Top Cord Blood Banks in India -भारत में शीर्ष कॉर्ड ब्लड बैंक

आज, नाभि रक्त कई बिमारियों के इलाज में अद्भुत रूप से कार्य कर रही है। यह मुख्यत: नाभि रक्त को सुरक्षित रखने का तरीका है जो शक्तिशाली रक्त स्टेम का अच्छा स्रोत है जो कोशिकाओं के साथ साथ टिश्शू का विकास और पुनर्निमाण करने की क्षमता रखता है। बच्चे के जन्म के बाद प्लेसेंटा से इसे प्राप्त किया जाता है।

इन नाभि रक्तों से आनुवांशिक बिमारियों जैसे हिमैटोपोएटिक को ठीक किया जा सकता है।  इससे रक्ताल्पता, ल्यूकीमिया और लिम्फोमा जैसी बिमारियों का इलाज इस स्टेम सेल से हो सकता है।

आपने उन ब्लड बैंक्स के बारे में सुना ही होगा, जहां विभिन्न तरह के रक्त को जमा करके रखा जाता है। जब भी अस्पतालों या स्वास्थ्य सेवाओं को किसी ख़ास तरह के रक्त की आवश्यकता होती है तो ब्लड बैंक से रक्त ले लिया जाता है। पर कॉर्ड ब्लड बैंक क्या होते हैं ?आपने यह नाम शायद पहली बार सुना होगा। पर यह काफी दिलचस्प तथ्य है, अतः आपको इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए।

कॉर्ड ब्लड बैंक्स ऐसी जगहें होती हैं, जहां स्टेम सेल (stem cell) की पद्दति के दौरान अम्बाईलिकल कॉर्ड (umbilical cord) के रक्त को जमा करके रखा जाता है। क्योंकि आजकल लोग स्टेम सेल के उपचार पर काफी भरोसा कर रहे हैं, अतः यह उपचार काफी प्रसिद्ध हो गया है। आप आजकल निजी और सार्वजनिक दोनों तरह के कॉर्ड ब्लड बैंक भारत में प्राप्त कर सकते हैं।

स्वास्थ्य और सुंदरता की देखभाल के लिए सर्दियों में मिलने वाली सब्जियां

भारत में शीर्ष नाभि रक्त बैंकों की सूची (List of top cord blood banks in India)

  • क्रयोबैंक्स इण्टरनेशनल इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड (स्थापना शहर: गुड़गांव)
  • रिलायंस लाइफ साइंस (शहर: मुम्बई, महाराष्ट्र)
  • लाइफ सेल इण्टरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड (चेन्नई)
  • स्टेमसाइट इण्डिया थेरेप्टिक्स प्राइवेट लिमिटेड (गुजरात)
  • कॉर्ड लाइफ साइंस इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड (दक्षिण 24 परगना)

भारत के श्रेष्ठ कॉर्ड ब्लड बैंक्स के फायदे (Benefits of top cord blood banks in India)

आजकल भारत के श्रेष्ठ कॉर्ड ब्लड बैंक्स ऐसे स्टेम सेल्स उपलब्ध करवा रहे हैं, जिसका अलग अलग उपचारों के अनुसार प्रयोग किया जा सकता है। भारत के कॉर्ड ब्लड बैंक्स के द्वारा प्रदान किये जा रहे उपचार से चिकित्सकीय क्षेत्र में नए आयाम स्थापित हो रहे हैं। आप यहाँ अनुभवी चिकित्सकों का एक दल पाएंगे जो स्टेम सेल की अवधि को बढ़ाने की प्रक्रिया में जुटे रहते हैं। आप दो तरह से कॉर्ड बैंक में रक्त जमा करवा सकते हैं – निजी बैंक्स (यहाँ पर रक्त सिर्फ उसको ही मिलेगा जो कि रक्तदान करने वाले का कोई रिश्तेदार हो) और सार्वजनिक बैंक्स (यहाँ पर वो सभी रक्त का प्रयोग कर सकेंगे जिनका रक्त का प्रकार एक समान हो)। आपके बच्चे को इस विधि से काफी गंभीर बीमारियों जैसे गंभीर दिमागी चोट, सेलेब्रल पाल्सी और ट्यूमर्स (cerebral palsy and tumors) से निजात प्राप्त हो सकती है।

गर्भनाल रक्त बैंको की पात्रता (Worthiness of cord blood banking)

रक्त दान से जुड़े तथ्य एवं इसके लाभ

जिन लोगों ने स्टेम थेरेपी का प्रयोग नहीं किया है वे इसके प्रयोग के मूल्य पर प्रश्न चिन्ह लगा सकते हैं। बच्चों के अभिभावक जिन्हे नाभि रक्त की जरूरत होती है वे भावुक होकर धन की परवाह नही करते है और वे किसी दानकर्ता को कोई भी मूल्य चुकाने के लिये तैयार हो जाते है हो सकता है कोई दानकर्ता न हो। लेकिन भारत में शीर्ष नाभि बैंकों के पास इसका समाधान है। अत: नाभि रक्त बैंक,  विभिन्न बिमारियों से पीड़ित रोगियों  के लिये भी वास्तविकता में बहुत महत्त्वपूर्ण है।

नाभि रक्त बैंकों की लागत (Cost of the cord blood banking)

हाल के वर्षों में, भारत में बहुत सारे नाभि रक्त बैंक खुले हैं। नाभि रक्त बैंक, सार्वजनिक रक्त बैंक की तुलना में महंगे हैं। निजी संस्थाओं में नाभि रक्त स्टेम सेल को अनुभवी पीडीयाट्रिक हीमिओपोइटिक सेल ट्रांस्प्लांटेशन फिज़ीशियन के साथ आरक्षित करके रखते है। सार्वजनिक नाभी रक्त बैंक ,प्राप्त नाभी रक्त को कोलोरैडो विश्वविद्यालय को भेज देते हैं नाभी रक्त को प्रक्रिया किया जाता है। प्रयोगशाला इसका परीक्षण करती है कि क्या यह प्रयोग किये जाने योग्य है। एक बार यह पता चलने पर कि यह उपयोग किया जा सकता है तब इसे जमा लिया जाता है। प्रतिनिधि इसे तरल नाइट्रोजन फ्रीज़र मे रख देते हैं।

निजी सेल रक्त बैंकिंग के दोष (Flaws of private cell blood banking)

ऐसे फिज़ीशियन जो निजी नाभि रक्त बैंको में स्टेम सेल के साथ अभ्यास और व्यवहार करते है उन्हें नाभि रक्त बैंको की सेवाओं की उपयुक्तता के सम्बंध में जानकार होना चाहिये। यहाँ तक कि बहुत सारे गैर सरकारी संगठने और लेखक निजी नाभि रक्त बैंको के विरूद्ध उठ खड़े हुए हैं जहाँ एचसीटी परिवारों में दिखायी देती है। नाभि रक्त बैंको के लिये बाज़ार बनाने का प्रभाव बच्चों के जन्म के समय भावुक बना देगा। अत: वे हमेशा फिज़ीशियन की सलाह के लिये इस समय पर देखतेहै। सरकारें परिवारो को बेहतर सुविधाये दिलवाने के लिये निजी रक्त बैंको के मामलो में हस्तक्षेप कर रही है। इन संस्थाओ के लिये न्यूनतम मानक को प्राप्त करना आवश्यक है। निरीक्षक अधिकारी की टीम इन सामान्य मानकों का बहुत नज़्दीकी से नीरिक्षण करती है।

कॉर्ड ब्लड बैंकिंग – फायदे तथा उपचार

निजी गर्भनाल रक्त बैंकिंग का समर्थन (Endorsement of private cord banking)

कुछ पीडियाट्रिक हिमैटोपोएटिक कोशिका प्रतिरोपण चिकित्सक है जो निजी नाभि रक्त बैंको का समर्थन करते है। मिश्रित जाति के बच्चो के साथ जहाँ उचित मिलान नही पाया जाता है उनके बचने में समस्यायें आती है। इस संदर्भ में निजी नाभि रक्त बैंके बहुत महत्तव्पूर्ण हो जाती है। लेकिन, कभी कभी निजी नाभि रक्त बैंक संस्थाये ऑटोलॉगस प्रतिरोपण की आवश्यकता का सही अंदाज़ा नहीं लगा पाते हैं। यह निजी भंडारण नाभि रक्त बैक का जैविक बीमा हतोत्साह है। नाभि बैंको का एक राष्ट्रीय  प्रमाणन होना चाहिये।

कुछ देशों में सहोदरो के नाभि रक्त इकाइयों के प्रयोग की दर बच्चो और हीमैटोलॉजिकल मैलीगैंसीज़ के लिये कोशिका प्रतिरोपण की अपेक्षा बहुत कम है। सम्बंधित अधिकारी कहते हैं कि अभिभावक उनके बच्चो के लिये इतना धन नही खर्च कर सकते है। इसलिये यह आवश्यक हो जाता है कि सहक्रिया के लिये पूंजी जुटायी जाये जो निजी और सार्वजनिक नाभि बैंकों केलिये प्रतिरूप का काम करेगी। फिज़ीशियन जो नाभि बैंकों का प्रयोग कर रहे हैं जो निजी स्वामित्व में है विशेष रूप से स्टेम सेल रक्त बैंकिंग को प्रमाणिकता के साथ मांग रहे हैं। स्टेम सेल प्रयोगशाला में अच्छे मानकों के साथ परीक्षित होना चाहिये और विभिन्न बिमारियो के रोगियो के इलाज़ के लिये पूर्ति किया जाना चाहिये।

भारत के श्रेष्ठ कॉर्ड ब्लड बैंक्स (Top cord blood banks in India)

लाइफ फ़ोर्स क्रायो बैंक्स (Life force cryo banks)

इस बैंक के निर्माता क्रायो बैंक्स इंटरनेशनल इंक (cryo banks International Inc) हैं तथा यह भारत का पहला ऐसा कॉर्ड बैंक है जहाँ कॉर्ड ब्लड उपलब्ध है। यह संस्था निजी कॉर्ड बैंक्स या सार्वजनिक कॉर्ड ब्लड दान जैसे अपने कार्यक्रमों की मदद से खून भी बाँटती है। भारत में मौजूद इस कॉर्ड ब्लड बैंक ने अफ्रीका और थाईलैंड में भी अपना व्यापर फैला लिया है।

लाइफ सेल (Life cell)

लाइफ सेल भारत के सबसे जाने माने और प्रसिद्ध कॉर्ड ब्लड बैंक्स में से एक है और इसकी प्रयोगशालाएँ गुडगाँव और चेन्नई में हैं। इसकी शुरुआत के समय इसकी एक ही शाखा थी। पर आज इसके भारत के कई शहरों में बहुत सी शाखाएँ हैं। इसके अंतर्गत कई उत्पाद आते हैं जैसे कॉर्ड ब्लड बैंकिंग, मासिक धर्म के रक्त की स्टेम सेल बैंकिंग, कॉर्ड टिश्यू स्टेम सेल आदि।

बेबी सेल (Baby cell)

यह भी उन कई कॉर्ड ब्लड बैंक्स में से एक है जो कई तरह की गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों को इलाज मुहैया करवाता है। इस बैंक में रक्त को जमा करने की पद्दति सारे विश्व में काफी प्रसिद्ध है। यह जाना माना स्टेम सेल बैंक महाराष्ट्र में है। आज तक इस बैंक में भारत के करीब 10000 परिवारों का रक्त शामिल किया गया है। इस संस्था के पास जहाज के ज़रिये भारत के किसी भी कोने में माल पहुँचाने की सुविधा मौजूद है।