्रेक्सटन हिक्स वाली मरोड़ों जैसी ही होती हैं। कई बार जैसे जैसे असल लेबर की तिथि नज़दीक आती रहती है, ब्रेक्सटन हिक्स वाली मरोड़ें दर्दनाक और हर 10 से 20 मिनट के अंतराल पर होने लगती हैं। पर अगर ये नियमित रूप से नहीं होती, तो आप नकली लेबर में हैं।

दूसरी तरफ असली लेबर की मरोड़ें : –

  • तीव्र होती जाती हैं।
  • लम्बे समय तक चलने लगती हैं।
  • नियमित अंतराल पर होती हैं।
  • काफी जल्दी जल्दी होने लगती है।

आप मरोड़ों के समय को नियंत्रित करके खुद ही अंतर भी बता सकती हैं। शुरुआत में लेबर की मरोड़ें 10 मिनट के अंतराल पर होती हैं, परन्तु आपके कुछ भी कर लेने पर भी ये बंद नहीं होती। समय के साथ ये काफी दर्दभरी और जल्दी जल्दी होने लगती हैं।

महिलाओं को सबसे पहले पीठ की तरफ दर्द शुरू होता है, जो फिर सामने की तरफ आता है। नकली लेबर के समय दर्द सिर्फ सामने की तरफ ही होता है। कई स्थितियों में कठोर और दर्दनाक मरोड़ें बिना किसी चेतावनी के ही आ जाती हैं। हर महिला के लिए यह समय अलग अलग होता है।

गर्भावस्था में करने वाले कार्यों की सूची

डॉक्टर या धाय को बुलाने का समय (When should I call my doctor or midwife?)

गर्भावस्था के अंत में आपके डॉक्टर से आपको यह जानकारी मिलेगी कि मरोड़ें होने की स्थिति में उन्हें कब बताना है। आपके द्वारा दी गयी जानकारी आपकी निजी स्थिति पर आधारित होगी, जैसे आपकी गर्भावस्था खतरों भरी है या नहीं, यह आपका पहला बच्चा है, आप अस्पताल से कितनी दूर रहती हैं आदि।

अगर आप उन्हें जानकारी देने के समय को लेकर निश्चित नहीं हैं तो उन्हें बुला ही लें। डॉक्टरों को ऐसी महिलाओं के बुलावे की आदत होती है, जिन्हें लेबर सम्बन्धी ज्ञान की आवश्यकता होती है। अगर आपकी गर्भावस्था साधारण है तो वो आपको उन्हें तब बुलाने को कहेंगे, जब आपकी मरोड़ें एक मिनट तक चलने लगेंगी और करीब एक घंटे तक हर 5 मिनट के अंतराल पर होने लगेंगी।

डॉक्टर या धाय को तब तुरंत बुलाएं जब : –

  • 37 हफ़्तों के पहले आपका पानी छूटे या आपकी मरोड़ें उठें, क्योंकि यह समय से पहले लेबर में जाने की निशानी होती है। प्रसव के लक्षण, समय से पहले लेबर की अन्य निशानियों में प्रमुख है योनि से खून निकलना, असामान्य द्रव्य निकलना, पेट में दर्द, कूल्हों में दबाव पड़ना या पीठ के निचले हिस्से में दर्द।
  • आपका पानी छूट जाए और आपको शंका हो रही हो कि यह अम्नियोटिक द्रव्य है। प्रसव पीड़ा के लक्षण, अगर यह पीला, भूरा और हरे जैसा है तो तुरंत उन्हें बताएं, क्योंकि यह मेकोनियम (meconium) की मौजूदगी की निशानी है। यह आपके बच्चे का पहला मल होता है और गर्भ के तनाव की निशानी होती है। अगर यह द्रव्य रक्त के रूप में निकलता है तो भी उन्हें बताना काफी आवश्यक है।
  • प्रसव के लक्षण, जब आपको यह लगे कि आपका बच्चा कम क्रियाशील है।
  • लेबर के संकेत, जब योनि से रक्त निकलने, पेट में भारी दर्द और बुखार की समस्या सताए।
  • 37 हफ्ते से पहले मरोड़ें उठना या समय से पहले लेबर की अन्य कोई निशानियाँ।
  • लेबर के संकेत, सिर में भारी दर्द, नज़र कमज़ोर होना, पेट के ऊपरी भाग में भारी दर्द, सूजन या प्रीएक्लेम्पसिया (preeclampsia) की अन्य निशानियाँ।

कई महिलाएं यह मानने लगती हैं कि अलग अलग लक्षण और परेशानियां गर्भवती होने के साथ ही आती हैं, जबकि अन्य महिलाओं के अनुसार हर शारीरिक परिवर्तन खतरे की निशानी है। अगर आप इस बात को जान जाएँ कि गर्भावस्था के दौरान कौन से लक्षणों को नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए तो आपके लिए सही समय पर अपने डॉक्टर को बुलाना काफी आसान हो जाएगा।

गर्भावस्था के सबसे शर्मनाक लक्षण

हर प्रकार की गर्भावस्था अलग होती है और कोई भी सूची इसमें होने वाली सारी समस्याओं को नहीं गिना सकती। अगर आपको समझ में नहीं आ रहा है कि कोई लक्षण गम्भीर है या नहीं, खुद से फैसला लें और अपने डॉक्टर को बुलाएं। अगर कोई समस्या है तो अवश्य मदद लें। अगर कुछ गलत नहीं है तो बिलकुल चिंतामुक्त रहें।

loading...