Hindi home remedies for freckles – काली झाइयां क्यों होती है? झाइयां के मिटाने के लिए घरेलू उपाय

झाइयां क्यों होती है? (Why do freckles appear?)

त्वचा चिकित्सक के अनुसार, झाई त्वचा मे हाइपर पिगमेंटेशन के कारण होती है| हाइपरपिगमेंटेशन मेलेनिन के बढ़ने से होती है| आनुवंशिक, धूप से सीधा संपर्क, हार्मोनल गड़बड़ यह सब इसके आम कारण हो सकते है|

इसके बहुत से उपचार मौजूद है| यह उपचार बहुत ही महँगे हो सकते है और त्वचा को नुकसान पहुँचा सकते है और दूसरे दुष्प्रभाव भी हो सकते है| झाई के दागों को प्रकृति की मदद से हटाना प्राचीन काल से चला आ रहा है| सामग्रियाँ आसानी से मिल जाती है इन उपचारों से दुष्प्रभाव नही होता | कामयाबी निश्चित है|

काली झाइयां से बचाव के लिए प्रकृति की देन (Nature’s army to rescue)

हरा धनिया (Coriander leaves)

झाइयां के मिटाने के लिए ताजे हरे धनिये की पत्तियों को पीस कर पेस्ट बना लें. इस पेस्ट को काली झाइयों के साथ चेहरे के दाग धब्बों पर भी लगाया जा सकता है. इससे त्वचा पर पड़े निशाँ और दाग धीरे धीरे गायब होने लगते हैं, इसे लगाकर सूखने दें और उसके बाद चेहरे को सादे पानी से धो लें.

पपीता (Papaya)

पपीते में विरंजक तत्वों की मौजूदगी त्वचा के रंग को हल्का बनाने में मदद करती है इसीलिए झाइयां के मिटाने केलिए पपीते का प्रयोग बहुत फायदेमंद होता है. इसके लिए पके हुए पपीते को मसल कर पेस्ट की तरह बना लें और इसमें एक चुटकी हल्दी मिला लें, अगर आपको हल्दी से किसी तरह की समस्या हो तो इस प्रयोग को बिना हल्दी के भी किया जा सकता है.

नींबू और शहद का पैक (Lemon honey pack)

नींबू और शहद दोनों ही त्वचा और चेहरे के लिए बहुत उपयोगी तत्व हैं, इनसे चेहरे की त्वचा को उज्जवलता मिलती है. इन दोनों को समान मात्रा में मिलाकर मिक्स करें और इसे चेहरे के प्रभावित हिस्से में लगा के कुछ देर रखें| लाभ के लिए इस प्रयोग को रोजाना करें|

चुकंदर का रस (Beet root and tomato juice)

चुकंदर के रस में त्वचा को निखर देने का गुण होता है इसे टमाटर के रस के साथ मिलाकर लगाने से भी चेहरे की झाइयां दूर हो जाती हैं| झाइयों पर चुकंदर और टमाटर के रस का मिश्रण लगा कर सूखने के लिए छोड़ दें और सूखने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें|

नींबू (Lemon)

नींबू एक शक्तिशाली वीरंजन एजेंट है इसलिए वह व्यापक रूप से हर्बल सौंदर्य प्रसाधनो मे इस्तेमाल किया जाता है| नींबू का रस चेहरे पर झाइयों से बचने के लिए काम करता है और त्वचा को चमकता है|

  • ताज़े नींबू को पतले पतले टुकड़ो मे काटे| उसे अपने चेहरे और प्रभावित जगहों पर रखे| १०-१५ मिनट तक चेहरे पर नींबू का रस सोखने दे| फिर नींबू क्र टुकड़ो को हटाएँ और गुनगुने पानी से धो ले|
  • ताज़े नींबू से रस को निचोड़ ले| जूस को रूई मे सोखने दे | उसको चेहरे पर २ मिनट तक सही से लगाएँ | १५ मिनट तक सूखने दे| फिर गरम पानी से धुल ले | इस प्रक्रिया के बाद नमी प्रदायक क्रीम लगाना ना भूले |
  • आप खुद ही नींबू का स्क्रब बनाएँ | आप थोड़ा सा नमक नींबू के टुकड़े पर छिड़के| फिर उससे अपना चेहरा मले|
  • आप एक चम्मच चीनी भी इस्तेमाल कर सकते है| उसे नींबू के रस के साथ मिलाएँ| फिर उसे चेहरे पर लगाएँ|

शहद(Honey)

शहद मे बहुत से उपयोगिक इन्जाइम होते है जो की त्वचा के काले धब्बों को सॉफ करती है| यह नामी प्रदायक का भी काम करता है|

  • एक बर्तन मे शहद गर्म कर ले| गर्म करने की वजह से इन्जाइम्स सक्रिय हो जाएँगे| अपने चेहरे के धब्बों पर इन्हे सही से लगाएँ| सूखने तक छोड़ दे| फिर गरम पानी से धुल ले| यह प्रक्रिया महीनों तक दोहरायें|
  • अंकुरित गेहूँ और शहद से फेस पैक बनाएँ | इसे रोज़ इस्तेमाल करे और १० मिनट तक रहने दे| बाद मे ठंडे पानी से धो ले| यह हफ्ते मे २ या ३ बार इस्तेमाल करे|
  • झाइयों से बचने के लिए शहद को नींबू के रस के साथ मिलाएँ, इस मिश्रण मे चुटकी भर नमक भी डाले | चेहरे पर काली छाया पर रोज़ १ या २ बार इसे लगाएँ| जहाँ नींबू त्वचा को वीरंजन करता है वही शहद त्वचा को नामी प्रदान करता है|

चेहरे पर काली छाया का फलों से देसी इलाज (freckles with Unleash the power of fruits)

जैसे शहद कुछ और फलों मे भी इन्जाइम्स पाए जाते है जो मेलेनिन के स्तर को कम करते है|

  • जामुन का रस त्वचा को सॉफ करने मे और झाइयों से बचने के लिए बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है| हाइड्रोक़्विनों और आर्ब्यूटिन बीयर बेरी मे पाए जाते है | यह युवा उर्वसि के नाम से भी जानी जाती है| यह सारे तत्व त्वचा मे सफ़ेदी लाते है और झाइयां के मिटाने के लिए करते है| बीयर बेरी का रस पपीते के साथ या ओटमील पावडर के साथ मिलाया जाए तो अच्छा परिणाम देता है|
  • शहतूत के रस मे भी वही तत्व पाए जाते है जो बीयर बेरी मे पाए जाते है| झाई रहित त्वचा पाना हो तो शहतूत का रस अपने चेहरे पर लगाएँ या इसका जूस पिए इससे झाइयां दूर हो जाता है|
  • फ्रूट फेस पैक बनाने के लिए ताज़ी स्ट्राबेरी , कीवी पिसे हुए अखरोट से मिलाएँ| इस पैक को चेहरे पर लगा कर सूखने के लिए छोड़ दे| मास्क को हटाएँ | चेहरा धूल ले| आप किवी की जगह खीरा या एलोवेरा का भी इस्तेमाल कर सकते है|

चेहरे पर काली छाया का सब्जी से इलाज (Vegetable cure)

  • प्याज़ मे सल्फर पाया जाता है| यह डेड स्किन सेल को हटाता है और नई स्किन लाता है| चेहरे पर ताज़गी आती है| कटे हुए प्याज़ से रस निकाले| सेब के सिरके के साथ उसे मिलाए| यह घोल दाग पर लगाए| ३० मिनट तक रखे फिर धो ले|
  • उबले हुए कबूले चने और मसली हुई आलू को थोड़े से शहद या नींबू के रस मे मिला कर लगाए| यह भी अच्छा पैक साबित होगा|
  • ताज़े बैंगन का रस चेहरे पर मले| यह उपाय कम जाना जाता है पर बेहतर है|

झाइयों के लिए डेयरी उत्पाद (Dairy products for removing spots)

खट्टा दूध और मलाई (Sour milk and sour cream)

  • दिन मे ३-४ बार आप खट्टे दूध से चेहरा धोए|
  • मलाई को आप फेस मास्क के जैसे इस्तेमाल करे| १५-२० मिनट के बाद उसे निकाले| फिर ठंडे पानी से चेहरा धोए| यह प्रक्रिया आप १ साल तक करे, इससे झाइयां दूर हो जाता है

छाछ और दही (Buttermilk and Yogurt)

  • छाछ मे १ चम्मच नींबू का रस मिला कर चेहरे पर लगाए|
  • छाछ को आप पीली सरसों के पेस्ट के साथ मिला कर चेहरे पर लगाए| यह झाई को ठीक करता है| यह चेहरे पर निखार भी लाता है|
  • दही को नींबू के रस के साथ या मलाई के साथ मिला कर लगाए लाभ करेगा|

झाइयों से बचने के लिए याद रखने योग्य चीज़े (Things to remember)

  • यह ज़रूरी नही की उपर दी गयी सभी चीज़ें आपके लिए १००% सुरक्षित हो| यह निश्चित कर ले की उपर दी गई सामग्रियों से आपको कोई एलर्जी न हो| फल और सब्जी सब ताज़ा होनी चाहिए|
  • यह आपको पहले ही बता रखा है की सीधे सूरज की धूप पड़ने से झाई होती है| झाइयों से बचने के लिए यह सब उपाय तभी असर करेंगे जब आप धूप से बचेंगे| इसके लिए आपको संसक्रीन लोशन SPF 30 का इस्तेमाल करना पड़ेगा|
  • झाइयों से बचने के लिए इन उपायो को करने के बाद चेहरा सही से धोए|
  • अपने आहार मे हरी सब्ज़ियाँ और फल ज़्यादा ले| त्वचा को पोषण गहराई से मिलना ज़रूरी है|
  • आख़िरी पर अंतिम नही, धैर्या रखे| घरेलू उपाय कोई जादू नही की उपाय किया और तुरंत असर हो गया| तुरंत परिणाम पाने के लिए आप इनका अति प्रयोग न करे| नही तो नुकसान पहुँचा देगा|