Foods to reduce acidity and gas – बदहज़मी दूर करने में सहायक खाद्य पदार्थ

जिन लोगों को हाजमे एवं पेट की गड़बड़ी की समस्या सताती है, वे आमतौर पर गैस (gas) एवं बदहज़मी की शिकायत करते हैं। इसके साथ जलन एवं दर्द भी हो सकता है।

गैस एवं एसिड रिफ्लक्स (acid reflux) के एक साथ पैदा होने से कई लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यह आपके लिए भी आपके खानपान पर ध्यान देने का संकेत है, क्योंकि यह सीधे तौर पर आपके खानपान से जुड़ा है।  गैस एवं बदहज़मी की समस्या के प्रमुख कारण अधिक खाना, अस्वास्थ्यकर खानपान या खाने के तुरंत बाद सो जाना है।

वैसे तो डॉक्टर द्वारा प्रस्तावित दवाइयों से काफी हद तक आराम मिल सकता है, परन्तु आप अपने खानपान में परिवर्तन लाकर कुछ स्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थों को अपने खानपान में शामिल करके शरीर में बदहज़मी एवं गैस का उत्पादन कम कर सकते हैं।  इन खाद्य पदार्थों में प्रमुख हैं:

अदरक (Ginger)

एसिडिटी के उपचार हेतु घरेलु नुस्खे

यह जलनरोधी गुण प्राप्त करने का एक अच्छा स्त्रोत है जो गैस एवं बदहजमी की समस्या से आपको राहत प्रदान करता है।  इसके अलावा यह ऐसा कुछ नहीं है जो आपके रोज़ाना की दिनचर्या में अपनाया जा सके। अदरक का प्रयोग रसोइयों में एक अलग स्वाद लाने के लिए किया जाता है।  अतः आपको सिर्फ यह सुनिश्चित करना है कि आप इसे किसकर या काटकर अपने भोजन में डालें। कई लोग बढ़िया स्वाद के लिए चाय में भी अदरक का इस्तेमाल करते हैं।

ऐस्पैरागस (Asparagus)

यह खाद्य पदार्थ खनिज एवं विटामिन्स (vitamins) से युक्त होते हैं।  यह मूत्रवर्धक भी होते हैं।  ऐस्पैरागस आँतों में अच्छे बैक्टीरिया (bacteria) के उत्पादन में सहायता करता है।  यह बैक्टीरिया गैस बनने की संभावनाएं काफी कम करता है।  अतः इसका रोजाना सेवन करने से बदहजमी की समस्या से काफी राहत मिलती है।

पपीता (Papaya)

गैस एवं बदहजमी से ग्रस्त लोगों को आमतौर पर कम वसा वाले प्रोटीन्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इससे गैस उत्पन्न होता है।  पपीता पपेन (papain), जो कि हाजमे में सहायता करने वाला एंजाइम (enzyme) है, की मौजूदगी की वजह से प्रोटीन युक्त भोजन तोड़ने में मदद करता है। पपीता एंटीऑक्सीडेंटस (antioxidants) से भरपूर होता है एवं हाजमे में सहायता करता है।

फाइबर (Fiber)

फाइबर एक व्यक्ति के स्वास्थ्य में कई प्रकार से बढ़ोत्तरी करता है। यह किसी अन्य खाद्य पदार्थ की तुलना में पेट को अधिक भरा प्रतीत करवाता है।  यह आसानी से मल मूत्र की निकासी में मदद करके पाचन प्रणाली को सुचारू बनाता है।  इसे अपने खानपान में शामिल करने से आपको पेट की सूजन एवं दर्द से काफी आराम मिल सकता है।

योगर्ट (Yogurt)

ऐस्पैरागस की तरह ही योगर्ट भी अच्छे बैक्टीरिया का उत्पादन करता है जो मानव शरीर में पाचन की प्रक्रिया को तेज़ करते हैं।  सही प्रकार से भोजन का हज़म होना शरीर में गैस कम करने के लिए काफी आवश्यक है।

अन्य फल एवं सब्ज़ियां (Other fruits and vegetables)

पेट की एसिडिटी को नियंत्रित और शांत करने के लिए घरेलू उपचार

गैस एवं बदहज़मी दूर करने के लिए आपके लिए आदर्श फल एवं सब्ज़ियों का चुनाव करना काफी आवश्यक है। अधिक मात्रा में एल्कलाइन (alkaline) भोजन जैसे हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, अवोकेडो (avocado) एवं केले का सेवन करें। एसिडिक रिफ्लक्स को कम करने के लिए अम्लीय फलों जैसे अंगूर, संतरे एवं टमाटर के सेवन से परहेज करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,914 other subscribers

जड़ीबूटियां (Herbs)

एक स्वास्थ्यकर खानपान योजना के लिए तैलीय एवं मसालेदार भोजन से बिल्कुल दूर रहें। आप कुछ अच्छी जड़ीबूटियों जैसे पुदीना, दालचीनी, लौंग एवं सौंफ का सेवनं कर सकते हैं क्योंकि आपकी पाचन प्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में सहायता करते हैं।

यदि आप स्वस्थ खानपान पर ध्यान नहीं देंगे, तो दवाइयां भी गैस एवं बदहज़मी को दूर करने में आपको ज़्यादा राहत प्रदान नहीं कर पाएंगी। इसके अलावा डॉक्टर की प्रस्तावित दवाइयां इस समस्या का इलाज नहीं हैं।  खानपान में थोड़ा सा बदलाव एवं तैलीय तथा मसालेदार भोजन से हल्का परहेज़ करने भर से ही आपकी समस्या जड़ से समाप्त हो जाएगी।

loading...