Foods to curb chronic pain – पुराने दर्द को रोकने के लिए खाद्य

पुराने दर्द उन तंत्रिका या मांसपेशियों के दर्द को कहते हैं, जो कंधों, पीठ, सिर, घुटनों, कमर और शरीर के कुछ अन्य भागों पर होता है। दर्द के कारण, इन पुराने दर्दों का प्रमुख कारण सूजन है। इसके कारण मांसपेशियों में दर्द, अनुचित नींद और थकान होता है।

इन पुराने दर्दों को ठीक करने के लिये खाद्य पदार्थ निश्चित रुप से महत्वपूर्ण होंगे। ये खाद्य पदार्थ सूजन को कम करने, दर्द के संकेत को नियंत्रित करने और दिमाग के रसायनों को नियन्त्रित करते है जो आपको अच्छा एहसास करायेगा।

चिकित्सकीय विशेषज्ञों के परामर्श के अनुसार आप इसके लक्षणों और दर्द को कम करके रख सकते हैं, पर कई शोधों से यह साबित हुआ है कि कुछ ख़ास खाद्य पदार्थों के सेवन से भी गंभीर दर्द ठीक होता है। ये जलन और सूजन को कम करते हैं, शरीर में दर्द के निशानों को नियंत्रित करते हैं तथा मस्तिष्क को प्रभावित करके ऐसे रसायनों का निर्माण करते हैं, जिससे आपको काफी अच्छा अनुभव होता है।

दर्द आपके जीवन का एक अनचाहा अनुभव होता है और इसे दूर करने के लिए आपको सही भोजन करने की ज़रुरत होती है। दर्द काफी कष्टकारी हो सकता है और कई बार व्यायाम और दवाइयों से भी आपको सही मात्रा में आराम प्राप्त नहीं हो पाता। लेकिन इस दर्द से निपटने का एक वैकल्पिक तरीका मौजूद है और वह है कुछ ख़ास खाद्य पदार्थों का सेवन करके अपने जीवन से दर्द को दूर करना।

पुराने दर्द को रोकने के लिए खाद्य (Foods to curb chronic pain)

अदरक से दर्द से राहत (Ginger se dard ka ilaj)

रॉसेसिया का घरेलू उपचार, चेहरे की लालिमा दूर करने के प्राकृतिक उपाय

अगर आप एक प्राकृतिक दर्दनाशक की तलाश में हैं तो अदरक आपकी पहली पसंद हो सकती है। इसमें सूजन विरोधी गुण होता है जो सूजन घटाने के द्वारा पुराने दर्द को ठीक करता है। कुछ अन्य यौगिक नाम शोगोल्स, पैराडॉल्स, ज़िंजर्वन में एनाल्जेसिक गुण होता है जो इबुप्रोफेन और एस्प्रिन की तरह कार्य करता है। इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है।

कुछ अदरक टुकड़ों को चबाना सूजन को कम और पुराने दर्द को ठीक करेगा। 2-3 कप अदरक चाय प्रतिदिन पीना आपको इस समस्या से आराम देगा।

हल्दी पाउडर से दर्द का इलाज (Purane dard ka ilaaj ke liye turmeric powder)

हल्दी एक और ऐसा उपयोगी घरेलू तत्व है जो आपके गंभीर दर्द को कम करने में काफी सहायता करता है। यह दर्द से लड़कर आपकी पीड़ा को कम करता है एवं इसमें मौजूद करक्यूमिन (curcumin) एक जलनरोधी तत्व है जो दर्द को दूर करता है।

गुनगुने पानी में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलायें और इसे पी लें। प्रतिदिन इसको दोहराना आपको सहायता देगा। आप डॉक्टर की सलाह पर हल्दी कैप्सूल का भी प्रयोग कर सकते हैं। यह कोशिकाओं का संरक्षण और तंत्रिका कोशिका की कार्यप्रणाली को उन्नत करता है।

दर्द की दवा है प्याज़ (Onions se purane dard ke upay)

क्वेर्केटिन में हृदय को स्वस्थ रखने वाला एंटीऑक्सीडेंट होता है। यह बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और कैंसर वृद्धि को रोकता है। यह जोड़ों के सूजन को कम करने में भी सहायता करता है।

सालमन से दर्द से छुटकारा (Salmon se purana dard ka upchar)

कील और मुंहासों के निशान मिटाने के लिए घरेलू उपचार

यह ओमेगा -3 फैटी एसिड का सबसे अच्छा निर्माता है जो दर्द से आराम पहुंचाने में सहायता देता है। यह अच्छी मात्रा में विटामिन डी भी देता है। सालमन के सेवन से गंभीर दर्द से निजात मिलती है। कई शोधों से साबित हुआ है कि शरीर में विटामिन डी (vitamin D) की कमी से भी गंभीर दर्द होता है।

दर्द के घरेलू उपाय में जैतून का तेल (Purane dard ko rokne ke liye olive oil)

इसमें ओलियोकैंथल कंपाउंड (oleocanthal compound) भी पाए जाते हैं जिसमें काफी प्रभावी जलनरोधी गुण होते हैं और इसकी मदद से जोड़ों की सूजन कम होती है।

शारीरिक कार्यशीलता और ऊर्जा में वृद्धि करने के लिए अपने भोजन में जैतून के तेल का प्रयोग करें। जैतून के तेल की सामान्य मालिश से आपको दर्द से छुटकारा प्राप्त हो जाता है।

जैतून के तेल में सूजन विरोधी गुण पाया जाता है जो पुराने दर्द की सूजन को कम करता है और धीरे धीरे समस्या को शांत कर देता है। पॉलीफेनॉल एंटीऑक्सीडेंट शरीर में दर्द  करने के कारकों को कम कर देता है। आपको शुद्ध जैतून तेल को उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

कैफीन दर्द कम कर सकता है (Caffeine can release pain)

यह जानना दिलचस्प होगा कि यह आपके दर्द को कम कर सकता है। अगर आप कैफीन की कम मात्रा को लेते हैं तो यह आपको दर्द और बेचैनी से दूर रख सकता है। अगर आप लम्बे समय से काम करने के लिय बैठे हुये हैं तो एक कप कॉफी आपको तुरंत पुनर्जीवित कर सकता है।

कैफीन के सेवन से आप ऊर्जा का अनुभव करते हैं और नये जोश से दोबारा काम करना शुरू कर सकते हैं। आप चॉकलेट्स (chocolates), चाय और सोडा (soda) में भी कॉफ़ी (coffee) के अंश को प्राप्त कर सकते हैं। अतः अगर आपको लगता है कि कैफीन आपके दर्द को कम कर सकता है तो इस बारे में किसी चिकित्सक से बात करें।

रेस्वेराट्रोल दर्द दूर करने का राज़ (Resveratrol is a secret for pain)

काले घुटनों और कोहनी से छुटकारा

लाल अंगूर भी गंभीर एवं लगातार हो रहे दर्द को ठीक करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लाल अंगूर में रेस्वेराट्रोल पाया जाता है और यह एक तरह का रासायनिक कंपाउंड होता है जो अनचाही सूजन को ठीक करने में सक्षम साबित होता है। आप मूंगफली एवं बेर में भी रेस्वेराट्रोल प्राप्त कर सकते हैं। सही मात्रा में रेस्वेराट्रोल का सेवन करने से कुछ कोशिकाओं को दर्द के लक्षण समझने में परेशानी होती है। इसके साथ ही साथ यह दर्द को कम करने में भी आपकी काफी सहायता करता है। इसके अलावा रेस्वेराट्रोल एवं हल्दी का मिश्रण गंभीर दर्द को ठीक करने में काफी चमत्कारी रूप से कार्य करता है।

वसा का सेवन कम करना महत्वपूर्ण है (It is important to curb fat)

पुराने दर्द खत्म करने के लिए आपको चीनी के सेवन की मात्रा को कम करना होगा। इसलिये, ताजे फलों के रस का बहुत सेवन करना अच्छा नहीं है। साथ ही बहुत अधिक अनाज का सेवन शारीरिक दर्द को बढ़ा सकता है और आपको असहज महसूस करा सकता है। अगर आपको फलों का सेवन करना पसंद है तो ताज़े और अच्छे साबुत फलों का सेवन करने का प्रयास करें। अनाज का सेवन कम करने से आपको मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) तथा उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों से छुटकारा प्राप्त होगा।

ताजा खाद्य आपको दर्द से सही तरीके से लड़ने में मदद करेगा (It is important to curb fat)

हमेशा ताजा खाद्य पदार्थ खाने का प्रयास करें। ऐसे खाद्यों से बचने का प्रयास करें जो संरक्षकों के प्रयोग से तैयार किये जाते हैं। स्वस्थ रहने और महसूस करने के लिये जैविक खाद्यों को अपनायें। ताज़ा भोजनों का सेवन करने से आप स्वस्थ रहेंगे और आपके दर्द में काफी कमी आएगी। संरक्षकों से युक्त भोजन का सेवन करने से पेट में गड़बड़ी की संभावना बनी रहती है। जैविक भोजन आपके लिए स्वस्थ और तंदुरुस्त रहने का काफी बेहतरीन तरीका है। इससे आपके शरीर में निश्चित रूप से कोई भी पीड़ा और दर्द नहीं होगा।

स्ट्रॉबेरी का दर्दनिवारक गुण (The pain killing properties of strawberries)

चेहरे की त्वचा संरचना को बढ़ाने के लिये घरेलू उपचार

यह एक मौसमी फल है और इसमें बहुत सारा विटामिन सी भी शामिल है। इसमें पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट के कारण डॉक्टर भी सर्जरी के बाद इसकी सलाह देते हैं। विटामिन सी अर्थराइटिस की समस्या से लड़ने में मददगार है और यह दर्द से लड़ने और फिट रहने का बेहतरीन तरीका है। विटामिन सी उपास्थियों के नुकसान की समस्या को ठीक करने में सहायता करता है। स्ट्रॉबेरी का सेवन आपको निश्चित ही गंभीर मात्रा में दर्द से निजात दिला सकता है। इसके लिए आपको एक टोकरी भरकर ताज़े और रसभरे स्ट्रॉबेरी की ज़रुरत पड़ेगी। स्ट्रॉबेरी का लाल रंग एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) होने का प्रतीक है और यह आपके दर्द को दूर करने की बेहतरीन विधि है।

हरी सब्जियों वास्तव में दर्द को शांत कर सकती हैं (Green vegetables can really soothe pain, dard ka ilaj in hindi)

हरी सब्जियों वास्तव में आपको दर्द से दूर रख सकती हैं। इसके लिए आपको अरुगुला या पालक के नियमित सेवन करने की सिफारिश की जाती हैं। ये विटामिन के से भरपूर होते हैं और यह दर्द को खत्म करने के लिये सबसे अच्छा है। विटामिन ‘के’ भी हड्डियों और जोड़ों को मजबूत बनाने में मदद करता है। अगर आपके रक्त में विटामिन ‘के’ की सही मात्रा है तो आपके लिये पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस से ग्रस्त होने की संभावना कम हो जाएगी। रोज़ाना हरी पत्तियों का सेवन करने से आपको काफी मात्रा में विटामिन के (Vitamin K) की प्राप्ति होगी। अतः आपको अपने भोजन में ज़रूरी खाद्य पदार्थ शामिल करने होंगे।

loading...