How to make hips grow bigger – Exercises and home remedies in hindi – हिप्स को बड़ा करने के व्यायाम और घरेलू विधियां

बड़े हिप्स/नितंबों से आपको आसानी से एक काफी खूबसूरत स्वरुप प्राप्त हो सकता है, जिसकी हर महिला दिल से कामना करती है। बड़े हिप्स महिलाओं की सुंदरता का प्रमाण माने जाते हैं और हमारे ज़्यादातर पसंदीदा सितारे अपने बड़े हिप्स (hips ko mota karna) की वजह से काफी प्रसिद्ध हैं। हममें से सभी को आनुवांशिक रूप से बड़े कूल्हे प्राप्त नहीं होते, पर अगर आप बेहतरीन फिगर (figure) के लिए अपने कूल्हों को बड़ा करना चाहती हैं, और इसके लिए आप ज़्यादा मेहनत करने के लिए भी तैयार हैं तो बिना किसी शल्य क्रिया के आप प्राकृतिक रूप से बड़े कूल्हे प्राप्त कर सकती हैं। इन्हें बड़ा करने का राज़ है अच्छा व्यायाम और पोषक आहार। नीचे इनके बारे में और भी ज्यादा जानकारी दी गयी है।

कूल्हों को बड़ा करने के लिए खानपान (The diet to grow your butts)

प्रोटीन्स (Proteins) : प्रोटीन्स हमेशा से मांसपेशियों की बढ़त के लिए सबसे ज़रूरी तत्व माना जाता है, और अगर आप अपने कूल्हे बड़े करना चाहती हैं तो पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना काफी आवश्यक है। प्रोटीन युक्त जिन खाद्य पदार्थों का आप चयन करें, उनमें मौजूद एमिनो एसिड (amino acid) का संतुलन बिलकुल आपके शरीर के जैसा होना चाहिए। इससे आपके शरीर को तेज़ी से प्रोटीन सोखने में सहायता मिलेगी और इससे आपकी मांसपेशियों की बढ़त भी काफी तेज़ी से होगी। प्रोटीन की भरपूर मात्रा वाले कुछ भोजन हैं  – मछलियाँ, पोल्ट्री पक्षी (poultry birds), बीन्स (beans) और अंडे। अतः इन सारे खाद्य पदार्थों को पर्याप्त मात्रा में अपने रोज़ाना के भोजन में शामिल करने तथा इसके साथ सही रूप से व्यायाम करने से आपके कूल्हों का आकार बड़ा होगा।

महिलाओं के लिए शरीर की देखभाल के नुस्खे

बड़े हिप्स  के लिए मिश्रित नट्स (How to grow hips in Hindi with Mixed nuts) : नट्स प्रोटीन और अच्छे वसा के सबसे बेहतरीन स्त्रोतों में से एक माना जाता है। इनमें विभिन्न प्रकार के विटामिन, मिनरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट्स (vitamins, minerals and anti-oxidants) भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं, जो आपकी मांसपेशियों को सुडौल बनाने तथा आपको स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इससे आपके कूल्हों/नितंबों की मांसपेशियों में भी काफी बढ़त दर्ज की जाती है।

हरी सब्ज़ियाँ से बड़े नितंब (How to grow nithambe in Hindi with Green vegetables) : हरी सब्ज़ियाँ शरीर को विटामिन और मिनरल प्रदान करने का मुख्य स्त्रोत मानी जाती हैं। इनसे आपको काफी मात्रा में खाद्य फाइबर्स (dietary fibers) होते हैं,  जो आपके हाज़मे को स्वस्थ बनाए रखते हैं तथा पोषक पदार्थों को शरीर में समाने में आपकी सहायता करते हैं। अतः अगर आप बड़े कूल्हे/नितंब पाना चाहती हैं, तो आपके लिए पर्याप्त मात्रा में अपने खानपान में हरी सब्ज़ियाँ शामिल करना काफी ज़रूरी है।

कूल्हों को बड़ा करने के व्यायाम (Exercises to grow your buts)

स्क्वाट्स (Squats)

unnamed

हिप्स का आकार कम कैसे करें ?

कूल्हों की मांसपेशियों में बढ़त दर्ज करने के लिए स्क्वाट्स सबसे बेहतरीन व्यायामों में से एक है। यह व्यायाम सीधे कूल्हों की मांसपेशियों पर कार्य करता है तथा इन्हें बड़ा करने में सहायता करता है। आप सामान्य स्क्वाट के प्रकार में थोड़ी सी विविधता लाकर और भी तेज़ परिणाम प्राप्त कर सकती हैं। अपने कन्धों और पैरों को फैलाकर रखें तथा अपने हाथों को अपने सामने सीधा फैलाकर रखें। अब अपने शरीर के ऊपरी भाग को स्थिर और सीधा रखते हुए अपनबी कोहनियों को मोड़ने का प्रयास करें। एक बार जब आपका शरीर आपकी कोहनियों की सहायता से 90 डिग्री का कोण बना ले तो इस मुद्रा में स्थिर हो जाएं। अपने कूल्हों की मांसपेशियों को 5 सेकंड तक दबाएं तथा इसके बाद आराम करें। अब अपने धड़ या ऊपरी भाग को हिलाए बिना सीढ़ी मुद्रा धारण कर लें। इस प्रक्रिया को शुरू में 3 से 5 बार दोहराएं तथा धीरे धीरे इन्हें बढ़ाते जाएं।

फ्रंट लंजेस (Front lunges se kulhon ko bada banaye)

unnamed (1)

एक किलो के दो डम्बेल्स को अपने दो हाथों में लें तथा सीधे खड़े होकर अपने हाथों को शरीर के पास रखें। अब अपने दायें पैर की सहायता से एक लंबा कदम आगे लें और अपना बायां पैर एक जगह स्थिर रखें। आपके दोनों पैर 90 डिग्री के कोण पर मुड़ने चाहिए और हाथों में डम्बेल्स के साथ आपका धड़ भी आगे की ओर आना चाहिए। अब इस मुद्रा को 5 सेकंड तक बनाए रखें एवं इसके बाद यही प्रक्रिया अपने दूसरे पैर के साथ भी आज़माएं। इस प्रक्रिया को 3 से 5 बार दोहराएं तथा धीरे धीरे इसे बढ़ाते जाएं। इस व्यायाम से आपके कूल्हों/नितंबों की मांसपेशियां सुडौल बनती हैं तथा उनका विकास सुनिश्चित होता है।

साइड लंजेस (Side Lunges)

unnamed

खूबसूरत ब्रेस्ट / स्तन प्राप्त करने के टिप्स

साइड लंजेस के अंतर्गत आपको अपने पैरों को अपने शरीर के कोनों की तरफ मोड़ना होता है। यह सामान्य लंजेस से अलग है जिसमें आपको अपना धड़ बिलकुल ऊँचा एवं सीधा रखना पड़ता है। साइड लंजेस नितम्बों की मांसपेशियों को बढ़ाने में काफी उत्तम सिद्ध होते हैं।

साइड लेग लिफ्ट्स (Side leg lifts)

unnamed

यह एक काफी आसान व्यायाम है तथा कूल्हों की मांसपेशियों के लिए काफी फायदेमंद भी है। एक तरफ होकर लेट जाएं तथा अपने पैरों को अपने हाथों के सहारे से अपने शरीर से तिरछे रूप में तब तक ऊपर उठाएं, जब तक यह ऐसी स्थिति में ना पहुँच जाए जहां आपको यह अहसास हो कि आपके कूल्हे की मांसपेशियों मं खिंचाव उत्पन्न हो रहा है। इस मुद्रा में 5 सेकंड तक रहें तथा धीरे धीरे अपने पैर को नीचे लाकर आराम दें। यही प्रक्रिया अपने दूसरे पैर के साथ भी दोहराएं। यह प्रक्रिया हर सेट (set) में 3 बार दोहराएं तथा शुरुआत में कम से कम 5 सेट करें।

मेढक कूद (Nitamb bada karne ke liye frog jumps)

unnamed (1)

अपने पैरों पर कूदें तथा शरीर को फर्श तक ले जाएं, जिससे आप अपने पैरों को अपने हाथों से स्पर्श कर सकें। अब इस मुद्रा से अपने पैरों को क्रियाशील बनाकर पुशअप (pushup) की मुद्रा बनाएं तथा अपने हाथों से अपना नियंत्रण बनाए रखें। अब एक बड़ी हलचल करके अपने पैरों को पीछे की ओर मोड़कर पुरानी मुद्रा पर आ जाएं। इसका प्रयोग 4 बार करें और शुरुआत में कम से कम 4 सेट करें।

पैर उठाना और स्ट्रेच करना (Leg raise and stretch)

स्त्री और पुरूषों के तुरंत गोरापन पाने के कारगर उपाय

unnamed (2)

पीठ के बल लेट जाएं तथा पैरों को आपस में जोड़कर घुटनों को सीधा और जोड़कर रखें। एक बार जब आपके पैर 45 डिग्री के कोण पर पहुँच जाएं तो पैरों को कोने की तरफ से खोलना शुरू करें जब तक कि आपको अपने नितम्बों के बगल की मांसपेशियों में कोई खिंचाव दिखाई नहीं पड़ता। अब इन दोनों को दोबारा आपस में जोड़ें और पैरों को झुकाकर पुरानी मुद्रा में वापस आ जाएं। इस मुद्रा को 5 बार दोहराएं तथा इस व्यायाम के 3 सेट करें।

सिंगल लेग ब्रिजेस (Single leg bridges)

unnamed (4)

यह सामान्य ब्रिज का ही एक प्रकार है जो आपके कूल्हों की मांसपेशियों को सुडौल बनाने का काम करता है। पीठ के बल लेट जाएं और अपने हाथों को फैलाकर रखें। अब अपने घुटनों को 90 डिग्री के कोण पर मोड़ें, और इस दौरान अपने शरीर के निचले भाग को नीचे रखते हुए पैरों को ज़मीन पर रखें। अब फर्श से एक पैर उठाएं और अपने उठे हुए शरीर की सीधाई में लाएं। इस मुद्रा में 5 सेकंड तक रहें और फिर पैर को नीचे करके ज़मीन से स्पर्श करवाएं। इसके बाद दूसरे पैर से इसी क्रिया को दोहराएं। इस व्यायाम को 3 के सेट में करें और 5 बार दोहराएं।

मिसकैरेज के लिए क्या कारण हैं? गर्भपात से कैसे बचा जाए?

कूल्हे बड़े करने के घरेलू नुस्खे (Home remedies to grow your butts)

नीचे दिए गए घरेलू नुस्खे आपके कूल्हे की मांसपेशियों को सुडौल बनाकर इनके आकार में इजाफा करते हैं। लेकिन इनका असर कुछ कारकों पर निर्भर करता है। शरीर के मेटाबोलिज्म (metabolism) का स्तर और मांसपेशियों की बनावट। अतः इनका प्रयोग करके आप यह देख सकते हैं कि ये आपके लिए असरदार हैं या नहीं।

गर्म तेल की मालिश (Hot oil massage)

तेल की मालिश से मांसपेशियों की बनावट पर काफी प्रभाव पड़ता है। अगर आप बड़े कूल्हे प्राप्त करना चाहते हैं, तो इनपर गर्म तेल की मालिश करने से आपकी यह इच्छा अवश्य पूरी होगी। जैतून का तेल, नारियल का तेल और सरसों का तेल मांसपेशियों को सुडौल बनाने तथा इसे बड़ा करने के सबसे अच्छे कारक तत्व होते हैं। इन तीनों तेलों की पर्याप्त मात्रा एक कढ़ाही में लें और इसे हलके आंच पर चढ़ाएं। गर्म तेल आपकी त्वचा में और भी अच्छे से समाता है तथा इससे बेहतर परिणाम प्राप्त होते हैं। अब इस तेल से 20 से 30 मिनट तक अपने कूल्हों की मालिश करें। इसके बाद इस जगह पर 20 मिनट तक गर्म पानी की सेंक दें और कुछ देर के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे धो लें। इस उपचार का प्रयोग रोज़ाना दिन में 2 बार करें।

समुद्री नमक और गर्म स्नान (Sea salt and hot bath)

समुद्री नमक में काफी मात्रा में खनिज पदार्थ मौजूद होते हैं। ये खनिज शरीर की चर्बी को कम करने तथा मांसपेशियों को सुडौल बनाने का काम करते हैं। 1 कप समुद्री नमक लें और इसे आधा बाल्टी गर्म पानी में मिश्रित करें। अब इस मिश्रण में एक मोटा सूती का तौलिया डुबोएं तथा इसे निकालकर उन भागों पर लगाएं जिन्हें आप सुडौल बनाना चाहते हैं। तौलिये के गर्म रहते हुए ही गर्म सेंक लें और इसे दोहराएं। इस पक्रिया का पालन कम से कम आधे घंटे के लिए करें। रोज़ाना दो बार इसका पालन करने से आपको परिणाम दिखेंगे। अपने खानपान में सामान्य नमक की जगह समुद्री नमक का प्रयोग करने से भी शरीर की चर्बी कम होती है।

नींबू, शहद और गर्म पानी (Lemon with honey and warm water)

बच्चे के स्तनपान को रोकने के सबसे अच्छे उपाय

पीने का गर्म पानी लें और इसमें एक पूरा नींबू निचोड़ लें। इसमें 1 चम्मच शहद डालकर मिश्रित करें और इसे पी लें। यह आपके दिन की शुरुआत का पहला पेय पदार्थ होना चाहिए। यह वसा को जलाता है और आपके शरीर को सुडौल बनाता है, अतः इसका प्रभाव आप अपने कूल्हों पर भी देख सकते हैं।

सेब का सिरका (Apple cider vinegar se nitambo ko mota kare)

आधे कप सेब के सिरके को एक चौथाई कप जैतून के तेल के साथ मिश्रित करें और इस मिश्रण से अपने कूल्हों की 15 मिनट तक मालिश करें। इसके बाद हल्के गर्म पानी की सेंक दें और आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इस प्रक्रिया का पालन रोजाना दो बार करें। अपने खानपान में सेब के सिरके को शामिल करने पर भी शरीर की चर्बी कम होकर मांसपेशियों का निर्माण होता है।

कॉफ़ी और अखरोट का स्क्रब (Coffee and walnut scrub)

त्वचा को सही प्रकार से स्क्रब करने से रक्त संचार अच्छे से होता है जिसके बारे में सभी जानते हैं। आप अगर अपने कूल्हों के भाग को स्क्रब करें तो इससे वहाँ का रक्त संचार अच्छा होगा एवं कूल्हों के मांसपेशियों में सुडौलता भी आएगी और वे बड़े भी होंगे। 2 चम्मच कॉफ़ी लें और इन्हें खुरदुरे रूप से पिसे हुए अखरोट के छिलकों के साथ मिश्रित करें। इन दोनों उत्पादों को 1 चम्मच शहद के साथ मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। अब इस मिश्रण से कूल्हों की त्वचा को 5 मिनट तक स्क्रब करें। इसे 5 मिनट के लिए छोड़कर फिर से 5 मिनट के लिए स्क्रब करें। इसके बाद इस पैक को सूखने दें। अंत में इसे हल्के गर्म पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को 2 महीनों तक रोज़ाना 2 बार प्रयोग में लाएं तथा इसके बाद फर्क देखें

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday