Home remedies in Hindi to remove skin warts – त्वचा के मस्सों को निकालने के घरेलू उपचार

मस्से कई प्रकार के होते हैं और ये कई लोगों के चेहरे पर देखे जा सकते हैं। कुछ मस्से दर्दनाक होते हैं और समय के साथ बड़े भी होते जाते हैं। ये ऐसे मस्से होते हैं, जिन्हें तुरंत उपचार की आवश्यकता होती है, अन्यथा इनकी स्थिति काफी गम्भीर हो जाती है। कई बार ये मस्से कैंसर (cancer) का कारण भी बनते हैं। ऐसे मस्सों का डॉक्टर के कहे अनुसार ही इलाज करें।

इन मस्सों के कई दर्दरहित प्रकार होते हैं, जो हाथों, चेहरे और पैरों पर उग आते हैं। वैसे तो ये हानिकारक नहीं होते और खुद ही कुछ सालों में ठीक हो जाते हैं, ज़्यादातर महिलाएं इन्हें अपनी सुंदरता की राह में एक रोड़ा मानती हैं। अगर आप इन्हें प्राकृतिक रूप से निकालना चाहती हैं तो कुछ घरेलू नुस्खों का प्रयोग किया जा सकता है।

मस्से का कारण, त्वचा के सबसे सामान्य और साधारण मस्से त्वचा पर एक उभार की तरह फूले हुए होते हैं जिनका कारण एक वायरस होता है जिसका नाम है ह्यूमन पेपिलोमा वायरस या hpv वायरस। यह त्वचा की ऊपरी सतह पर हमला करता है और त्वचा खराब करने का कारण बनता है। यह वायरस हमारे शरीर में तब प्रवेश करता है जब हम किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आते हैं जिसे इन मस्सों की परेशानी है और वह भी इस वायरस की चपेट में है।

इन मस्सों का वैज्ञानिक नाम वेर्रुका वुल्गारिस है। दर्दरहित होने के बावजूद ये मस्से आसानी से ठीक नहीं होते है और इनके उपचार की कोई जानी मानी विधि भी नहीं है।

मस्सों के 6 प्रकार (There are six kinds of warts defined medically)

सबसे सामान्य मस्से एक उभार की तरह होते हैं और ये मुख्यतः हाथों एवं उँगलियों पर होते हैं। ये आमतौर पर बच्चों में पाए जाते हैं।

ठुड्डी के पास कालेपन से छुटकारा कैसे पाएँ?

समतल मस्से – ये मस्से आमतौर पर चेहरे,हाथ और पैरों पर होते हैं। ये छोटे आकर के होते हैं और एक ही जगह बहुत से होते हैं।

लम्बे मस्से – ये मस्से आमतौर पर आँखों, गाल एवं चेहरे पर होते हैं और इनका आकार लंबा एवं मोटा होता है।

नाखूनों के मस्से – ये उन लोगों को होते हैं जो अपने नाखून चबाते रहते हैं और इसलिए ये मस्से नाखूनों के पास होते हैं।

एड़ी के मस्से – ये मस्से आमतौर पर पैरों की एड़ियों में होते हैं।

गुप्तांगों के मस्से – ये मस्से आपके गुप्तांगों पर पाए जाते हैं।

शरीर के ज़्यादातर मस्से बिना किसी उपचार के ही सही हो जाते हैं, लेकिन फिर भी इनसे होने वाली परेशानियों के चलते लोग अपना इलाज करवाना ही बेहतर समझते हैं। सफलता के आधार पर ऐसे कई उपचार हैं और कुछ प्रमुख उपचार नीचे दिए गए हैं:-

  1. मस्सों का घरेलू उपचार, तरल नाइट्रोजन का प्रयोग करके त्वचा के मस्सों को जमाया जा सकता है। जमने से मस्से वाले क्षेत्र में शीतदंश हो जाता है एवं इससे वहाँ के hpv वायरस भी कम होते हैं। मस्सों से छुटकारा पाने के लिए ये प्रक्रिया कई बार अपनाएं।
  2. मस्से का इलाज, सैलिसिलिक एसिड का प्रयोग करें। यह तरल नाइट्रोजन की भांति ही त्वचा के मस्से दूर करने के क्षेत्र में काम करता है। इसके केमिकल के असर से मस्से काफी हद तक बिलकुल ठीक हो जाते हैं।
  3. मस्सों का घरेलू उपचार, इम्यून थेरेपी लें। यह उपचार घर पर नहीं किया जा सकता बल्कि इसके लिए निर्धारित जगहें होती हैं। इसके अंतर्गत आपके मस्से में कोई द्रव्य इंजेक्शन के द्वारा लगाया जाता है। ज़्यादातर उपचार गृह मस्से ठीक करने के लिए कैंडिडा नामक पदार्थ का प्रयोग करते हैं जौ कि मुख्यतः त्वचा से निकाला गया खमीर होता है। यह काफी असरदार इलाज है और इससे hpv वायरस का बढ़ना रूक जाता है और मस्से गायब हो जाते हैं।
  4. त्वचा के मस्से का उपचार, अगर आपके मस्से बड़े हैं और आपके लिए काफी परेशानी कड़ी कर रहे हैं तो तुरंत ही किसी त्वचा के विशेषज्ञ को दिखाएँ। वे लेज़र पद्दति से त्वचा के मस्से, मस्सों का इलाज करते हैं पर इस पद्दति में मरीज़ को काफी पीड़ा का सामना करना पड़ता है। इस पीड़ा के दूर होने में भी काफी समय लगता है,अतः इसका लेज़र इलाज तभी कराएं जब ये मस्से काफी भयंकर हों।
  5. मस्से का इलाज, आप डक्ट टेप की मदद से भी मस्स की समस्या से निजात पा सकते हैं। इसके लिए अपने मस्सों पर डक्ट टेप लगाएं और उसे 6 दिन तक इसी प्रकार रखें। इस टेप को सातवें दिन निकालें और वहाँ की त्वचा को पूमिस स्टोन द्वारा साफ़ करें। उपरोक्त उपचारों का निरंतर प्रयोग करने से आपको मस्सों से छुटकारा प्राप्त होगा।

हाथों और पैरों के कालेपन को दूर करने के घरेलू उपाय

कभी भी इन मस्सों की अनदेखी ना करें क्योंकि ये कैंसर की वजह से भी हो सकते हैं। कई स्किन कैंसर चेहरे पर बिलकुल मस्से की तरह दिखते हैं।

सिरका (Vinegar se masse hatane ke gharelu upay in hindi)

आपके घर में सफ़ेद सिरका आसानी से उपलब्ध होगा। इस उपचार के लिए 1 या 2  चम्मच सिरका लें तथा इसमें एक रुई का टुकड़ा डुबोएं। अब सिरके में डुबोये इस रुई के कपड़े को मस्सों पर लगाएं और फिर प्रभावित भाग को इलास्टिक बैंडेज (elastic bandage) से ढक दें। इसे हर रोज़ दिन में दो घंटे इसी तरह रखें। आपको अवश्य ही फर्क पता चल जाएगा।

केले का छिलका (Banana peel)

त्वचा से मस्सों को दूर करने के लिए उपचार का एक प्राकृतिक तरीका केले के छिलकों से सम्बंधित भी है। इसके अंतर्गत मस्सों पर केले का छिलका चिपका लें। आप छिलके का भीतरी भाग मस्सों पर रगड़ भी सकते हैं, जिससे इन मस्सों को दूर करने में काफी सहायता मिलेगी। ऐसा होने का मुख्य कारण यह है कि केले के छिलकों में मौजूद रसायन अपने अंदर मस्सों को दूर करने का एक बेहतरीन तरीका समेटे हुए होते हैं।

मसला हुआ लहसुन (Crushed garlic twacha ke masse ke liye)

लहसुन के कुछ फाहे लें तथा इन्हें चाकू या अन्य किसी पीसने वाले पदार्थ से मसल लें। क्योंकि इसमें जलन वाले गुण होते हैं, अतः आपका मस्सा फुंसियों के आकार में ढल जाएगा और ये फुंसियां कुछ हफ़्तों में सूखकर गिर जाएंगी। इसके लिए रोज़ाना लहसुन को पीसकर निकाला गया रस अपने मस्सों पर लगाएं और कुछ ही महीनों में फर्क महसूस करें।

कच्चा पपीता (Unripe papaya)

भौंहों के बीच की झुर्रियों को दूर करने के उपाय

पपीते में मौजूद एंजाइम्स (enzymes) भी आपके चेहरे के ऊपर स्थित मस्सों को दूर करने में सक्षम होते हैं। इसके लिए कच्चे पपीते के कुछ टुकड़े लें और इसके छोटे छोटे टुकड़े करें। अब इसे सब्ज़ियाँ पीसने वाले ग्राइंडर (grinder) में डालें और इससे एक पेस्ट (paste) तैयार कर लें। अब कच्चे पपीते के इस रस या गूदे को अपने मस्सों पर लगा लें और इनके सूखने तक प्रतीक्षा करें। इसके बाद आप इसे पानी से धो सकते हैं।

त्वचा के मस्से का उपचार के लिए कैस्टर ऑइल (Castor oil)

अगर आपके घर में कैस्टर ऑयल आसानी से उपलब्ध है तो इसका प्रयोग उन सारी जगहों पर करें, जहाँ पर मस्से उगे हुए हैं। इसका प्रयोग रोज़ सोने जाने से पहले करें और इसे एक पट्टी से ढक दें, जिससे कि यह शरीर के अन्य हिस्सों में चिपक ना जाए। इसका प्रयोग रोज़ाना करने से आपको निश्चित ही फर्क दिखाई देगा।

कच्चा आलू (Raw potato)

कच्चे आलू से निकाला गया रस उन मस्सों को ठीक करने में काफी फायदेमंद साबित होता है, जो आपके चेहरे पर उत्पन्न होते हैं। वैसे तो ये मस्से ज़्यादा हानिकारक नहीं होते, पर फिर भी इन्हें निकालना काफी आवश्यक है, क्योंकि ये काफी अजीब लगते हैं और इनके चेहरे पर होने से आपकी सुंदरता में भी बाधा पड़ती है। इसके लिए आलू का एक चौथाई भाग लें, इसे छोटे छोटे टुकड़ों में काटें और इन्हें एक ग्राइंडर में पीस लें जिससे कि ये गूदे की शक्ल में परिवर्तित हो जाएँ। अब इस रस का प्रयोग त्वचा के उन हिस्सों पर करें, जहां पर आपको मस्सों की समस्या है। इसे सूखने दें और फिर धो लें। परन्तु चेहरे को धोने के तुरंत बाद ही तौलिए से पोंछ लें, अन्यथा ये मस्से त्वचा के अन्य भागों को भी प्रभावित कर सकते हैं।

डैंडिलायन (Dandelion se skin ke masson se chutkara)

अगर आपके बगीचे में डैंडिलायन मौजूद है तो इसे लेकर इसके तनों में से रस निकाल लें। अब इस रस के ऊपर रुई का कपड़ा लगाएं और धीरे धीरे अपनी त्वचा पर इसका प्रयोग करें। आप अपनी त्वचा पर हलकी जलन महसूस करेंगे क्योंकि यह आपकी प्रतिरोधक क्षमता में काफी वृद्धि करता है।

तुलसी की ताज़ा पत्तियां (Fresh basil leaves)

त्वचा के मुहांसों को हटाने के प्राकृतिक घरेलू नुस्खे

त्वचा की परतों से मस्सों को दूर करने का यह एक और प्रभावी इलाज है। इसके लिए तुलसी की पत्तियों को पीस लें और त्वचा के उन भागों पर इनका प्रयोग करें, जहां से मस्से निकले हैं। प्रभावित भागों पर तुलसी का मिश्रण लगाने के बाद इसे एक ऐसे टेप (tape) से ढक लें, जिसपर पानी का असर ज़्यादा ना होता हो। क्योंकि इन पत्तियों में जीवाणुओं को साफ़ करने के गुण होते हैं, अतः यह आपकी त्वचा के ऊपर से भी जीवाणुओं को निकालने में सक्षम होता है। तुरंत इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए तुलसी को रोज़ बदलें।

विटामिन सी की गोलियां (Vitamin C tablets)

विटामिन सी की गोलियां आप आसानी से अपने घर पर या फिर पास की दवाई की दुकान पर भी प्राप्त कर सकते हैं। इसे लेकर इसका प्रयोग चेहरे के मस्सों को हटाने के लिए भी किया जा सकता है। इसके लिए इस गोली को मसलें तथा इसे पानी के साथ मिश्रित करके एक पेस्ट का निर्माण करें। अब इसे अपने चेहरे के उस भाग पर लगाएं, जहां आपको मस्से दिखाई दे रहे हैं। इन गोलियों में मौजूद अम्लीय (acidic) गुण मस्सों को पूरी तरह चेहरे से हटाने में भी सक्षम हैं।

भोज वृक्ष की छाल (Birch bark)

त्वचा से पूरी तरह मस्सों को दूर करने का यह एक और प्रभावी प्राकृतिक विकल्प है। इसके लिए छाल का एक टुकड़ा लें तथा पानी की मदद से इसे थोड़ा सा गीला कर दें। एक बार जब यह गीला हो जाए तो इस छाल का अंदरूनी हिस्सा त्वचा पर उस जगह रगड़ें, जहां पर मस्से उत्पन्न हुए हैं।  छाल के इस हिस्से में सैलिसाइलेट्स (salicylates) होते हैं, जो मस्सों को प्रभावी रूप से हटाने का काम करते हैं।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday