Fruit hair masks in Hindi – बालों की समस्याओं के लिए फलों के हेयर पैक्स

हम सब जानते हैं कि स्वादिष्ट फल हमारे शरीर के लिए कितने पौष्टिक होते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये फल आपके बालों के लिए भी उपयोगी हो सकते हैं, आइये जानते हैं –

केमिकल से खराब हुये बालों का इलाज (Treat the chemical damaged hair)

केमिकल के अधिक प्रयोग से ख़राब हुये बालों को फिर से पाने के लिए निम्नलिखित हेयर पैक का इस्तेमाल करें।

एक केला, एक अंडे का योक और एक चम्मच नीबू का रस लें, इस सामग्री को एक कटोरी में मिक्स करके पेस्ट बना लें इस पेस्ट को अपने बालों पर लगायें और 30 से 40 मिनिट बाद पानी से धो लें। साफ़ तौलिये से बालों को सुखा लें यह आपके बालों जबर्दस्त असर करता है।

कड़े बालों,रूखे, सूखे बालों के लिए चिकित्सा (Treat the straw hair – baalon ke liye tips)

घने बाल पाने के टिप्स

हेयर कलर के अत्यधिक प्रयोग से क्या आपके बाल किसी स्ट्रा जैसे हो गये हैं तो चिंतित न हों और नीचे दिये गये हेयर पैक को अपनाएँ।

2 चम्मच नीम पाउडर को एक कप बियर में मिलायें और इसमें एक कप केले का पेस्ट और एक कप पपीते का पेस्ट मिला लें, इस सारी सामग्री को एक कटोरी में लेकर थोड़ा सा गुनगुना पानी मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपने सर पर लगाकर 30 मिनिट बाद गुनगुने पानी से धो लें। आपके बाल मुलायम और चमकदार होकर खिल उठेंगे।

स्कैल्प की खुजली का इलाज (Treat your itchy scalp)

क्या आप पूरे दिन बालों को खुजलाते रहते हैं? अगर हाँ तो इसका कारण रुसी हो सकता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए निम्न फ्रूट हेयर पैक का उपयोग करें।

आधा कप करोंदे का जूस, एक कप दही और दो चम्मच नीबू का रस मिलायें, इस पूरी सामग्री को एक कटोरी में ले कर महीन पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपने सर पर लगा कर एक घंटे के लिए छोड़ें। अब इसे हलके गुनगुने पानी से धो लें और कंडीशनर का प्रयोग करें। यह हेयर पैक आपके बालों को रुसी मुक्त करके चमकदार एवं आकर्षक बना देता है।

झड़ते बालों का इलाज (Treat hair fall – hair ke liye tips)

बाल झड़ने के घरेलू उपाय, बालों के लगातार झड़ते रहने से आपके बाल पतले होने लगते हैं। इन्हें रोकने के लिए मेथी दाना और एवोकाडो के निर्मित निम्न हेयर पैक का प्रयोग करें।

आधा एवोकाडो को मसल लें और इस मसले हुये पेस्ट में 3 चम्मच मेथी दाने का पेस्ट और एक चौथाई कप ग्रीन टी, थोड़े से गुनगुने पानी के साथ मिलायें। पूरी सामग्री को अच्छे से मिलाकर बालों में लगायें। यह हेयर मास्क झड़ते बालों को रोकने के लिए बेहतर परिणाम देता है इसे नियमित रूप से इस्तेमाल करें।

दोमुंहे / दो-मुहें/स्प्लिट एंड्स बालों के बेहतर घरेलू उपचार

ऑइली स्‍कैल्‍प और ग्रेसी स्कैल्प का इलाज (Treat greasy and oily scalp)

बहुत से लोग हैं जो चिकने या ग्रेसी स्कैल्प से परेशान होते हैं, इस परेशानी से मुक्ति पाने के लिए निम्न प्रयोग करें।

3 चम्मच संतरे का रस लें, इसमें एक कप दही, तीन चम्मच आमला पाउडर और एक चम्मच तुलसी की पत्तियों का पाउडर मिला लें, इस पूरी सामग्री को अच्छे से मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे बालों, स्कैल्प और छोरों पर अच्छे से लगायें। इस पेस्ट को 40 से 60 मिनिट तक लगायें रखें और फिर हल्के गुनगुने पानी से धो लें।

हार्मोनल समस्याएं (Hormonal problems)

एक व्यक्ति के हॉर्मोन की आधार पर सेबेशियस (sebaceous) ग्रन्थियां तेल का उत्पादन करती हैं। सिर की त्वचा में हॉर्मोन की असमानताओं की वजह से तेल का उत्पादन ज्यादा हो सकता है। किशोरावस्था में ज़्यादा मात्रा में आपको मुहांसों, एक्ने और डैन्ड्रफ (acne and dandruff) का सामना करना पड़ता है क्योंकि इस उम्र में हॉर्मोन काफी चंचल होते हैं। सीबम (sebum) और बालों में तेल का ज़्यादा उत्पादन मासिक धर्म और गर्भावस्था के दौरान हॉर्मोन में परिवर्तन की वजह से होता है।

तनाव (Stress)

भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक या शारीरिक तनाव से सेबेशियस ग्रंथियों में सीबम का उत्पादन ज़्यादा मात्रा में होता है। तनाव की वजह से एड्रेनल (adrenal) हॉर्मोन ज्यादा निकलता है जो चेहरे और सिर की त्वचा को प्रभावित करता है जहां सेबेशियस ग्रंथियां स्थित होती हैं। इसकी वजह से चेहरे और सिर की त्वचा में तेल की मात्रा में बढ़ोत्तरी हो जाती है।

बीमारियाँ (Diseases)

बीमारियों और पियूष तथा एड्रेनल ग्रंथियों एवं गर्भाशय की समस्याओं की वजह से भी सीबम का उत्पादन बढ़ जाता है, जिससे चेहरे और सिर की त्वचा में तेल की मात्रा बढ़ जाती है। दवाइयों और स्टेरॉयडस (steroids) के फलस्वरूप भी सीबम का उत्पादन बढ़ सकता है।

खाद्य आदतें (Food habits)

बालों को रंगने के लिए हिना / मेंहदी का उपयोग कैसे करें?

अस्वास्थ्यकर खाद्य आदतों एवं डिब्बाबंद और जंक (junk) भोजन के सेवन से भी सिर के भाग और त्वचा में तेल की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसा भोजन करें जो स्वास्थ्यकर एवं फलों, सब्जियों और साबुत अनाजों से भरपूर हो। इन खाद्य पदार्थों में आपके शरीर को विटामिन्स (vitamins), खनिज पदार्थ और अन्य पोषक तत्व पहुंचाने की क्षमता होनी चाहिए।

बालों के उत्पादों का अत्यधिक प्रयोग (Overuse of hair products)

बालों के उत्पाद जैसे कंडीशनर (conditioners) और बालों के मास्क (masks) एवं बालों की स्टाइलिंग (styling) के उत्पाद जैसे हेयर मुज़, पोमेड, जेल्स, हेयर स्प्रेस (hair mousse, pomade, gels, hair sprays) के अत्याधिक प्रयोग और इन्हें अच्छे से ना धो पाने के फलस्वरूप भी सिर की त्वचा में तेल की मात्रा के बढ़ने, खुजली और चिडचिडेपन की समस्या जन्म लेती है। अतः रसायन युक्त कृत्रिम उत्पादों के प्रयोग से परहेज करें।

नुस्खे (Tips)

ध्यान करें (Do meditation)

ध्यान करना काफी आसान है और इसमें आपके पैसे भी खर्च नहीं होते। इसका प्रयोग कोई भी कर सकता है। इसकी मदद से आपके मस्तिष्क से सारी दुश्चिंताएं दूर हो जाएँगी जो आपके तनाव का कारण बनती हैं और हार्मोनल असमानताओं को जन्म देती हैं। ध्यान आपके भावनात्मक और शारीरिक स्वास्थ्य का ख्याल रखने के साथ ही आपके बालों के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखता है।

गहरी सांसें लें (Breathe deeply)

कई योग की तकनीकों में गहरी साँस लेने को काफी महत्वपूर्ण स्थान दिया जाता है। यह इतना आसान है कि आप इसे कहीं भी और कभी भी कर सकते हैं। सिर्फ 5 मिनट का अंतराल लें, सीधे बैठें या खड़े रहें और आँखें बंद करके सिर्फ सांस लेने पर ध्यान दें। नाक से साँस अन्दर खींचें, अपने पेट तक हवा जाती हुई महसूस करें और इसके सिर की तरफ जाने की भी प्रतीक्षा करें। अब इस प्रक्रिया को उल्टा कर दें और हवा को नीचे आते हुए तथा नाक से निकलते हुए महसूस करें। लम्बी सांस लेने से बालों की कई समस्याओं का समाधान होता है।

ध्यान की स्थिति में भी व्यायाम करें (Exercise, even if in meditation)

व्यायाम से ना सिर्फ आपका शरीर स्वस्थ रहता है, बल्कि इससे आपका तनाव भी दूर होता है। चहलकदमी, योग, तैराकी, एरोबिक्स (aerobics), खेलकूद आदि से रसायन निकलते हैं जो आपको अच्छा महसूस करवाकर आपके शरीर एवं मस्तिष्क से तनाव दूर करते हैं और इसे स्वस्थ रखते हैं।

हल्की स्किन टोन के लिए बेहतरीन हेयर कलर

मन की इच्छाओं को बाहर निकालें (Express yourself, vent our your feelings)

तनाव से लड़ने के लिए समाज का सहारा काफी ज़रूरी होता है। अपने जीवनसाथी, दोस्तों या परिवार के लोगों से आमने सामने बैठकर या फ़ोन (phone) पर बातचीत करें। अगर आप बातचीत करने में असमर्थ हैं तो अपने मन की भावनाओं को लिखकर व्यक्त करें। अगर आप कागज़ में अपने मन की बातों को लिखने की आदत डालें तो इससे तनाव काफी आसानी से दूर हो सकता है। तनाव से दूर रहने पर आप बालों के झड़ने जैसी गंभीर बीमारियों से भी बचकर रह पाएंगे।

अपने स्वास्थ्य का अच्छे से ख्याल रखें (Take good care of your health)

किसी चीज़ की देखभाल करने से उसे लम्बे समय तक संभालकर रखा जा सकता है। यह बात बालों पर भी लागू होती है। अपने बालों को साफ़ करने की पद्दति निश्चित करें। बालों को रंगने या उनकी स्टाइलिंग के लिए कठोर रसायनों का प्रयोग ना करें। नीचे कुछ नुस्खे दिए जा रहे हैं जिनसे आपके बालों की देखभाल भी होगी और ये झड़ने से भी बचेंगे।

  • बालों पर गर्मी देने और विभिन्न प्रकार से उन्हें रंगने का प्रयास ना करें। आंच से बालों के प्रोटीन (Proteins) कमज़ोर हो जाते हैं, जिससे बालों के झड़ने की समस्या पैदा होती है। इसी वजह से हेयर ड्रायर्स, हॉट कर्लर्स, हॉट ब्रशेस, हेयर स्ट्रेटनर, हेयर फ़ास्टनर्स (hair dryers, hot curlers, hot brushes, hair straightener, hair fasteners) आदि का प्रयोग कम करें।
  • खराब गुणवत्ता के रबर बैंड्स और इलास्टिक्स (rubber bands, elastics) आदि का प्रयोग ना करें। बालों को कसकर बाँधने से आपके बाल टूट सकते हैं और इससे बालों की हानि भी होती है। कसी हुई बालों की स्टाइल के फलस्वरूप बालों के झड़ने को एक चिकित्सकीय नाम दिया गया है, जिसे ट्रैक्शन (traction) कहा जाता है। अतः बालों की ऐसी स्टाइल का प्रयोग ना करें।
  • गीले बालों पर कंघी ना करें। इससे आपके बाल झड़ने काफी कम होंगे। इसके अलावा चौड़े और नर्म दांतों वाली कंघी का प्रयोग करें।
loading...