Fruits & vegetables that causes gas in Hindi – गैस पैदा करने वाले फल एवं सब्जियां

वर्तमान युग में हर चीज़ काफी आसानी से उपलब्ध है, और यह सिर्फ विज्ञान ही नहीं बल्कि खानपान के क्षेत्र में भी उपलब्ध है। अब जबकि लोग कई प्रकार की मशीनें एवं बर्तन ले आये हैं, भोजन बनाना काफी आसान है। यह विश्व भर में एक जाना माना तथ्य है कि फ़ास्ट फ़ूड (fast food) मनुष्यों के लिए अच्छा नहीं होता, पर फिर भी लोग इसे खाना पसंद करते हैं।

यह भी मानी हुई बात है कि पेट में गैस होने की प्रमुख वजह भोजन है;गैस की समस्या से बचने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों की एक सूची है जिनसे परहेज़ करना ज़रूरी है। ऐसे कुछ खास भोज्य पदार्थ हैं जो पेट में गैस उत्पन्न करते हैं। इनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

बीन्स (Beans)

गैस से लड़ने वाले प्राकृतिक खाद्य पदार्थ

ऐसा देखा गया है कि बीन्स में कुछ ख़ास प्रकार की चीनी जैसे ट्रिपल शुगर, स्टैच्युस, क्वाड्रूपल शुगर, रैफीनोज़ (triple sugar, stachyose, a quadruple sugar, raffinose) एवं वार्बसकोस (verbascose) नामक चीनी होती है, जिसे आसानी से हज़म नहीं किया जा सकता।अतः ये बड़ी आंत में चले जाते हैं। जब ये चीनी ऊतकों के काफी पास आ जाती है तो यह किण्वित होने लगती है, क्योंकि एंजाइम्स छूटे होने के कारण इन्हें पहले तोडा नहीं गया होता। इस किण्वन की वजह से गैस बनती है।

फूलगोभी (Cauliflower)

फूलगोभी एक क्रूसीफेरस (cruciferous) सब्जी है। क्रूसीफेरस सब्जियों में एक प्रकार की चीनी मौजूद होती है जिसे रैफीनोज़ कहते हैं। हमारे शरीर में इस चीनी को तोड़ने के लिए आवश्यक एंजाइम नहीं होते। अतः जब ये बड़ी आंत के पास से गुज़रते हैं तो गैस का कारण बनते हैं।

प्याज (Onion)

हालांकि इसका सेवन अधिकतर लोगों द्वारा काफी अधिक मात्रा में किया जाता है, प्याज की वजह से भी पेट में गैस बन सकती है। प्याज में फ्रुक्टोज़ (fructose) नामक चीनी मौजूद होती है, जो आँतों में गैस पैदा करने का प्रमुख कारक होती है।

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स (Brussels sprouts)

ब्रुसेल्स स्प्राउट्स में काफी उच्च मात्रा में सेल्यूलोस (cellulose) मौजूद होता है, जो हमारे शरीर की पाचन प्रणाली द्वारा पचाना काफी मुश्किल है। इसी वजह से स्प्रोउट का का एक बड़ा भाग ऊतकों में आता है जहां इसे आँतों की बैक्टीरिया (bacteria) द्वारा पचाया जाता है।

गाजर (Carrots)

बदहज़मी दूर करने में सहायक खाद्य पदार्थ

गाजर आँखों के लिए काफी अच्छे होते हैं पर ये आपकी गैस का कारण भी बन सकते हैं। डॉक्टरों ने कहा है कि कच्चे गाजर खाना गैस होने का एक बड़ा कारण है। एक कप गाजर में 12-15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स (carbohydrates) होता है। जब ये कार्बोहाइड्रेट्स बिना पचे हुए आँतों में पहुँचते हैं तो गैस का कारण बनते हैं।

सेब (Apples)

सेब का सेवन करते समय आपको फ्रुक्टोज़ के शरीर में सही प्रकार से ना सोखने के सम्बन्ध में सावधान रहना पड़ेगा। सेब में सोर्बिटोल (sorbitol) पाया जाता है जो गैस की सृष्टि करता है, क्योंकि इनमें मौजूद प्राकृतिक चीनी आपका शरीर सोख नहीं पाता।

केला (Banana)

हालांकि केला शरीर को शक्ति प्रदान करता है, पर गैस की समस्या से ग्रसित लोगों को इससे परहेज करना चाहिए। केले में फाइबर (fiber) एवं फ्रुक्टोज़ होता है और ये दोनों ही गैस पैदा करने के अहम कारक हैं। जब बड़ी आंत में फाइबर तोडा जाता है तो गैस उत्पन्न होती है क्योंकि फ्रुक्टोज़ भी आसानी से ना पचकर समान समस्या की सृष्टि करती है। एक बार में अधिक केले खाना भी सही नहीं है क्योंकि हमारे शरीर को एक समय में इतनी अधिक मात्रा में फाइबर एवं फ्रुक्टोज़ की आदत नहीं होती है।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,881 other subscribers

किशमिश (Raisins)

Rकिशमिश मुख्य रूप से चीनी एवं फाइबर से बनी होती है। काफी मात्रा में किशमिश का सेवन करने से गैस बनती है।किशमिश में ग्लूकोज़ (glucose) एवं फ्रुक्टोज़ नामक चीनी मौजूद होती है। इसमें मौजूद फ्रुक्टोज़ उन लोगों में गैस की सृष्टि कर सकता है जिन्हें ये सहन नहीं होता है। यदि किसी व्यक्ति को एक साथ काफी मात्रा में फाइबर लेने की आदत नहीं होती तो उसे किशमिश का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से गैस की समस्या हो सकती है।